रांची : दोषी को जल्द गिरफ्तार करें नही तो होगा आंदोलन- विश्वकर्मा समाज

NewsCode Jharkhand | 25 February, 2018 6:43 PM
newscode-image

रांचीविश्‍वकर्मा समाज की रांची ज़िला कमेटी ने 25 फरवरी को आयोजित ‘पारिवारिक मिलन समारोह सह वनभोज’ को स्थगित कर शोकसभा का आयोजन किया। उपस्थित सदस्‍यों ने चतरा जिले के प्रतापपुर प्रखंड के हुमाजंग ग्राम में नाबालिक के साथ दुष्कर्म करके जलाकर मार देने की घटना का विरोध किया। विश्‍वकर्मा समाज के प्रदेश अध्यक्ष विकास राणा के बताया कि इसी मुद्दे को लेकर मिलन समारोह को स्‍थगित किया गया। इस घटना से पूरे समाज में शोक की लहर है।

रांची : युवा आईडिया बताएं, जमीन पर उतारने की कोशिश करेंगे- रघुवर दास

विश्‍वकर्मा समाज के सदस्‍यों ने इस कृत्‍य की भर्त्‍सना की। दोषियों के विरुद्ध सख्त से सख्त कार्रवाई करने की मांग राज्य सरकार से की गई। रांची जिला अध्यक्ष संतोष कुमार ने कहा कि राज्य सरकार जल्द से जल्द दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करें अन्यथा विश्वकर्मा समाज चरणबद्ध आंदोलन करेगा।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं

गिरिडीह : बिजली विभाग की लापरवाही से लाखों के बिजली उपकरण जल कर हुए खाक  

NewsCode Jharkhand | 21 September, 2018 7:23 PM
newscode-image

गिरिडीहबिजली विभाग की लापरवाही जगजाहिर है। यहां लचर व्यवस्था का खामयाजा रह रह कर शहरवासियों को भुगतना पड़ता है। एक बार फिर शहर के बभनटोली स्थित गार्डेना गली के लोग विभाग के लापरवाह रुख से परेशन हो उठे।

बताया गया कि गुरुवार की सुबह जर्जर तार को बदलने के उद्देश्य से सामान्य के जगह केबल वायर लगाया लेकिन केबल वायर लगाने के लिए बहाल किये गए कार्य एजेंसी की नासमझी ने बिजली उपभोक्ताओं को मानसिक और आर्थिक रूप से परेशान कर दिया।

गावां : कागजों पर ही सीमित रहा कानून, बगैर लैब, लाइब्रेरी और शिक्षक के पढ़ रहे छात्र

बताया जाता है कि गुरुवार  देर शाम को केबल वायर का कार्य संपादित होने के बाद जैसे ही विधुत प्रभावित की गयी तभी नए विधुतीकरण तारों में 440 वोल्ट की धारा प्रवाहित होने लगा। इस दौरान कई घरों के बिजली उपकरण जल गए। यह सिलसिला यही पर थमा नही देर रात 11 बजे भी फॉल्ट को दूर करने की बात कहकर पुनः विधुत प्रभावित की गई तो एक बार फिर घरो में लगे बिजली के उपकरण नष्ट होने लगे।

विद्युतीकरण में लगे कार्य एजेंसी को जब अपनी गलती का एहसास हुआ तो वह रातभर विधुत प्रभाव को संबंध विच्छेद कर दिया जिससे बभनटोली और गार्डेना गली के लोग रात भर अंधेरे में रहे।

बेंगाबाद :  या अली या हुसैन के नारों से गूंज उठी  फ़िज़ा, नुमाइशी अखाड़े का हुआ आयोजन

अगले दिन शुक्रवार को पुनः कार्य एजेंसी द्वारा  फॉल्ट नही पकड़े जाने की स्थिति में पुराने तार को ही मेन लाइन से जोड़ दिया गया।  यहां भी कमोवेश यही स्थिति रही और दोपहर को जैसे ही लाइन चालू हुआ घर मे बचे खुचे उपकरण भी कार्य एजेंसी की लापरवाही और नासमझी का भेंट चढ़ गया।

बताया जाता है कि  दो दिन में 3 बार 440 v. होने से करीब 250 घर की आबादी वाले घर मे लाखों रुपये के बिजली की उपकरण खराब हो गया है । घटना को  लेकर स्थानीय लोगों में विभाग के प्रति आक्रोश देखने को मिला रहा है। इस बाबत सीधे शब्दों में लोग इस घटना का जिम्मेदार विभागीय लोगों को ठहरा रहे  हैं।

बताया गया कि इलाके में बल्ब तो अनगिनत उड़े हैं।इसके आलावे  टीवी, फैन, एसी, फ्रिज, आदि घरेलू उपकरणों के जलने के भी मामले बारी बारी से आ रहे हैं। फिलहाल शहरी क्षेत्र के 27 नंबर वार्ड के गार्डेना गली और बभनटोली में अभी भी बिजली गुल है।

 (अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

जमशेदपुर : सफाई की बाट जोह रही कचरे से भरी स्वर्णरेखा नदी

NewsCode Jharkhand | 21 September, 2018 7:28 PM
newscode-image

जमशेदपुर। जमशेदपुर शहर की जीवनरेखा स्वर्णरेखा नदी इन दिनों सफाई की बाट जोह रही है। नदी में चारों तरफ कचरे भरे पड़े हैं। लेकिन इसकी सफाई पर कोई ध्यान नहीं दे रहा।

वैसे पूूरे देश भर में स्‍वच्छता  पखवाड़ा चलाया जा रहा है, लेकिन इस जीवनरेखा  नदी के सफाई पर किसी का ध्यान नहीं जा रहा है।

चांडिल : डाकघर कर्मचारियों ने चलाया स्वच्छता अभियान

वैसे स्वर्णरेखा नदी जमशेदपुर के लिए लाइफ लाइन इसलिए है, क्योंकि पूरे शहर के लिए पानी का एक मात्र साधन यही नदी है, इतना ही नहीं टाटा कंपनी में भी पानी इसी नदी से पहुंचता है।

विसर्जन के बाद मूर्तियों के पड़े अवशेष

इस नदी का हाल इन दिनों खस्ता है। नदी की पानी फिलवक्त नदी का पानी इन दिनों न पीने लायक है और न ही नहाने लायक। पिछले दिनों हुए गणपति विसर्जन के बाद मूर्तियों के अवशेष पड़े हैं और इसकी सफाई की कोई व्यवस्था अब तक नहीं की गई है।

आलम ये हैं की पूरी नदी कचड़े से भर सा गया है। वैसे इन दिनों देश भर में स्वच्छता पखवाड़ा चलाकर साफ सफाई की जा रही है, लेकिन इस प्राणदायिनी नदी पर किसी का ध्यान नहीं जा रहा है।

नदी में आने वाले लोगों के अनुसार नदी का पानी इतना दूषित हो चुुका है कि ये न ही पीने लायक है और न ही नहाने लायक। अब सोचने वाली बात ये है कि जब नदी ही दूषित है, तो फिर स्वच्छता अभियान किस काम का।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

सिमडेगा : मुहर्रम का पर्व शांतिपूर्वक संपन्‍न, अखाड़ों ने दिखाए करतब

NewsCode Jharkhand | 21 September, 2018 7:27 PM
newscode-image

सिमडेगा। मुहर्रम का पर्व शांतिपूर्वक संपन्‍न हो गया। सभी अखाड़ों ने भट्ठी टोली स्थित हारून रसीद चौक से सामूहिक रूप से मुहर्रम का जुलूस निकाला। लोग गाजे-बाजे के साथ इस्‍लामपुर स्थित हारून रसीद चौक पहुंचे। जुलूस के दौरान कई स्थानों पर शस्त्र-चालन का प्रदर्शन किया गया तथा कई करतब भी दिखाये। मुहर्रम के जुलूस से पूर्व गुलजार गली के सामने मुहर्रम समिति चर्च रोड के तत्वावधान में पगड़ी समारोह का आयोजन किया गया। इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में उपायुक्त जटाशंकर चौधरी एवं विशिष्ट अतिथि के रूप में एसपी संजीव कुमार सहित कई अधिकारी और गणमान्‍य लोग मौजूद थे।

सिमडेगा : मुहर्रम का पर्व शांतिपूर्वक संपन्‍न, अखाड़ों ने दिखाए करतब

गुमला से आये ताशा ग्रुप में शामिल मो. सद्दाम ने एक से बढ़ कर एक देश भक्ति गीतों से समां बांध दिया। उन्होंने कई देश भक्ति गीत के अलावा धार्मिक गीत भी प्रस्तुत किये। साथ ही ताशा पार्टी में शामिल कलाकारों ने ढोल-ताशे की धुन से लोगों को मंत्रमुग्‍ध कर दिया।

कोलेबिरा : सड़क निर्माण कंपनी के कैंप से 33 ड्राम अलकतरे की चोरी

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

More Story

more-story-image

चास : पिंड्राजोरा के डाबर गांव में धूमधाम से मनाया...

more-story-image

कोडरमा : मुहर्रम में कई हिन्दू परिवार पूरी श्रद्धा से...