Ramadan 2018 Moon Sighting Live Updates: इंतजार खत्म, देश के इन शहरों में दिखा चांद

NewsCode | 16 May, 2018 8:05 PM
newscode-image

रमज़ान का पाक महीना शुरू होने वाला है। अगर आज (16 मई) शाम को चांद दिखाई दे जाता है तो कल गुरूवार से रमजान शुरू हो जाएगा। रमजान का पाक महीना पूरे 30 दिन का होता है।

LIVE UPDATES: 

– दिल्ली में भी दिखा चाँद।

– तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई में दिखा चांद।
– पुद्दुचेरी में चांद दिखने की हुई पुष्टि।
– गुजरात के सूरत शहर में भी चांद दिखने की हुई पुष्टि।

दुनियाभर में रोजा रखने वाले करोड़ों मुसलमानों के लिए रमज़ान का पाक महीना 17 या 18  मई से शुरू होगा। सऊदी अरब और इंडोनेशिया जैसे अन्य मुस्लिम बहुल देशों ने घोषणा की है कि रमज़ान 17 मई से शुरू होगा। चांद के दिखने की गणना के आधार पर यह महीना शुरू होता है।

रमज़ान में रोज़ा रखने के दौरान पानी का भी सेवन नहीं किया जाता है. इस्लामी कैलेंडर में इस महीने को हिजरी कहा जाता है। मान्यता है कि हिजरी के इस पूरे महीने में कुरान पढ़ने से ज्यादा सबाब मिलता है। रोज़ा के दौरान कैफीन और सिगरेट जैसी लत से भी छुटकारा मिलने की संभावना रहती है।

गर्मी में रमज़ान के दौरान कैसे रखें अपना ख्याल, सहरी-इफ्तार में खाएंगे ये खाना तो रहेंगे फिट

माह-ए-रमज़ान में सहरी, इफ्तार और नमाज़ का समय बताएगा ये ऐप

कोडरमा : यहाँ के लोगों के लिए मुश्किल है ‘अटल’ को भूल पाना

Ramdin Kumar | 17 August, 2018 9:30 PM
newscode-image

अटल जी की कई यादें

कोडरमा। जिले के लोगों में भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी की कई यादें जुडी हैं। स्व. वाजपेयी सबसे पहले 1968 के दशक में जनसंघ के प्रत्यशासी सुखदेव यादव के चुनाव प्रचार के सिलसिले में झुमरी तिलैया शहर आये थे। आरएसएस के हजारीबाग विभाग से जुडे पदाधिकारी सुरेश प्रसाद ने बताया कि शहर के काली मंडा मैदान में उन्होंने जनसभा को संबोधित किया था।

कोडरमा : अटल बिहारी वाजपेयी के निधन पर दी भावभीनी श्रद्धांजलि

दूसरी बार 6 मार्च 1999 को झुमरीतिलैया में कोडरमा गिरिडीह और कोडरमा रांची रेलमार्ग का शिलान्यास किया था। प्रधानमंत्री स्व. वाजपेयी के साथ रेल मंत्री के रूप में नीतिश कुमार भी साथ थे। छोटे से शहर में उस समय एक डेढ लाख से अधिक की भीड। उन्हें देखने और सुनने के लिए कोडरमा जिले के अलावा, गिरिडीह, हजारीबाग, चतरा, नवादा जिले के लोग भी पहुंचे थे। उनका सरल, उदार और करिश्माई व्यक्तित्व सदैव याद रहेगा।

कोडरमा : यहाँ के लोगों के लिए मुश्किल है ‘अटल’ को भूल पाना

अटल जी मेरे घर आए थे- विश्वनाथ दारूका

कोडरमा के व्यवसायी विश्वनाथ दारूका के आवास पर वर्ष 1981-82 में अटल जी आए थे। उन्होंने बताया कि मुझे याद है जब अटल जी मेरे घर कोडरमा में आए थे। वो स्वर्गीय रीतलाल वर्मा कोडरमा सांसद के साथ आए थे।

गर्मियों के दिन थे मैंने उनको चाय के लिए पूछा। उन्होंने कहा मैं छाछ लूंगा। मैंने खुद अपने हाथों से छाछ का ग्लास दिया था फिर उन्होंने मुझे कहा एक सुराही में पानी दे दो, पटना जा रहा हूं रास्ते में चाहिए होगा। मैंने तुरंत एक सुराही पानी उनकी एम्बेसडर कार में रखा। सरल सादा जीवन। खादी की धोती कुर्ता पहने हुए। मुझे एक खालीपन लगने लगा। जीवन भर नही भूलूंगा।

उनके साथ कई यादें जुडी हैं- विनोद भदानी

कोडरमा : यहाँ के लोगों के लिए मुश्किल है ‘अटल’ को भूल पाना

झुमरीतिलैया के व्यवसायी और भाजपा व जनसंघ में कई सालों तक रहे विनोद कुमार भदानी के साथ भी स्व. वाजपेयी जी की कई यादें जुडी हैं। श्री भदानी ने बताया कि वे बचपन से ही आरएसएस से जुड़े हुए हैं। जनसंघ के समय से मेरे पिता स्व. गौरी शंकर भदानी जुड़े हुए थे। इस नाते स्व. वाजपेयी जी, स्व. कैलाशपति मिश्र जी के घर पर भी कई बार आना हुआ। मेरे विवाह का आमंत्रण उन्हें भी भेजा गया, जिसपर उन्होंने शुभकामना संदेश भी भेजा था।

विनोद भदानी ने 1970 के अपने संस्मरण को याद करते हुए बताया कि स्व. वाजपयी गिरिडीह में एक जनसभा को संबोधित करने आये हुए थे। ठीक उसी समय बारिश होने लगी थी तब वाजपयी जी ने कहा था कहीं मेरी गर्जना के सामने उनकी गर्जना बंद न हो जाय। उसके बाद बारिश हुई ही नही।

उस समय उनकी शुरूआती पंक्ति थी दुनियां झुकती है झुकाने वाला चाहिये। साल 1980 की यादें हैं जब मैं गिरिडीह रहता था, वहां मकतपुर स्थित आवास पर वाजपेयी जी आए थे। हमने उनसे मुलाकात की थी, उस समय हम सभी युवा थे, पूरी टीम थी और फोटो भी खिंचवाई थी। वह मुलाकात हमेशा याद रहेगी।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

बोकारो : भाई-बहन को बंधक बनाए रखने के मामले में चिकित्सक पर मामला दर्ज

NewsCode Jharkhand | 18 August, 2018 8:22 AM
newscode-image

बोकारो । को-ऑपरेटिव कॉलोनी के प्लांट संख्या 229 के मालिक दीपू घोष व उनकी बहन मंजूश्री घोष को कैद रखने के मामले में नेत्र रोग विशेषज्ञ डॉ. डीके गुप्ता पर पूर्णेन्दू सिंह के बयान पर सिटी पुलिस ने हत्या के प्रयास की धारा में मामला दर्ज किया है। दीपू घोष व उसकी बहन मंजूश्री का इलाज फिलहाल बोकारो जेनरल अस्पताल में चल रहा है। दीपू की हालत में काफी सुधार है जबकि मंजूश्री शारीरिक रूप से स्वस्थ्य होने के बावजूद मानसिक यातना के कारण हालत ठीक नहीं है।

 धनबाद : डायरियां से एक व्यक्ति की मौत, दर्जनों लोग बीमार

विदित हो कि पुलिस कप्तान कार्तिक एस ने गुरूवार को स्वयं अस्पताल पहुंचकर भाई-बहन से जानकारी ली थी। मंजू श्री ने एसपी को जो बताया उससे स्पष्ट हुआ कि उसको प्रताड़ित किया गया है। इधर मुकदमा दर्ज होने के बाद डॉ. डीके गुप्ता की मुश्किलें बढ़ गई है। सरकारी चिकित्सक होते हुए किस परिस्थिति में वे बाहर के क्लिनिक में इलाज कर रहे थे ये सवाल उठ रहे हैं। डॉ. गुप्ता चास अनुमंडलीय अस्पताल में पदस्थापित हैं।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

रांची : भारी मात्रा में अवैध शराब बरामद

NewsCode Jharkhand | 18 August, 2018 7:59 AM
newscode-image

रांची। आयुक्त उत्पाद को गुप्त सूचना मिली थी कि कतरपा, नगड़ी में भारी मात्रा में अवैध शराब का निर्माण किया जा रहा है। जिसको होटलों और ढाबों में अवैध ढंग से खपाया जा रहा है। अनुमंडल पदाधिकारी, रांची और रांची जिला के सहायक उत्पाद आयुक्त व विभाग के अन्य पदाधिकारियों द्वारा संयुक्त रुप से छापेमारी की गई ।

छापेमारी के क्रम में पाया गया कि कतरपा में एक नया बड़ा सेड बनाकर भारी मात्रा में अवैध शराब का निर्माण किया जा रहा है।  मौके से करीब 200 लीटर स्प्रिट हजारों बोतल खाली और हजारों बोतल शराब भरी हुई मिली । यह जगह मुख्य रूप से  सुंदरा महतो, जटलू महतो और सुनीता महतो द्वारा छोटू  उर्फ देवेंद्र उराव द्वारा  अन्य  कर्मचारियों के साथ मिलकर संचालन किया जा रहा था। वहां पर भारी मात्रा में नकली स्टिकर, नकली होलोग्राम और पैकेजिंग का सामान जब्त किया गया। वहां पर टैंकर और टाटा सफारी गाड़ी के माध्यम से स्प्रिट, पानी और तैयार माल ट्रांसपोर्ट किया जाता है।

कोडरमा : पुलिस दल को देखकर अवैध शराब कारोबार हुए फरार

बताया गया कि इस प्रकार से जानबूझकर  खतरनाक शराब  तैयार कर  बाजार में बेचा जाना  घातक हो सकता है।  क्योंकि  ये सभी लोग बिना किसी विशेषज्ञ और बिना किसी रासायनिक परीक्षण के यह कार्य करते हैं। ऐसी शराब जहरीली भी हो सकती है। इन सभी व्यक्तियों और वाहन मालिकों के खिलाफ नगड़ी थाने में संबंधित उत्पाद अधिनियम और आईपीसी के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई।

सूत्रों के मुताबिक नगड़ी बाजार में स्थित कोयल लाइन होटल जो कि राष्ट्रीय राजमार्ग पर स्थित है यही नकली शराब बेचे जाने की शिकायत मिली थी। वहां पर छापेमारी में भारी मात्रा में शराब की खाली बोतलें, रिसीविंग बिल, शराब बेचने के बिल और शराब बेचे जाने कि सीसीटीवी फुटेज की डीवीआर जब्त की गई।  इस प्रकार के अवैध कार्य संचालित किए जाने के क्रम में होटल को सील कर दिया गया है। होटल के संचालक बालकरन महतो व अन्य के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज की गई है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

More Story

more-story-image

रांची : मुख्यमंत्री ने अटलजी के सपनों का झारखंड बनाने...

more-story-image

लोहरदगा : दो नाबालिग के साथ गैंगरेप, आरोपी फरार