राजधनवार : ऑटो पार्ट्स दुकान में लगी आग, जलने से बची बैंक की शाखा

NewsCode Jharkhand | 13 March, 2018 10:19 PM
newscode-image

कड़ी मशक्‍क्‍त के बाद आग पर पाया गया काबू

राजधनवार (गिरिडीह)। धनवार बाजार मेन रोड स्थित महेंद्र वर्णवाल की ऑटो पार्ट्स दुकान के गोदाम में मंगलवार लगभग 4:15 बजे अचानक आग लग गई। जब तक लोगों को अगलगी की घटना की जानकारी मिलती तब तक आग ने विकराल रूप ले लिया। बता दें कि ऑटो पार्ट्स दुकान के ठीक उपर पहली मंजिल पर सामने भाग में झारखंड ग्रामीण बैंक की शाखा भी संचालित होती है। इस कारण लोगों ने बैंक शाखा में आग लगने की अफवाह उड़ा दी।

इससे सरकारी महकमे में भी खलबली मच गई। आम और खास सभी लोग आग बुझाने के प्रयास में जुट गए। आग से बैंक शाखा को कोई नुकसान ना हो इसके लिए पदाधिकारीगण भी सक्रिय हो गए व अगलगी की सूचना जिला को देते हुए दमकल की मांग की। इस बीच कुछ जाबांज युवक बैंक से जल्दी कागजात निकालने में जुट गए।

वहीं अगल-बगल की दुकानें भी खाली करायी जाने लगी। धुंआ और लपटों की विकरालता को देखते हुए तत्काल कोई भी आग के समीप जाने का हिम्मत नहीं जुटा पा रहा था। बाद में स्थानीय लोगों की मदद से डीजल मशीन के सहारे आग पर काबू पाने की कोशिश में जुट गए।

इस दौरान मौके पर पहुंचे एसडीपीओ प्रभात रंजन बरवार, बीडीओ प्यारे लाल, कार्यपालक दंडाधिकारी नरेश वर्मा, थाना प्रभारी सुरेंद्र सिंह, सीओ शशिकांत सिंकर तथा पंचायत प्रतिनिधियों के सह्ययोग से पानी टैंकर की भी व्यवस्था कराई गई।

अंततः सबों के सामूहिक प्रयास से आग पर काबू पा लिया गया। लगभग एक घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद सवा पांच बजे तक आग पर काबू पा लिया गया। हालांकि तब तक आग ने लाखों का नुकसान कर दिया था।

धनबाद : पुराना बाजार में आग लगने से एक दर्जन दुकान खाक, लाखों का नुकसान 

इस घटना में ऑटो पॉट्स मोबाइल, टायर जलकर राख हो चुके थे। इस अगलगी में पांच से छह लाख रुपये की संपत्ति का नुकसान होने का अनुमान लगाया जा रहा है। आग कैसे लगी इसका खुलासा नहीं हो पा रहा है।

इस घटना में स्थानीय लोगों की दिलेरी से बगैर दमकल के ही इस भीषण आग पर काबू पा लिया गया। अगर स्थानीय ग्रामीण दमकल के आश में हाथ पर हाथ धरे बैठे रहते तो बैंक शाखा भी इस आग चपेट में आ गई होती और बड़ा नुकसान होने से नहीं बचाया जा सकता था।

आग को नियंत्रित कर बुझाने में रितेश कुमार वर्णवाल, संदीप साव, पप्पू साव, विपिन विश्वकर्मा, रामदेव सिंह, आदि ने अहम् भूमिका निभाई।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

धनबाद : नहाने के दौरान 15 वर्षीय किशोर की डूबने से मौत

NewsCode Jharkhand | 17 August, 2018 7:04 PM
newscode-image

धनबाद। गोन्दुडीह ओपी अंतर्गत धरियाजोबा बस्ती पोखरिया में नहाने के दौरान राजीव रवानी के 15 वर्षीय पुत्र राज रवानी की डूबने से मौत हो गई।

सिंदरी : सामाजिक कार्य करने को लेेकर गठित एनजीओ “सारथी” का उद्घाटन

गोन्दुडीह ओपी पुलिस मौके पर पहुंचकर आस-पास के ग्रामीण के सहारे काफी मस्कत के बाद बच्चे के शव को निकाल पाया। पुलिस शव को अपने कब्जे में ले कर पोस्टमार्टम में भेज दिया। डूबने वाला बच्चा अपने घर का एकलौता पुत्र बताया जा रहा है और गोधर बस्ती के रहने वाला  है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

बोकारो : भाई-बहन को बंधक बनाए रखने के मामले में चिकित्सक पर मामला दर्ज

NewsCode Jharkhand | 18 August, 2018 8:22 AM
newscode-image

बोकारो । को-ऑपरेटिव कॉलोनी के प्लांट संख्या 229 के मालिक दीपू घोष व उनकी बहन मंजूश्री घोष को कैद रखने के मामले में नेत्र रोग विशेषज्ञ डॉ. डीके गुप्ता पर पूर्णेन्दू सिंह के बयान पर सिटी पुलिस ने हत्या के प्रयास की धारा में मामला दर्ज किया है। दीपू घोष व उसकी बहन मंजूश्री का इलाज फिलहाल बोकारो जेनरल अस्पताल में चल रहा है। दीपू की हालत में काफी सुधार है जबकि मंजूश्री शारीरिक रूप से स्वस्थ्य होने के बावजूद मानसिक यातना के कारण हालत ठीक नहीं है।

 धनबाद : डायरियां से एक व्यक्ति की मौत, दर्जनों लोग बीमार

विदित हो कि पुलिस कप्तान कार्तिक एस ने गुरूवार को स्वयं अस्पताल पहुंचकर भाई-बहन से जानकारी ली थी। मंजू श्री ने एसपी को जो बताया उससे स्पष्ट हुआ कि उसको प्रताड़ित किया गया है। इधर मुकदमा दर्ज होने के बाद डॉ. डीके गुप्ता की मुश्किलें बढ़ गई है। सरकारी चिकित्सक होते हुए किस परिस्थिति में वे बाहर के क्लिनिक में इलाज कर रहे थे ये सवाल उठ रहे हैं। डॉ. गुप्ता चास अनुमंडलीय अस्पताल में पदस्थापित हैं।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

रांची : भारी मात्रा में अवैध शराब बरामद

NewsCode Jharkhand | 18 August, 2018 7:59 AM
newscode-image

रांची। आयुक्त उत्पाद को गुप्त सूचना मिली थी कि कतरपा, नगड़ी में भारी मात्रा में अवैध शराब का निर्माण किया जा रहा है। जिसको होटलों और ढाबों में अवैध ढंग से खपाया जा रहा है। अनुमंडल पदाधिकारी, रांची और रांची जिला के सहायक उत्पाद आयुक्त व विभाग के अन्य पदाधिकारियों द्वारा संयुक्त रुप से छापेमारी की गई ।

छापेमारी के क्रम में पाया गया कि कतरपा में एक नया बड़ा सेड बनाकर भारी मात्रा में अवैध शराब का निर्माण किया जा रहा है।  मौके से करीब 200 लीटर स्प्रिट हजारों बोतल खाली और हजारों बोतल शराब भरी हुई मिली । यह जगह मुख्य रूप से  सुंदरा महतो, जटलू महतो और सुनीता महतो द्वारा छोटू  उर्फ देवेंद्र उराव द्वारा  अन्य  कर्मचारियों के साथ मिलकर संचालन किया जा रहा था। वहां पर भारी मात्रा में नकली स्टिकर, नकली होलोग्राम और पैकेजिंग का सामान जब्त किया गया। वहां पर टैंकर और टाटा सफारी गाड़ी के माध्यम से स्प्रिट, पानी और तैयार माल ट्रांसपोर्ट किया जाता है।

कोडरमा : पुलिस दल को देखकर अवैध शराब कारोबार हुए फरार

बताया गया कि इस प्रकार से जानबूझकर  खतरनाक शराब  तैयार कर  बाजार में बेचा जाना  घातक हो सकता है।  क्योंकि  ये सभी लोग बिना किसी विशेषज्ञ और बिना किसी रासायनिक परीक्षण के यह कार्य करते हैं। ऐसी शराब जहरीली भी हो सकती है। इन सभी व्यक्तियों और वाहन मालिकों के खिलाफ नगड़ी थाने में संबंधित उत्पाद अधिनियम और आईपीसी के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई।

सूत्रों के मुताबिक नगड़ी बाजार में स्थित कोयल लाइन होटल जो कि राष्ट्रीय राजमार्ग पर स्थित है यही नकली शराब बेचे जाने की शिकायत मिली थी। वहां पर छापेमारी में भारी मात्रा में शराब की खाली बोतलें, रिसीविंग बिल, शराब बेचने के बिल और शराब बेचे जाने कि सीसीटीवी फुटेज की डीवीआर जब्त की गई।  इस प्रकार के अवैध कार्य संचालित किए जाने के क्रम में होटल को सील कर दिया गया है। होटल के संचालक बालकरन महतो व अन्य के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज की गई है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

More Story

more-story-image

रांची : मुख्यमंत्री ने अटलजी के सपनों का झारखंड बनाने...

more-story-image

लोहरदगा : दो नाबालिग के साथ गैंगरेप, आरोपी फरार