राहुल बोले- संसद में मेरे सामने 15 मिनट भी नहीं टिक पाएंगे मोदी, देश में नकदी संकट को लेकर कही ये बात

NewsCode | 17 April, 2018 3:07 PM
newscode-image

नई दिल्ली। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने आज देश में कैश संकट को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर करारा हमला बोला। राहुल गांधी ने मीडिया से मुखातिब होते हुए कहा कि मोदी जी ने बैंक सिस्टम को नष्ट कर दिया है। अमेठी दौरे के दौरान राहुल गांधी ने कहा कि प्रधानमंत्री ने अच्छे दिनों का वादा किया था, लेकिन देश एक बार फिर कतारों में खड़ा है। क्या इन्हीं अच्छे दिनों की बात की जा रही थी।

राहुल ने कहा, ‘पीएम संसद में खड़े होने से डरते हैं। हमें  15 मिनट को भाषण मिल जाए संसद में पीएम खड़े नहीं हो पाएंगे। चाहे वह राफेल का मामला हो या, चाहे वो नीरव मोदी का मामला हो, पीएम मोदी खड़े नहीं हो पाएंगे।

राहुल ने कहा कि नीरव और मेहुल चौकसी से पीएम मोदी के अच्छे संबंध हैं। केवल इन्ही लोगों के अच्छे दिन आये हैं। उन्होंने कहा कि पीएम ने बैंकिंग सिस्टम को बर्बाद कर दिया। किसानों और मजदूरों के बुरे दिन आए हैं। लोग दोबारा लाइन में खड़े हैं, क्या यही अच्छे दिन हैं।

नीरव मोदी 30 हजार करोड़ लेकर भाग गया, लेकिन पीएम एक शब्द नहीं बोल पाए। हमारी जेब से 500 और 1000 रुपए के नोट छिनकर नीरव मोदी को दे दिया गया और हम एटीएम की लाइन में खड़े होने को मजबूर हैं।

इससे पहले दो दिवसीय अमेठी दौरे पर पहुंचे कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी सोमवार को स्कूली छात्रों के सवाल पर असहज नजर आए।

स्कूल के एक कार्यक्रम में पहुंचे राहुल गांधी से जब एक लड़की ने पूछा कि देश में जो कानून बनते हैं उन्हें ग्रामीण इलाकों में सही से लागू क्यों नहीं किया जाता? इसके जवाब में राहुल ने तुरंत कहा, “यह सवाल तो आप मोदीजी से पूछिए। सरकार मोदीजी चला रहे हैं। मेरी सरकार थोड़ी ही है। जब हमारी सरकार होगी तो हम जवाब देंगे।”

बिहार, मध्य प्रदेश, गुजरात, उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, छत्तीसगढ़, तेलंगाना और दिल्ली समेत कई राज्यों में कैश की भारी कमी बताई जा रही है। इस दिक्कत का समाधान तो अभी तक नहीं हो पाया। मगर इस मसले पर सियासत तेज हो गई है। जानकारी के मुताबिक कैश की कमी की मार फिलहाल बिहार और मध्य प्रदेश में ज्यादा पड़ी है। लिहाजा यहां के नेताओं की प्रतिक्रिया भी देखी जा सकती है।

शिवराज सिंह ने कैश की कमी को बताया साजिश

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने कैश की कमी को साजिश तक करार दिया है। दूर-दराज के जिलों में कैश के संकट कुछ ज्यादा ही देखने को मिल रहा है।

ममता बोलीं खाली एटीएम नोटबंदी के दिनों की याद दिला रहे

कई राज्यों में एटीएम मशीनों में नकदी नहीं होने की खबरों के बीच पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने मंगलवार को कहा कि यह स्थिति उन्हें नोटबंदी के दिनों की याद दिला रही है।

उन्होंने यह भी कहा कि क्या देश में ‘वित्तीय आपातकाल’ चल रहा है?

बनर्जी ने ट्वीट किया, “कई राज्यों में एटीएम मशीनों में नकदी नहीं होने की रिपोर्ट देख रही हूं। बड़े नोट गायब हैं। यह नोटबंदी के दिनों की याद दिला रहा है। क्या देश में वित्तीय आपातकाल चल रहा है। नकदी की कमी, नकदरहित एटीएम मशीनें।”

बीते कुछ हफ्तों से आंध्र प्रदेश, तेलंगाना व मध्य प्रदेश में मुद्रा की कमी की खबरे आ रही हैं।

महाराष्ट्र, गुजरात व बिहार के हिस्सों से भी सोमवार को मुद्रा की कमी की शिकायतें मिली थीं।

हालांकि, केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने मंगलवार को कहा कि सरकार ने स्थिति की समीक्षा की है और पर्याप्त मुद्रा से अधिक नकदी सर्कुलेशन में है।

भारतीय रिजर्व बैंक के डाटा के अनुसार, छह अप्रैल तक 18.17 लाख करोड़ रुपये की मुद्रा सर्कुलेशन में थी।

जेटली बोले पर्याप्त से अधिक नकदी उपलब्ध

देश में मुद्रा की कमी की आशंका को दूर करते हुए वित्त मंत्री अरुण जेटली ने मंगलवार को कहा कि सरकार ने स्थिति की समीक्षा की है और ‘पर्याप्त से अधिक नकदी उपलब्ध है।’

जेटली ने ट्वीट किया, “देश में मुद्रा की स्थिति की समीक्षा की है। कुल मिलाकर पर्याप्त अधिक मुद्रा प्रचलन में है और बैंकों के पास भी उपलब्ध है। कुछ इलाकों में अचानक व असामान्य वृद्धि की वजह से पैदा हुई अस्थायी कमी से जल्द निपटने की कोशिश की जा रही है।”

देश में फिर नोटबंदी जैसे हालात, यूपी, बिहार, झारखंड समेत 8 राज्यों में छाया कैश संकट

जेटली का यह ट्वीट देश के कुछ हिस्सों में एटीम मशीनों में पैसे नहीं होने की रिपोर्ट के बाद आया है।

बीते कुछ हफ्तों से आंध्र प्रदेश, तेलंगाना व मध्य प्रदेश में मुद्रा की कमी की खबरें आ रही हैं। महाराष्ट्र, गुजरात व बिहार के हिस्सों से भी सोमवार को मुद्रा की कमी की शिकायतें मिली थीं।

भारतीय रिजर्व बैंक के डाटा के अनुसार, छह अप्रैल तक 18.17 लाख करोड़ रुपये की मुद्रा उपलब्ध थी।

उद्योग से जुड़े जानकारों का मानना है कि नकदी की कमी 2000 रुपये के नोटों को जमा करने की वजह से पैदा हुई है।

3 साल बाद बस 12 घंटे में दिल्ली से पहुंचेंगे मुंबई, नितिन गडकरी का ये है ‘मास्टरप्लान’

रांची : आदिवासी सम्मेलन में भोपाल प्रदेश कांग्रेस के रखे सुझावों का झारखंड कांग्रेस का मिला समर्थन

NewsCode Jharkhand | 23 July, 2018 5:09 PM
newscode-image

रांची। झारखंड कांग्रेस ने, भोपाल में आयोजित प्रदेश-स्तरीय कांग्रेस के आदिवासी सम्मेलन में आदिवासी समाज और किसानों के लिए स्थानीय विधायक उमंग सिंगर द्वारा रखे सुझावों का समर्थन किया है, जिसमें कई सुझाव शामिल हैं।

रांची : रिम्स के कैदी वार्ड में सुरक्षा के नए प्रबंध, फरार होना होगा मुश्किल

विधायक उमंग ने अपने सुझावों में, केंद्र सरकार द्वारा किसानों के लिये घोषित समर्थन मूल्य के आधार पर किसानों को दी जाने वाली फसल खरीद की गारंटी की मांग की है। आदिवासी सम्मेलन में आदिवासी धर्म को मान्यता दी जाने एवं 9 अगस्त को कांग्रेस पार्टी की ओर से विश्व आदिवासी दिवस मनाये जाने का भी विधायक ने सुझाव दिया।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

sun

320C

Clear

क?रिकेट

Jara Hatke

Read Also

निरसा : स्वास्थ्य केंद्र ने निकाली जागरूकता रैली

NewsCode Jharkhand | 23 July, 2018 5:07 PM
newscode-image

मिजल्स व रूबेला टीकाकरण के बारे में लोगों को कराया अवगत

निरसा (धनबाद)। निरसा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र ने सोमवार को मिजल्स व रूबेला टीकाकरण को लेकर जागरूकता रैली निकाली। रैली में स्‍वास्‍थ्‍य कर्मियों ने मिजल्स व रूबेला टीकाकरण की जानकारी देते हुए लोगों को बताया कि इसका नौ महीने के बच्चों से लेकर पंद्रह साल तक के बच्चों को दिया जाता है। यह एक संक्रामक बीमारी है। सही समय पर टीका लगाकर इससे बचाव किया जा सकता है।

धनबाद : नियोजन की मांग को लेकर जमसं का 25 जुलाई को आंदोलन

इस रोग का लक्षण शरीर में बुखार, मांसपेशी में खिंचाव, नाक का बहना है। लक्षण महसूस होने पर तुरंत चिकित्‍सक से परामर्श लेना चाहिए।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

गिरिडीह : आदिवासी छात्रा के साथ गैंगरेप मामला सुलझा

NewsCode Jharkhand | 23 July, 2018 5:05 PM
newscode-image

गिरिडीह। महज 4 दिनों में ही गिरिडीह पुलिस ने गांडेय गैंग रेप कांड को सुलझा लिया है। बीते 19 जुलाई को गांडेय के धरमपुर गांव में एक आदिवासी युवती के साथ गैंगरेप की घटना सामने आई थी। जांच पड़ताल में जुटी पुलिस ने इस उलझे हुए मामले को सुलझाते हुए कांड में संलिप्त कुल पांच आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया।

इस बाबत एसपी सुरेन्द्र झा ने बताया कि पिछले दिनों धनबाद जिला के टुंडी थाना क्षेत्र की रहने वाली एक नाबालिग आदिवासी युवती के साथ गैंगरेप की घटना गांडेय के धरमपुर गांव में घटित हुई थी। पीड़ित धरमपुर अपने नाना के घर घूमने आई थी।

गिरिडीह : हाथियों ने जम कर किया तांडव, कई घरों को किया क्षतिग्रस्त  

रात के वक्त शौच के लिए बाहर निकली थी। तभी आरोपी विकाश उर्फ खुड़िया मरांडी, राजेश हांसदा, छोटे हांसदा, प्रमोद हेम्ब्रम और राजेन हेम्ब्रम ने पीड़िता को दबोच लिया और रात भर एक घर में रखकर उसके साथ बारी बारी से दुष्कर्म किया।

घटना के बाद गांडेय थाना में पीड़िता अपने परिजनों के साथ पहुँची और मामला दर्ज करवाया। बाद में एसडीपीओ मनीष टोप्पो के नेतृत्व में एक टीम गठित कर मामले की पड़ताल शुरू हुई। कांड सत्यापित होने के बाद पुलिस ने एक – एक कर सभी आरोपियों को दबोच लिया। इस तरह महज 48 घंटे में एक गैंग रेप का उद्भेदन पुलिस ने करते हुए आरोपियों को सलाखों के पीछे पहुँचा दिया।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

More Story

more-story-image

चक्रधरपुर : महादेवशाल धाम के श्रावणी मेला  को लेकर हुई...

more-story-image

लोहरदगा : छात्रा के साथ छेड़खानी पड़ी मंहगी, आरोपी दर्जी...