इंतजार खत्म ! आ गया शर्टलेस सलमान खान के ‘रेस 3’ का ट्रेलर, फैन्स के लिए ऐक्शन का धमाका

NewsCode | 15 May, 2018 6:28 PM

इंतजार खत्म ! आ गया शर्टलेस सलमान खान के ‘रेस 3’ का ट्रेलर, फैन्स के लिए ऐक्शन का धमाका

नई दिल्ली। सलमान खान और जैकलीन फर्नांडिस की इस साल ईद के मौके पर रिलीज होने वाली फिल्म ‘रेस-3’ का ट्रेलर रिलीज हो चुका है। ट्रेलर में सलमान खान काफी बिंदास लुक में नजर आ रहे हैं। सोशल मीडिया पर मंगलवार को सुबह से ही ‘रेस 3 ट्रेलर डे’ ट्रेंड करता रहा।

फिल्म रिलीज होने से पहले फैन्स का ऐसा क्रेज सलमान की फिल्मों के लिए अक्सर देखा गया है। ट्रेलर में सलमान खान कई जगह जबरदस्त एक्शन करते हुए नजर आ रहे हैं। वहीं उनकी को-एक्ट्रेस जैकलीन फर्नांडिज भी काफी बोल्ड लुक में दिखाई दी।

रेस 3 को 3 डी में भी रिलीज़ किया जाएगा, जो देश की पहली 360 डिग्री विजुवल एक्सपीरियंस वाली फिल्म बताई जा रही है। रेस सीरीज़ को इससे पहले अब्बास मस्तान ने शुरू किया था और पहले दो भाग बनाये थे।

पहली रेस 2008 में आई थी। पहले भाग में सैफ़ अली खान, अक्षय खन्ना, बिपाशा बसु और कटरीना कैफ थे। दूसरी रेस 2013 में रिलीज़ हुई थी, जिसमें सैफ़ ने अपनी जगह बनाये रखी लेकिन साथ में जॉन अब्राहम, दीपिका पादुकोण और जैकलीन फर्नांडिस ने जगह बनाई ।

रमेश तौरानी और सलमान खान द्वारा निर्मित रेस-3 को टिप्स फिल्म्स के बैनर तहत बनाया जा रहा है। रेमो डिसूजा निर्देशित ‘रेस 3’ 2018 की ईद के मौके यानी 15 जून को रिलीज होगी।

मुकेश अंबानी के छोटे बेटे अनंत अंबानी ने भी कर ली सगाई? जानें कौन है वो लड़की

माधुरी दीक्षित ने यहाँ बच्चों संग केक काटकर मनाया जन्मदिन, देखें तस्वीरें

रेस 3 का ट्रेलर मुंबई में जारी किया गया। जहां सलमान अपनी टीम के साथ मौजूद थे। फिल्म में जबरदस्त एक्शन है। और अपने फैन्स के लिए सलमान वो सब कुछ लेकर आये हैं जो दर्शक चाहते हैं। मसलन स्टंट और खुला बदन। करीब तीन मिनट के ट्रेलर को आप यहां देख सकते हैं।

देखें वीडियो: 

गोमिया : देश व झारखंड के गरीबों को बर्बाद कर देगी बीजेपी- बाबूलाल मरांडी

NewsCode Jharkhand | 23 May, 2018 3:52 PM

गोमिया : देश व झारखंड के गरीबों को बर्बाद कर देगी बीजेपी- बाबूलाल मरांडी

गोमिया(बोकारो)। विधानसभा उपचुनाव में सभी पार्टियां अपनी जोर आजमाईश में जुटी है। वहीं जेएमएम उम्मीदवार के पक्ष में चुनाव प्रचार करने पहुंचे जेवीएम सुप्रीमो सह झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी ने गरीबों को बचाने के लिये बीजेपी को उखाड़ फेंकने का आह्वान किया।

बीजेपी को आड़े हाथों लेते हुये उन्होंने कहा कि बीजेपी प्रदेश के साथ-साथ देश को बर्बाद कर देगी और गरीबों को उजाड़ देगी। बीजेपी के शासन काल में कुछ भी ठीक नहीं चल रहा। बाबूलाल ने बताया कि विकास का मतलब सिर्फ बिजली, सड़क नहीं, गरीबों को भरपेट भोजन मिलना चाहिये।

 बीजेपी पर आरोप लगाते हुये उन्होंने यह भी कहा कि मुख्यमंत्री ने वर्ष 2016 में 11 हजार विधवा महिलाओं को आवास देने की घोषणा की थी लेकिन सिर्फ 69 ही आवास बनकर तैयार हुआ, बाकी बना ही नहीं। यही नहीं योजना भी स्वीकृत नहीं है।

 तेनुघाट : बीजेपी सरकार से जनता त्रस्‍त है, निजात पाना चाहती है- विधायक

25 मई को प्रधानंत्री के दौरे पर बाबूलाल ने चुटकी ली और जनता की ओर इशारा करते हुये उन्हें (पीएम को) याद दिलाने की बात कही कि एक साल पहले साहेबगंज में गंगा पुल का शिलान्यास किया गया था जो अब तक बनकर तैयार नहीं है, उसका क्या? प्रधानमंत्री को बाबूलाल ने झूठा करार देते हुये कहा कि जनता उनके झूठ को कितना झेलेगी।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

Read Also

देवघर : सब्सिडी की पहल के बाद झारखंड में निर्माता-निर्देशकों का बढ़ा रुझान

NewsCode Jharkhand | 23 May, 2018 3:43 PM

देवघर : सब्सिडी की पहल के बाद झारखंड में निर्माता-निर्देशकों का बढ़ा रुझान

देवघर फिल्म निर्माण के लिए अच्छा लोकेशन

देवघर। रघुवर सरकार के झारखंड में फिल्म नीति की घोषणा और फिल्म निर्माताओं को सब्सिडी दिए जाने की पहल के बाद झारखंड में जहां निर्माता-निर्देशकों का फिल्म बनाने के प्रति रुझान बढ़ा है। वहीं देव नगरी देवघर में भी फिल्मों के प्रति निर्माता-निर्देशकों का आकर्षण बढ़ने लगा है।

मनोरम प्राकृतिक छटाओं के बीच स्थित देवघर फिल्म निर्माताओं के अच्छे लोकेशन के लिए एक बेहतर जगह मानी जा रही है देवघर की बात करें तो यहां आधे दर्जन से ज्यादा सिनेमा हॉल थे लेकिन फिल्म नीति की घोषणा नहीं होने और महंगी फिल्मों के कारण लगातार एक के बाद एक सिनेमा हॉल बंद होते गए और आज स्थिति यह है कि देवघर में महज 2 सिनेमा घर ही चल रहे हैं।

जबकि फिल्म नीति की घोषणा होने के बाद ट्रेंड बदला और देवघर में रिलैक्स जैसे मल्टीप्लैक्स खुलने लगे हैं। रघुवर सरकार की फिल्म नीति की घोषणा और सब्सिडी के बाद देवघर फिल्म निर्माताओं के लिए सबसे सस्ती और मनोरम जगह साबित हो रही है, जिसके कारण निर्माता देवघर में भी फिल्में बना रहे हैं।

देवघर : सब्सिडी की पहल के बाद झारखंड में निर्माता-निर्देशकों का बढ़ा रुझान

1999 और 2000 के सालों में सिनेमाघरों में दर्शकों की भीड़ लगा करती थी। शो समाप्त होने के बाद सड़कों पर लोगों की भीड़ देखकर लोग अंदाजा लगा लेते थे कि शायद किसी सिनेमा हॉल का कोई शो खत्म हुआ है।

आज हालात यह है कि पिछले 14 सालों में एक के बाद एक सिनेमा हॉल बंद होते गए और आज यह खंडहर में तब्दील हो गए है, लेकिन रघुवर सरकार बनने के बाद फिल्म नीति की घोषणा हुई और निर्माताओं को फिल्म बनाने के लिए सुविधाएं प्रदान की जाने लगी। साथ ही इन्हें सब्सिडी भी दी जाने लगी जिसके बाद निर्माता-निर्देशकों की पहली पसंद है।

झारखंड फिल्म एडवाइजरी कमेटी की सदस्य पायल कश्यप जो झारखंड की पहली महिला निर्देशिका हैं, उनका कहना है कि रघुवर सरकार के फिल्म नीति के बाद बॉलीवुड का रुझान भी झारखंड की तरफ बढ़ा है। देवघर एक पर्यटक स्थल भी है और इसकी पहचान भारतवर्ष में है। ऐसे में यहां के मनोरम दृश्य लोगों को अपनी ओर आकर्षित कर रहे हैं लिहाजा आज यहां लगातार दो फिल्मों की शूटिंग होने जा रही है, जिसका मुहूर्त भी हो चुका है और वह समय दूर नहीं जब देवघर बॉलीवुड की पहली पसंद बनेगी।

संथाल परगना का पहला मल्टीप्लैक्स OLX

देवघर के खंडहर में तब्दील हो चुके यह सिनेमाघर के दिन फिर से वापस आने वाले हैं जिसकी शुरुआत मल्टीप्लेक्स खोले जाने से शुरू हो चुकी है। आज देवघर में संथाल परगना का पहला मल्टीप्लैक्स OLX खुल चुका है।

वहीं दूसरी तरफ कई सिनेमाघर मालिक भी अपने सिनेमाघरों को फिर से शुरू करने की कवायद शुरू कर चुके हैं। श्रम मंत्री राज पलिवार ने कहा कि रघुवर सरकार के फिल्म नीति लागू किए जाने के बाद फिल्मों के प्रति लोगों का रुझान बढ़ा है और सिनेमाघरों के पुराने दिन फिर से वापस आने वाले हैं

देवघर में फिल्मों के निर्माण होने से स्थानीय कलाकार उत्साहित

देवघर में फिल्मों के निर्माण होने से ना सिर्फ निर्माता-निर्देशक उत्साहित है बल्कि यहां के स्थानीय कलाकार भी काफी उत्साहित नजर आ रहे हैं। बॉलीवुड के कई कलाकार यहां अपना मुहूर्त कर रहे हैं।  ऐसे में भोजपुरी फिल्मों का क्रेज और फिल्मों के प्रति लोगों का आकर्षण बढ़ रहा है।

कलाकार भी कहते हैं कि उनकी हैसियत नहीं है कि वह मुंबई जैसे शहरों में जाकर स्ट्रगल करें। ऐसे में देवघर में ही उन्हें मौका मिल रहा है जबकि लेडी सिंघम जैसे फिल्मों के निर्देशक कहते हैं कि देवघर का लोकेशन बहुत अच्छा है और लोगों को काफी पसंद भी आ रहा है।

देवघर : बुद्ध पूर्णिमा के मौके पर बाबा मंदिर में उमड़ी श्रधालुओं की भीड़

वही बॉलीवुड की अदाकारा ऐश्वर्या भी कहती है कि इन्हें देवघर आकर अच्छा लगा और यहां के लोकेशन और लोगों का व्यवहार भी इतना पसंद आया कि यह बार-बार यहां फिल्म शूटिंग के लिए आना चाहते हैं

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

शॉपिंग करने के बाद पत्नी के साथ रेस्त्रां पहुंचे राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद, देखकर हैरान रह गए लोग

NewsCode | 23 May, 2018 2:58 PM

शॉपिंग करने के बाद पत्नी के साथ रेस्त्रां पहुंचे राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद, देखकर हैरान रह गए लोग

नई दिल्ली। महामहिम राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने शिमला में हिमाचल प्रदेश पर्यटन विकास निगम के एक रेस्त्रां में अचानक पहुंचकर सभी को अचरज में डाल दिया और वहां पर नाश्ता किया। अधिकारियों ने बताया कि पीटरहॉफ से लौटते हुए कोविंद और उनकी पत्नी सरिता आशियाना रेस्त्रां गए और उन्होंने वहां पर चाय के साथ स्नैक्स का लुत्फ़ उठाया। राष्ट्रपति को देखने के लिए बड़ी संख्या में लोग रेस्त्रां के आसपास उमड़ पड़े। राष्ट्रपति ने लोगों का अभिवादन किया और क्रेडिट कार्ड से अपना बिल भी चुकाया।

राष्ट्रपति की गाड़ियों का काफिला रिंग रोड पर खड़ा रहा। यह अहसास होते ही कि उनकी गाड़ियों का काफिला लोगों को असुविधा पहुंचा रहा है, तो राष्ट्रपति ने अधिकारियों से गाड़ियों की संख्या 17 से घटाकर चार करने के लिए कहा। उन्होंने माल रोड का चक्कर लगाया और मिनेरवा बुक शॉप से पोते के लिए दो किताबें भी खरीदीं। राष्ट्रपति के अचानक पहुंचने और बिल चुकाने से रेस्त्रां के कर्मी बेहद खुश दिखे।

देखें वीडियो :

रेस्त्रां प्रबंधक ने कहा कि मेहमान के तौर पर राष्ट्रपति का आना सम्मान की बात है। बता दें कि शिमला में राष्ट्रपति का छह दिन का अस्थायी निवास है।

मनमोहन सिंह ने राष्ट्रपति से की शिकायत, बोले- कांग्रेस को धमकाते हैं पीएम मोदी

X

अपना जिला चुने