पाकुड़: चोरी की वाहन व फर्जी कागजात बनाने वाले गिरोह का पुलिस ने किया पर्दाफाश

NewsCode Jharkhand | 11 February, 2018 6:00 PM

पाकुड़: चोरी की वाहन व फर्जी कागजात बनाने वाले गिरोह का पुलिस ने किया पर्दाफाश

पाकुड़। पुलिस को मिली बड़ी सफलता चोरी की वाहन व फर्जी कागजात बनाने वाले गिरोह का उद्भेदन पुलिस ने किया । पाकुड़ मुफस्सिल थाना प्रभारी संतोष कुमार सहायक अवर निरीक्षक उपेन्द्र प्रसाद यादव के साथ सकरघट गांव जो पश्चिम बंगाल से सटा मुख्य सड़क पर पहुंचा उसी वक्त पश्चिम बंगाल की ओर से एक सुमो गोल्ड गाड़ी संख्या डब्लुबी40एक्स0504 को आते देख पुलिस ने संहेद होने पर रूकने का इशारा किया किन्तु वाहन चालक पुलिस को देखकर वाहन तेजी से भगाने लगा जिसे पुलिस बल के जवानो के सहयोग से ओवरटेक कर पकड़ा गया।

Read More: सरायकेला-खरसावां : लैंड माइंस बिछाने वाला मास्टरमाइंड नक्सली पुलिस की गिरफ्त में

जिसका जांच करने के दौरान वाहन चालक के अतिरिक्त एक अन्य व्यक्ति को बैठा पाया गया। दोनो से पूछताछ किया गया और वाहन के कागजात मांगी गयी तो कोई भी कागजात प्रस्तुत नही किया गया। वाहन चोरी के संदेह होने पर वाहन चालक समेत दोनो व्यक्ति को गिरफ़्तार कर वाहन को जब्‍त कर लिया। दोनो ही पश्चिम बगांल के मुर्शिदाबाद के रहने वाले हैं।

पुलिस को दोनो ही अपराधी द्वारा स्वीकार बयान में बताया कि वाहनों की चोरी करने एवं चोरी वाहनों को खरीद कर फर्जी कागजात तैयार कर वाहनों को बेचते है। एसपी शैलेन्द्र प्रसाद वर्णवाल ने वाहन चोरी एवं फर्जी कागजात बनाने वाले गिरोह में शमिल दोनो अपराधीयों की गिरफ़्तार रकी जानकारी पत्रकार सम्मेलन में दी । मौके पर मुख्यालय डीएसपी नवनीत ए हेम्ब्रम,थाना प्रभारी संतोष कुमार एवं थाना प्रभारी अमडापाड़ा बिरेन्द्र कुमार पाण्डेय मौजुद थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

चतरा : लेवी की रकम लेने आये दो आरोपी गिरफ्तार, तीन फरार

NewsCode Jharkhand | 25 May, 2018 10:13 PM

चतरा : लेवी की रकम लेने आये दो आरोपी गिरफ्तार, तीन फरार

चतरा। टंडवा पुलिस ने लेवी की रकम के साथ दो लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। गिरफ्तार लोगों में मिस्रोल निवासी मो. इसराफिल व मो. अबरार का नाम शामिल है। थाना प्रभारी बंधन भगत के बयान पर मामला दर्ज किया गया है। दर्ज मामले के अनुसार टंडवा पुलिस गश्ती के दौरान लेवी की रकम के साथ दोनों व्यक्तियों को पकड़ा गया।

चतरा : हत्या के आरोप में पिता, पुत्र को आजीवन कारावास

बताया गया कि उक्त रकम को कोयला व्यवसायियों से वसूला गया था, जिसे टीपीसी के लोगों  को देने के लिए दोनों लोग तय स्थान पर गए थे। इसी  दौरान पुलिस की गस्ती दल वहा पहुच गई, जिसके बाद पैसा लेने आए तीन लोग फरार हो गए, बाकि दो को पुलिस ने पकड़ लिया। इस बावत टंडवा पुलिस द्वारा कांड संख्या 94/18  के तहत मामला दर्ज किया है। जिसमें गिरफ्तार दोनों के अलावे अर्जुन गंझु, अमन भोक्ता (लवालोंग) व सुबोध कुमार (लातेहार) को आरोपी बनाया गया है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

Read Also

सिमडेगा : अज्ञात महिला का शव बरामद, जांच में जुटी पुलिस

NewsCode Jharkhand | 25 May, 2018 10:05 PM

सिमडेगा : अज्ञात महिला का शव बरामद, जांच में जुटी पुलिस

सिमडेगा। ठेठईटांगर थाना क्षेत्र के टापुडेगा अंबाडोड़ा गांव में आज अज्ञात महिला का शव बरामद किया गया।   गांव के उंबलन होरो के खेत  में ग्रामीणों ने आज लगभग 50 वर्षीय एक महिला का शव देखा।

गढ़वा : खुले कुएं में मिला युवती का शव, जांच में जुटी पुलिस

ग्रामीणों ने शव देखे जाने की सूचना ग्रामीणों को दी। पुलिस ने  घटना स्थल  पर पहुंच कर शव को अपने कब्जे में लेकर उसे पोस्टमार्टम के लिये सदर अस्पताल भेज दिया।  पुलिस शव  की पहचानी  करने में जूटी हुयी है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

कोडरमा : पुलिस ने साइबर अपराधी को किया गिरफ्तार, कई सिम कार्ड बरामद

NewsCode Jharkhand | 25 May, 2018 9:27 PM

कोडरमा : पुलिस ने साइबर अपराधी को किया गिरफ्तार, कई सिम कार्ड बरामद

कोडरमा। पुलिस ने साइबर अपराध के मामले का खुलासा करते हुए कांड में शामिल अपराधी निर्मण मंडल (ग्राम मोतीलेदा, बेंगावाद, जिला गिरिडीह) को गिरिडीह से गिरफ्तार कर लिया है। अपराधी के पास से पुलिस ने एक आइसीआईसीआइ बैंक का डेबिट कार्ड,  विभिन्न कंपनियों के तीन मोबाइल, एक वोडाफोन का सिम एक ल्यूमिनस कम्पनी की 150 एएमएच की बैटरी व एक माईक्रोटेक कंपनी का इनवर्टर बरामद किया है।

एसपी एम. तमिल वाणन ने शुक्रवार को बताया कि 30 मार्च को छोटेलाल यादव बाराडीह थाना चंदवारा निवासी ने चंदवारा थाना में आवेदन देकर मामला दर्ज कराया था। आवेदन में छोटेलाल यादव ने कहा था कि उनके मोबाइल पर साइबर अपराधी ने फोन करके उनसे उनका आधार कार्ड नंबर और ओटीपी नंबर पूछा था। इसके बाद उनके खाते से 42,175 रुपये की ऑनलाइन खरीदारी एवं निकासी कर ली थी।

कोडरमा : राजद का धरना, बीजेपी सरकार को जमकर कोसा

इस आवेदन के आधार पर पुलिस ने प्राथमिकी दर्ज करते हुए मामले को टेक्निकल सेल को सौंप अनुसंधान शुरू किया गया। अनुसंधान के दौरान जिस मोबाइल नंबर के पेटीएम एकांउट में अवैध रूप से पैसा भेजा गया है, उसका पता लगाया गया। फिर पुलिस ने 24 मई की रात्रि को कांड के आरोपी को मोतीलेदा को गिरिडीह से गिरफ्तार कर लिया। एसपी ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी ने मामले में अपनी संलिप्तता स्वीकार कर ली है।

कोडरमा : 1 सप्ताह के अंदर बिजली-पानी की समस्या में हो सुधार नहीं तो राजद करेगा जन आंदोलन

कुछ लोगों का है गिरोह

एसपी एम. तमिल वाणन ने बताया कि कांड को अंजाम देने में चार-पांच लोगों का एक गिरोह है जो इसमें लगा हुआ है। गिरफ्तार आरोपी के पास से करीब 25 सिम का उपयोग लोगों को ठगने के लिए किया जा रहा था।

इस गिरोह के माध्यम से करीब 1000 से अधिक लोगों को ठगने का कार्य अबतक कर चुका है। ठगी के पैसे से बाइक, एलईडी सहित कई सामान खरीदते थे और आरोपियों द्वारा खरीदे गए सामान को कुछ कम दाम में बेच दिया जाता था।

टीम में ये लोग थे शामिल

एसपी ने बताया कि मामले के खुलासा करने वाली टीम में चंदवारा थाना प्रभारी एसआई सोनी प्रताप, थाना प्रभारी बेंगावाद एसआई पीसेन दास, एएसआइ शाहनवाज खान तकनीकी सेल के कुणाल कुमार सिंह आदि शामिल थे। एसपी ने बताया कि जल्द ही कांड में शामिल अन्य आरोपियों को भी पकड़ लिया जाएगा।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

X

अपना जिला चुने