पाकुड़ : झामुमो कार्यकर्ताओं की बैठक, मिशन 2019 को लेकर हुई मंथन

NewsCode Jharkhand | 16 May, 2018 6:04 PM
newscode-image

पाकुड़। जिला मुख्यालय स्थित लड्डूबाबू आम बागान में झारखंड मुक्ति मोर्चा की बैठक आयोजित की गई। बैठक की अध्यक्षता जिला अध्यक्ष श्याम यादव ने  की। जिला अध्यक्ष  यादव ने सभी प्रखंड कमिटी भंग कर, उसमें संयोजक मंडली बना कर पंचायत में काम करने का निर्देश दिए।  जिला अध्यक्ष यादव ने जिला, प्रखंड एवं पंचायत कमिटि दुरुस्त करने की बात कही।

झारखंड में लोकसभा व विधानसभा चुनाव नजदीक आ चुकी है इसलिए मिशन 2019 में झामुमो अपना ताकत दिखा सके। यादव ने सभी कार्यकर्ताओं को बताया कि झामुमो के केंद्रीय अध्यक्ष शिबू सोरेन एवं कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन पार्टी के लिए मेहनत कर रहे है। हमलोगों को भी अपने क्षेत्र में मेहनत करने की आवश्यकता है।

सभी पार्टी कार्यकर्ताओं अपनी जिम्मेदारी व पार्टी सिद्धांत को समझते हुए कार्य करें। पार्टी का प्रचार-प्रसार शुरु कर दें। मजदूर की स्थिति दयनीय है, युवा रोजगार के लिए दर-दर भटक रहें है। सभी को राज्य सरकार की कठोर रवैये से अवगत कराएं।

जिला सचिव समद अली  ने बैठक में सभी से अपील किया कि गांव गांव में ग्रामीणों को जगाने का काम हैऔर इसके लिए कार्यकर्ता अभी से लग जाय। इस बार हेमंत सोरेन जी की सरकार बनना तय है। रघुवर सरकार के प्रति नाराजगी जतायी कहा कि आज छोटे बड़े व्यवसायी की हालत खराब है। मिशन- 2019 में तैयार हो जायें।

रामगढ़ : ‘सरकार देश में अराजकता फैलाने का काम कर रही’- हेमंत सोरेन

मौके पर लिट्टीपाड़ा विधायक साईमन मरांडी, जिला सचिव समद अली, जिला उपाध्यक्ष अजीजुल इस्लाम, पूर्व विधायक सुफल मरांडी, निशा शबनम हांसदा, शाहिद इकबाल, दिनेश मरांडी, जोसिफेना हेम्ब्रम, मीरा प्रवीण सिंह, मैनुल हक, इशहाक अंसारी, अब्दुल उदूद, मोतीलाल हांसदा, महावीर भगत, मंटु भगत, श्रीराम भगत, तनवीर अली, सुलेमान बास्की, उमर फारूक, कुणाल अल्फ्रेड, एमानवेल मुर्मू, दीपू मुर्मू, शाहीन परवेज, अकबर अंसारी, दुर्गा हांसदा, मो0 जावेद, नारायण भगत सहित झामुमो के सभी प्रखंडों का कार्यकर्ता उपस्थित थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

धनबाद : एनडीए सरकार में श्रम मंत्री रही रीता वर्मा ने की वाजपेयी से जुड़ी यादें साझा

NewsCode Jharkhand | 16 August, 2018 6:56 PM
newscode-image

धनबाद। एनडीए सरकार में श्रम मंत्री रही प्रो. रीता वर्मा ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी से जुड़े यादों को साझा कर भावुक हो गई। प्रो. वर्मा ने बताया कि अमेरिका के विरोध के बावजूद वाजपेयी ने पोखरण परमाणु परीक्षण कराया।

उनके इस अटल फैसले से दूसरे देशों ने भारत को सहयोग देने बंद कर दिए। वे इससे तनिक भी विचलित नहीं हुए। परमाणु परीक्षण के बाद का इतिहास भारत के लिए काफी गौरवमय रहा है।

परमाणु परीक्षण को अटल सरकार का साहसी निर्णय करार देते हुए प्रो. वर्मा ने बताया कि इस परीक्षण के वजह से भारत की पूरे विश्व में अच्‍छी साख बनी। वाजपेयी हमेशा अपने मंत्रिमंडल के सहयोगियों के साथ शिक्षक की भूमिका में पेश आते थे तथा सिखाने की भरपूर कोशिश करते थे।

धनबाद : वासेपुर से रणधीर वर्मा तक निकाली गई भव्य तिरंगा यात्रा

अपने सांसद काल का जिक्र करते हुए उन्‍होंने बताया कि जब मैं धनबाद से सांसद बनी उस समय यह जिला बिहार में हुआ करता था। उस समय लालू यादव बिहार के मुख्‍यमंत्री थे। लालू की भाषा शैली के कारण वाजपेयी जी मुझे भी उसी भाषा के समझ बैठें, लेकिन मेरी हिंदी सुनने के बाद वे बेहद प्रभावित हुए।

डॉ श्यामाप्रसाद मुखर्जी और पंडित दीनदयाल उपाध्याय के असामायिक निधन के बाद भारतीय जनता पार्टी के सामने शून्‍यता की जो स्थिति पैदा हो गई थी उसे वाजपेयी ने अकेले भरने का काम किया। बाद में लाल कृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी ने पार्टी को मजबूत बनाने के लिए उनेक साथ कंधे से कंधा मिलाया।

वर्मा ने आगे बताया कि संसद में विपक्षी पार्टी के नेता भी वाजपेयी के भाषण सुनने को लालायित रहते थे। वे जैसे ही बोलने केा खड़े होते संसद शांत हो जाता। कोई कांग्रेसी यदि शोर गुल करते थे तो दूसरे कांग्रेसी उसे शांत कराकर बैठा देते थे।

अपने पति एसपी स्वर्गीय रणधीर प्रसाद वर्मा की प्रतिमा अनावरण से जुड़ी यादों का जिक्र करते हुए प्रो. वर्मा ने बताया कि वाजपेयी ने ही प्रतिमा का अनावरण किया था। उस समय वे देश के प्रधानमंत्री नहीं थे। प्रतिमा अनावरण के लिए उनसे कहने पर उन्‍होंने तुरंत हामी भर दी थी।

वे दिल्‍ली से कोलकाता हवाई जहाज में आए। हावड़ा स्‍टेशन से ब्लैक डायमंड ट्रेन में सवार होकर 3 जनवरी 1994 को रणधीर वर्मा चौक  पर प्रतिमा का अनावरण किया। धनबाद पहुंचने में उन्हें काफी कष्ट हुआ था, लेकिन अपने कष्ट को उन्होंने कभी जाहिर नहीं किया।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

गावां (गिरिडीह) : विभिन्न विभागों में झंडोत्‍तोलन को लेकर तालमेल का दिखा अभाव

NewsCode Jharkhand | 16 August, 2018 7:12 PM
newscode-image

 स्वतंत्रता दिवस समारोह पर दिखी अनुशासनहीनता

गावां गिरिडीह। गावां में स्वतंत्रता दिवस समारोह में इस बार पूर्वाभ्यास की पूरी कमी देखी गई। नतीजतन विभिन्न विभागों में झंझोत्‍तोलन को लेकर तालमेल का अभाव दिखा। इस कारण प्रखंड मुख्यालय में झंडोत्‍तोलन के वक्त झंडे को सलामी देने के लिए पुलिस जवान मौजूद नहीं रहे।

जबकि बीडीओ मोनी कुमारी सलामी दल को बुलाने के लिए थाना में फोन करती रहीं। वहीं गावां थाना द्वारा निर्गत आमंत्रण पत्र में दिये गये समय सारणी से एक घंटा पूर्व ही ध्‍वजारोहण कर दिया गया।

बोकारो : खेल के मामले में सरकार का रवैया उदासीन : मयूर शेखर झा

इस कारण थाना परिसर में झंडोत्‍तोलन देखने से लोग चूक गये। बता दें कि थानेदार द्वारा निर्गत आमंत्रण पत्र में झंडोत्‍तोलन का समय दिन के 10:10 बजे निर्धारित था, लेकिन तय समय से एक घंटा 4 मिनट पूर्व ही 09:06 बजे ही थाना में झंडोत्‍तोलन कर दिया गया। इस कारण तय समय पर थाने में झंडोत्तोलन में शामिल होने पहुंचे लोगों को मायूस होना पड़ा।

बैंक प्रबंधक को झंडोत्‍तोलन के बजाय घर भागना आया रास

वैसे तो तिरंगा फहराना गर्व की बात मानी जाती है और इसके लिए लोग लालायित भी रहते हैं, लेकिन समाज में कुछ ऐसे भी लोग हैं, जो स्वतंत्रता दिवस को महज एक सरकारी बंदिशों वाला कार्यक्रम मान लेते हैं। ऐसा ही नजारा गावां के इलाहाबाद बैंक में देखने को मिला।

प्रबंधक ने झंडोत्‍तोलन करने के बजाए 15 अगस्त को घर भागना ज्यादा मुनासिब समझा। फलत: गावां इलाहाबाद बैंक में एक आम सीनियर सिटीजन उमाशंकर अवस्थी ने झंडोत्‍तोलन किया।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

चाईबासा : जिले के चार प्रखंडों में लगाए गए जनता दरबार

NewsCode Jharkhand | 16 August, 2018 7:01 PM
newscode-image

 चाईबासा । पश्चिमी सिंहभूम के उपायुक्त अरवा राजकमल के निदेशानुसार गुरूवार को जिले के चार प्रखण्डों में जनता दरबार का अयोजन किया गया। नोवामुंडी प्रखण्ड मुख्यालय जनता दरबार में विभिन्न विभागों के द्वारा शिविर का लगाया गया।

जिसमें मुख्य रूप से वृद्धा पेंशन, विधवा पेंशन,विकलांग पेंशन, दिव्यांग पेंशन, जाति, आवासीय, आय प्रमाण पत्रों, स्वास्थ्य, चिकित्सा, कृषि, पशुपालन, समाज कल्याण सहित अन्य विभागों के प्रखण्ड स्तरीय पदाधिकारियों ने लोगों के समस्या का समाधान किया।

जनता दरबार में बच्चों का आधार पंजीकरण भी कराया गया। जनता दरबार का आयोजन प्रखण्ड विकास पदाधिकारी नोवामुण्डी समरेश प्रसाद भण्डारी, तथा अंचलाधिकारी गोपी उरॉव के निर्देशन में सम्पन्न हुआ। वहीं जगन्नाथपुर प्रखंण्ड कार्यालय में लगे जनता दरबार में सूचना के अभाव में लोग नहीं पहुंचे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं

More Story

more-story-image

पाकुड़ : अज्ञात वाहन की चपेट में आने एक की...

more-story-image

गोड्डा : सांस्कृतिक संध्या पर रंगारंग प्रस्तुतियों ने मोहा