रांची : पीडीएस दुकानदार मानसिकता बदलें, नहीं तो लोगों को कहीं से भी सामान खरीदने की छूट देंगे : सीएम

NewsCode Jharkhand | 4 October, 2017 3:00 PM
newscode-image

रांची मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा है कि जनवितरण प्रणाली दुकानदार अपनी मानसिकता बदलें, नहीं तो आने वाले वक्त में राज्य सरकार जनता को यह छूट देगी कि वे कहीं से भी सामान खरीद सकते हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि गरीब का अधिकार उन तक पहुंचे, इसी सोच से डीबीटी के माध्यम से खाद्यान्न  वितरण करने का फैसला लिया गया है।

पूर्व की सरकारों ने घोटालों से की आर्थिक उन्नति

उन्होंने कहा कि सरकार की प्राथमिकता है विकास, सुशासन और जवाबदेही। सुशासन ख्याली पुलाव और घिसेपिटे वादों से पूरा नहीं हो सकता है। रघुवर दास ने कहा कि पूर्व में कांग्रेस और एक क्षेत्रीय दल ने गरीब और आदिवासी के नाम पर खूब राजनीति की और अपने मतपेटियों को भर कर स्वयं की आर्थिक उन्नति में सफलता हासिल की। पूर्व की सरकार में कई तरह के घोटाले सामने आ रहे थे, लेकिन उनकी सरकार पूरी पारदर्शिता के साथ काम कर रही है।

पीडीएस दुकानों में मिलेगा घर की जरुरत का हर सामान

मुख्यमंत्री ने कहा कि आने वाले समय में पीडीएस दुकानदार अपनी दुकान में नमक, मिर्च और मसाला समेत अन्य सामानों की बिक्री भी कर सकेंगे, इसमें सरकार को कोई आपत्ति नहीं है, लेकिन यदि आनाज की कालाबाजारी और अन्य गड़बड़ियां नहीं रुकी, तो सरकार 1105रुपये जो लाभुकों के खाते में जमा कराएगी, उन लाभुकों को यह भी छूट दी जाएगी कि इस राशि से वह किसी भी दुकान से अनाज खरीद सके।

उन्होंने कहा कि पीडीएस दुकानदार खुद को स्थापित करना चाहते है, तो राशन का सारा सामान रखें और यह कार्ड महिलाओं के नाम ही होना चाहिए, क्योंकि घर का काम महिलाएं ही संभालती है। उन्होंने कहा कि सरकार ने डीबीटी की योजना साईकिल वितरण, छात्रवृति और पेंशन देने में भी लागू की है, इस तकनीक से देश के करोड़ों रुपये बच रहे है, इसका इस्तेमाल गरीब कल्याण के लिए हो रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का भी मानना है कि हर योजना का लाभ सीधे लाभुकों को मिलें, राज्य में 14 साल से बिचौलिये गरीबों का हक मार रहे  थे, इसे सरकार ने बचाया है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का मीठी क्रांति का आह्वान

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मीठी क्रांति का आह्वान किया है, प्रधानमंत्री के सपने को पूरा करने के लिए राज्य सरकार भी प्रत्यनशील है, किसान मधुमक्खी पालन कर शहद तैयार करें, उन्हें शहद बेचने के लिए कहीं जाने की जरुरत नहीं होगी, सरकार उनके घर जाकर शहद को खरीद लेगी। उन्होंने कहा कि आने वाले समय में हर गरीब को किसी न किसी योजना से जोड़ना है, सभी युवाओं को हुनरमंद बनाने का प्रयास किया जा रहा है। 2022 तक गरीबी को राज्य से दूर भगाना है। प्रधानमंत्री ने 2022 तक किसानों की आय को दुगुना करने का लक्ष्य निर्धारित किया है, यह सिर्फ कृषि उत्पादन से नहीं, बल्कि अन्य कृषि उपज बढ़ाने से ही संभव हो सकता है।

चक्रधरपुर :  दशरथ गागराई हैैं सिंहभूम से लोस चुनाव के लिए जेएमएम के संभावित प्रत्याशी

NewsCode Jharkhand | 26 September, 2018 4:36 PM
newscode-image

चक्रधरपुर । झारखंड मुक्ति मोर्चा के खरसावां  विधायक दशरथ गागराई सिंहभूम लोकसभा क्षेत्र से सांसद प्रत्याशी के रूप में सबसे प्रबल दावेदार माने जा रहे हैं।

2014 में झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री एवं भाजपा के कद्दावर नेता अर्जुन मुंडा को खरसावां विधानसभा क्षेत्र में पटखनी देने के बाद दशरथ गागराई सुर्खियों में आए।

इस अप्रत्याशित जीत ने गागराई को राज्य भर में एक अलग पहचान प्रदान की और झारखंड मुक्ति मोर्चा के एक फायर ब्रांड नेता के रूप में पहचाने जाने लगे। कोल्हान प्रमंडल में इनके चाहने वालों की संख्या काफी तादाद में है।

गठबंधन पर टिकी है उम्मीदवारी की दावेदारी

झारखंड में प्रक्रियाधीन गठबंधन के फलीभूत होने पर ही इनकी उम्मीदवारी सशक्त मानी जाएगी। कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष डॉक्टर अजय कुमार के चुनाव लड़ने पर ही सिंहभूम सीट झामुमो के खाते में आने की संभावना है।

माना जा रहा है कि गठबंधन होने की स्थिति में दोनों ही दलों को कुछ स्थानों पर समझौते करने पड़ेंगे जिसमें जमशेदपुर और सिंहभूम सीट पर समझौते होने के पूर्ण आसार हैं।

चक्रधरपुर : आकर्षक मन्दिर रूपी पंडाल बना रहा है, श्रीश्री शीतला मन्दिर दुर्गा पूजा समिति

जमशेदपुर में झामुमो की पकड़ काफी मजबूत है, लेकिन डॉक्टर अजय कुमार के चुनाव लड़ने की स्थिति में झारखंड मुक्ति मोर्चा यह सीट कांग्रेस को दे सकती है,उस परिस्थिति में झामुमो सिंहभूम सीट पर अपना दावेदारी प्रस्तुत करने में कोई कसर नहीं छोड़ेगा।

सिंहभूम लोकसभा क्षेत्र में झामुमो की पकड़ मजबूत

सिंहभूम लोकसभा क्षेत्र में मनोहरपुर, चक्रधरपुर, चाईबासा, मझगांव, जगन्नाथपुर एवं सरायकेला विधानसभा क्षेत्र आते हैं। कुल 6 विधानसभा क्षेत्रों में से 5 पर झामुमो का कब्जा है। इस लिहाज से झामुमो इस लोकसभा क्षेत्र में काफी मजबूत स्थिति में है।

2004 में हो चुका है गठबंधन, परिणाम भी अच्छे रहे हैं

झारखंड मुक्ति मोर्चा और कांग्रेस का गठबंधन 2004 लोकसभा चुनाव में भी हुआ था जिसमें सिंहभूम लोकसभा क्षेत्र से बागुन सुंब्रुई एवं जमशेदपुर लोकसभा क्षेत्र से सुनील महतो की अप्रत्याशित जीत हुई थी।

इस बार भी वैसे ही परिणाम आने के संकेत हैं। बस सीटों की अदला- बदली होनी बाकी हैं।

1991 में सिंहभूम सीट पर झामुमो का कब्जा रहा

1991 में हुए लोकसभा चुनाव में कृष्णा मार्डी सिंहभूम लोकसभा क्षेत्र से सांसद चुने गए थे।उस समय गठबंधन नहीं था और वे सिंहभूम से झामुमो के पहले सांसद बने ।

 सिंहभूम लोकसभा सीट को लेकर दशरथ गागराई सबसे अधिक सुर्खियों में

सिंहभूम लोकसभा क्षेत्र के लिए दशरथ गागराई उर्फ़ कृष्णा गागराई का नाम सबसे अधिक चर्चा में बना हुआ है। ऐसा माना जा रहा है कि पार्टी के सीटिंग विधायक में से ही लोकसभा चुनाव का प्रत्याशी तय होना है।

हेमंत सोरेन ने दिया है निर्देश, करें चुनाव की तैयारी

झामुमो के सूत्र बताते हैं कि विधायक दशरथ गागराई को लोकसभा चुनाव की तैयारी के लिए पूर्व मुख्यमंत्री व पार्टी के उपाध्यक्ष हेमंत सोरेन ने निर्देश दिया है। इस संबंध में प्रथम दौर की बैठक हेमंत सोरेन के साथ हो चुकी है।

सरकार की गलत नीतियों का मिलेगा लाभ

सीएनटी-एसपीटी एक्‍ट मेें संशोधन का प्रयास, भूमि अधिग्रहण संशोधन विधेयक, गलत स्थानीय एवं नियोजन नीति के कारण कोल्हान प्रमंडल में उबाल की स्थिति है।

दशरथ गागराई इन गलत नीतियों को जनता के बीच में बहुत ही सहज और सरल तरीके से प्रस्तुत कर लोगों का ध्यान अपनी ओर आकर्षित करने में कामयाब हो रहे हैं।

इनका व्यक्तित्व भी काफी प्रभावशाली है। आदिवासी- गैर आदिवासी, अल्पसंख्यक सभी समुदाय के लोग इन्हें समान रूप से महत्व देते हैं।

जनहित से जुड़े मामलों के निष्पादन में त्वरित कार्रवाई के लिए जाने जाते हैं

दशरथ गागराई का काम करने का स्टाइल सबसे अलग है। मामले की गंभीरता को समझते हुए किसी भी समस्या के समाधान में ये गहरी रुचि रखते हैं।

समस्या छोटी हो या बड़ी तुरंत संबंधित अधिकारियों को फोन पर कार्रवाई हेतु निर्देश देना इनके कार्य शैली का एक हिस्सा है। आवश्यकता पड़ने पर ये पंचायत सेवक से लेकर मुख्य सचिव तक को फोन लगा देते हैं।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

 चक्रधरपुर : उलगुलान फाउंंडेशन के बैनर तले  1000 लोगोंं को सम्मानित करेंगे सुदेश महतो

NewsCode Jharkhand | 26 September, 2018 4:59 PM
newscode-image

चक्रधरपुर । आगामी 30 सितंबर 2018 को चक्रधरपुर के पोड़ाहाट स्टेडियम में पूर्व मुख्यमंत्री सुदेश कुमार महतो उलगुलान फाउंडेशन के बैनर तले मेधावी छात्र- छात्राएं  एवं गुरुजनों को यानी लगभग 1000 लोगों को सम्मानित करेंगे।

यह सम्मान समारोह उलगुलान फाउंडेशन के बैनर तले आयोजित की जा रही है जिसकी तैयारी आजसू के नेताओं की ओर से व्यापक तौर पर की जा रही है।

चक्रधरपुर :  दशरथ गागराई हैैं सिंहभूम से लोस चुनाव के लिए जेएमएम के संभावित प्रत्याशी

इस संबंध में आज स्थानीय वन विश्रामागार में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में उलगुलान फाउंडेशन के बैनर तले शिक्षक सह प्रतिभा सम्मान समारोह कार्यक्रम की विस्तारपूर्वक जानकारी दी गई ।

संवाददाता सम्मेलन में मुख्य रूप से जिला अध्यक्ष  सिद्धार्थ शंकर महतो, चक्रधरपुर विधानसभा के प्रभारी व आजसू नेता रामलाल मुंडा के अलावा आजसू नगर अध्य्क्ष प्रदीप महंती के अलावा आजसू नेता सनातन प्रधान, प्रखंड की टीम मौजूद थी।

कार्यक्रम की जानकारी देते हुए जिला अध्‍यक्ष श्री महतो व प्रभारी श्री मुंडा ने बताया कि विधानसभा स्तर पर  प्लस टू के तीनोंं संकाय के टॉपरों एवम प्रखण्ड स्तरीय मैैट्रिक टॉपरों व स्कूल स्तर के टॉपरों को  सम्मानित किया जाएगा।

इनके अलावा प्रिंसिपल, प्रोफेसर, शिक्षक  (जिसमेंं पारा शिक्षक भी शामिल), रिटायर्ड शिक्षक को भी सम्मानित किया जाएगा।

सम्मान समारोह में मुख्य  अतिथि पूर्व उप मुख्यमंत्री सुदेश महतो के अलावा पार्टी के प्रवक्ता डॉ देव शरण भगत, जुगसलाई के विधायक रामचन्द्र साहिस के अलावा आजसू में शामिल होने वाले रिटायर्ड जज, रिटायर्ड फ्रोफेसर आदि भी  अतिथि के रूप में मौजूद रहेंगे ।

संवाददाता सम्मेलन में अल्पसंख्यक जिला अध्यक्ष शेखावत हुसैन, आजसू नेता बबलू खान, सजंय प्रधान, प्रदीप महंती, गणेश लागुरी, सनातन प्रधान, विककी साहू आदि मौजूद थे।

इन्हें किया जाएगा सम्मानित

प्रिंसिपल, प्रोफेसर, शिक्षक, रिटायर्ड शिक्षक, पारा शिक्षक, बीआरपी/सीआरपी,  इंटर के विधानसभा स्तर के तीनों संकाय के टॉपर, प्रखण्ड स्तर के मैैट्रिक के टॉपर, विधानसभा क्षेत्र केस्कूल टॉपर, स्टेट टॉपर।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

सिमडेगा :  यूबीआई का ग्राहक सेवा केंद्र तीन माह से बंद, 3 हजार खाताधारी परेशान

NewsCode Jharkhand | 26 September, 2018 4:57 PM
newscode-image

सिमडेगा।  कोलेबिरा स्थित यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया का ग्राहक सेवा केंद्र(बीसी) विगत 3 महीने से बंद पड़ा है। इससे लगभग 3 हजार खाताधारक परेशान हैं। ज्ञात हो कि 6 जुलाई 2018 को सेवा केंद्र के संचालक सुनील कुमार नाग को, बैंक से पैसा लाने के क्रम में लुटेरों ने रास्ते में लूट लिया था। तब से संबंधित बैंक ने सेवा केंद्र को बंद कर दिया है। अब इस सेवा केंद्र में वृद्धा पेंशनधारी, छात्र-छात्राओं के अलावा अन्य खाताधारक परेशान हैं। पैसा नहीं मिलने के कारण इन लोगों को काफी परेशानि‍यों का सामना करना पड़ रहा है।

ग्राहक सेवा केंद्र में फिंगरप्रिंट के माध्यम से लोगों को भुगतान किया जाता था। जब इस केंद्र के खाताधारी यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया कोलेबिरा शाखा पैसा निकालने जाते हैं तो वहां पैसा नहीं दिया जाता है। पैसा नहीं मिलने के कारण कई ग्रामीण अपनेबीमार परिजनों का इलाज नहीं करा पा रहे हैं।

इस संबंध में यूबीआई बैंक कोलेबिरा के शाखा प्रबंधक ने कहा कि लूट की घटना के बाद रि‍जनल ऑफिस से केंद्र को बंद किया गया है। रि‍जनल ऑफिस से मांगे गए सारे कागजात उपलब्ध करा दिये गए हैं। उम्मीद है कि  कुछ दिन के बाद इस संबंध में जवाब मिलेगा। वहां से जवाब आने के बाद ही केंद्र को पुनः चालू किया जा सकता है। इधर केंद्र के खाताधारियों का कहना है कि जल्द से जल्द इस केंद्र को नहीं खोला गया तो वे लोग यूबीआई बैंक कोलेबिरा शाखा का घेराव करेंगे।

सिमडेगा : इतिहास रचकर लौटी महिला हॉकी टीम का हटिया स्टेशन पर जोरदार स्वागत

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

More Story

more-story-image

निरसा : अवैध खनन स्थल पर पुलिस की छापेमारी में...

more-story-image

टुण्डी : लादेन क्लब ने फाइनल मैच में ट्रॉफी पर...