रांची : आदिवासी छात्र संघ विश्वविद्यालय समिति ने जेपीएससी के विरोध में की बैठक

NewsCode Jharkhand | 8 February, 2018 7:21 PM
newscode-image

रांचीआदिवासी छात्र संघ विश्व विद्यालय समिति का बैठक ऑक्सीजन पार्क में हुआ। जिसमें बुधवार को नेतरहाट कैबिनेट की हुई। बैठक में छठी जेपीएससी का अतिरिक्त रिजल्ट देने की बात कही गई । जो न्याय  संगत नहीं है। जिन खामियों के आधार पर सदन द्वारा परीक्षा स्थगित किया गया था। उसे दरकिनार करते हुए पूरा रिजल्ट जारी करने की बात कही। जिससे यह स्पष्ट होता है कि सरकार को छुपाने के लिए पुनः गलती कर रही है। जबकि माननीय सर्वोच्च न्यायालय वाद संख्या सिविल अपील नंबर 4255- 58 /2014 में  स्पष्ट आदेश है की परीक्षा प्रक्रिया के बीच में किसी भी तरह का संशोधन नहीं किया जा सकता है।

रांची : एचईसी को लेकर भाजपा सांसद हुए गोलबंद, प्रधानमंत्री व केंद्रीय मंत्री को लिखा पत्र

इस संबंध में सरकार और आयोग को आदिवासी छात्र संघ विश्वविद्यालय समिति ने दिनांक 8 जनवरी को अवगत करा चुकी है। बावजूद आयोग और सरकार माननीय सर्वोच्च न्यायालय के आदेशों का अवहेलना कर रही है। जिसे पुरे झारखंड के अभ्यार्थियों में रोष है। जबकि आदिवासी छात्र संघ विश्व विद्यालय समिति आरंभ से ही मांग करता आ रहा है कि अतिरिक्त रिजल्ट नहीं बल्कि आरक्षण नीति का पालन करते हुए अधिसूचना के अनुसार सीट का 15 गुना रिजल्ट का प्रकाशन किया जाए। बैठक में निर्णय लिया गया कि सरकार अभी इस फैसले पर पुनः विचार करे अन्यथा यह  आंदोलन और भी उग्र होगी जिसकी जिम्मेदारी पूर्ण रूप से  सरकार की होगी ।इस बैठक में संजय माली, कुलदीप राव, अजीत लकड़ा, पूजन उराव, सुनील राव, बिपिन आदि उपस्थित थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

‘भगवान’ का रूप होते हैं शिक्षक, ये तस्वीर है गवाह…

NewsCode | 22 June, 2018 4:49 PM
newscode-image

नई दिल्ली। कहते हैं शिक्षक भगवान का रूप होते हैं। सोशल मीडिया पर वायरल होती एक तस्वीर इस कहावत के सच होने की गवाही दे रहा है। दरअसल, तमिलनाडु के तिरुवल्लुर जिले के वेल्लिग्राम स्थित सरकारी हाईस्कूल में जी भगवान नामक एक शिक्षक के तबादले से बच्चे काफी मर्माहत हैं। इस 28 वर्षीय अंग्रेजी शिक्षक का तबादला हाल ही में दूसरे इलाके के सरकारी स्कूल में कर दिया गया। स्कूल में जब ये खबर फैली तो बच्चे इतने दुखी हो गए कि स्कूल से बाहर निकलते हुए भगवान को स्टूडेंस्ट ने रोक लिया और उनसे लिपटकर रोने लगे। स्टूडेंट्स की मंशा साफ थी, वे अपने प्यारे इंग्लिश टीचर का ट्रांसफर नहीं होने देना चाहते थे।

ट्रांसफर का पता लगते ही जुट गए छात्र-परिजन

शिक्षक के ट्रांसफर की खबर से बच्चे इस कदर परेशान हुए कि वो शिक्षक जी भगवान का तबादला रोकने के लिए स्कूल में ही धरने पर बैठ गए और स्कूल न आने की बात कहने लगे। बच्चों के माता-पिता ने उनकी इस बात पर साथ दिया। आखिरकार बच्चों के इस प्रदर्शन से सरकार का दिल पसीज गया और उसने भगवान का तबादला 10 दिनों के लिए रोक दिया।

इन दस दिन में सरकार फैसला लेगी कि वो तिरुवल्लुर में ही रहेंगे या फिर किसी नए स्कूल में जाएंगे। जी भगवान ने कहा- ये मेरी स्कूल में पहली जॉब है। मैं 2014 में सरकारी हाईस्कूल में अपॉइंट हुआ था। असल में यहां जरूरत से ज्यादा टीचर हैं और उनमें से मैं एक हूं। इसलिए उन्होंने फैसला लिया कि मुझे ऐसे स्कूल में भेजा जाए जहां स्टाफ काफी कम है। इसलिए मेरा ट्रांसफर टिरुट्टनी में हुआ।

शिक्षक के तबादले पर रो पड़े छात्र तो सरकार ने रोका ट्रांसफर | Students protested against the transfer of English Teacher G Bhagwan Tamil Nadu | NewsCode - Hindi News

भगवान ने कहा- ”वो मेरे गले लग रहे थे। मेरे पैर छू रहे थे। मुझे जाने से रोक रहे थे। जिसको देखकर मैं भावुक हो गया। जिसके बाद मैं उन्हें हॉल में ले गया और कहा कि मैं कुछ दिन में आ जाऊंगा।”

भगवान 6वीं क्लास से लेकर 10वीं क्लास तक के बच्चों को इंग्लिश पढ़ाते हैं। छात्रों का कहना है कि जी भगवान शिक्षा के महत्व को बहुत अच्छी तरह समझते हैं और वह उन्हें काफी सपोर्ट भी करते हैं। उनका कहना है कि पहले कई छात्र अंग्रेजी में काफी कमजोर थे, लेकिन जी भगवान ने ऐसे बच्चों का काफी सपोर्ट किया और उन्हें उचित मार्गदर्शन दिया, जिसकी वजह से आज उनकी अंग्रेजी में काफी हद तक सुधार आया है। सुबह-शाम हर वक्त वो बच्चों के लिए उपलब्ध रहते हैं। यही कारण है कि बच्चे आज उनके तबादले की खबर से काफी दुखी हो गए और उनसे लिपटकर रोने लगे।

स्कूल के हेडमास्टर बताते हैं कि जी भगवान और बच्चों के बीच मां-बाप जैसा ही रिश्ता बन गया है। इसीलिए जब उनके तबादले का पता चला तो सबकी आंखों में आंसू थे। बच्चों ने भी बताया कि इससे पहले भी स्कूल से कई अध्यापकों का तबादला हुआ लेकिन कभी किसी टीचर के लिए ऐसा महसूस नहीं किया।

तमिलनाडु की अनुकृति वास बनीं मिस इंडिया 2018, फाइनल में पूछे गए थे ये सवाल

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

चतरा : भूमि विवाद में मुखिया समेत छह पर प्राथमिकी दर्ज

NewsCode Jharkhand | 22 June, 2018 6:31 PM
newscode-image

चतरा। सदर थाना क्षेत्र के डाढ़ा पंचायत में शुक्रवार को भूमि विवाद में हुई मारपीट में एक गंभीर रूप से घायल हो गया। घायल किसन तुरी का पुत्र प्रमोद तुरी है। इस बाबत प्रमोद ने सदर थाना में लिखित आवेदन देकर मुखिया रमेश कक्षप समेत छह पर प्राथमिकी दर्ज कराई है। प्राथमिकी दर्ज में प्रमोद ने कहा है कि गांव में अपना मकान बना रहा था।

चतरा : नक्सली संगठन टीपीसी समर्थक वीरेंद्र गंझू गिरफ्तार

तभी मुखिया रमेश कक्षप, भोला यादव, काली यादव, प्रदीप यादव, सुरेंद्र यादव व कोमल यादव आकर लाठी व डंडे से मारपीट करने लगे। आसपास के ग्रामीणों की मदद से मामला को शांत कराया गया। उसके बाद घायल व उसके परिजनों ने सदर थाना में आकर आपबीती सुनाई।

थाना प्रभारी सह इंस्पेक्टर रामअवध सिंह ने मामले को संज्ञान में लेते हुए उक्त सभी पर प्राथमिकी दर्ज की है। उन्होंने बताया कि मामले में संलिप्त आरोपियो की गिरफ्तारी को लेकर छापेमारी किया जा रहा है। जल्द ही सभी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया जाएगा। उन्होंने घायल को उपचार व इंजुरी तैयार कराने के लिए सदर अस्पताल भेज दिया।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

चतरा : नक्सली संगठन टीपीसी समर्थक वीरेंद्र गंझू गिरफ्तार

NewsCode Jharkhand | 22 June, 2018 5:56 PM
newscode-image

चतरा। सिमरिया पुलिस ने शुक्रवार को कासीआतु निवासी युवक वीरेंद्र गंझू को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। युवक पर नक्सली संगठन टीपीसी का समर्थक होने का आरोप है। थाना प्रभारी शंभू शरण दास ने बताया कि चार दिन पूर्व बालूमाथ और सिमरिया थाना क्षेत्र के सिमाने पर हुई मुठभेड़ में यह युवक सक्रिय था और टीपीसी संगठन को मोबाइल फोन के जरिए पुलिस की गतिविधियों की जानकारी दे रहा था।

चतरा : उपायुक्त को मिलेगा गुड गवर्नेंस व रोजगार सृजन का स्कॉच अवार्ड

इसके अलावे पुलिस ने जांगी गांव में छापेमारी कर दो वारंटियों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार वारंटियों में गणेश भुइयां और कमोदनी देवी का नाम शामिल है। दोनों पर बहू को मार कर कुएं में फेंकने का आरोप है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

More Story

more-story-image

दुमका : 11 हजार हाई टेंशन तार की चपेट में...

more-story-image

मुन्ना भाई बनकर रणबीर कपूर ने मारा ये डायलॉग, देखें...