रांची : केंद्र और राज्य सरकार के मजदूर नीति के विरोध में प्रदर्शन

NewsCode Jharkhand | 11 July, 2018 8:09 PM
newscode-image

रांची। झारखंड  जनरल कामगार यूनियन द्वारा राजभवन के समक्ष अर्धनग्न अवस्था में केंद्र सरकार और राज्य सरकार के विरोध में प्रदर्शन किया गया।  वर्तमान में जो केंद्र सरकार के द्वारा नीति लागू की गई है उसमे कंपनियों से मजदूरों को बिना नोटिस दिए बाहर निकाल दिया जा रहा है, जिससे मजदूर वर्ग में केंद्र सरकार के प्रति गुस्सा है।

रांची नगर निगम में  1985 से पूर्व से हीं 27 मजदूर कार्यरत थे ,जिसमें 4 मजदूरों  की मृत्यु हो गई और 23 मजदूरों को  बिना नोटिस एवं चार्जशीट दिए काम से हटा दिया गया । इस तरह हर छोटे-मोटे कंपनी और बड़े औद्योगिक घरानों में भी मजदूरों के साथ घृणित व्यवहार किया जा रहा है। 2 अक्टूबर को लाखों की संख्या में मजदूर राजभवन के समक्ष अपनी एकता प्रदर्शित करेगी।  मजदूरों के प्रति केंद्र सरकार और राज्य सरकार अपनी निर्वाहन निभाने में असफल रही है ।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

जमशेदपुर : गौरी सबर की स्मृति में समाधान संस्था ने किया पौधरोपण

NewsCode Jharkhand | 19 September, 2018 9:50 PM
newscode-image

जमशेदपुर।  जादूगोड़ा स्थित खड़ियाकोचा गाँव में समाधान संस्था की ओर से पौधरोपण किया गया। यह पौधरोपण खड़ियाकोचा गाँव की रहने वाली वृद्धा गौरी सबर के देहावसान के पश्चात उनकी स्मृति में की गयी।

गौरी का देहांत हृदयाघात से  9 सितंबर को हुई थी। वह अपने घर की एकमात्र सदस्य थी। उनके निधन पर संस्था ने भी शोक व्यक्त किया।

समय-समय पर संस्था द्वारा गाँव में स्वास्थ्य  शिविर का आयोजन किया जाता रहा है। गौरी सबर के निधन के पश्चात खड़ियाकोचा निवासियों ने ग्रामीण परंपरा के अनुसार  विधिपूर्वक उनका दाह-संस्कार किया।

वहीं अंत्योष्टि का ख़र्च समाधान ने वहन किया। पौधरोपण के दौरान  अंकित आनंद, संतोष कुमार स रघु सबर एवं अन्य खड़ियाकोचा निवासी मौजूद थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

धनबाद : डीसी कार्यालय के सामने दो पक्षों में हुई नोंक-झोंक

NewsCode Jharkhand | 19 September, 2018 10:03 PM
newscode-image

धनबाद। डीसी कार्यालय के समक्ष दो पक्षों के बीच बुधवार को जमकर नोंक-झोंक हुई। लड़की से मिलने नहीं देने तथा उन्हें बताये बगैर न्यायालय में लड़की का बयान दर्ज कराए जाने को लेकर लड़की के परिजन हंगामे पर उतारू हो गए।

बीच सड़क पर दो पक्षों के बीच बढ़ते नोक -झोक को लेकर पुलिस को भी उन्हें शांत कराने में भारी मशक्कत करनी पड़ी। लड़की पक्ष के गुस्से को शांत कराकर तोपचांची पुलिस लड़की के साथ लड़का पक्ष को महिला थाने पहुंचाई।

धनबाद : एटीएम गार्डों ने बिना वेतन व नोटिस के काम से हटाने का किया विरोध

तोपचांची थाना क्षेत्र के दुमदुमी निवासी जगन्‍नाथ पांडेय पिछले 8 तारीख को अपने ही गांव के युवक व उसके साथियों पर पुत्री का अपहरण कर लेने की शिकायत तोपचांची थाने में दर्ज कराई थी। दर्ज बयान में उन्‍होंने कहा था कि पुत्री सुबह में शौच के लिए घर से निकली तभी उपरोक्त युवकों ने पुत्री का अपहरण कर फरार हो गया।

पुलिस की छानबीन में परिजनों को जानकारी मिली की उनकी पुत्री को युवक व उसका साथी अपहरण कर दिल्ली ले गया है। बुधवार को तोपचांची पुलिस युवक-युवती को धनबाद न्यायालय लेकर पहुंची।

सूचना पाकर लड़की के परिवार वाले भी कोर्ट पहुंचे। यहां उन्हें पता चला की लड़की का बयान कोर्ट में दर्ज करा दिया गया है। बयान दर्ज कराने से पूर्व लड़की से भेंट नहीं कराये जाने को लेकर गुस्साए परिजन युवक के घरवालों से नोक-झोंक करने लगे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

बड़कागांव : जनता दरबार की जानकारी नहीं दिए जाने पर भड़के जनप्रतिनिधि

NewsCode Jharkhand | 19 September, 2018 9:54 PM
newscode-image

बड़कागांव(हजारीबाग)। आम लोगों की समस्याओं के समाधान हेतु राज्य सरकार द्वारा प्रखंड स्तर पर लगाए जा रहे जनता दरबार का महत्व उस समय समाप्त हो गया, जब बड़कागांव प्रखंड मुख्यालय में आयोजित जनता दरबार में ग्रामीणों व जनप्रतिनिधियों की उपस्थिति नगण्य देखी गई। वहीं नियमित रूप से प्रखंड व अंचल में अपने व्यक्तिगत काम को लेकर पहुंचे ग्रामीण व जनप्रतिनिधियों ने जमकर अपनी भड़ास निकाली और इस पर नाराजगी जाहिर की। लगता है जैसे जनता दरबार महज कोरम पूरा करने की चीज बनकर रह गयी है।

जनप्रतिनिधियों के अनुसार उन्‍हें या ग्रामीणों को जनता दरबार के आयोजन के बारे में कोई जानकारी नहीं दी गई ओर गुपचुप तरीके से इसका आयोजन करके खानापूर्ति की जा रही है। लोगों ने कहा कि बड़कागांव की स्थिति दयनीय इसलिए है क्‍योंकि यहां कार्यरत पदाधिकारी, कर्मचारी के साथ-साथ जिले के पदाधिकारियों का भी रवैया उदासीन है। कोई भी कार्य जमीनी स्तर पर नहीं करके महज कागजों तक ही सीमित रखा जा रहा है।

कटकमसांडी : छुरेबाजी की घटना में युवक घायल, गंभीर हालत में रिम्‍स रेफर

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

More Story

more-story-image

दुमका : किराना स्टोर में पुलिस ने किया छापेमारी, डुप्लिकेट...

more-story-image

बाघमारा : धूमधाम से मनाया गया करमा पर्व