धनबाद : दाने-दाने को मोहताज बुजुर्ग मुनेश्वरी देवी भूखे पेट सोने को मजबूर

NewsCode Jharkhand | 13 June, 2018 1:36 PM

ग्यारकुण्ड प्रखण्ड के पंचमोहली पंचायत की रहने वाली बुजुर्ग महिला को मदद की आस

newscode-image

धनबाद। रहने को घर नही, सोने को बिस्तर नही, अपना खुदा हैं रखवाला । ये फिल्मी गाने की चंद पंक्तियां मुनेश्वरी देवी पर सटीक बैठती है। धनबाद के निरसा विधानसभा क्षेत्र के ग्यारकुण्ड प्रखण्ड के पंचमोहली पंचायत की रहने वाली 65 वर्षीय बुजुर्ग मुनेश्वरी देवी शरीर से लाचार है।

सिस्टम और भी ज्यादा लाचार

लेकिन सिस्टम इनसे भी ज्यादा लाचार है।बिधाता ने मुनेश्वरी देवी के पति को दो दशक पूर्व छीन लिया हैं। उसका कोई संतान भी नहीं है। जब तक शरीर ने साथ दिया तब तक दुसरों के घरों में बर्तन साफ-सफाई कर अपना पेट चलाती रही। अपने मिट्टी के घरौंदे में गुजर बसर करती रही। अब चेहरे की झुरियां और बुढ़ापे की मजबूरियां मुनेश्वरी देवी पर भारी पड़ रही है। दु:ख की बात ये है कि मुनेश्वरी देवी सरकारी लाभ से कोसों दूर है।

सरकारी बाबुओं का खूब लगाया चक्कर

मुनेश्वरी देवी सरकारी बाबुओं तथा जनप्रतिनिधियों का खूब चक्कर लगाई पर किसी बाबुओं को कोई तरस नहीं आया। मुनेश्वरी देवी का अपना मिट्टी का घर तो है वह भी टूटा फूटा हल्की सी बारिश होने पर मुनेश्वरी देवी रात जाग कर बिताती हैं। प्रधानमंत्री आवास योजना के लिए अपने पंचायत से लेकर प्रखण्ड तक गुहार लगाई पर बावजूद कोई मदद नहीं मिली। जानकारी के अनुसार पंचमोहली पंचायत के मुखिया अपने पंचायत को ओडीएफ घोषित करने में लगे हैं पर मुनेश्वरी देवी के घर में आज तक शौचालय का निर्माण नहीं हुआ हैं।

पलामू : महिला को डायन बताकर पेड़ से बांध कर ग्रामीणों ने की पिटाई, FIR दर्ज

पिछले 4 महीने से रुका है पेंशन

पंचायत में तो जन वितरण प्रणाली की दुकान तो हैं पर मुनेश्वरी देवी जैसी असहाय लोगों के लिए अनाज उपलब्ध नहीं हैं। क्योंकि अब तक उनके नाम राशन कार्ड भी नहीं बना है। इस 65 वर्षीय बुजुर्ग महिला को मुखिया कि ओर से  कोई मदद नहीं मिली है। मुनेश्वरी के पास आधार कार्ड भी है लेकिन योजनाओं को हासिल करने का जुगाड़तंत्र नहीं है।

गांव के एक समाजसेवी के मदद से मुनेश्वरी देवी का पिछले छह माह पहले बृद्धाव्स्था पेंशन चालू हुआ था  लेकिन पिछले चार माह से पेंशन की राशी उनके खाते तक नहीं पहुंची है। मुनेश्वरी देवी अपने घर से कोसों दूर ईलहाबाद बैंक का चक्कर सप्ताह में एक बार अवश्य लागा लेती है कि शायद उसके खाते में पेंशन की राशी आ जाए ।

घर में अनाज का दाना तक नहीं

पिछले दो दिनों से मुनेश्वरी देवी के घर मे अनाज का अभाव हैं। घर का चूल्हा भी ठंडा पड़ा हुआ हैं। अब सोचिए दाने दाने को मोहताज मुनेश्वरी देवी भूखे पेट सोने को मजबूर हैं। कल को यही मुनेश्वरी देवी की मौत अगर भूख से होगी तो प्राशासन इसे बीमारी से मौत साबित करने मे जुट जाएगी, मुनेश्वरी एक बानगी है, वृद्धा पेंशन और पीडीएस राशन कार्ड व्यवस्था की पोल खोलने के लिए काफी है। फिलहाल दाने-दाने को मोहताज़ निरसा की 65 वर्षीय मुनेश्वरी देवी को सरकारी मदद का इंतजार है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

बोकारो : पटेल सेवा संघ का बढ़ा विवाद, अनियमितता का आरोप

NewsCode Jharkhand | 2 December, 2018 6:02 PM
newscode-image

बोकारो। पटेल सेवा संघ में हो रहे विवाद को लेकर संघ सुर्खियों में रह रहा है। आज एक बार फिर से संघ की नई कार्यकारिणी बनने के बाद भी विवाद सामने आने लगा है। संघ के अध्यक्ष मनोज कुमार ने महासचिव, संस्थापक सदस्य, विद्यालय प्रबंधन समिति और पटेल स्कूल सेक्टर नाइन के प्राचार्य पर वित्तीय अनियमितता करने का आरोप लगाते हुए संघ को बर्बाद करने का आरोप लगाया है।

संघ के अध्यक्ष मनोज कुमार ने चास के तारानगर स्थित पटेल धर्मशाला में प्रेस कांफ्रेंस आयोजित कर कई गंभीर आरोप लगाया। मनोज कुमार ने कहा कि संघ की नई कार्यकारिणी के सत्तर फीसदी सदस्य विद्यालय और डोनेशन की राशि का गलत इस्तेमाल अपने निजी कार्यों के लिए कर रहे है।

उन्होंने कहा कि वर्तमान कमिटी के कुछ सदस्य पूर्व की कमिटी पर गबन का आरोप लगाने का काम करते थे। लेकिन आज ये सामने आ गया है कि पूर्व में आरोप लगा रहे सदस्य संघ के पैसे पर डाका डालने का काम कर रहें है।

कुमार ने कहा कि पटेल स्कूल के अधिकतर शिक्षक से लेकर कर्मचारी सभी सदस्यों को पत्र लिख कर सीबीएसई गाईडलाईन के तहत वेतनमान देने की मांग कर रहें है लेकिन ये अभी सदस्य इनकी बातों पर ध्यान नही देने का काम कर रहें है। जिसके चलते स्कूल में आंदोलन की तैयारी है। ऐसे में छात्रों का भविष्य अंधकार होता दिख रहा है।

कुमार ने कहा कि संघ की कमिटी के वर्तमान कोषाध्यक्ष पत्र लिख कर राशि को कोष में जमा नही करने की बात कह रहे है। वावजूद इसके कोई भी इस दिशा में ठोस कदम नही उठा रहे है। उन्होंने कहा कि संघ के सदस्य राशि का गलत इस्तेमाल निजी कामों के लिए किया जा राह है। जो संघ के हित मे ठीक नही है।

उन्होंने कहा कि संघ में सामिल गलत लोगों को बाहर निकालने के लिए आने वाले दिनों में समाज की आमसभा आयोजित की जाएगी।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

sun

320C

Clear

Jara Hatke

Read Also

रांची : मंत्री चंद्रप्रकाश चौधरी ने किया कंफर्ट लाइफ सर्विसेज का शुभारंभ

NewsCode Jharkhand | 2 December, 2018 7:38 PM
newscode-image

रांची। राज्य के जल संसाधन, पेयजल एवं स्वच्छता मंत्री चंद्रप्रकाश चौधरी ने आज मोरहाबादी स्थित पार्क प्लाजा के दूसरे तल्ले में कंफर्ट लाइफ सर्विसेज का फीता काटकर शुभारंभ किया। इस मौके पर उन्होंने आशा जतायी कि यह सर्विसेज आम जनों के लिए उपयोगी सिद्ध होगा।

कंफर्ट लाइव सर्विसेज में फ्लैट खरीद- बिक्री, स्वास्थ्य बीमा, अवधि बीमा, म्युचुअल फंड, एसआईपी एवं वाहनों की बीमा आदि की सुविधा लोगों को प्राप्त हो सकेगी।

शुभारंभ के मौके पर आजसू पार्टी के केंद्रीय महासचिव डॉ. लंबोदर महतो, चंद्रशेखर महतो, संचालक राजेश कुमार, रंजना चौधरी, गीता महतो, कल्पना मुखिया, संतोष  मुखिया, अमित साव एवं अजय श्रीवास्तव सहित कई गणमान्य लोग मौजूद थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

भोगनाडीह : झामुमो ने संथाल को भ्रष्टाचार और बिचौलिया दिया- मुख्यमंत्री

NewsCode Jharkhand | 2 December, 2018 7:36 PM
newscode-image

भोगनाडीह  में भाजपा कार्यकर्ता सम्मेलन में शामिल हुए

भोगनाडीह। राज्य को संथाल परगना ने झारखण्ड मुक्ति मोर्चा से तीन तीन मुख्यमंत्री दिये,  लेकिन उन्होंने मुख्यमंत्री बनाया वो गरीब आदिवासी, वंचित दलित की अनदेखी कर अर्थपेटी और मतपेटी भरने का कार्य किया।

साथ ही संथाल परगना को भ्रष्टाचार और बिचौलिया दिया। सबसे ज्यादा आदिवासियों की जमीन लूटने का काम सोरेन परिवार ने किया है। आज सीएनटी-एस पीटी एक्ट के उल्लंघन कर विभिन्न शहरों में आदिवासियों की जमीन ले ली।

जबकि संथाल परगना समेत राज्य भर में यह कह कर गुमराह किया गया कि अगर भारतीय जनता पार्टी की सरकार आएगी तो आदिवासी की जमीन लूट लेगी। क्या 4 साल सरकार द्वारा किसी आदिवासी की जमीन लूटी गई नहीं। उपरोक्त बातें मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कही।

बरहेट का प्रतिनिधित्व करने वाला कभी विधानसभा में सवाल नहीं उठाया

मुख्यमंत्री ने कहा कि बरहेट का विधानसभा में प्रतिनिधित्व करने वाले ने कभी भी विधानसभा में क्षेत्र की समस्याओं को लेकर प्रश्न नहीं रखा, क्योंकि उसे पता ही नहीं है कि क्षेत्र की समस्या क्या है ऐसे में विकास के कार्य कैसे सम्पन्न होंगे।

लोगों को यह सोचना चाहिए और स्थानीय उम्मीदवार को प्राथमिकता देनी चाहिए। चाहे वोकिसी पार्टी का हो।

कार्यकर्ता पार्टी का प्राण, पार्टी के लिए राष्ट्र पहले

मुख्यमंत्री ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता पार्टी के प्राण हैं। यह एक ऐसी पार्टी है जहां वंशवाद और परिवार नहीं। एक चाय बेचने वाला प्रधानमंत्री और मजदूर मुख्यमंत्री बन सकता है। मैं भी बूथ स्तर का कार्यकर्ता था।

पार्टी के लिए समर्पण भाव से कार्य करते हुए 1995 में विधायक बना और अब मुख्यमंत्री हूं। आप भी ईमानदारी से कार्य करें। सरकार की योजनाओं को जन जन पहुंचाये। पार्टी के वविभिन्न मोर्चा के लोग इस कार्य में लगे। क्योंकि पार्टी के लिए राष्ट्र पहले है।

इस राष्ट्र को और मजबूत करने के लिए वैश्विक पटल पर अपनी पहचान बना चुके प्रधानमंत्री  के हाथों को मजबूत करें। इस अवसर पर अनंत ओझा,  धर्मपाल सिंह, हेमलाल मुर्मू समेत अन्य मौजूद थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

More Story

more-story-image

रांची : अखिल झारखंड छात्र संघ ने चुनाव को लेकर...

more-story-image

धनबाद : बीजेपी सरकार बनने के बाद कृषि विकास दर...

X

अपना जिला चुने