लोहरदगा : गर्मी छुट्टी में समर कैंप में बच्चे बन रहे हुनरमंद 

NewsCode Jharkhand | 16 May, 2018 4:36 PM

लोहरदगा : गर्मी छुट्टी में समर कैंप में बच्चे बन रहे हुनरमंद 

लोहरदगा। गर्मी की छुट्टी आते हैं विद्यालयों की छुट्टी में आयोजित होने वाले समर कैंप में बच्चे विभिन्न तरह के गुणों को आत्मसात कर हुनरमंद बन रहे हैं।  जिले के रामकली देवी सरस्वती शिशु मंदिर और ग्रेटर त्रिवेणी  टाइनी  टास्क विद्यालय में बच्चों के लिए समर कैंप का आयोजन किया गया है।

रामकली देवी सरस्वती शिशु मंदिर के बच्चे नाटक, चित्रकला, नृत्य गीत, योगा आदि का ज्ञान प्राप्त कर रहे हैं। वहीं जीटीपीएस टाइनी टास्क में बच्चों को तैराकी, योगा, क्राफ्ट वर्क, पेंटिंग, गीत-संगीत आदि की शिक्षा दी जा रही है। बच्चे खेल- खेल में कई तरह की विद्याएं सीख रहे हैं।

रांची : किशोरगंज का खुलेगा कट, बनेगा पुलिस पोस्‍ट

समर कैंप आकृति उदय के सचिव विनोद सोनी ने बच्चों को नाट्य विद्या और चित्रकला की बारीकियों से परिचित कराते हुए कहां की इस तरह की एक्टिविटी से बच्चों का सर्वांगीण विकास होता है और वह और उनका व्यक्तित्व समाज के सामने निखरकर आता है।

पढ़ाई के अलावा भी बच्चे कई तरह के हुनर से हुनरमंद रहते हैं बस जरूरत है इस हुनर को जानने की और इसके आधार पर बच्चों को प्रशिक्षित करने की। वही ग्रेटर त्रिवेणी टाइनी टास्क में शिक्षक रघुवीर शर्मा ने बच्चों को तैराकी शिक्षा के पश्चात बताया कि तैराकी  जहां शरीर को स्वस्थ रखने का काम करता है। वही  तैराकी प्रतियोगितायें राज्य और राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय स्तर पर आयोजित होता है।

जिसमें बच्चे बेहतर तैराक का पुरस्कार प्राप्त कर सकते हैं बस जरूरत है लगातार प्रयास करते रहने की। श्री शर्मा ने कहा कि शिक्षा के साथ-साथ विभिन्न तरह की  एक्टिविटीज बच्चों के व्यक्तित्व में निखार लाती है जो भविष्य में उन्हें सम्मान दिलाने में सहयोग करती है। मौके पर बड़ी संख्या में बच्चे व शिक्षक मौजूद थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

हज़ारीबाग : छात्रों की सफलता पर शिक्षकों ने दी बधाई, उज्जवल भविष्य की कामना

NewsCode Jharkhand | 27 May, 2018 7:27 PM

हज़ारीबाग : छात्रों की सफलता पर शिक्षकों ने दी बधाई, उज्जवल भविष्य की कामना

हजारीबाग। शहर के बडकागाँव रोड के शंकरपुर स्थित एंजेल्स हाई स्कूल के प्रतिभावान विद्यार्थियों ने कक्षा 12 वीं सीबीएसई के नतीजे में शत प्रतिशत उत्तीर्ण होकर जिले और स्कूल का नाम रौशन करते हुए इतिहास रच दिया है। इस वर्ष स्कूल के 12 वीं कक्षा के दूसरे बैच में विज्ञान और वाणिज्य संकाय में 86 विद्यार्थी परीक्षा में शामिल हुए थे।

जिसमे विज्ञान संकाय के 47 और वाणिज्य के 39 बच्चे शामिल थे। सभी बच्चों ने सौ फीसदी सफतला प्राप्त किया। इनमे से 25 प्रतिशत छात्र-छात्राओं 90 प्रतिशत से अधिकतम अंक के साथ कुल सभी विद्यार्थियों ने प्रथम श्रेणी में सफतला अर्जित की। विज्ञान संकाय में स्कूल के 02 बच्चों ने 95 प्रतिशत से अधिकए 09 ने 90.95 प्रतिशत के बीचए 06 ने 85.90 प्रतिशत के बीचए 13 ने 80.85 प्रतिशत के बीच और 17 बच्चों ने 70. 80 प्रतिशत के बीच अंक लाया।

कटकमसांडी : सदर विधायक के प्रयास से बदल रहा हजारीबाग सदर विधानसभा क्षेत्र

वहीँ वाणिज्य संकाय में स्कूल के 07 बच्चों ने 90.95 प्रतिशत के बीचए 05 ने 85.90 प्रतिशत के बीचए 09 ने 80.85 के बीच और 18 बच्चों ने 70.80 प्रतिशत के बीच अंक लाकर सफलता पायी।

जिसमें विज्ञान संकाय में प्रथम स्थान रौशन प्रकाश, द्वितीय स्थान सुफिया सरवार, तृतीय स्थान अभिजीत परासर, चतुर्थ स्थान शशांक शेखर, और पंचम स्थान गार्गी रॉय तथा वाणिज्य संकाय में प्रथम स्थान आर्यन अग्रवाल, द्वितीय स्थान तुषार जैन, तृतीय स्थान भावेश अग्रवाल, चतुर्थ स्थान शिवानी श्रीवास्तव और पंचम स्थान किसन सिन्हा ने प्राप्त किया।

स्कूल के शत प्रतिशत बच्चों ने अच्छे अंक के साथ सफलता अर्जित कर यह साबित कर दिया की स्कूल प्रबंधन और शिक्षक-शिक्षिकाओं के शिक्षण-शैली में सफलता दिलाने की सर्वोच्च क्षमता विद्धमान है। स्कूल की निदेशिका निशा जायसवाल ने इस अवसर पर ख़ुशी जाहिर करते हुए सभी विद्यार्थियों, स्कूल के शिक्षक-शिक्षिकाओं और अभिभावकों को बधाई देते हुए सफल बच्चों की उज्जवल भविष्य की कामना की।

उन्होंने यह भी कहा की स्कूल का रिजल्ट अपेक्षा के अनुरूप सौ फीसदी रहा। एंजेल्स हाई स्कूल की प्राचार्या डॉ. स्वाति अग्रवाल ने भी इस मौके पर ख़ुशी का इजहार करते हुए कहा की स्कूल के रिजल्ट में वर्ष दर वर्ष इजाफा होना जहाँ हमारे संस्थान के गुणवत्तापूर्ण शिक्षणशैली को प्रदर्शित करता है वहीँ हजारीबाग शहर के लिए गौरव की बात है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

Read Also

रांची : सीसीएल के लाल-लाडली का 12वीं में बेहतर प्रदर्शन

NewsCode Jharkhand | 27 May, 2018 2:13 PM

रांची : सीसीएल के लाल-लाडली का 12वीं में बेहतर प्रदर्शन

रांची। सीबीएसई 12वीं के परिणाम में सीसीएल के लाल और सीसीएल की लाडली के 2016-18 बैच के सभी 26 बच्‍चों ने सर्वश्रेष्‍ठ प्रदर्शन किया। शत प्रतिशत सफलता प्राप्‍त की है। अदिति कुमारी अपने बैच में  95.8% के साथ साथ डीएवी गांधीनगर में भी टॉप स्‍थान प्राप्‍त की है। अदिति कुमारी के पिता सीसीएल में कार्यरत हैं।

इसके अतिरिक्त 16 छात्रों ने बारहवीं बोर्ड में 85% से अधिक अंक प्राप्त किया है। सीसीएल के सीएमडी गोपाल सिंह, निदेशक (कार्मिक) आरएस महापात्र सहित सीसीएल अधिकारी/प्रशिक्षकगण सर्वश्री जितेंद्र कुमार, नमन श्रीवास्तव, अखिलेश कुमार, अनुभाव खरे, ओम प्रकाश और देव प्रकाश सिंह ने इनके प्रदर्शन के लिए शुभकामानएं दी।

रांची : कांग्रेस भवन में पं. नेहरु को दी गयी श्रद्धांजलि

उनके परिवारों को बधाई दिया। सीसीएल के सीएसआर विभाग द्वारा यह महत्‍वकांक्षी योजना संचालित की जा रही है। योजना की शुरूआत वर्ष 2012 में सीएमडी सीसीएल गोपाल सिंह के मार्गनिर्देशन में की गई थी।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

रांची : हरा चारा प्रबंधन से किसानों को दोहरा लाभ- कुलपति

NewsCode Jharkhand | 27 May, 2018 12:55 PM

रांची : हरा चारा प्रबंधन से किसानों को दोहरा लाभ- कुलपति

रांची। सामान्य सूखे चारे को पशु आहार के रूप में देने से पशुओं के स्वास्थ्य और आयु पर प्रतिकूल असर पड़ता है। पशुओं को गुणवत्ता और पौष्टिकतायुक्त आहार में हरा चारा देने से उसके वजन और दूध उत्पादन में वृद्धि होती है। किसान अपने खेतों में दीनानाथ घास, नेपियर घास, ज्वार, बाजरा, मकई, बोदी, बरसीम, लुसर्न और बोदी को उपजा कर सालों भर हरा चारा का उत्पादन कर सकते हैं।

पशु चारे में हरा चारा के प्रयोग से पशु का स्वास्थ्य बेहतर और उसके उत्पाद की क्वालिटी अच्छी होने से तीस से चालीस प्रतिशत अधिक लाभ होता है। झारखंड जैसे वर्षा आधारित खेती वाले राज्य में हरा चारा को बढ़ावा देकर पशु चिकित्सा खर्च में बचत कर सकते हैं। अधिक दूध उत्पादन से 30-40 प्रतिशत मुनाफे में वृद्धि से दोहरा लाभ का अवसर मिलता है।

रांची : JIFFA का समापन आज, प्रियंका को श्रीदेवी एक्सलेंस अवॉर्ड

उक्त बातें बीएयू कुलपति डॉ परविंदर कौशल ने हरा चारा उत्पादन विषयक पांच दिवसीय मास्टर ट्रेनर्स के तीसरे प्रशिक्षण कार्यक्रम के समापन पर कही। इस अवसर पर उन्‍होंने सभी मास्टर ट्रेनर्स को सर्टिफिकेट, बिरसा किसान डायरी और चारा कीट दिया। मौके पर किसानों ने भी अपने विचार और अनुभव साझा किये। यह कार्यक्रम झारखंड ट्राइबल इम्‍पावरमेंट एंड लाइवलीवूड प्रोजेक्ट (जेटीईअलपी) के सौजन्य से बीएयू के पशुचिकित्सा कॉलेज द्वारा कराया गयाI

इसमें लोहरदगा, साहिबगंज, सराइकेला- खरसावा और पश्चिम सिंहभूम के 36 किसानों ने भाग लिया। डॉ एके पाण्डेय, डॉ विरेन्द्र कुमार, डॉ एएन पूरण, डॉ एस कर्मकार, डॉ आरपी मांझी, डॉ स्वाति शिवानी, डॉ योगेन्द्र प्रसाद और डॉ सुबोध कुमार ने किसानों को ट्रेनिंग दी।

समारोह का संचालन ट्रेनिंग प्रभारी डॉ आलोक कुमार पाण्डेय और धन्यवाद डॉ सुशील प्रसाद ने किया। मौके पर डॉ विरेन्द्र कुमार, अरुण कुमार गुप्ता भी मौजूद थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

X

अपना जिला चुने