रांची : विस में गतिरोध जारी, कार्यवाही चौथे दिन भी बाधित

NewsCode Jharkhand | 20 January, 2018 1:36 PM

सीएम ने कहा, सीएस पर बैंक अधिकारी पर दबाव डालने के आरोप की जांच स्पेशल ब्रांच करेगा

newscode-image

रांची। झारखंड विधानसभा के बजट सत्र की कार्यवाही चौथे दिन भी हंगामे के कारण बाधित रही। विधानसभा की कार्यवाही शुरू होने पर झारखंड विकास मोर्चा के प्रदीप यादव ने मुख्य सचिव के विरुद्ध पद के दुरुपयोग का आरोप लगाते हुए उन्हें पद से हटाने और उनके कार्यकाल की जांच सीबीआई से कराने की मांग की। जबकि सत्ता पक्ष के कई सदस्य  विपक्षी दलों पर सदन की कार्यवाही बाधित करने का आरोप लगाते हुए कहा कि रोज-रोज एक ही मुद्दे को लेकर सदन की कार्यवाही बाधित करने का तरीका सही नहीं है।

विधानसभा अध्यक्ष दिनेश उरांव ने झारखंड मुक्ति मोर्चा के अमित कुमार की ओर से लाए गए कार्य स्थगन प्रस्ताव को अमान्य कर दिया। विधायक अमित कुमार ने जेपीएससी द्वारा आयोजित छठी संयुक्त असैनिक परीक्षा के प्रारंभिक परीक्षा में आरक्षण नियमों का पालन नहीं करने को लेकर कार्य स्थगन प्रस्ताव लाया था।

इस बीच नौजवान संघर्ष मोर्चा के भानु प्रताप शाही ने नगर निकाय चुनाव दलीय आधार पर कराए जाने के निर्णय की चर्चा करते हुए कहा कि कई छोटे राजनीतिक दलों को निकाय चुनाव में दल के रूप में मान्यता नहीं दी गई है, जिसके कारण झारखंड पार्टी, भाकपा माले, जय भारत समानता पार्टी और नौजवान संघर्ष मोर्चा जैसे राजनीतिक दल अपने उम्मीदवार निकाय चुनाव में नहीं खड़ा कर सकेंगे। उन्होंने कहा कि यदि यह दल-दल चुनाव में उम्मीदवार नहीं खड़ा कर सकेंगे तो पार्टी कहां जाएगी।

सदन में उठने वाले मुद्दे व्यक्तिगत नहीं बल्कि राज्य हित से जुड़ा विषय- हेमंत

नेता प्रतिपक्ष हेमंत सोरेन ने कहा कि सदन में 3 दिनों से जो मुद्दा उठ रहा है वह विषय व्यक्तिगत मसला नहीं है बल्कि राज्य हित से जुड़ा हुआ है। उन्होंने कहा कि चाहे  भानु प्रताप शाही द्वारा उठाया गया मसला हो या बोकारो के ललपनिया में तृतीय और चतुर्थ वर्ग की नौकरियों में स्थानीय लोगों की बहाली का मुद्दा हो, सदन के अंदर ही मुख्यमंत्री ने इस मसले पर आश्वासन दिया था। लेकिन बाद में वे खुद नियुक्ति पत्र बांट कर आ गए।

Read more:- रांची : लॉन्ड्री मामले में जीएम ने कहा- ‘चटनी’ हो या ‘सॉस’, कोई फर्क नहीं पड़ता

उन्होंने कहा कि जेपीएससी परीक्षा में आरक्षण नियमों का अनुपालन नहीं होने पर विरोध कर रहे अभ्यर्थियों को लाठी डंडे से पीटा जाता है, यदि विपक्ष इन मुद्दों को सदन में नहीं उठाएगा तो विपक्ष यहां क्यों बैठेगा। उन्होंने कहा कि जिस पदाधिकारी पर एक भी व्यक्ति की मौत के लिए जिम्मेदार होने का आरोप है यदि ऐसे पदाधिकारियों पर कार्रवाई नहीं होती है, तो फिर जनता के सवाल को कहां उठाया जाएगा।

उन्होंने बताया कि मुख्य सचिव  लिखित रूप से जांच को धीमी करने का आदेश देती है और विपक्ष द्वारा सवाल उठाए जाने पर भी कोई कार्रवाई नहीं होना दुखद है। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि पूरे राज्य के लोगों को यह लग रहा है कि यह सदन नहीं प्रपंच है ।

मुख्य सचिव पर बैंक अधिकारी पर दबाव डालने के आरोप की होगी जांच-सीएम

झारखंड विकास मोर्चा के प्रदीप यादव ने कहा कि एक और नौजवानों के भविष्य के साथ खिलवाड़ हो रहा है वहीं दूसरी ओर मुख्य सचिव द्वारा अपने पद का दुरुपयोग कर एक बैंक के अधिकारी पर अपने बेटे के बिजनेस में निवेश का दबाव डाला जा रहा है।

इस संबंध में मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि भानु प्रताप साही ने जो मुद्दा उठाया है उस नगर विकास मंत्री जवाब देंगे। उन्होंने नेता प्रतिपक्ष हेमंत सोरेन और झाविमो के प्रदीप यादव द्वारा मुख्य सचिव पर बैंक अधिकारी पर दबाव डालने का जो आरोप लगाया गया है, उस मामले की जांच स्पेशल बेंच द्वारा कराई जाएगी।

मुख्यमंत्री के वक्तव्य से भी विधायक संतुष्ट नहीं हुए और ठोस कार्रवाई की मांग को लेकर शोरगुल करने लगे, जिसके कारण विधानसभा अध्यक्ष ने सभा की कार्यवाही दोपहर 12:45 तक के लिए स्थगित कर दिया।

सदन की कार्यवाही दोबारा शुरू होने पर नेता प्रतिपक्ष हेमंत सोरेन समेत अन्य विधायकों ने मुख्य सचिव के विरुद्ध कार्रवाई का मसला उठाते हुए कहा कि इस मामले में उपर वाला कार्यवाही करेगा क्या। विपक्षी सदस्यों के शोर-शराबे के बीच ही संसदीय कार्य मंत्री सरयू राय ने चालू वित्तीय वर्ष के तृतीय अनुपूरक बजट पर वाद विवाद कराए जाने का प्रस्ताव रखा। जिसके बाद सदन की कार्यवाही दोपहर 2:00 बजे भोजनावकाश तक के लिए स्थगित कर दी गई।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बोकारो : सरकार की नीतियों को जन जन तक पहुंचाएं कार्यकर्ता  – शिवशक्ति

NewsCode Jharkhand | 22 September, 2018 9:51 PM
newscode-image

बेरमो (बोकारो) । कमल संदेश के कार्यकारी संपादक व भारतीय जनता पार्टी की पत्रिकाएं एवं प्रकाशन विभाग के राष्ट्रीय संयोजकडॉ. शिवशक्ति  बक्शी रांची से गिरिडीह जाने के क्रम में गोमिया में रुके। इस दौरान अपनी उपस्तिथि दर्ज कराते हुये उन्होंने अपना पासा फेंक दिया।

गोमिया के सुभाष मार्केट में बक्शी को भाजपा कार्यकर्ताओं ने बुके देकर स्वागत किया। इस दौरान शिवशक्ति बक्शी ने कहा कि इस बार भी केंद्र में नरेंद्र मोदी की सरकार बनेगी और गिरिडीह लोकसभा क्षेत्र में इस चुनाव में भी भाजपा प्रत्याशी की भारी मतों से जीत हासिल होगी।

मैं भी पूरे क्षेत्र में घूम घूम कर भाजपा कार्यकर्ताओं से मिल रहा हूं और पार्टी के प्रति उनके क्रियाकलापों की जानकारी हासिल कर रहा हूं। कार्यकर्ता भाजपा व सरकार की नीतियों को जन जन तक पहुँचाते हुए उसका लाभ भी दिलाने का कार्य करें।

चुनाव लड़ने की बात पर उन्होंने कहा कि मैं पार्टी की नीतियों से बंधा हूं और पार्टी का जो भी निर्देश होगा वह करूंगा। सिटिंग सीट से प्रत्याशी बदलने के सवाल पर कहा कि केंद्रीय नेतृत्व को सारे प्रत्याशी का बायोडाटा पता है।

पार्टी सब पर विचार कर रही है। समय आने पर पता चल जायेगा। मौके पर गोमिया मंडल भाजपा अध्यक्ष प्रवीण कुमार, बीएचपी के जिला उपाध्यक्ष विनय कुमार, दीपक ठाकुर,  बीस सूत्री सदस्य अमित कुमार, अजय तिवारी, दरबारी मांझी, गजेंद्र सिंह, नसीम अंसारी, राजू अंसारी आदि उपस्थित थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

जमशेदपुर : टाटा स्‍टील ने किया उषा मार्टिन के स्‍टील व्‍यवसाय का अधिग्रहण

NewsCode Jharkhand | 22 September, 2018 10:03 PM
newscode-image

जमशेदपुर। टाटा स्‍टील की ओर से शनिवार को जारी एक प्रेस विज्ञप्ति में बताया गया कि टाटा स्‍टील और उसकी अनुषंगी इकाईयों द्वारा, उषा मार्टिन लिमिटेड के स्‍टील व्‍यवसाय के अधिग्रहण को लेकर एक सुनिश्चित सहमति पत्र पर हस्‍ताक्षर किए गए हैं। दोनों कंपनियों के बीच ये एग्रीमेंट कोलकाता में 22 सितंबर 2018 को किया गया। इस तथ्‍य को सेबी अधिनियम 2015 की धारा 30 के अंतर्गत सार्वजनिक करने के बारे में उल्‍लेख किया गया है। इस प्रेस विज्ञप्ति को टाटा स्‍टील लिमिटेड के मुंबई ऑफिस की ओर से उनके कंपनी सेक्रेटरी ने जारी किया है।    

घाटशिला : जसपाल ढाबा में छापेमारी के दौरान 30 अंग्रेजी शराब की बोतलेें बरामद

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

बाघमारा : शराब दुकान में अधिक मूल्य लेने पर बवाल

NewsCode Jharkhand | 22 September, 2018 9:46 PM
newscode-image

बाघमारा (धनबाद )। झारखण्ड सरकार ने शराब दुकानों की सरकारीकरण तो कर दी है लेकिन शराब दुकानदारों की मनमानी थमने का नाम नहीं ले रहा है। शराब दुकानदार आज भी जबरन अधिक मूल्य ग्राहकों से लेते हैं।

बाघमारा के हरिणा स्थित शराब दुकान में अधिक मूल्य लेने पर बवाल हो गया। हंगामा होते देख दुकान का शटर  लगभग 1 घंटे के लिए बंद कर दिया गया।

बाघमारा : शराब दुकान में अधिक मूल्य लेने पर बवाल

धनबाद : डॉक्टरों ने निकाला कैंडल मार्च, जिला प्रशासन के खिलाफ जताई नाराजगी

जिले में अन्‍य जगहों से शराब के दाम ज्‍यादा लेने के मामले सामने आ रहे हैं। इससे पूर्व भी शराब दुकान में ज्‍यादा दाम लेने पर हंगाम हो चुका है।

इसकी खबर उत्पाद आयुक्त को भी मिल चुकी है। उन्‍होंने कार्रवाई का भरोसा दिया है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

More Story

more-story-image

मसलिया : फरार चल रहा अभियुक्त को पुलिस ने किया...

more-story-image

सिमडेगा : उपायुक्त ने की आयुष्मान भारत योजना का लाभ...