नोएडा में सैमसंग की सबसे बड़ी मोबाइल फैक्ट्री का उद्घाटन, पीएम मोदी और मून जे ने काटा फीता

NewsCode | 9 July, 2018 7:02 PM
newscode-image

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जे इन ने आज यूपी के नोएडा में दुनिया की सबसे बड़ी मोबाइल फैक्ट्री का शुभारम्भ किया। दोनों नेताओं ने संयुक्त रूप से फीता काटकर इस प्रोजेक्ट का श्रीगणेश किया। नोएडा स्थित सैमसंग मोबाइल कंपनी के इस कार्यक्रम में पीएम मोदी और साउथ कोरिया के राष्ट्रपति मून जे इन ने इस प्रोजेक्ट के बारे में बताया। पीएम मोदी ने कहा कि इस फैक्ट्री से जहां रोजगार के नये अवसर पैदा होंगे, वहीं यह यूनिट मेक इन इंडिया को भी गति प्रदान करेगा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस अवसर पर कहा कि इस यूनिट में आना मेरे लिए सौभाग्य की बात है। मोदी ने इस यूनिट के लिए सैमसंग को बधाई दी उन्होंने कहा कि 5 हजार करोड़ का यह निवेश सैमसंग के साथ-साथ दोनों देशों के रिश्तों को भी मजबूत करेगा। उन्होंने कहा कि भारत में शायद ही कोई ऐसा परिवार होगा, जहां कोरियाई प्रोडक्ट न हो। आज भारत में लगभग 40 करोड़ स्मार्ट फोन का इस्तेमाल में है।

पीएम मोदी ने आगे कहा कि इस कंपनी के साथ ही देश में मेक इन इंडिया को गति मिलेगी उन्होंने कहा कि मोबाइल उत्पादन में भारत दूसरे नंबर पहुंच गया है। मोबाइल फैक्ट्रियों की संख्या 2 से बढ़कर 120 पहुंच गई है, जिनमें से 50 से ज्यादा सिर्फ नोएडा में ही हैं। इससे 4 लाख से अधिक नौजवानों को सीधे रोजगार मिला है। उन्होंने बताया कि इस यूनिट में हर महीने करीब 1 करोड़ मोबाइल फोन बनेंगे, जिसका 30 फीसदी निर्यात किया जाएगा।

मेट्रो से पहुंचे नोएडा

इससे पहले पीएम मोदी ने मून जे इन के साथ दिल्ली मेट्रो में सफर किया। वो दिल्ली के मंडी हाउस मेट्रो स्टेशन से नोएडा के बॉटेनिकल गार्डन मेट्रो स्टेशन तक मेट्रो के जरिये पहुंचे। इस दौरान उनके साथ साउथ कोरिया के राष्ट्रपति मून जे इन भी रहे। वहीं, दोनों नेता गांधी स्मृति भी गए। जहां उन्होंने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के पसंदीदा भजन सुने।

आपको बता दें कि नोएडा के सेक्टर 81 में स्थित सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स की यह फैक्ट्री करीब 35 एकड़ में फैली है। देश में इसे मेक इन इंडिया की तर्ज पर देखा जा रहा है। इससे करीब 20 हजार रोजगार पैदा होने का अनुमान है। इस फैक्ट्री को बनाने में पिछले साल सैमसंग ने करीब 5 हजार करोड़ का निवेश किया था।

ये हैं खासियत:

-देश में 1990 के दशक की शुरुआत में पहला इलेक्ट्रॉनिक विनिर्माण केंद्र स्थापित हुआ जिसमें 1997 में टीवी बनना शुरू हुआ। मौजूदा मोबाइल फैक्ट्री 2005 में लगाई गई।

-पिछले साल जून में दक्षिण कोरियाई कंपनी ने 4,915 करोड़ रुपये का निवेश कर नोएडा प्लांट में विस्तार करने का ऐलान किया, जिसके एक साल बाद नई फैक्ट्री अब दोगुना उत्पादन करने के लिए तैयार है।

– भारत में कंपनी इस समय 6.7 करोड़ स्मार्टफोन बना रही है और नए प्लांट के चालू हो जाने पर तकरीबन 12 करोड़ मोबाइल फोन की मैन्यूफैक्चरिंग होने की संभावना है।

– नई फैक्ट्री में न सिर्फ मोबाइल बल्कि सैमसंग के कंज्यूमर इलेक्ट्रॉनिक सामान जैसे रेफ्रिजरेटर और फ्लैट पैनल वाले टेलीविजन का उत्पादन भी दोगुना हो जाएगा और कंपनी इन सारे सेगमेंट में नंबर वन की भूमिका में बनी रहेगी।

– सैमसंग के भारत में दो विनिर्माण संयंत्र, नोएडा और तमिलनाडु के श्रीपेरुंबदूर में हैं। इसके अलावा पांच रिसर्च एंड डेवलेपमेंट सेंटर और नोएडा में एक डिजाइन केंद्र हैं जिनमें 70 हजार लोग काम करते हैं। कंपनी ने अपने नेटवर्क को बढ़ाया है और 1.5 लाख रिटेल आउटलेट खोले हैं।

जयपुर में मोदी की रैली, बोले- वर्तमान की राजस्थान सरकार में विकास कार्य ना ही अटकते हैं, ना ही लटकते हैं और ना ही भटकते हैं

 

रांची : पीएम की तस्वीर बनाकर भेंट करना चाहती थी छात्रा, सुरक्षा गार्ड ने रोका

NewsCode Jharkhand | 23 September, 2018 6:06 PM
newscode-image

रांची। नरेंद्र मोदी देश वासियों के चहेते प्रधानमंत्री हैं। मोदी वैसे तो बच्चों और छात्रों में काफी लोकप्रिय है लेकिन पीएम मोदी के सभा स्थल से एक छात्रा को निराश होकर लौटना पड़ा। दरअसल प्रधानमंत्री का कार्यक्रम रांची के धुर्वा स्थित प्रभात तारा मैदान में हो रहा था।

कार्यक्रम के माध्यम से प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत स्वास्थ बीमा योजना का शुभारम्भ कर रहे थे। इस एतिहासिक पल का साक्षी बनाने के लिए सभा स्थल पर लाखों लोग मौजूद थे। वैसे भी मोदी जहाँ जाते है तो उनके चाहने वाले लोगों की ख़ुशी देखते ही बनती है।

रांची : प्रधानमंत्री ने रांची से की आयुष्मान भारत योजना की शुरुआत

पीएम हमेशा छात्र हितों की बात करते है शायद इसी लिए मोदी से मिलने के लिए रातू रोड की डिम्पी नाम की छात्रा सभा स्थल तक पहुंची, लेकिन डिम्पी को प्रधानमंत्री के सुरक्षा गार्ड ने रोक दिया। डिम्पी के हाथ में नरेंद्र मोदी की तस्वीर थी जिसे डिम्पी ने खुद अपने हाथों से बड़े अरमान से बनाई थी। मोदी की तस्वीर में बड़े ही प्यार से रंग भरी लेकिन सुरक्षा गार्ड द्वारा रोके जाने के कारण मोदी के तस्वीर के साथ डिम्पी के अरमानों के रंग भी फीके पड़ गए।

फिलहाल डिम्पी रांची मारवाड़ी कॉलेज बायोटेक की छात्रा है। मैट्रिक 70% अंक से पास है, डिम्पी पढ़ाई में भी काफी अच्छी है इसके बावजूद डिम्पी अपने चहेते प्रधानमंत्री से नही मिल पायी क्योंकि उसके पास पीएम से मिलने के लिए कागज के टुकड़े वाले पास नही थे।

डिम्पी मोदी से मिलने के लिए सुरक्षा कर्मियों से लाख बिनती करती रही लेकिन किसी ने उस छात्रा की फरियाद तक नही सुनी और पीएम से अगली बार मुलाकात करने की उम्मीद लिए डिम्पी निराश होकर अपने घर पैदल लौट गई।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

सरिया : दिल्ली में आंदोलन को लेकर डीलरों का दल हुआ रवाना

NewsCode Jharkhand | 23 September, 2018 6:19 PM
newscode-image

10 सूत्री मांगों को लेकर दिल्ली में होगा जेल भरो आंदोलन

सरिया(गिरिडीह)। ऑल इंडिया फेयर प्राइस डीलर्स एसोसिएशन झारखंड इकाई के बैनर तले सरिया के दर्जनों डीलर जेल भरो अभियान को लेकर रविवार को दिल्ली के लिए रवाना हुए।

इस बाबत सरिया प्रखंड डीलर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष अनूप कुमार व सचिव रामसेवक सिंह ने बताया कि पीडीएस डीलर जिस प्रकार जनता की सेवा कर रहे हैं,  उस अनुकूल सरकार उन्हें सुविधा उपलब्ध नहीं करा रही है।

इस कारण उन्हें भारी कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है।  इसको लेकर ऑल इंडिया फेयर प्राइस डीलर्स एसोसिएशन अपनी 10 सूत्री मांगों के समर्थन में दिल्ली में आगामी 25 सितंबर को जेल भरो अभियान करेगी।

इन मांगो को लेकर आंदोलन

मांगों में तेल में डीबीटी समाप्त किया जाए, जिससे गरीबों को सस्ता में तेल मिले। सभी जरूरमन्दों को राशन का लाभ मिले। नई दुकानों की बहाली बंद हो। राशन डीलर्स को प्रति क्विंटल ₹250 कमीशन मिले। पीडीएस डीलर्स को 30 हजार रुपये न्यूनतम मजदूरी प्रतिमाह दी जाए आदि शामिल हैं।

ये हुए रवाना

दिल्ली जाने वालों में रामसेवक सिंह, अनूप कुमार तर्वे, शिबी मोदी, मिंटू जैन, पंकज रजक, महादेव यादव, रामदेव राम, समसुद्दीन अंसारी, रामेश्वर प्रसाद, जय प्रकाश यादव समेत अन्य डीलर शामिल हैं।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते  हैं )

गिरिडीह :  प्रधानमंत्री ने अपनी बहनों को भेजा तोहफा, राखी के बदले आया स्मार पत्र

NewsCode Jharkhand | 23 September, 2018 6:08 PM
newscode-image

गिरिडीह।  देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गिरिडीह की दो बहनों को रक्षाबंधन का तोहफा भेजा है।  मोहलीचुआ की रहने वाली रामबाबू साहू की पुत्री सेजल कुमारी और चाहत कुमारी ने प्रधानमंत्री को राखी भेजी थी।

राखी मिलने के बाद पीएमओ से इन दोनों बहनों के लिए स्मार पत्र आया है। बताया गया कि पिछले साल भी इन दोनों बहनों ने प्रधानमंत्री को राखी भेजी थी और पिछले साल भी उन्हें स्मार पत्र मिला था।

इस बार भी स्मार पत्र मिलने से दोनों बहनें बेहद खुश हैं। इनका कहना है कि प्रधानमंत्री सहृदय व्यक्ति हैं और उन्होंने दिल से राखी स्वीकार की। इसी वजह से वहां से प्रमाण पत्र भेजा गया है।

स्मार पत्र मिलने से परिवार  के  सदस्य भी हर्षित हैं। बताया गया कि ये दोनों बहनें हर साल देश के सैनिकों को भी राखी भेजती हैं ताकि देश की रक्षा करने वाले सैनिकों की कलाईयाँ सूनी न रह जाए।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

More Story

more-story-image

तेनुघाट : आयुष्मान भारत योजना से गरीब भी करा पायेंगे...

more-story-image

साहेबगंज : सीएस ने सदर अस्पताल में पूछताछ केंद्र का...