रांची : आंगनबाड़ी सेविकाओं का आंदोलन 11वें दिन भी जारी

NewsCode Jharkhand | 17 May, 2018 6:35 PM
newscode-image

रांची। झारखंड प्रदेश आंगनबाड़ी वर्कर्स यूनियन के नेतृत्व में राजभवन के समक्ष चल रहे विरोध कार्यक्रम में गुरुवार को मानव श्रृंखला बना कर सरकार का विरोध किया गया। यूनियन के आंदोलन का गुरुवार को 11वां दिन था। महिला आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने अपनी मांगों को लेकर सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

झारखंड प्रदेश आंगनबाड़ी वर्कस यूनियन के प्रदेश संयोजक रामचन्द्र पासवान ने बताया कि 9 बिन्दुओं को लेकर महिला बाल विकास व सामाजिक सुरक्षा विभाग के सचिव विनय कुमार चौबे एवं यूनियन द्वारा पहले ही लिखित समझौता किया गया था, लेकिन अभी तक सरकार के किसी प्रतिनिधि ने हमारी मांगों पर कोई कार्रवाई नहीं की है।

रांची : आर्थिक असमानता से जूझ रहा है देश का युवा- वरुण गांधी

यूनियन के नेता बालमुकून्द ने बताया कि सरकार महिलाओं की सशक्तिकरण की बात करती हैं। दूसरी ओर उनके हक-अधिकारों का हनन करती है। विभाग के सचिव एवं आंगनबाड़ी यूनियन के बीच 9 सूत्री मांगों को लेकर गत 23 जनवरी को लिखित सहमति बनी थी। सचिव ने तीन माह के अंदर ही उनकी मांगों पर कार्रवाई करने का आश्वासन दिया था, लेकिन सहमति के करीब चार माह बीतने के बाद भी उनकी मांग अधूरी है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

चतरा : जनप्रतिनिधियों की अनदेखी से नाराजगी, विरोध में किया धान रोपनी

NewsCode Jharkhand | 16 August, 2018 5:31 PM
newscode-image

चतरा। इटखोरी प्रखण्ड के नगवा-ढोठवा पथ की जर्जर स्थिति से नाराज ग्रामीणों ने गुरुवार को बीच सड़क पर धन रोपनी किया। विरोध स्वरूप आयोजित किए गए धन रोपनी में पुरुष और महिलाएं दोनों शामिल थे। इस दौरान ग्रामीणों ने क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों के विरुद्ध नारेबाजी की।

ग्रामीणों ने कहा नाराजगी व्‍यक्‍त करते हुए कहा कि पिछले एक दशक से इस सड़क की हालत खराब है। जानकारी दिए जाने के बाद भी जनप्रतिनिधि सड़क की दुर्दशा को सुधारने के लिए कोई कदम नहीं उठा रहे है। प्रशासन भी इस मामले में हाथ पर हाथ धरे बैठा है।

सिमडेगा :  केरसई प्रखण्ड जनता दरबार में बना 40 लोगों का जाति प्रमाण-पत्र

लिहाजा थक हार कर ग्रामीणों को बीच सड़क पर धन रोपनी करना पड़ा। मालूम हो कि आठ किलोमीटर लंबी यह सड़क काफी जर्जर हो चुकी है। कई स्थानों पर सड़क का नामो निशान मिट गया है। जिससे राहगीरों को काफी परेशानी उठानी पड़ती है। खासकर स्कूल बच्चों को बेहद मुशिकल होता है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

गावां (गिरिडीह) : विभिन्न विभागों में झंडोत्‍तोलन को लेकर तालमेल का दिखा अभाव

NewsCode Jharkhand | 16 August, 2018 7:12 PM
newscode-image

 स्वतंत्रता दिवस समारोह पर दिखी अनुशासनहीनता

गावां गिरिडीह। गावां में स्वतंत्रता दिवस समारोह में इस बार पूर्वाभ्यास की पूरी कमी देखी गई। नतीजतन विभिन्न विभागों में झंझोत्‍तोलन को लेकर तालमेल का अभाव दिखा। इस कारण प्रखंड मुख्यालय में झंडोत्‍तोलन के वक्त झंडे को सलामी देने के लिए पुलिस जवान मौजूद नहीं रहे।

जबकि बीडीओ मोनी कुमारी सलामी दल को बुलाने के लिए थाना में फोन करती रहीं। वहीं गावां थाना द्वारा निर्गत आमंत्रण पत्र में दिये गये समय सारणी से एक घंटा पूर्व ही ध्‍वजारोहण कर दिया गया।

बोकारो : खेल के मामले में सरकार का रवैया उदासीन : मयूर शेखर झा

इस कारण थाना परिसर में झंडोत्‍तोलन देखने से लोग चूक गये। बता दें कि थानेदार द्वारा निर्गत आमंत्रण पत्र में झंडोत्‍तोलन का समय दिन के 10:10 बजे निर्धारित था, लेकिन तय समय से एक घंटा 4 मिनट पूर्व ही 09:06 बजे ही थाना में झंडोत्‍तोलन कर दिया गया। इस कारण तय समय पर थाने में झंडोत्तोलन में शामिल होने पहुंचे लोगों को मायूस होना पड़ा।

बैंक प्रबंधक को झंडोत्‍तोलन के बजाय घर भागना आया रास

वैसे तो तिरंगा फहराना गर्व की बात मानी जाती है और इसके लिए लोग लालायित भी रहते हैं, लेकिन समाज में कुछ ऐसे भी लोग हैं, जो स्वतंत्रता दिवस को महज एक सरकारी बंदिशों वाला कार्यक्रम मान लेते हैं। ऐसा ही नजारा गावां के इलाहाबाद बैंक में देखने को मिला।

प्रबंधक ने झंडोत्‍तोलन करने के बजाए 15 अगस्त को घर भागना ज्यादा मुनासिब समझा। फलत: गावां इलाहाबाद बैंक में एक आम सीनियर सिटीजन उमाशंकर अवस्थी ने झंडोत्‍तोलन किया।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

चाईबासा : जिले के चार प्रखंडों में लगाए गए जनता दरबार

NewsCode Jharkhand | 16 August, 2018 7:01 PM
newscode-image

 चाईबासा । पश्चिमी सिंहभूम के उपायुक्त अरवा राजकमल के निदेशानुसार गुरूवार को जिले के चार प्रखण्डों में जनता दरबार का अयोजन किया गया। नोवामुंडी प्रखण्ड मुख्यालय जनता दरबार में विभिन्न विभागों के द्वारा शिविर का लगाया गया।

जिसमें मुख्य रूप से वृद्धा पेंशन, विधवा पेंशन,विकलांग पेंशन, दिव्यांग पेंशन, जाति, आवासीय, आय प्रमाण पत्रों, स्वास्थ्य, चिकित्सा, कृषि, पशुपालन, समाज कल्याण सहित अन्य विभागों के प्रखण्ड स्तरीय पदाधिकारियों ने लोगों के समस्या का समाधान किया।

जनता दरबार में बच्चों का आधार पंजीकरण भी कराया गया। जनता दरबार का आयोजन प्रखण्ड विकास पदाधिकारी नोवामुण्डी समरेश प्रसाद भण्डारी, तथा अंचलाधिकारी गोपी उरॉव के निर्देशन में सम्पन्न हुआ। वहीं जगन्नाथपुर प्रखंण्ड कार्यालय में लगे जनता दरबार में सूचना के अभाव में लोग नहीं पहुंचे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं

More Story

more-story-image

पाकुड़ : अज्ञात वाहन की चपेट में आने एक की...

more-story-image

धनबाद : एनडीए सरकार में श्रम मंत्री रही रीता वर्मा...