पाकुड़ : मनरेगा घोटाला में संलिप्‍त पूर्व BDO समेत अधिकारियों पर प्राथमिकी दर्ज

NewsCode Jharkhand | 2 February, 2018 1:46 PM

पाकुड़ : मनरेगा घोटाला में संलिप्‍त पूर्व BDO समेत अधिकारियों पर प्राथमिकी दर्ज

विभिन्‍न धाराओं के तहत मामला दर्ज

पाकुड़। जिले में मनरेगा घोटाले का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। सीएम के जनसंवाद में शिकायत के बाद लिट्टीपाड़ा में मनरेगा में गबन करने वाले आधा दर्जन से अधिक अधिकारियों पर बीडीओ ने विभिन्‍न धाराओं के तहत प्राथमिकी दर्ज करायी। पिछले मंगलवार को जनसंवाद में सीएम से सीधी बात में हुई सुनावाई के बाद रघुवर दास ने डीसी दिलीप कुमार झा को गबन करने वाले सभी अधिकारियों को निलबंन करते हुए प्राथमिकी दर्ज करने का फरमान जारी किये थे।

क्‍या है मामला

मनरेगा योजना से साल 2014 में मेठ,अभिकर्ता और कनीय अभियंता की मिलीभगत से बगैर कार्य पूर्ण किए ही कार्य से अधिक राशि की निकासी कर ली। डीसी के आदेश पर 31 मई 2016 को जांच की गई। जांच रिर्पोट में योजना में कहा गया कि विपत्र 6 लाख 48 हजार बुक हुआ है लेकिन कार्य स्थल की जांच करने पर आंकलन के बाद 1 लाख 89 हजार से अधिक निकासी करने की बात सामने आई। फिर डीसी ने डीडीसी को एफआईआर दर्ज कराने का आदेश दिया।

रांची : गरीब, किसानों व महिलाओं समेत सभी वर्गों के विकास का बजट- मुख्यमंत्री

फर्जी निकासी का खुलासा

बीडीओ सत्यवीर रजक ने बाड़ु पंचायत में शहरपुर से चेकडैम नाला तक ग्रेड वन सड़क निर्माण के नाम पर सरकार की राशि गबन कर धोखाधड़ी की। अनियमितताओं को लेकर तत्कालीन बीडीओ, जेई बीपीआरओ नाजीर, रोजगार सेवक उपडाकपाल भेंडर एवं बिचैलियों के खिलाफ लिट्टीपाड़ा थाना में मामला दर्ज किया।

धारा 13 एन डी के तहत पूूूूर्व बीडीओ राजीव कुमार मिश्रा,जेई प्रदीप कुमार टुडू,सूरज कुमार,प्रखण्ड पंचायती राज पदाधिकारी सुरेंन्द्र नारायण साह,उपडाकपाल साइमन हांसदा,रोजगार सेवक मैमुर अली नाजीर, सेत चरण बेसरा,मेठ सनातन बास्की,अरविंद मंडल एवं मनरेगा मेटेरियल सप्लायर रक्षाकर साहा को नामजद अभियुक्त बनाया गया है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

रांची : सेंट्रल लाईब्रेरी में वाई-फाई की सुविधा देने का नितिन कुलकर्णी ने दिया निर्देश

NewsCode Jharkhand | 22 May, 2018 9:55 PM

रांची : सेंट्रल लाईब्रेरी में वाई-फाई की सुविधा देने का नितिन कुलकर्णी ने दिया निर्देश

रांची। राज्यपाल के प्रधान सचिव डा. नितिन कुलकर्णी आज सेन्ट्रल लाइब्रेरी और रांची विवि का निरीक्षण करने पहुंचे। निरीक्षण के क्रम में उन्होंने रांची विवि के कुलपति डॉ रमेश पाण्डेय से कहा कि सेन्ट्रल लाइब्रेरी में पढ़ाई का बेहतर व अनुकूल वातावरण स्थापित करने हेतु हर संभव प्रयास करें।

उन्होंने पुस्तकालय में अधिक-से-अधिक पुस्तकों के साथ-साथ आधुनिक जर्नल की उपलब्धता सुनिश्चित करने को कहा ताकि बच्चों को प्रतियोगिता परीक्षा की तैयारी हेतु बेहतर मार्गदर्शन प्राप्त हो सके।

रांची : सुनील वर्णवाल ने शिकायतों के निष्पादन में गंभीरता बरतने का दिया निर्देश

उन्होंने सेन्ट्रल लाइब्रेरी में शीघ्र ही वाई-फाई की व्यवस्था सुनिश्चित करने का निर्देश दिया। साथ ही पुस्तकालय में एलईडी लाइट तथा एसी लगाने को भी कहा। प्रधान सचिव ने कहा कि विवि को सेन्ट्रल लाइब्रेरी में स्वच्छता पर विशेष ध्यान देने की आवश्‍यकता है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

Read Also

बोकारो : कई राज्यों में आतंक का पर्याय बन चुका हसन चिकना गिरफ्तार

NewsCode Jharkhand | 22 May, 2018 9:54 PM

बोकारो : कई राज्यों में आतंक का पर्याय बन चुका हसन चिकना गिरफ्तार

33.64 लाख नगद व पांच किलो सोना बरामद

बोकारो। मुंबई के नेरूल पुलिस ने कई राज्यों में बैंक लूट और आभूषण चोरी मामले में आतंक का पर्याय बन चुका हसन चिकना को गिरफ्तार कर लिया है। सम्भावना है कि चिकना बुधवार की सुबह तक बोकारो पहुंचेगा।

बोकारो पुलिस ने मांगी थी नेरुल पुलिस से मदद

मालूम हो झारखंड पुलिस ने नेरुल पुलिस से मदद मांगी थी। 2017 में क्रिसमस की छुट्टियों के दौरान  करोड़ों के सोना बोकारो स्टील सिटी के एसबीआई शाखा से आरोपी हसन खलील शेख उर्फ ​​हसन चिकना (37) चोरी करवा लिया था। नेरूल पुलिस को एक टिप ऑफ मिला कि अभियुक्त सोमवार को किसी से मिलने के लिए सेक्टर 20 में आएगा।

सर्वे के बहाने हसन चिकना तक पहुंची पुलिस

जनगणना श्रमिकों के रूप में छिपे हुए दो पुलिसकर्मियों ने क्षेत्र का सर्वेक्षण करना शुरू कर दिया। शेख को ढूंढ़ने के बाद उन्होंने अन्य अधिकारियों को संकेत दिया जो पास में छिपे थे। तब टीम ने उसे गिरफ्तार कर लिया। इस मामले की जानकारी वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक अशोक राजपूत ने दिया।

बोकारो पुलिस अभी तक गिरफ्तारी की नहीं की पुष्टि

पुलिस ने ₹ 33.64 लाख नकद और 5.5 किलो सोने के गहने ₹ 1.79 करोड़ रुपये के बरामद किए हैं। हालांकि बोकारो पुलिस अभी तक गिरफ्तारी की पुष्टि नहीं किया है। बोकारो पुलिस ने चोरी में शामिल 12 लोगों को गिरफ्तार कर लिया था, जबकि मुख्य आरोपी शेख पुलिस को चकमा दे रहे थे। गिरोह ने हसन चिकना के नेतृत्व में बोकारो स्टील सिटी के प्रशासनिक भवन शाखा स्थित एसबीआई शाखा से 76 लॉकर तोड़ कर कीमती गहनों को चोरी कर लिए थे।

धनबाद में बनी थी चोरी की योजना

बता दें कि चोरी की योजना धनबाद के एक होटल में बनी थी, जहां हसन चिकना भी मौजूद था। पूर्व में भी लगभग 5 किलो चांदी, 1 किलो से अधिक सोने के निर्मित गहने बरामद किए जा चुके हैं। चिकना की पत्नी भी पुलिस के हत्थे चढ़ चुकी है। गहने की पहचान के लिए सिटी थाना परिसर में परेड भी कराए गए थे।

जमशेदपुर : मोबाइल चोरी करते तीन युवक धराये, पुलिस ने की कार्रवाई

पड़ोसी राज्यों में भी कई घटनाओं को दे चुका है अंजाम

सूत्रों की माने तो पड़ोसी राज्यों में भी कई घटनाओं को अंजाम दे चुका है। जिसे पुलिस को तलाश है। सम्भावना है बोकारो के अलावे अन्य पुलिस भी रिमांड पर ले सकती हैं। सूत्रों के मुताबिक बोकारो पुलिस की टीम भी छापेमारी में शामिल थी, लेकिन गिरफ्तारी की पुष्टि नहीं किया है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

चंदनकियारी : सियालजोरी इलेक्ट्रोस्टील प्लांट में लगी आग, मची अफरा-तफरी

NewsCode Jharkhand | 22 May, 2018 9:36 PM

चंदनकियारी : सियालजोरी इलेक्ट्रोस्टील प्लांट में लगी आग, मची अफरा-तफरी

चंदनकियारी (बोकारो)। चंदनकियारी प्रखंड के सियालजोरी थाना क्षेत्र के इलेक्ट्रोस्टील प्लांट के अंदर सुबह अचानक भीषण आग लगने से प्लांट में अफरा-तफरी मच गयी। आग लाइन डोलो साइड हाउस में लगा है।

आग पर काबू करने के लिए कंपनी ने फायर ब्रिगेड को लगाया। काफी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया गया। आग से काफी नुकसान होने की अनुमान है। हालांकि कंपनी के अधिकारियों ने इसकी पुष्टि अभी तक नहीं की है।

गोमिया : उपचुनाव को लेकर मंत्री चंद्रप्रकाश चौधरी ने जनसभा को किया संबोधित

आपको बताते चलें कि‍ हाल ही में इलेक्ट्रोस्टील कंपनी को वेदांता कंपनी ने अधिग्रहण किया है। लोगों का कहना है कि इलेक्ट्रोस्टील कंपनी के पदाधिकारियों द्वारा पुराने फाइलों को छेड़छाड़ किया होगा। इसी आग लगाने की घटना को षड़यंत्र से इंकार भी नहीं किया जा सकता है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

X

अपना जिला चुने