रांची : आजसू अपने बूते नगर निकाय का लड़ेगी चुनाव: देवशरण भगत

NewsCode Jharkhand | 20 December, 2017 9:35 PM
newscode-image

आजसू महानगर की बैठक में बनी रणनीति

रांची। आजसू पार्टी अपने बूते नगर निकाय और परिषद का चुनाव लड़ेगी। बुधवार को रांची महानगर के प्रमुख पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं की बैठक केंद्रीय अध्यक्ष सुदेश कुमार महतो के कांके रोड स्थित आवास पर हुई। बैठक में मुख्य रूप से नगर निकाय चुनाव को लेकर स्थिति की समीक्षा की गई।

दलीय आधार पर चुनाव का स्वागत

बैठक को संबोधित करते हुए मुख्य प्रवक्ता डॉ. देवशरण भगत ने कहा कि आजसू पार्टी राज्य में नगर निकाय का चुनाव दलीय आधार पर कराने का निर्णय का स्वागत करती है। आजसू पार्टी राज्य के सभी नगर निगमों एंव नगर परिषदों में मजबूती से इस चुनाव में भाग लेगी।

कार्यकर्ता चुनाव के लिए अभियान तेज करें

उन्होंने कहा कि रांची महानगर समिति ने जनता के सवालों और गंभीर  विषयों जैसे होल्डिंग टैक्स का बढाया जाना, लालपुर सब्जी मंडी को हटाया जाने, हरमू फ्लाईओवर  के विस्थापितों के अलावा जयपाल सिंह स्टेडियम बचाने जैसे मुद्दों को लेकर आजसू लोगों के बीच जायेगी।

स्वतंत्रता दिवस : राष्ट्र के नाम संदेश में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने गांधी जी को किया याद

NewsCode | 14 August, 2018 10:25 PM
newscode-image

नई दिल्ली। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने देश के 72वें स्वतंत्रता दिवस समारोह की पूर्व संध्या पर राष्ट्र को संबोधित किया। राष्ट्रपति ने कहा कि स्वतंत्रता का अर्थ महज राजनीतिक स्वतंत्रता हासिल करना नहीं, बल्कि आजादी के लिए संघर्ष करने वाले सेनानियों के सपनों के भारत का निर्माण करना भी है। इस दौरान उन्होंने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को याद करते हुए कहा कि उन्होंने दुनिया को सही अर्थों में भारतीयता से पहचान कराई। राष्ट्रपति ने 21वीं सदी में गांधी जी के अहिंसा के सिद्धांतों को उपयोगी और प्रासंगिक बताते हुए देशवासियों से उनके सुझाए गए रास्ते पर चलने और उनके विचारों को आत्मसात करने की अपील की तथा कहा कि समाज में हिंसा के लिए कोई जगह नहीं होनी चाहिए।

रामनाथ कोविंद ने कहा कि इस बार स्वतंत्रता दिवस की खास बात यह है कि कुछ ही सप्ताह बाद दो अक्टूबर से महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के समारोह शुरू हो जाएंगे। गांधीजी ने न केवल स्वाधीनता संग्राम का नेतृत्व किया, बल्कि वह देशवासियों के नैतिक पथ-प्रदर्शक भी थे और सदैव बने रहेंगे।

उन्होंने अहिंसा के महत्व को रेखांकित करते हुए कहा, गांधीजी का महानतम संदेश यही था कि हिंसा की अपेक्षा अहिंसा की शक्ति कहीं अधिक है। प्रहार करने की अपेक्षा संयम बरतना कहीं अधिक सराहनीय है तथा हमारे समाज में हिंसा के लिए कोई स्थान नहीं है। गांधीजी ने अहिंसा का यह अमोघ अस्त्र हमें प्रदान किया है। उनकी अन्य शिक्षाओं की तरह अहिंसा का यह मंत्र भी भारत की प्राचीन परंपरा में मौजूद था और आज 21वीं सदी में भी हमारे जीवन में यह उतना ही उपयोगी और प्रासंगिक है।

राष्ट्रपति ने गांधीजी के विचारों की गहराई को समझने के प्रयास का जरूरत पर बल देते हुए कहा, गांधीजी को राजनीति और स्वाधीनता की सीमित परिभाषाएं मंजूर नहीं थीं। गांधीजी जब और उनकी पत्नी कस्तूरबा, चंपारण में नील की खेती करने वाले किसानों के आंदोलन के सिलसिले में बिहार गए तो वहां उन्होंने काफी समय स्थानीय लोगों, विशेष रूप से महिलाओं और बच्चों, को स्वच्छता और स्वास्थ्य की शिक्षा देने में लगाया। चंपारण में और अन्य बहुत से स्थानों पर गांधीजी ने स्वयं स्वच्छता अभियान का नेतृत्व भी किया। उन्होंने साफ-सफाई को आत्मानुशासन और शारीरिक एवं मानसिक स्वास्थ्य के लिए आवश्यक माना।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा कि आजादी के सात दशक बाद हमारी विकास गाथा की दुनिया भर में सराहना हो रही है। ऐसे में हमें ध्यान भटकाने वाले मुद्दों में न उलझ कर देश को आगे ले जाने पर केंद्रित होना चाहिए। उन्होंने कहा कि खुले में शौच मुक्त भारत, सबको घर, सबको बिजली, सभी घरों में गैस कनेक्शन का लक्ष्य पूरा होने के करीब है।

Happy Independence Day: स्वतंत्रता दिवस पर इन अनोखे मैसेज से दीजिए सभी दोस्तों को बधाई

15 अगस्त से नए वक्त पर चलेंगी 301 ट्रेनें, क्लिक कर देखें रेलवे का नया टाइम टेबल

मुख्य चुनाव आयुक्त का बयान- ‘एक देश एक चुनाव’ संभव नहीं, इन चुनौतियों का दिया हवाला 

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

धनबाद : सांसद आदर्श ग्राम योजना को लेकर जिला समन्वय समिति ने की बैठक

NewsCode Jharkhand | 14 August, 2018 9:54 PM
newscode-image

धनबाद। सांसद आदर्श ग्राम योजना के अंतर्गत करमाटांड गांव को लेकर आज राज्यसभा सांसद महेश पोद्दार की अध्यक्षता में समाहरणालय सभागार में जिला समन्वय समिति की बैठक आयोजित की गई।

इस अवसर पर सांसद ने कहा कि वर्ष 2014 से 2019 तक हर सांसद को 3 गांव का चयन कर वहां मूलभूत सुविधा, सामाजिक चेतना इत्यादि से गांव को मॉडल गांव बनाना है।

डेढ़ साल में करमाटांड गांव की सूरत बदल जाएगी – महेश पोद्दार

उन्होंने कहा कि करमाटांड में मूलभूत सुविधाएं कम है। करमाटांड गांव का विकास करके उसे लोगों के लिए एक उदाहरण बनाना है। उन्होंने कहा कि डेढ़ साल में करमाटांड गांव की सूरत बदल जाएगी। वहां के हर घर में बिजली, पक्की सड़क, पेयजल, शिक्षा इत्यादि की सुविधा मुहैया कराई जाएगी। आने वाले डेढ़ साल के बाद करमाटांड में परिवर्तन देखने को मिलेगा।

सांसद ने कहा कि देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तथा झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास की सोच के कारण देश और झारखंड बदल रहा है।

गोमिया : दुष्कर्म के आरोपी नबालिग को भेजा गया बाल सुधार गृह  

सांसद ने कहा कि गांव का पिछड़ापन चिंता का विषय है। प्रधानमंत्री की दूरदृष्टिता के कारण देश के सैकड़ों गांव मॉडल गांव में परिवर्तित हो रहे हैं। आने वाले दिनों में यह मील का पत्थर साबित होगा।

करमाटांड जलद बनेगा मॉडल गांव

उन्होंने कहा कि करमाटांड को जल्दी मॉडल गांव बनाना है। प्राथमिकता के आधार पर सड़क, बिजली इत्यादि को स्थापित करना है। उन्होंने कहा कि सारी योजनाओं को कुशलता पूर्वक लागू करना है। इसका दायित्व हम सब पर है। यह सामाजिक चेतना का कार्यक्रम है तथा जिला प्रशासन के लिए यह एक चुनौतीपूर्ण कार्य है।

उन्होंने बताया कि सांसद आदर्श ग्राम योजना केंद्र द्वारा प्रायोजित है तथा डेढ़ साल में सब साथ मिलकर बहुत सारे बदलाव कर सकते हैं।

उन्होंने सुझाव दिया कि कुछ सांसद आदर्श ग्राम योजना के वीडियो तथा तस्वीरें वेबसाइट पर भी उपलब्ध हैं। वेबसाइट को देखने से प्रेरणा मिलेगी।

बैठक में उपायुक्त ने इस योजना को चुनौती के रूप में लेने के लिए अधिकारियों को निर्देश दिया। उपायुक्त ने कहा कि करमाटांड में पानी, बिजली, सड़क इत्यादि कि जो भी जरूरत होंगी, उसे युद्ध स्तर पर मुहैया कराया जाएगा।

बैठक में महापौर चंद्रशेखर अग्रवाल, सिन्दरी विधायक फूलचंद मंडल, उप विकास आयुक्त, जिला समाज कल्याण पदाधिकारी, जिला पंचायती राज पदाधिकारी, जिला शिक्षा पदाधिकारी, सिविल सर्जन एवं अन्य संबंधित पदाधिकारी उपस्थित थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

धनबाद : पीके राय मेमोरियल कॉलेज में मारपीट

NewsCode Jharkhand | 14 August, 2018 9:51 PM
newscode-image

धनबाद। पीके राय मेमोरियल कॉलेज में एक छात्र व एक छात्रा में मारपीट हो गई। मारपीट के वजह से वहां अफरातफरी मच गई। छात्र पीजी गणित से कर रहा है तथा छात्रा बीएड कर रही है। छात्रा बीएड की परीक्षा देने आई थी उसी वक्‍त मारपीट हो गई। दोनों सरेआम जूतमपैजार किया। मामला सोमवार का है।

धनबाद : पीएमसीएच की कारगुजारी, लापरवाही ने ले ली मरीज की जान

लड़का का कहना था कि मौखिक परीक्षा चल रहा था। सीट खाली करने के बाद भी लड़की कर्कश स्‍वर में बात करने लगी तथा धनबाद के एक चर्चित घराना का नाम लेकर डराने लगी। उसके बाद ही मारपीट शुरू हो हुई।

खबर पाकर धनबाद सीओ, पुलिस अधिकारी तथा महिला थाना प्रभारी वहां पहुंच गए। सभी ने छात्र-छात्रा को अलग-अलग समझाया। इसी बीच घटना की जानकरी पाकर लड़की के परिजन भी वहां पहुंच गए। आते ही वे लोग सुलह-सफाई की कोशिश करने लगे। छात्र-छात्रा दोनों को उनलोगों ने भी समझाया। शिक्षकों का व्‍यवहार भी इस मामले में काफी सहयोगात्‍मक रहा। दोनों को शिक्षकों ने भी समझाया, उसके बाद छात्र ने छात्रा से माफी मांग लिया और मामला शांत हो गया।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

More Story

more-story-image

लातेहार : स्वतंत्रता दिवस को लेकर तैयारियां पूरी, दुल्हन की...

more-story-image

बोकारो : कुख्यात लोहा तस्कर इलियास को कोर्ट ने दिया...