पाकिस्तान से लौटी गीता बनेगी दुल्हनिया, ‘स्वयंवर’ में किसान से लेकर इंजीनियर तक शामिल

NewsCode | 7 June, 2018 5:25 PM
newscode-image

इंदौर। तकरीबन ढाई साल पहले पाकिस्तान से भारत लौटी गीता एक बार फिर चर्चा में है। मध्य प्रदेश के इंदौर शहर में गुरुवार को गीता का ‘स्वयंवर’ का आयोजन किया जाएगा। गीता को अपनी जीवनसंगिनी बनाने के लिए देशभर से कई युवकों ने कोशिश की थी, लेकिन मौका मिला है सिर्फ 14 को। गीता से गुरुवार को छह ऐसे युवकों का परिचय कराया जाएगा। बाकी 8 युवकों से गीता शुक्रवार को मिलेगी। इनमें से एक को वह अपना जीवनसाथी चुनेगी।

गीता से अपने जीवन की डोर जोड़ने के लिए सॉफ्टवेयर इंजीनियर ही नहीं, सरकारी और निजी कंपनी में नौकरी करने वालों के साथ ही किसान और होटल में काम करने वाले युवक भी लालायित हैं। गुरुवार को जो युवक गीता से मुलाकात करेंगे, उनमें पैरों से दिव्यांग, पूरी तरह मूक-बधिर, आंशिक मूक-बधिर और सामान्य भी हैं. देश के मध्य प्रदेश के इंदौर, भोपाल, टीकमगढ़, उत्तर प्रदेश के मथुरा, आगरा, अलीगढ़ और राजस्थान, दिल्ली, गुजरात और बिहार जगहों से आए लड़के शामिल हैं।

विदेश मंत्रालय कराएगा स्‍वयंवर

शादी के लिए सेलेक्‍टेड बायोडाटा को सुषमा स्‍वराज देख चुकी हैं। शुरुआत में बायोडाटा भेजने वाले 30 लड़कों में से गीता ने 14 लड़कों के बायोडाटा को स्‍वयंवर के लिए सेलेक्‍ट करके विदेश मंत्रालय भेजा था। बता दें कि मूक-बधिर सेंटर की ओर से करीब एक साल पहले विदेश मंत्रालय को खबर दी गई थी कि गीता शादी करना चाहती हैं।

गीता की शादी के प्रस्ताव के लिए उसके प्रोफाइल में लिखा गया- “28 वर्षीय लड़की के लिए सुंदर, पढ़ा-लिखा और कम्प्यूटर जानने वाला लड़का चाहिए, लड़की खाना अच्छा बनाती है, बैग मेकिंग, एम्ब्रॉयडरी, ब्यूटी पार्लर आदि का प्रशिक्षण भी लिया है।’

16 साल पुराने फिरौती मामले में अंडरवर्ल्ड डॉन अबू सलेम को 7 साल की सजा

माता-पिता की तलाश नहीं हो पाने पर गीता ढाई साल से स्कीम 71 के मूक-बधिर संगठन में रह रही है। इस बीच उसके माता-पिता की तलाश जारी है। दो दर्जन से ज्यादा दंपतियों ने उसके माता-पिता होने का दावा किया, लेकिन कोई भी उसे बेटी साबित नहीं कर पाया। इस बीच उसके लिए दूल्हा ढूंढने का सिलसिला शुरू हो गया है। विदेश मंत्रालय से हरी झंडी मिलने पर फेसबुक पर वर तलाशने की पोस्ट शेयर की गई।

भ्रष्टाचार के आरोपों के बाद सीएम योगी ने गोंडा व फतेहपुर जिले के डीएम को किया निलंबित

अयोध्‍या में योगी ने संतों से कहा- धैर्य रखें! भगवान राम की कृपा बरसेगी तो जल्द बनेगा मंदिर

NewsCode | 25 June, 2018 7:02 PM
newscode-image

अयोध्‍या। देश में अगले साल होने वाले आम चुनाव से पहले अयोध्‍या में राम मंदिर के निर्माण का मुद्दा एक बार फिर गरमा गया है। सोमवार को महंत नृत्यगोपाल दास के जन्‍मदिन पर अयोध्‍या में आयोजित संत सम्‍मेलन में हिस्‍सा लेने पहुंचे उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने संत समाज से अपील की है कि वे कुछ दिन तक धैर्य रखें, भगवान राम की कृपा होगी तो अयोध्‍या में राम मंदिर जरूर बनेगा।

योगी ने कहा, ‘हम दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र में रहते हैं। भारत की इस व्यवस्था के संचालन में न्यायपालिका, कार्यपालिका और विधायिका की अपनी भूमिका है। हमें उन मर्यादाओं को भी ध्यान में रखना होगा। उन्होंने कहा, ‘मर्यादा पुरुषोत्तम राम इस ब्रह्मांड के स्वामी हैं। जब उनकी कृपा होगी तो अयोध्या में मंदिर बनकर रहेगा। इसमें कोई संदेह नहीं है…तो फिर संतों को इसे लेकर संदेह कहां से पैदा हो जाता है। आपने इतना धैर्य रखा, मुझे लगता है कि कुछ दिन और धैर्य रखना होगा। आशावाद पर दुनिया टिकी हुई है।’

योगी ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए किसी का नाम लिये बगैर कहा कि इस पार्टी के एक वरिष्ठ नेता ने उच्चतम न्यायालय में अर्जी दाखिल करके कहा कि रामजन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवाद की सुनवाई वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव के बाद हो। वहीं, कांग्रेस के ही लोग कह रहे हैं कि भाजपा मंदिर मुद्दे पर कुछ नहीं कर रही है। कहीं ऐसा तो नहीं कि जब विवाद का पटाक्षेप नजदीक है, तब ये लोग कोई दूसरी साजिश रच रहे हों।

इस दौरान कार्यक्रम में सीएम योगी ने कहा कि आज वो लोग भी राम मंदिर की बात करते हैं, जिन लोगों ने राम भक्तों पर गोलियां चलाई थीं। खुशी की बात है कि किसी भी बहाने ये लोग राम भक्ति की बात करते हैं। तो यही हमारी विजय है।

यूपी: मुजफ्फरनगर में कबाड़ी की दुकान में विस्फोट, 4 की मौत

योगी का यह बयान वेदांती के बयान के बाद आया है, जिसमें उन्‍होंने कहा कि दुनिया की कोई भी ताकत मंदिर निर्माण होने से नहीं रोक सकती। बीजेपी के पूर्व सांसद ने कहा कि यही एकमात्र पार्टी है, जो अयोध्‍या में राम मंदिर का निर्माण कर सकती है।

INX मीडिया केस: कार्ति चिदंबरम की जमानत को CBI ने सुप्रीम कोर्ट में दी चुनौती

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

बेंगाबाद : तेज रफ्तार का टूटा कहर, बाइक सवार युवक की मौत

NewsCode Jharkhand | 25 June, 2018 9:20 PM
newscode-image

बेंगाबाद (गिरिडीह)। बेंगाबाद मधुपुर मुख्य मार्ग एनएच 114 ए पर सोमवार को फिर रफ्तार का कहर टूटा और एक ज़िन्दगी काल के गाल में समां गई। इस पथ पर झलकडीहा मोड़ के समीप एक तेज रफ्तार बाइक अनियंत्रित होकर पहले सड़क किनारे पुलिया से टकराई फिर दूर गड्ढे में जा गिरी। घटना में बाइक पर सवार लगभग 25 वर्षीय युवक गंभीर रूप से घायल हो गया। आनन-फानन में उसे इलाज के लिए अस्पताल ले जाने के क्रम में उसने दम तोड़ दिया।

बेंगाबाद : नए रेंजर ने लिया पदभार, कहा वनों की सुरक्षा होगी प्राथमिकता : अजय कुमार

बेंगाबाद पुलिस द्वारा शव को कब्ज़े में लेकर पोस्टमार्टम सदर अस्पताल पहुंचाया गया। ख़बर लिखे जाने तक मृतक युवक की पहचान नही हो पाई थी। घटना के संबंध में बताया गया कि जेएच 15बी 9021 नंबर की एक यामाहा बाइक पर सवार होकर एक युवक  मधुपुर से गिरिडीह की ओर आ रहा था। इसी क्रम में अत्यधिक स्पीड होने के कारण झलकडीहा मोड़ के पर बाइक का संतुलन बिगड़ गया और बाइक सड़क किनारे बनी पुलिया से टकरा गई। फिलहाल पुलिस द्वारा मृतक के घरवालों का पता लगाया जा रहा है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

पाकुड़ : भाजपा की बैठक आयोजित, हुल दिवस को लेकर हुई चर्चा

NewsCode Jharkhand | 25 June, 2018 9:16 PM
newscode-image

पाकुड़। लिट्टीपाड़ा प्राखण्ड दामिन डाक बंगला परिषर में भाजपा की बैठक प्रखण्ड अध्यक्ष राम मंडल की अध्यक्षता में आहुत किया गया। जिसमे मुख्य अतिथि के रूप में प्रदेश उपाध्यक्ष सह पूर्व मंत्री हेमलाल मुर्मू उपस्थित हुये। बैठक में  मुख्य रूप से 30 जून को  हूल दिवस को लेकर चर्चा की गयी। मंडल इकाई के लोगों को 30 जून को पांच कठिया से भोगनाडीह ले जाने के बातें हुई।

पाकुड़ : भूमिगत कोयला में आग लगने से ग्रामीण दहशत में, प्रशासन से लगाई गुहार

साथ ही प्रदेश उपाध्यक्ष मुर्मू ने बताया कि भूमि अधिग्रहण अधिनियम बिल आदिवासियों के हित के लिए बनाया गया है। इसको लेकर विपक्ष दुष्प्रचार कर रहे है लेकिन सभी से अपील किया  हर आदिवासी गांव गांव एवं  घर-घर  जाकर सभी को भूमि  अधिग्रहण अधिनियम बिल के बारे में सरकार की उप्लब्धि आदिवासियों एवं जनजातियों को स्पस्ट रूप से बताया जाएगा। यह कानून सरकारी जनहित के  कार्यो लिया बनाया गया है जिसके तहत सरकारी स्कूल, कॉलेज , हॉस्पिटल, सड़क, रेलवे के अच्छे काम में आएगे।

साथ ही भाजपा नेता साहेब हाँसदा ने कहा कि बूथ स्तर पर संगठन मजबूती करने, गाँव-गाँव में जाकर सरकार  कि उपलब्धी के बारे में जानकरी देने के लिए कार्यकर्त्ताओं  से अनुरोध किया । इस बैठक के मौके पर एस टी मोर्चा प्रखंड अध्यक्ष भोला हेम्ब्रम, प्रखंड प्रभारी सुलेमान मुर्मू, दिनेश मुर्मू, जिला कार्यकारणी सदस्य बबलू सोरेन, पंचायत प्रभारी मंझला सोरेन, प्रखंड उपाध्यक्ष मुंशी मुर्मू, प्रखंड मंत्री रेंगटा किस्कू सहित दर्जनों कार्यकार्ता उपस्थित थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

More Story

more-story-image

जमशेदपुर : महाधरना तो ट्रेलर है, पूरी फिल्म 5 जुलाई...

more-story-image

दुमका : राज्य में सरकार एक और हूल लाना चाहती...