देवघर : नहाने गए दो युवक को काल ने बनाया शिकार, चली गई जान

NewsCode Jharkhand | 6 July, 2018 9:21 AM

मधुपुर के बकुलिया झरना में नहाने गये बिक्की और लक्की की मौत

newscode-image

देवघर । मधुपुर थाना क्षेत्र के बकुलिया झरना में दो युवकों की नहाने के क्रम में पानी मे डूबने से मौत हो गयी। इस घटना को लेकर गांव में सन्नाटा छा गया है। पास के हीं पुरनी सिंघो के रहने वाले  थे दोनों युवक। परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल हो गया है।

देवघर : चालक की लापरवाही से गाड़ी पेड़ से टकराई, 17 लोग घायल

जानकारी के मुताबिक बिक्की ओर लक्की मधुपुर थानां क्षेत्र के दलहा पंचायत के बकुलिया झरना में नहाने गये थे । नहाने के क्रम में दोनों युवकों की डूबने से मौत हो गयी। मौके पर मधुपुर पुलिस ने पहुंच कर दोनो के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

चक्रधरपुर : हावड़ा से मुंबई जा रही गीतांजलि सुपरफास्ट ट्रेन इलेक्ट्रिक पोल से टकरायी,कोई हताहत नहीं

NewsCode Jharkhand | 23 September, 2018 5:26 PM
newscode-image

चक्रधरपुर।  हावड़ा से मुंबई जा रही गीतांजलि सुपरफास्ट ट्रेन आज एक बड़ेे हादसेे  से  बच गई। निमपुरा  स्टेशन के समीप गीतांजलि  के 1 कोच से इलेक्ट्रिक पोल टकरा गई।

चक्रधरपुर :ठेले-खोमचे वालों को मिलेगा परिचय पत्र, सर्वे शुरू

एहसास होते ही चालक ने ट्रेन को ही  रोक दिया एवं तत्काल सभी यात्री उतार दिए गए। इसकी सूचना रेल के वरीय पदाधिकारियों को भी दी गई।

तत्काल आरपीएफ, जीआरपी पुलिस पहुंची व मामले की जानकारी ली और रेल के अधिकारियों को सूचना दी ।   कोच ठीक  करने में प्रशासन जुट गई । लगभग 1 घंटे तक ट्रेन घटनास्थल पर खड़ी रही।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

गिरिडीह :  प्रधानमंत्री ने अपनी बहनों को भेजा तोहफा, राखी के बदले आया स्मार पत्र

NewsCode Jharkhand | 23 September, 2018 6:08 PM
newscode-image

गिरिडीह।  देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गिरिडीह की दो बहनों को रक्षाबंधन का तोहफा भेजा है।  मोहलीचुआ की रहने वाली रामबाबू साहू की पुत्री सेजल कुमारी और चाहत कुमारी ने प्रधानमंत्री को राखी भेजी थी।

राखी मिलने के बाद पीएमओ से इन दोनों बहनों के लिए स्मार पत्र आया है। बताया गया कि पिछले साल भी इन दोनों बहनों ने प्रधानमंत्री को राखी भेजी थी और पिछले साल भी उन्हें स्मार पत्र मिला था।

इस बार भी स्मार पत्र मिलने से दोनों बहनें बेहद खुश हैं। इनका कहना है कि प्रधानमंत्री सहृदय व्यक्ति हैं और उन्होंने दिल से राखी स्वीकार की। इसी वजह से वहां से प्रमाण पत्र भेजा गया है।

स्मार पत्र मिलने से परिवार  के  सदस्य भी हर्षित हैं। बताया गया कि ये दोनों बहनें हर साल देश के सैनिकों को भी राखी भेजती हैं ताकि देश की रक्षा करने वाले सैनिकों की कलाईयाँ सूनी न रह जाए।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

रांची : पीएम की तस्वीर बनाकर भेंट करना चाहती थी छात्रा, सुरक्षा गार्ड ने रोका

NewsCode Jharkhand | 23 September, 2018 6:06 PM
newscode-image

रांची। नरेंद्र मोदी देश वासियों के चहेते प्रधानमंत्री हैं। मोदी वैसे तो बच्चों और छात्रों में काफी लोकप्रिय है लेकिन पीएम मोदी के सभा स्थल से एक छात्रा को निराश होकर लौटना पड़ा। दरअसल प्रधानमंत्री का कार्यक्रम रांची के धुर्वा स्थित प्रभात तारा मैदान में हो रहा था।

कार्यक्रम के माध्यम से प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत स्वास्थ बीमा योजना का शुभारम्भ कर रहे थे। इस एतिहासिक पल का साक्षी बनाने के लिए सभा स्थल पर लाखों लोग मौजूद थे। वैसे भी मोदी जहाँ जाते है तो उनके चाहने वाले लोगों की ख़ुशी देखते ही बनती है।

रांची : प्रधानमंत्री ने रांची से की आयुष्मान भारत योजना की शुरुआत

पीएम हमेशा छात्र हितों की बात करते है शायद इसी लिए मोदी से मिलने के लिए रातू रोड की डिम्पी नाम की छात्रा सभा स्थल तक पहुंची, लेकिन डिम्पी को प्रधानमंत्री के सुरक्षा गार्ड ने रोक दिया। डिम्पी के हाथ में नरेंद्र मोदी की तस्वीर थी जिसे डिम्पी ने खुद अपने हाथों से बड़े अरमान से बनाई थी। मोदी की तस्वीर में बड़े ही प्यार से रंग भरी लेकिन सुरक्षा गार्ड द्वारा रोके जाने के कारण मोदी के तस्वीर के साथ डिम्पी के अरमानों के रंग भी फीके पड़ गए।

फिलहाल डिम्पी रांची मारवाड़ी कॉलेज बायोटेक की छात्रा है। मैट्रिक 70% अंक से पास है, डिम्पी पढ़ाई में भी काफी अच्छी है इसके बावजूद डिम्पी अपने चहेते प्रधानमंत्री से नही मिल पायी क्योंकि उसके पास पीएम से मिलने के लिए कागज के टुकड़े वाले पास नही थे।

डिम्पी मोदी से मिलने के लिए सुरक्षा कर्मियों से लाख बिनती करती रही लेकिन किसी ने उस छात्रा की फरियाद तक नही सुनी और पीएम से अगली बार मुलाकात करने की उम्मीद लिए डिम्पी निराश होकर अपने घर पैदल लौट गई।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

More Story

more-story-image

तेनुघाट : आयुष्मान भारत योजना से गरीब भी करा पायेंगे...

more-story-image

साहेबगंज : सीएस ने सदर अस्पताल में पूछताछ केंद्र का...