मक्का मस्जिद ब्लास्ट: ओवैसी ने NIA की जांच पर उठाए गंभीर सवाल, बोले- न्याय नहीं पक्षपात हुआ

NewsCode | 16 April, 2018 5:54 PM
newscode-image

हैदराबाद| मक्का मस्जिद ब्लास्ट में सभी पांच आरोपियों को दोषमुक्त करार दिए जाने पर अपनी प्रतिक्रिया में आल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुसलमीन के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने सोमवार को कहा कि इस मामले में न्याय नहीं हुआ।

उन्होंने कहा कि इस फैसले से आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई कमजोर होगी। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) की विशेष अदालत के फैसले पर ओवैसी ने कहा कि मामले की पक्षपातपूर्ण जांच हुई। एनआईए के राजनैतिक आकाओं ने मामले को ठीक से आगे नहीं बढ़ाने दिया।

ट्वीट की एक श्रृंखला में ओवैसी ने कहा कि एनआईए और मोदी के नेतृत्व वाली सरकार ने आरोपियों को दी गई जमानत के खिलाफ 90 दिनों की अवधि के अंदर अपील तक नहीं की थी।

उन्होंने कहा, “जून  2014 के बाद गवाह अपनी गवाही से मुकरने लगे। वे सही बयान नहीं दे सके। पीड़ितों को परास्त करने के लिए सब कुछ किया गया। आज की दोषमुक्ति ने आतंकवाद के खिलाफ हमारी लड़ाई को कमजोर किया है।”

विशेष अदालत ने सोमवार को दक्षिणपंथी हिंदू समूह के सदस्यों को इस मामले में यह कहते हुए बरी कर दिया कि अभियोजन पक्ष इनके खिलाफ सबूत नहीं दे सका।

हैदराबाद की विख्यात मक्का मस्जिद में 18 मई, 2007 को हुए विस्फोट में नौ लोग मारे गए थे और 58 अन्य घायल हुए थे। विस्फोट के खिलाफ मस्जिद के बाहर प्रदर्शन कर रहे लोगों पर पुलिस गोलीबारी में भी पांच लोग मारे गए थे।

पीएम मोदी न्याय को लेकर गंभीर हैं तो दुष्कर्म मामलों में तुरंत कार्रवाई करें : राहुल गांधी

विस्फोट के फौरन बाद पुलिस ने इसके लिए हरकत-उल-जिहाद इस्लामी को जिम्मेदार बताते हुए शहर के लगभग 100 युवाओं को गिरफ्तार कर जेल में डाल दिया था। बाद में सीबीआई ने कहा था कि यह कांड दक्षिणपंथी हिंदू समूह की कारस्तानी है।

कर्नाटक चुनावः भाजपा ने जारी की 82 उम्मीदवारों की दूसरी सूची, देखें पूरी लिस्ट

 आईएएनएस

रांची : एबीवीपी सरकार के बल पर छात्र राजनीति और शैक्षणिक संस्थानों कर रही है कब्ज़ा-वाम दल

NewsCode Jharkhand | 21 September, 2018 7:01 PM
newscode-image

रांचीएबीवीपी राज्य व केंद्र सरकार के बल पर छात्र राजनीति और शैक्षणिक संस्थानों पर कब्जा करना चाहती है। यह छात्र और शैक्षणिक जगत के हितों के खिलाफ है। इससे छात्र का मूल दायित्व शिक्षण कार्य प्रभावित होता है। शिक्षण कार्य के विकास के लिए दहशत और खुले वातावरण का होना जरूरी है।

उक्त बातें आज एआइएसएफ, एआइवाईएफ, एआइडीएसओ, एसएफआई, डीवाईएफआई आइसा और जेसीएम के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित प्रेसवार्ता को अल्बर्ट एक्का चौक  स्थित भाकपा कार्यालय में छात्र-युवा नेता संबोधित कर रहे थे।

रांची : श्री सर्वेश्वरी समूह का 58वां स्थापना दिवस, निकाली गई प्रभात फेरी

प्रेसवार्ता 19 सितंबर को रांची और जमशेदपुर में वाम छात्र-संगठनों के प्रतिरोध मार्च पर एबीवीपी के गुंडों द्वारा हुए हमले के खिलाफ आयोजित की गयी। यह प्रतिरोध मार्च जेएनयू में एबीवीपी की करारी हार के बाद निकाला गया था। सभी छात्र संगठनों ने एक स्वर में इस हमले की कड़ी निंदा की।

सभी छात्र संगठनों ने एकमत स्वर में कहा कि छात्र संगठनों के देशभक्त होने का सर्टिफिकेट एबीवीपी से लेने आवश्यकता नहीं है। छात्र संगठनों का इतिहास आजादी के आंदोलन से लेकर आजादी के बाद भी है, जो देश की एकता व अखंडता के लिए संघर्ष से जुड़ा है।

नेताओं ने कहा कि एबीवीपी की गुंडागर्दी का विरोध हम अपनी वैचारिकता और राजनैतिक चेतना के आधार पर करेंगे और शिक्षण संस्थाओं से लेकर राज्य के सभी जिलों में एक सशक्त अभियान संचालित करेंगे। इस अभियान के तहत एबीवीपी की आपराधिक कार्रवाइयों का पर्दाफाश किया जायेगा।

साथ ही देश में बढ़ते कट्टरवाद और उन्माद से शिक्षा और रोजगार स्तर पर पड़ने वाले प्रभावों के बारे में छात्र-युवाओं को बतायेंगे। छात्र-युवा नेताओं ने कहा कि इस तरह की कार्रवाई के जरिये शिक्षा के व्यवसायीकरण और रोजगार के अवसर में हो रही कटौती से छात्रों और नौजवानों का ध्यान भटकाया जाता है।

नेताओं ने कहा कि एबीवीपी के साजिशकर्ता व गुंडों की त्वरित गिरफ्तारी नहीं हुई और पुलिस के वैसे पदाधिकारी जिनकी संलिप्तता इस घटना के साथ थी, उन्हें चिह्नित करते हुए निलंबन किया जाये। साथ ही सीसीटीवी फुटेज को सार्वजनिक करते हुए इस घटना की जवाबदेही रांची जिला एसपी लें।

प्रेस वार्ता में एआइडीएसओ के राज्य उपाध्यक्ष अमर महतो व रीमा बंसरियार, एआइएसएफ के रांची जिला सचिव मेहुल मृगेंद्र व लोकेश आनंद, एआइवाईएफ के अजय कुमार सिंह, इप्टा के उमेश नजीर व फरजाना फारूकी, आइसा के नौरिन अख्तर, एसएफआई के अकरम, डीवाईएफआई के संजय पासवान, जेसीएम के अनिकेत ओहदार, जेसीएस के मीर शहबाज संबोधित कर रहे थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

जमशेदपुर : सफाई की बाट जोह रही कचरे से भरी स्वर्णरेखा नदी

NewsCode Jharkhand | 21 September, 2018 7:28 PM
newscode-image

जमशेदपुर। जमशेदपुर शहर की जीवनरेखा स्वर्णरेखा नदी इन दिनों सफाई की बाट जोह रही है। नदी में चारों तरफ कचरे भरे पड़े हैं। लेकिन इसकी सफाई पर कोई ध्यान नहीं दे रहा।

वैसे पूूरे देश भर में स्‍वच्छता  पखवाड़ा चलाया जा रहा है, लेकिन इस जीवनरेखा  नदी के सफाई पर किसी का ध्यान नहीं जा रहा है।

चांडिल : डाकघर कर्मचारियों ने चलाया स्वच्छता अभियान

वैसे स्वर्णरेखा नदी जमशेदपुर के लिए लाइफ लाइन इसलिए है, क्योंकि पूरे शहर के लिए पानी का एक मात्र साधन यही नदी है, इतना ही नहीं टाटा कंपनी में भी पानी इसी नदी से पहुंचता है।

विसर्जन के बाद मूर्तियों के पड़े अवशेष

इस नदी का हाल इन दिनों खस्ता है। नदी की पानी फिलवक्त नदी का पानी इन दिनों न पीने लायक है और न ही नहाने लायक। पिछले दिनों हुए गणपति विसर्जन के बाद मूर्तियों के अवशेष पड़े हैं और इसकी सफाई की कोई व्यवस्था अब तक नहीं की गई है।

आलम ये हैं की पूरी नदी कचड़े से भर सा गया है। वैसे इन दिनों देश भर में स्वच्छता पखवाड़ा चलाकर साफ सफाई की जा रही है, लेकिन इस प्राणदायिनी नदी पर किसी का ध्यान नहीं जा रहा है।

नदी में आने वाले लोगों के अनुसार नदी का पानी इतना दूषित हो चुुका है कि ये न ही पीने लायक है और न ही नहाने लायक। अब सोचने वाली बात ये है कि जब नदी ही दूषित है, तो फिर स्वच्छता अभियान किस काम का।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

सिमडेगा : मुहर्रम का पर्व शांतिपूर्वक संपन्‍न, अखाड़ों ने दिखाए करतब

NewsCode Jharkhand | 21 September, 2018 7:27 PM
newscode-image

सिमडेगा। मुहर्रम का पर्व शांतिपूर्वक संपन्‍न हो गया। सभी अखाड़ों ने भट्ठी टोली स्थित हारून रसीद चौक से सामूहिक रूप से मुहर्रम का जुलूस निकाला। लोग गाजे-बाजे के साथ इस्‍लामपुर स्थित हारून रसीद चौक पहुंचे। जुलूस के दौरान कई स्थानों पर शस्त्र-चालन का प्रदर्शन किया गया तथा कई करतब भी दिखाये। मुहर्रम के जुलूस से पूर्व गुलजार गली के सामने मुहर्रम समिति चर्च रोड के तत्वावधान में पगड़ी समारोह का आयोजन किया गया। इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में उपायुक्त जटाशंकर चौधरी एवं विशिष्ट अतिथि के रूप में एसपी संजीव कुमार सहित कई अधिकारी और गणमान्‍य लोग मौजूद थे।

सिमडेगा : मुहर्रम का पर्व शांतिपूर्वक संपन्‍न, अखाड़ों ने दिखाए करतब

गुमला से आये ताशा ग्रुप में शामिल मो. सद्दाम ने एक से बढ़ कर एक देश भक्ति गीतों से समां बांध दिया। उन्होंने कई देश भक्ति गीत के अलावा धार्मिक गीत भी प्रस्तुत किये। साथ ही ताशा पार्टी में शामिल कलाकारों ने ढोल-ताशे की धुन से लोगों को मंत्रमुग्‍ध कर दिया।

कोलेबिरा : सड़क निर्माण कंपनी के कैंप से 33 ड्राम अलकतरे की चोरी

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

More Story

more-story-image

गिरिडीह : बिजली विभाग की लापरवाही से लाखों के बिजली...

more-story-image

चास : पिंड्राजोरा के डाबर गांव में धूमधाम से मनाया...