दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ हर चुनौती का सामना करने को तैयार हैं मुरली विजय

NewsCode | 4 January, 2018 11:59 AM

टेस्ट सीरीज में अपना 'ए' गेम खेलना चाहते हैं विजय

newscode-image

भारतीय टेस्ट टीम के सलामी बल्लेबाज मुरली विजय साउथ अफ्रीका के खिलाफ केपटाउन में शुक्रवार से शुरू हो रही टेस्ट सीरीज में अपना ‘ए’ गेम (सर्वश्रेष्ठ खेल) खेलना चाहते हैं। विजय ने कहा कि वह सकारात्मक मानसिकता के साथ इस सीरीज में उतर रहे हैं।

अभ्यास सत्र के बाद संवाददाताओं से बातचीत करते हुए विजय ने कहा, “मैं बस मैदान पर जाना चाहता हूं और जो भी सामने आए, उसका सामना करना चाहता हूं। मैं बस अपना ‘ए’ गेम खेलना चाहता हूं और अपने देश के लिए अच्छा करना चाहता हूं।”

उन्होंने कहा, “मैं ज्यादा नहीं सोचना चाहता कि आने वाले दिनों में क्या होगा। मैं बस अपने आप को तैयार करना चाहता हूं और आत्मविश्वास के साथ जाना चाहता हूं जिसमें इस समय मैं हूं।”

दक्षिण अफ्रीका के हालात तेज गेंदबाजों के अनुकूल हैं लेकिन विजय का मानना है कि स्पिनरों का रोल भी यहां काफी अहम है।

वीडियो : बारिश के चलते जब टीम इंडिया ने की इनडोर प्रैक्टिस, रोहित शर्मा बने एंकर

उन्होंने कहा, “यह हकीकत में काफी अहम रोल है क्योंकि इससे तेज गेंदबाजों को भी सहयोग मिलता है। अगर आप मैच में स्पिन गेंदबाजों को खिलाते हैं तो वे कुछ विकेट निकालकर बड़ा रोल अदा कर सकते हैं।”

विजय ने कहा कि इस बार वह पिछली बार की अपेक्षा अच्छी तरह तैयारी करके आए हैं।

कुकाबुरा गेंद और उछाल से तालमेल बिठाना होगा द. अफ्रीका में अहम : भुवनेश्वर

विजय ने कहा, “मैं पिछली बार की अपेक्षा इस बार अच्छी तैयारी करके आया हूं। टेस्ट मैच में आप बंधाई सोच के साथ नहीं जा सकते कि इतनी गेंद खेलने से छोड़नी ही है। आपको गेंद छोड़ने के साथ ही यह पता होना चाहिए कि आपको रन कैसे बनाने हैं।”

पिच के बारे में विजय ने कहा, “यह काफी हरी है। मैं नहीं जानता कि यह पहले दिन किस तरह का व्यवहार करेगी। एक सलामी बल्लेबाज के लिए, स्विंग का सामना बाउंस के मुकाबले अधिक मुश्किल होता है। निजी तौर पर मुझे लगता है कि मैं बाउंस से निपट लूंगा लेकिन अगर गेंद स्विंग हो रही हो तो किसी भी बल्लेबाज के लिए मुश्किल होती है।”

VIDEO: दक्षिण अफ्रीका की सड़कों पर भांगड़ा करते दिखे विराट और शिखर धवन

(इनपुट : आईएनएस)

2019 वोल्वो एस60 से उठा पर्दा, देखें तस्वीरें

NewsCode | 25 June, 2018 7:21 PM
newscode-image

वोल्वो ने तीसरी जनरेशन की एस60 सेडान से पर्दा उठाया है। वोल्वो की यह अब तक की पहली कार है जिसे अमेरिका में तैयार किया गया है। इसका मुकाबला ऑडी ए4मर्सिडीज़-बेंज सी-क्लास और बीएमडब्ल्यू 3-सीरीज से होगा।

2019 Volvo S60

2019 वोल्वो एस60 को स्केलेबल प्रोडक्ट आर्किटेक्चर प्लेटफार्म पर तैयार किया गया है, इसी प्लेटफार्म पर वी60, एक्ससी60एस90 और एक्ससी90 भी बनी है। इसका डिजायन वोल्वो की पारंपरिक डिजायन थीम पर तैयार किया गया है। मुकाबले में मौजूद कारों से तुलना की जाये तो नई एस60 का डिजायन काफी मॉडर्न और पसंद आने वाला है।

2019 Volvo S60

वोल्वो की सभी कारों के केबिन का लेआउट करीब-करीब एक जैसा है, इस मामले में नई एस60 भी अलग नहीं है। इस में वर्टिकल टचस्क्रीन इंफोटेंमेंट सिस्टम लगा है, जो एंड्रॉयड ऑटो और एपल कारप्ले सपोर्ट करता है।

2019 Volvo S60

नई एस60 में पैसेंजर सुरक्षा को और भी ज्यादा पुख्ता किया गया है। पैसेंजर सुरक्षा के लिए इस में वोल्वो कार्स पायलट असिस्ट सिस्टम, सिटी सेफ्टी, रन-ऑफ रोड प्रोटेक्शन, मिटिगेशन और रोड साइन इंफॉर्मेशन, लैन कीपिंग एआईडी, क्रॉस ट्रैफिक अर्ल्ट, ब्रेक सपोर्ट और रियर कोलिसन वार्निंग जैसे फीचर दिए गए हैं। कयास लगाए जा रहे हैं कि ये सभी फीचर भारत आने वाली नई एस60 में भी दिए जा सकते हैं।

2019 Volvo S60

नई एक्ससी60 वोल्वो की पहली कार होगी, जिस में डीज़ल इंजन नहीं मिलेगा। यह दो पेट्रोल और दो प्लग-इन-हाइब्रिड वर्जन में मिलेगी।

2019 Volvo S60

टी5 और टी6 वेरिएंट में 2.0 लीटर का पेट्रोल इंजन मिलेगा, जबकि टी6 और टी8 वेरिएंट में पेट्रोल इंजन के साथ प्लग-इन-हाइब्रिड टेक्नोलॉजी भी आयेगी।

2019 Volvo S60

सभी वेरिएंट में 8-स्पीड ऑटोमैटिक गियरबॉक्स स्टैंडर्ड मिलेगा। प्लग-इन-हाइब्रिड वर्जन में ऑल-व्हील-ड्राइव सेटअप मिलेगा।

2019 Volvo S60 Polestar Engineered

परफॉर्मेंस कार की चाहत रखने वालों के लिए कंपनी इसका परफॉर्मेंस अवतार भी लाएगी। परफॉर्मेंस वर्जन को टी8 पोलेस्टार नाम से पेश किया जाएगा। इस में 415 पीएस की पावर और 670 एनएम का टॉर्क मिलेगा। रेग्यूलर टी8 वेरिएंट की तुलना में इस में 15 पीएस की ज्यादा पावर और 30 एनएम का ज्यादा टॉर्क मिलेगा। टी8 पोलेस्टार को इलेक्ट्रिक अवतार में पेश किया जाएगा। मौजूदा एस60 का पोलेस्टार वर्जन भारत में बिक्री के लिए उपलब्ध है, ऐसे में कयास लगाए जा रहे हैं कि नए परफॉर्मेंस वर्जन को भी भारत में लॉन्च किया जा सकता है।

2019 Volvo S60 Polestar Engineered

कयास लगाए जा रहे हैं कि नई एस60 को 2019 की शुरूआत में भारत में लॉन्च किया जा सकता है। भारत में इसकी शुरूआती कीमत 40 लाख से 50 लाख रूपए के बीच हो सकती है। पोलेस्टार वर्जन की कीमत 60 लाख रूपए के आसपास हो सकती है। भारत में इसे इंपोर्ट करके बेचा जाएगा। आने वाले समय में इसे यहां एसेंबल करके भी बेचा जा सकता है। फिलहाल कंपनी एक्ससी90 और एस90 को बैंगलुरू स्थित प्लांट में एसेंबल करके भारत में बेच रही है।

2019 Volvo S60

ये भी पढ़ें:

टेस्टिंग के दौरान दिखी नई रेनो क्विड, देखें तस्वीरें

जीप कंपास का लिमिटेड एडिशन लॉन्च, जानें कीमत

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

पाकुड़ : भाजपा की बैठक आयोजित, हुल दिवस को लेकर हुई चर्चा

NewsCode Jharkhand | 25 June, 2018 9:16 PM
newscode-image

पाकुड़। लिट्टीपाड़ा प्राखण्ड दामिन डाक बंगला परिषर में भाजपा की बैठक प्रखण्ड अध्यक्ष राम मंडल की अध्यक्षता में आहुत किया गया। जिसमे मुख्य अतिथि के रूप में प्रदेश उपाध्यक्ष सह पूर्व मंत्री हेमलाल मुर्मू उपस्थित हुये। बैठक में  मुख्य रूप से 30 जून को  हूल दिवस को लेकर चर्चा की गयी। मंडल इकाई के लोगों को 30 जून को पांच कठिया से भोगनाडीह ले जाने के बातें हुई।

पाकुड़ : भूमिगत कोयला में आग लगने से ग्रामीण दहशत में, प्रशासन से लगाई गुहार

साथ ही प्रदेश उपाध्यक्ष मुर्मू ने बताया कि भूमि अधिग्रहण अधिनियम बिल आदिवासियों के हित के लिए बनाया गया है। इसको लेकर विपक्ष दुष्प्रचार कर रहे है लेकिन सभी से अपील किया  हर आदिवासी गांव गांव एवं  घर-घर  जाकर सभी को भूमि  अधिग्रहण अधिनियम बिल के बारे में सरकार की उप्लब्धि आदिवासियों एवं जनजातियों को स्पस्ट रूप से बताया जाएगा। यह कानून सरकारी जनहित के  कार्यो लिया बनाया गया है जिसके तहत सरकारी स्कूल, कॉलेज , हॉस्पिटल, सड़क, रेलवे के अच्छे काम में आएगे।

साथ ही भाजपा नेता साहेब हाँसदा ने कहा कि बूथ स्तर पर संगठन मजबूती करने, गाँव-गाँव में जाकर सरकार  कि उपलब्धी के बारे में जानकरी देने के लिए कार्यकर्त्ताओं  से अनुरोध किया । इस बैठक के मौके पर एस टी मोर्चा प्रखंड अध्यक्ष भोला हेम्ब्रम, प्रखंड प्रभारी सुलेमान मुर्मू, दिनेश मुर्मू, जिला कार्यकारणी सदस्य बबलू सोरेन, पंचायत प्रभारी मंझला सोरेन, प्रखंड उपाध्यक्ष मुंशी मुर्मू, प्रखंड मंत्री रेंगटा किस्कू सहित दर्जनों कार्यकार्ता उपस्थित थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

जमशेदपुर : महाधरना तो ट्रेलर है, पूरी फिल्म 5 जुलाई को दिखेगी- विपक्ष

NewsCode Jharkhand | 25 June, 2018 9:03 PM
newscode-image

भूमि अधिग्रहण संशोधन बिल के विरोध में विपक्ष का महाधरना

जमशेदपुरभूमि अधिग्रहण संशोधन बिल के विरोध में सम्पूर्ण विपक्ष द्वारा आहूत राज्य-व्यापी जिला मुख्यालयों पर महाधरना के आलोक में पूर्वी सिंहभूम जिला मुख्यालय के समक्ष भी विपक्षी दलों की एकता देखने को मिली। बिल के विरोध में विपक्षी गठबंधन द्वारा चलाये जा रहे विरोध प्रदर्शन को देखते हुए प्रशासन ने यहां विधि-व्यवस्था को लेकर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए थे। विपक्षी दलों के नेताओं धरना के माध्यम से एक स्वर से राज्य सरकार से बिल को अविलंब निरस्त करने की मांग की है।

जमशेदपुर : तीन साल के बच्‍चे को पिकअप वैन मारा धक्‍का, हुई मौत

भूमि अधिग्रहण संशोधन बिल को लेकर पूरे सूबे की गरमाई सियासत के बीच विपक्षी दलों का आंदोलन अब तीखा हो चला है। आंदोलन के क्रम में विपक्षी दलों ने पूर्वी सिंहभूम जिला मुख्यालय पर महा धरना देकर राज्य सरकार तक संदेश दिया कि बिल के मौजूदा स्वरूप को किसी भी सूरत में स्वीकार नही किया जाएगा।

विपक्षी दल जेएमएम, कांग्रेस, जेवीएम, आरजेडी और वाम दलों और संगठनों के लोगों ने बिल के विरोध में एकजुटता दिखाते हुए राज्य सरकार को कठघरे में खड़ा किया और कहा कि झारखंडी आवाम के हितों के विपरीत लाये गए भूमि अधिग्रहण बिल पूंजीपतियों के फायदे के लिए है न कि यहां के निवासियों के लिए।

महाधरना के माध्यम से सरकार को चेतावनी दी गई कि यदि तमाम विरोध के बावजूद बिल को लागू किया जाता है तो आने वाले चुनावों में भाजपा को मुँह की खानी पड़ेगी। विपक्षी नेताओं ने राष्ट्रपति द्वारा बिल को मंजूरी दिए जाने पर कहा कि दरअसल इस मुद्दे पर राष्ट्रपति को भी अंधेरे में रख कर बाइक डोर से बिल पास कराया गया है, जो किसी भी सूरत में स्वीकार नही किया जाएगा। बिल के विरोध में महाधरना तो एक फ़िल्म का ट्रेलर है, बाकी पूरी फिल्म 5 जुलाई को आहत झारखंड बन्द के दौरान दिखेगी।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

More Story

more-story-image

दुमका : राज्य में सरकार एक और हूल लाना चाहती...

more-story-image

बोकारो : उपायुक्त ने अप्रेंटिस चयन प्रक्रिया को पारदर्शी रखने...