निकाय चुनाव (खूंटी) : महिला प्रत्याशी ने प्रतिद्वंदी पर जान से मारने का लगाया आरोप

NewsCode Jharkhand | 16 April, 2018 2:15 PM
newscode-image

खूंटी। झारखंड नगर निकाय चुनाव की गहमा-गहमी के बीच आरोप-प्रत्यारोप की कुछ विचित्र तस्वीरें दलगत राजनीति को उजागर करती दिखी। झारखंड में निकाय चुनाव का आज मतदान चल रहा है। इस बीच खूंटी नगर परिषद् के वार्ड नंबर दो की प्रत्याशी सुनीता गोप का अपने प्रतिद्वंदी पर लगाया गया आरोप संदेह के घेरे में है।

15 अप्रैल की घटना

घटना 15 अप्रैल की रात आठ बजे की है। जब सुनीता गोप एक वीडियो में ये कहते हुए देखी गई कि 20-25 लड़के मुझे जान मार देंगे, ये मुझे घेरे हुए हैं, जल्दी से यहां पुलिस भेजा जाए। और तब सुनीता वीडियो में खुद से अपने कपड़े फाड़ कर मामले को संवेदनशील करने की कोशिश करते देखी गईं।

वीडियो हुआ वायरल

हलांकि वीडियो में इस दौरान उनके आस-पास कोई भी लड़का नहीं दिखा। चुनाव प्रचार संपन्न होने के बाद प्रत्याशी द्वारा घर-घर जाकर जनसंपर्क अभियान चलाया जा रहा था। इसी बीच रविवार शाम 8:00 बजे की घटना का एक वीडियो वायरल हुआ है। जिसमें खूंटी से चुनाव लड़ रही है।

पुलिस कर रही है पड़ताल

वार्ड नंबर 2 के प्रत्याशी सुनीता गोप का है जिसने सुनीता को पुलिस से फोन पर बात करते दिख रही हैं साथ ही वीडियो में वह अपना कपड़ा खुद फाड़ रही हैं। वीडियो के वायरल होने के बाद, फिलहाल मामले की जांच पुलिस के द्वारा की जा रही है।

सुनता गोप ने मारपीट का लगाया आरोप

इस संबंध में जब सुनीता गोप से संपर्क किया गया तो वह कहती है मैं खूंटी नगर परिषद् वार्ड 2 चुनाव के प्रत्याशी हूं रात के 8:00 बजे जमुवादाग के पहान टोली में जनसंपर्क के लिए गई थी। इतने में गांव के ही करीब 20 लड़के आ गये हमें जन संपर्क करने से रोका और मेरे साथ मारमीट की।

इसे भी पढ़ें – गिरिडीह : निकाय चुनाव- कांग्रेस प्रत्याशी पर लगा छेड़खानी और धोखाधड़ी का आरोप

मैंने एसडीपीओ रणधीर सिंह को फोन किया तब पुलिस 20 मिनट के बाद मेरी मदद के लिये पहुंची। अगर समय से पुलिस नहीं पहुंचती तो हमें रात में मार दिया जाता। मुझे चुनाव में जनसंपर्क करने से भी रोका गया है। मैं पिछले 2 बार से वार्ड 2 से चुनाव जीत रही हूं।

 

जब सुनीता गोप से बीडीओ में खुद की कपड़े फाड़ने के संबंध में पूछा गया तो कुछ देर चुप हो जाती है और फिर कहती है की पहले  शिवचरण गोप और महेश गोप ने मेरे साथ बदसलुकी किये और कपड़े फाड़े, खुद के द्वारा खुद का कपड़ा फाड़ने के सवाल पर चुप हो जाती हैं।

मामले की होगी जांच- खूंटी डीएसपी रंधीर सिंह

इस मामले पर खूंटी डीएसपी रणधीर सिंह कहते हैं अभी इलेक्शन चल रहा है घटना की जानकारी पुलिस को मिली है इस पूरे मामले की जांच आज चुनाव संपन्न होने के बाद की जाएगी और दोषी जो भी होंगे उस पर कार्यवाही होगी। वीडियो भी पुलिस को प्राप्त हुआ है लेकिन इस वीडियो में मारपीट की घटना पुष्टि नहीं हो रही है।

स्थानीय लोगों का कहना है कि वार्ड पार्षद कुछ लोगों को फंसाने का काम कर रही है जिसके तहत शिवचरण गोप , महेश गोप आदि पर छेड़छाड़ और मारपीट करने का मामला लगाई है। यह पुरी तरह चुनाव जीतने की सजिश के तहत वार्ड परिषद उमीदवार के द्वारा किया गया है। इसी मकसद से प्रत्याशी ने अपने कपड़े भी फाड़े हैं। पुलिस को कंप्लेंन भी किया है।

वीडियो के वायरल  होने के बाद भारतीय राजनीति के गिरते स्तर को दिखता है जिसमें एक प्रत्याशी ने चुनाव जीतने के लिए जो तरीके का इस्तेमाल कर रही है वह क्या जनप्रतिनिधियों को शोभा देता है। यह एक भारतीय राजनीति में यक्ष प्रश्न है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

बोकारो : विज्ञापन होर्डिंग से बढ़ी लोगों की परेशानी, सुरक्षा का ख्याल नही

NewsCode Jharkhand | 2 December, 2018 5:58 PM
newscode-image

बोकारो । चास शहर में इन दिनों बड़ी कंपनियों के विज्ञापन होर्डिंग के तौर पर पटे है, न तो इसमें सरकार को राजस्व ही प्राप्त हो रहा है औऱ न ही कंपनियों आम लोगों की सुरक्षा का ख्याल रख रही है। जो होर्डिंग लगाए जा रहे है उससे आने वाले गाड़ी चालकों को काफी परेशानी हो रही है।

होर्डिंग कई जगहों पर इतना नीचे है कि गाड़ी चलाने वाले चालकों को काफी परेशानी उठानी पड़ती है ऐसे में कोई बड़ी दुर्घटना की आशंका भी बनी रहती है। मामले में चास नगर निगम के डिप्टी मेयर अविनाश कुमार कहते है कि उनके सामने मामला आय़ा।

जांच में पाया कि चार कंपनियों को यह जिम्मेदारी सौपी गयी है लेकिन वे चास नगर निगम को होर्डिंग का कोई टैक्स जमा नहीं कर रही है और इसको लेकर कंपनी को निगम की ओर से पत्राचार किया गया तो दो कपंनियों ने 50 लाख की राशि टैंक्स के रुप मे जमा की।

दो अन्य कंपनियों से पत्राचार कर टैक्स जमा करने को कहा गया है। साथ ही होर्डिंग से किसी को दिक्कत न हो ऐसी व्यवस्था करने को भी कंपनियों को सख्त निर्देश दिया गया है।

वही जिले के डीसी मृत्युंजय वरणवाल कहते है कि बैठक में इस तरह की चर्चा होती है और इसके लिए बतौर के एक कमेटी का गठन भी किया गया है जो ऐेसे मामलो का समाय समय पर जांच कर अपनी रिपोर्ट देती है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

sun

320C

Clear

Jara Hatke

Read Also

रांची : मंत्री चंद्रप्रकाश चौधरी ने किया कंफर्ट लाइफ सर्विसेज का शुभारंभ

NewsCode Jharkhand | 2 December, 2018 7:38 PM
newscode-image

रांची। राज्य के जल संसाधन, पेयजल एवं स्वच्छता मंत्री चंद्रप्रकाश चौधरी ने आज मोरहाबादी स्थित पार्क प्लाजा के दूसरे तल्ले में कंफर्ट लाइफ सर्विसेज का फीता काटकर शुभारंभ किया। इस मौके पर उन्होंने आशा जतायी कि यह सर्विसेज आम जनों के लिए उपयोगी सिद्ध होगा।

कंफर्ट लाइव सर्विसेज में फ्लैट खरीद- बिक्री, स्वास्थ्य बीमा, अवधि बीमा, म्युचुअल फंड, एसआईपी एवं वाहनों की बीमा आदि की सुविधा लोगों को प्राप्त हो सकेगी।

शुभारंभ के मौके पर आजसू पार्टी के केंद्रीय महासचिव डॉ. लंबोदर महतो, चंद्रशेखर महतो, संचालक राजेश कुमार, रंजना चौधरी, गीता महतो, कल्पना मुखिया, संतोष  मुखिया, अमित साव एवं अजय श्रीवास्तव सहित कई गणमान्य लोग मौजूद थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

भोगनाडीह : झामुमो ने संथाल को भ्रष्टाचार और बिचौलिया दिया- मुख्यमंत्री

NewsCode Jharkhand | 2 December, 2018 7:36 PM
newscode-image

भोगनाडीह  में भाजपा कार्यकर्ता सम्मेलन में शामिल हुए

भोगनाडीह। राज्य को संथाल परगना ने झारखण्ड मुक्ति मोर्चा से तीन तीन मुख्यमंत्री दिये,  लेकिन उन्होंने मुख्यमंत्री बनाया वो गरीब आदिवासी, वंचित दलित की अनदेखी कर अर्थपेटी और मतपेटी भरने का कार्य किया।

साथ ही संथाल परगना को भ्रष्टाचार और बिचौलिया दिया। सबसे ज्यादा आदिवासियों की जमीन लूटने का काम सोरेन परिवार ने किया है। आज सीएनटी-एस पीटी एक्ट के उल्लंघन कर विभिन्न शहरों में आदिवासियों की जमीन ले ली।

जबकि संथाल परगना समेत राज्य भर में यह कह कर गुमराह किया गया कि अगर भारतीय जनता पार्टी की सरकार आएगी तो आदिवासी की जमीन लूट लेगी। क्या 4 साल सरकार द्वारा किसी आदिवासी की जमीन लूटी गई नहीं। उपरोक्त बातें मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कही।

बरहेट का प्रतिनिधित्व करने वाला कभी विधानसभा में सवाल नहीं उठाया

मुख्यमंत्री ने कहा कि बरहेट का विधानसभा में प्रतिनिधित्व करने वाले ने कभी भी विधानसभा में क्षेत्र की समस्याओं को लेकर प्रश्न नहीं रखा, क्योंकि उसे पता ही नहीं है कि क्षेत्र की समस्या क्या है ऐसे में विकास के कार्य कैसे सम्पन्न होंगे।

लोगों को यह सोचना चाहिए और स्थानीय उम्मीदवार को प्राथमिकता देनी चाहिए। चाहे वोकिसी पार्टी का हो।

कार्यकर्ता पार्टी का प्राण, पार्टी के लिए राष्ट्र पहले

मुख्यमंत्री ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता पार्टी के प्राण हैं। यह एक ऐसी पार्टी है जहां वंशवाद और परिवार नहीं। एक चाय बेचने वाला प्रधानमंत्री और मजदूर मुख्यमंत्री बन सकता है। मैं भी बूथ स्तर का कार्यकर्ता था।

पार्टी के लिए समर्पण भाव से कार्य करते हुए 1995 में विधायक बना और अब मुख्यमंत्री हूं। आप भी ईमानदारी से कार्य करें। सरकार की योजनाओं को जन जन पहुंचाये। पार्टी के वविभिन्न मोर्चा के लोग इस कार्य में लगे। क्योंकि पार्टी के लिए राष्ट्र पहले है।

इस राष्ट्र को और मजबूत करने के लिए वैश्विक पटल पर अपनी पहचान बना चुके प्रधानमंत्री  के हाथों को मजबूत करें। इस अवसर पर अनंत ओझा,  धर्मपाल सिंह, हेमलाल मुर्मू समेत अन्य मौजूद थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

More Story

more-story-image

रांची : अखिल झारखंड छात्र संघ ने चुनाव को लेकर...

more-story-image

धनबाद : बीजेपी सरकार बनने के बाद कृषि विकास दर...

X

अपना जिला चुने