मोदी सरकार का बड़ा बदलाव, बिना UPSC पास किए ही बन सकेंगे IAS ऑफिसर

NewsCode | 11 June, 2018 1:43 PM
newscode-image

नई दिल्ली। केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने नौकरशाही में बड़ा फेरबदल करने का फैसला किया है। अब इसमें पब्लिक और प्राइवेट सेक्टर के विशेषज्ञों को भी महत्व दिया जाएगा। सरकार के इस फैसले के बाद प्राइवेट कंपनियों में काम करने वाले भी UPSC परीक्षा पास किए बिना वरिष्ठ अधिकारी बन सकते हैं।

दरअसल, सरकार ने एक नई नीति के तहत लैटरल एंट्री के माध्यम से 10 अलग-अलग विभागों में संयुक्त सचिव स्तर के अधिकारियों की नियुक्ति के लिए अधिसूचना जारी करते हुए आवेदन आमंत्रित किए हैं। इन पदों पर आमतौर पर उन्हीं की नियुक्ति होती थी, जिन्होंने यूपीएससी परीक्षा पास की हो, लेकिन सरकार ने इन पदों के लिए लैटरल वैकेन्सी निकाली है।

सरकार की ओर से इस बारे में कहा गया कि इससे मंत्रालय देश के ज्यादा से ज्यादा अनुभवी लोगों की सेवाएं ले पाएगा। कार्मिक विभाग की ओर जारी विज्ञप्ति के अनुसार, भारत सरकार में वरिष्ठ प्रबंधन स्तर पर शामिल होने और राष्ट्र निर्माण की दिशा में योगदान देने के लिए इच्छुक प्रतिभाशाली और प्रेरित भारतीय नागरिकों से आवेदन आमंत्रित किए जाते हैं। सरकार ने कुल 10 अलग-अलग विभागों के लिए दक्षता प्राप्त लोगों से आवेदन मंगाए हैं।

कौन कर सकता है आवेदन ?

एक अंग्रेजी अखबार की रिपोर्ट के मुताबिक, सरकार की ओर से जारी की गई अधिसूचना के अनुसार इन पदों के लिए वो लोग आवेदन कर सकते हैं, जिनकी उम्र 1 जुलाई तक 40 साल हो गई है और उम्मीदवार का किसी भी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएट होना आवश्यक है। उम्मीदवार को किसी सरकारी, पब्लिक सेक्टर यूनिट, यूनिवर्सिटी के अलावा किसी प्राइवेट कंपनी में 15 साल काम का अनुभव होना भी आवश्यक है। आवेदन करने की आखिरी तारीख- 30 जुलाई 2018 है।

कितने दिनों के लिए होगी नियुक्ति

इन पदों पर चयनित होने वाले उम्मीदवारों की नियुक्ति तीन साल तक के लिए की जाएगी और सरकार इस कॉन्ट्रेक्ट को पांच साल तक बढ़ा भी सकती है। बता दें कि इन पदों के लिए प्रोफेशनल उम्मीदवार ही अप्लाई कर सकते हैं।

कितनी होगी सैलरी

मोदी सरकार इन पदों पर चयनित होने वाले उम्मीदवारों को 1.44 लाख से 2.18 रुपये प्रति महीना सैलरी देगी और इस सैलरी के साथ उम्मीदवारों को कई भत्ते और सुविधाएं भी सरकार की ओर से दी जाएंगी।

किन विभागों में होगी नियुक्ति

सरकार ने जिन पदों के लिए आवेदन आमंत्रित किए हैं, उनकी नियुक्ति 10 मंत्रालयों में होनी है। इनमें वित्तीय सेवा, इकोनॉमिक अफेयर, कृषि, सड़क परिवहन, शिपिंग, पर्यावरण और वन, नागरिक उड्डयन और वाणिज्य क्षेत्र शामिल हैं।

मालूम हो कि सरकार अब इसके लिए सर्विस रूल में जरूरी बदलाव भी करेगी। पीएमओ में राज्यमंत्री जितेंद्र सिंह ने 10 विभागों में बतौर जॉइंट सेक्रेटरी 10 पदों के लैटरल एंट्री से जुड़ी अधिसूचना पर कहा कि इससे उपलब्ध स्रोतों में से सर्वश्रेष्ठ को चुनने का मौका मिलेगा। गौरतलब है कि किसी मंत्रालय या विभाग में जॉइंट सेक्रेटरी का पद काफी अहम होता है और तमाम बड़ी नीतियों को अंतिम रूप देने में या उसके अमल में इनका अहम योगदान होता है।

कैसे होगा चयन

इनके चयन के लिए उम्मीदवारों का इंटरव्यू लिया जाएगा और कैबिनेट सेक्रेटरी के नेतृत्व में बनने वाली कमिटी इनका इंटरव्यू लेगी।

तेजस्वी ने सरकार के इस फैसले पर उठाए सवाल

हालाँकि, मोदी सरकार के इस बड़े बदलाव को लेकर राजनीतिक प्रतिक्रिया भी आनी शुरू हो गई हैं। बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री और राजद नेता तेजस्वी यादव ने मोदी सरकार के फैसले पर सवाल उठाया है।


तेजस्वी ने ट्वीट कर कहा, ‘यह मनुवादी सरकार UPSC को दरकिनार कर बिना परीक्षा के नीतिगत व संयुक्त सचिव के महत्वपूर्ण पदों पर मनपसंद व्यक्तियों को कैसे नियुक्त कर सकती है? यह संविधान और आरक्षण का घोर उल्लंघन है। कल को ये बिना चुनाव के प्रधानमंत्री और कैबिनेट बना लेंगे। इन्होंने संविधान का मजाक बना दिया है।’

NITRD में डाटा एंट्री ऑपरेटर, जूनियर नर्स व अन्य पदों के लिए भर्ती, ऐसे करें आवेदन

नीति आयोग से स्मृति ईरानी की हुई छुट्टी, पीएम मोदी की मंजूरी के बाद हुए ये बदलाव

हजारीबाग : एडीजी आरके मलिक ने लिया नक्सल विरोधी अभियान का जायजा

NewsCode Jharkhand | 18 August, 2018 7:47 PM
newscode-image

हज़ारीबाग। एडीजी (अभियान) आरके मलिक ने हजारीबाग में पुलिस कप्तान मयूर पटेल से बंद कमरे में बातचीत की। इस दौरान उन्‍होंने जिले में चल रहे नक्सल विरोधी अभियान की जानकारी ली। उन्‍होंने हजारीबाग और आसपास के क्षेत्रों में, उग्रवादियों के खिलाफ चल रहे ऑपरेशन के बारे में भी जानकारी चर्चा की। विगत दिनों में हजारीबाग और आसपास के क्षेत्रों में कई उग्रवादी संगठन सक्रिय हो गए हैं। खासकर जिस जगह से कोयला का उठाव हो रहा है वहां पर उनकी उपस्थिति दर्ज हो रही है। वहीं कई जगह उग्रवादियों ने गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया है। उग्रवादियों ने गाड़ी चालकों की हत्या भी की है जिससे की उनका आतंक कायम रहे। कयास लगाया जा रहा है कि आने वाले दिनों में, हजारीबाग और उसके आसपास के क्षेत्र में नक्‍सलियों के खिलाफ पुलिस कोई बड़ा अभियान चलायेगी।

कटकमसांडी : दक्षिण कोरिया में निशाना साधेगा आकाश, लगायी मदद की गुहार

 (अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

दुमका : बेकाबू ट्रैक्टर ने दो लोगों को रौंदा,एक की मौत, पांच घंटे तक सड़क जाम

NewsCode Jharkhand | 18 August, 2018 8:08 PM
newscode-image

मुआवजा के आश्वासन पर माने लोग

दुमका। जिले के रामगढ़ थाना क्षेत्र के रामगढ़-गोड्डा मुख्य मार्ग पर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र से करीब 5 सौ गज की दूरी पर एक बेकाबू ट्रैक्टर ने दो लोगों को रौंद दिया। जिसमें से गंभीर रूप से घायल थाना क्षेत्र के कुशमाहा गांव निवासी सरजन सोरेन ने इलाज के दौरान अस्पताल में ही दम तोड़ दिया।

दुमका : लूट की योजना बना रहे अंतर्राज्‍यीय गिरोह के सात अपराधी गिरफ्तार

जबकि जरमुंडी थाना क्षेत्र के नोनीहाट निवासी सुखदेव दास गंभीर जख्मी इलाजरत है। घटना के बाद ग्रामीणों की मदद से आनन-फानन में दोनों व्यक्ति को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, रामगढ़ में भर्ती कराया गया। जहां प्राथमिक उपचार के बाद गंभीर रूप से घायल नोनीहाट के सुखदेव दास को सदर अस्पताल, दुमका रेफर कर दिया गया।

श्राद्ध में शामिल होने रामगढ़ आया था सुखदेव

सुखदेव दास अपनी सास के श्राद्ध में शामिल होने रामगढ़ आया था। सरजन सोरेन को डॉक्टर ने जीवित बताकर दुमका रेफर कर रहे थे, लेकिन उसकी सांस चलता नहीं देख परिजन समझ गए कि सरजन की मौत हो चुकी है।

रेफर करनेे को तैयार नहीं थे परिजन

प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी संजय कुमार मिश्रा परिजन को बार-बार समझा रहे थे कि युवक कोमा में है, उसे रेफर करना जरूरी है। परिजन किसी की बात सुनने को तैयार नहीं हुए। किसी तरह से सरजन को एंबुलेंस में भी चढ़ाया गया, लेकिन परिजनों ने उसे एंबुलेंस से जबरन उतार लिया।

थोड़ी देर के बाद सरजन को चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया। इधर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में हंगामा कर रहे परिजन तथा कुशमाहा गांव के ग्रामीणों ने मृतक के शव को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के अंदर रख मुआवजे की मांग को लेकर रामगढ़-गोड्डा मुख्य मार्ग को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के सामने जाम कर दिया।

मौके पर पहुंची रामगढ़ थाना पुलिस  शव को कब्जे में लेना चाह रही थी। लेकिन ग्रामीणों ने पुलिस को शव लेने नहीं दिया। इधर दुर्घटना कर भाग रहे ट्रैक्टर को पुलिस ने जब्त कर लिया है।

ग्रामीणों ने बताया कि सरजन शनिवार को रामगढ़ बाजार से राशन का चावल लेकर वापस अपने घर जा रहा था। जबकि विपरीत दिशा से बाइक पर सवार होकर सुखदेव दास आ रहा था। सुखदेव को बचाने के प्रयास में ट्रैक्टर चालक ने उसे रौंद दिया।

5 पांच घंटे रहा रामगढ़-गोड्डा मुख्य मार्ग जाम

सड़क दुर्घटना में युवक की मौत के बाद आक्रोशित ग्रामीणों ने करीब 5 घंटे तक रामगढ़-गोड्डा मार्ग को अवरुद्ध कर दिया। मौके पर हंसडीहा एवं काठीकुंड सर्किल इंस्पेक्टर सीओ रामा रविदास ने ग्रामीणों को समझाने तथा सरकारी नियमानुसार मुआवजा देने का आश्वासन देकर जाम हटवाया। गौर तलब है कि मृतक के दो छोटे छोटे बच्चे हैं। घटना के बाद से मृतक की पत्नी का रो-रो कर बुरा हाल है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

बेरमो : सांप्रदायिक सौहार्द के लिए मिशाल होगा नावाडीह-प्रमुख

NewsCode Jharkhand | 18 August, 2018 8:08 PM
newscode-image

बेरमो(बोकारो)। शनिवार को नावाडीह थाना परिसर में बकरीद तथा मनसा पूजा को लेकर शांति समिति की बैठक हुई। प्रमुख पूनम देवी ने कहा कि पूर्व की तरह फिर नावाडीह प्रखंड सांप्रदायिक सौहार्द के लिए पूरे बोकारो जिला में मिशाल कायम करेगा। हिन्दू भाई मनसा पूजा और मुस्लिम समुदाय के लोग बकरीद का त्योहार शांति तथा सौहार्द पूर्ण माहौल में मनायेंगे।

बोकारो : बाईक सवार दो युवको ने किया मैनजर से डेढ़ लाख रूपये की छिनतई

पिछले साल की बीती बातों को भूलकर सूरही, जूनोडीह आदि गांव के लोगों ने विश्वास दिलाया है कि गांव समाज और प्रशासन को बकरीद ही नहीं आने वाले हर त्योहार में सांप्रदायिक सद्भाव तथा शांति व्यवस्था को कायम रखेंगे। इस दौरान किसी भी समुदाय की ओर से गड़बड़ी करने वाले शरारती तत्वों के बारे में तत्काल पुलिस प्रशासन को सूचित करेंगे।

बोकारो : अस्पताल का आधारभूत संरचनाओं का करें विकास-उपायुक्त

वहीं प्रशासन की ओर से थाना प्रभारी लक्ष्मीकांत ने कहा कि शरारती तत्वों पर पुलिस की कड़ी निगाह होगी, जरूरत पर त्वरित कार्यवाही की जायेगी। बीडीओ शंकराचार्य सामद ने कहा कि हमारे पर्व त्योहार आपसी सद्भाव और भाईचारे को बढ़ाने का संदेश देते हैं। एक दूसरे का मान सम्मान का ख्याल रखेंगे और सांप्रदायिक सौहार्द को मजबूत बनाते हुए क्षेत्र की परंपरा को कायम रखेंगे।

गोमिया : गोमिया विधानसभा क्षेत्र का विकास ही मेरी प्राथमिकता- विधायक

 बैठक को उप प्रमुख विश्व नाथ महतो, पूर्व प्रमुख मोहन महतो, बीस सूत्री अध्यक्ष सह मुखिया रणविजय सिंह, ललिता देवी, लालजी प्रसाद, गौरी शंकर महतो, राम पुकार प्रसाद, कुमार दास, इमरान अंसारी, ईश्वर ठाकुर, अमीन अंसारी, इदरीश अंसारी, गणेश महतो आदि उपस्थित थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

More Story

more-story-image

गुमला : कुएं में डूबने से युवक की मौत, हसुआ...

more-story-image

बेंगाबाद : दो पक्षों में उत्पन्न विवाद सुलझाने को लेकर...