रांची : एक पखवाड़े में दाल पांच रुपये महंगी, चीनी और घी में नरमी

NewsCode Jharkhand | 15 April, 2018 3:44 PM

रांची : एक पखवाड़े में दाल पांच रुपये महंगी, चीनी और घी में नरमी

रांची। एक पखवाड़े के भीतर दाल पांच रुपये किलोग्राम महंगी हो गई है। इस दौरान घी और चीनी कुछ सस्‍ती हुई है। रांची के मेन रोड के सुजाता चौक स्थित रघुवंशी स्‍टोर के संचालक महेंद्र ठक्‍कर के मुताबिक मसूर और मूंग की दाल की कीमत में इजाफा हुआ है।

मसूर दाल पहले 50 रुपये किलोग्राम थी। यह पांच रुपये किलोग्राम बढ़कर 55 रुपये किलोग्राम हो गई है। इसी तरह मूंग दाल 70 से बढ़कर 75 रुपये किलोग्राम हो गई है।

ठक्‍कर के मुताबिक चना दाल, अरहर दाल और उरद दाल की कीमतें यथावत है। ये क्रमश: 60, 70 और 60 रुपये किलोग्राम बिक रहे हैं। इस दौरान चीनी की कीमत में दो रुपये प्रति किलोग्राम की कमी दर्ज की गई है। पहले चीनी 40 रुपये किलोग्राम थी, अभी यह 38 रुपये किलो बिक रही है।

लोहरदगा : बिन मौसम बारिश और ओलापात से फूटी किसानों की किस्मत

इसी तरह, 500 रुपये किलोग्राम वाली घी अभी 480 रुपये किलो बिक रही है। खाद्य तेलों की कीमत जस के तस है। अन्‍य खाद्य सामग्री की कीमत में भी बढ़ोत्‍तरी नहीं हुई है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

सरायकेला : सर्वे रिपोर्ट से खुलासा, दलमा वाइल्डलाइफ सेंचुरी में जानवरों की कमी

NewsCode Jharkhand | 26 May, 2018 6:24 PM

सरायकेला : सर्वे रिपोर्ट से खुलासा, दलमा वाइल्डलाइफ सेंचुरी में जानवरों की कमी

सरायकेला। नेशनल वाइल्डलाइफ सर्वे 2018 की अगर मानें तो झारखंड के सरायकेला-खरसांवा जिला स्थित दलमा वन्य प्राणी अभ्यारण्य में बेहद ही चौंकाने वाले परिणाम सामने आए हैं। बता दें पिछले दिनों राष्ट्रीय वन्य पशु जनगणना का काम पूरा हुआ, जिसमें दलमा सेंचुरी में निवास करने वाले जानवरों में कमी देखी गई। वही दलमा सेंचुरी को हाथियों के लिए अनुकूल माना जाता है। यहां बंगाल और उड़ीसा से भी हाथी आकर प्रवास करते हैं।

सरायकेला : निपाह वायरस का खौफ, लेकिन अंजान है यहाँ के लोग

जानकारी के अनुसार हाल के दिनों में सुरक्षा बलों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ के बाद लगातार हाथियों का जाना शुरू हो गया है। एक समय हुआ करता था जब दलमा सेंचुरी में 100 से भी ज्यादा हाथी और जंगली जानवर प्रवास करते थे, वही अब महज 25 से 30 की संख्या में हाथी बचे हैं। आशंका यह जताई जा रही है कि बारुद के गंध से पूरा दलमा अभयारण्य दमक रहा है। जिसकी भनक हाथियों को लगते ही हाथियों ने दलमा से जाना शुरू कर दिए है।

इधर राष्ट्रीय वाइल्डलाइफ सर्वे के अनुसार दूसरे जंगली जानवर भी धीरे-धीरे दलमा सेंचुरी से जा रहे हैं। राष्ट्रीय पशु सुरक्षा सर्वेक्षण की दृष्टिकोण से यह एक बेहद ही गंभीर मामला माना जा रहा है। वही पिछले कुछ दिनों दलमा के कांकादशा और बिजली घाटी में लगातार नक्सलियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ जारी है। रुक-रुक कर दोनों ओर से फायरिंग की जा रही है, जिससे दलमा में जंगली जानवरों के लिए खतरा बढ़ गया है। वही वन विभाग इसको लेकर काफी चिंतित है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

Read Also

4 साल पूरा होने पर कटक में बोले मोदी, देश में कन्फ्यूजन नहीं, कमिटमेंट वाली सरकार

NewsCode | 26 May, 2018 5:58 PM

4 साल पूरा होने पर कटक में बोले मोदी, देश में कन्फ्यूजन नहीं, कमिटमेंट वाली सरकार

कटक। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को कटक पहुंचे। कटक बालीयात्रा मैदान में होने वाली जनसभा में शामिल होकर प्रधानमंत्री अपने कार्यकाल के चार साल का हिसाब जनता के सामने रख रहें हैं।

ओडिशा जाने से पहले पीएम मोदी ट्विटर पर लिखा कि ‘2014 में आज ही के दिन हम सबने साथ मिलकर भारत को ट्रांसफॉर्म करने की दिशा में काम शुरू किया। पिछले 4 सालों में विकास एक बड़ा मूवमेंट चला है। हर नागरिक को अहसास हुआ है कि वह देश के विकास में अहम भूमिका निभा रहा है। 125 करोड़ जनता देश को नई ऊंचाइयों पर ले जा रही है।’

Live Updates:

इन चार वर्षों में, 125 करोड़ भारतीयों का मानना है कि हमारा भारत बदल सकता है। आज देश ‘काला धन’ से जन धन तक जा रहा है, बुरे शासन से सुशासन तक

एक परिवार को बचाने के लिए सभी नेता एक हो रहे हैं: पीएम मोदी

कालाधन और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई से कट्टर दुश्मन भी दोस्त बने, जनता सब देखती है, सब समझती हैः पीएम मोदी

मोदी ने कहा, “हमारी सरकार साफ नीयत के साथ सही विकास कर रही है। न हम कड़े फैसले लेने से डरते हैं और न ही मत बड़े फैसले लेने से चूकते हैं। देश में कमिटमेंट (प्रतिबद्धता) वाली सरकार होती है, तभी सर्जिकल स्ट्राइक जैसे फैसले होते हैं। जब देश में कंफ्यूजन नहीं कमिटमेंट वाली सरकार होती है, तो वन रैंक वन पेंशन और शत्रु संपत्ति जैसे कानून बनते हैं।”

जनधन, आधार और मोबाइल फोन के जरिए 80 हजार करोड़ बचायाः पीएम मोदी

एनडीए सरकार में रहने वाले बहुत से लोग गरीबी में रहते हैं और यही कारण है कि गरीबों का सुधार उनकी सबसे बड़ी प्राथमिकता है।

पहली बार देश के राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति और पीएम ऐसे लोग हैं जिन्होंने बचपन में गरीबी देखी हैः पीएम मोदी

एक परिवार को बचाने के लिए सभी नेता एक हो रहे हैं: पीएम मोदी

BJP सरकार सही रास्ते पर, हमने जनता का विश्वास और मत दोनों जीता: पीएम मोदी

हमने 4 वर्षों में देश के 125 करोड़ लोगों में भरोसा पैदा कियाः पीएम मोदी

कटक में बोले PM मोदी- हम बड़े फैसले लेने से नहीं चूकते हैं

देश में कन्फ्यूजन नहीं, कमिटमेंट वाली सरकारः पीएम मोदी

महान स्वतंत्रता सेनानी सुभाष चंद्र बोस की जन्मभूमि है कटकः पीएम मोदी

महान स्वतंत्रता सेनानी सुभाष चंद्र बोस की जन्मभूमि है कटकः पीएम मोदी

गरीबों का पसीना गंगाजल की तरह: पीएम मोदी

मोदी सरकार के 4 साल: राहुल गांधी ने मोदी को दिया F ग्रेड, लेकिन इन दो कामों के लिए की तारीफ

गोवा: बीच पर प्रेमी के सामने हुआ प्रेमिका का गैंगरेप, दो आरोपी गिरफ्तार

रांची : सीनियर महिला हॉकी टीम के राष्ट्रीय शिविर में झारखण्ड के तीन खिलाड़ियों का चयन

NewsCode Jharkhand | 26 May, 2018 5:03 PM

रांची : सीनियर महिला हॉकी टीम के राष्ट्रीय शिविर में झारखण्ड के तीन खिलाड़ियों का चयन

रांची। सीनियर भारतीय महिला हॉकी टीम के राष्ट्रीय शिविर में झारखण्ड की तीन महिला हॉकी खिलाड़ियों निक्की प्रधान, सोनल मिंज एवम बिरजनी एक्का का चयन 28 मई से 09जून तक साई सेंटर बैंगलौर में आयोजित सीनियर भारतीय महिला हॉकी टीम के राष्ट्रीय शिविर में झारखण्ड की तीन खिलाड़ियों का चयन हुआ है।

रांची : मयूर शेखर झा बने झारखंड प्रदेश कांग्रेस के सोशल मीडिया कोऑर्डिनेटर

निक्की प्रधान, सोनल मिंज एवम बिरजनी एक्का का चयन पिछले माह 26 अप्रेल से 8 मई तक सम्पन्न रास्ट्रीय शिविर में बेहतर प्रदर्शन के आधार पर कोर ग्रूप में रखा गया है। ये झारखण्ड के हॉकी के लिए अच्छी खबर है कि जूनियर के बाद सीनियर स्तर में भी तीन-तीन खिलाड़ियों  का चयन एक साथ हुआ है।

भारतीय टीम शिविर के लिए इन्हें चयनित किये जाने पर हॉकी झारखण्ड के अध्यक्ष भोलानाथ सिंह, विजय शंकर सिंह, शशिकांत प्रसाद, रजनीस कुमार, असुंता लकड़ा, मनोज कोनबेगी, आश्रिता लकड़ा, माइकल लाल, सुरेश महतो सहित हॉकी झारखण्ड के समस्त पदाधिकारियों ने इन्हें बधाई और शुभकामना दी है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

X

अपना जिला चुने