लोहरदगा : जेल की सुरक्षा छोड़कर डीसी के पास पहुंचे सुरक्षाकर्मी

NewsCode Jharkhand | 6 June, 2018 2:53 PM
newscode-image

लगाई फरियाद, नहीं मिल रहा है मानदेय

लोहरदगा। लोहरदगा मंडल कारा में कई हार्डकोर नक्सली और नक्सली संगठनों के नेता बंद है। अपराधियों की संख्या अनगिनत है। इनकी सुरक्षा की जिम्मेवारी भूतपूर्व सैनिकों, होमगार्ड के जवानों पर टिकी है। फिर भी सुरक्षा व्यवस्था को छोड़कर मंडल कारा लोहरदगा के 40 सुरक्षाकर्मी डीसी विनोद कुमार के पास फरियाद लगाने पहुंच गए। सुरक्षाकर्मियों ने डीसी से मुलाकात कर फरियाद लगाई।

हमें चार माह से मानदेय नहीं मिला हुजूर

मंडल कारा लोहरदगा के 40 सुरक्षाकर्मियों ने उपायुक्त विनोद कुमार से मुलाकात करते हुए कहा कि उन्हें 4 माह से मानदेय नहीं मिला है। जिसकी वजह से बच्चों की पढ़ाई, घर की बीमारी, घर के अन्य खर्चों को चला पाना काफी मुश्किल हो रहा है। एक-दो महीने तो किसी तरह से गुजर गए, पर 4 महीने तक मानदेय नहीं मिलने से उनके परिवारों के समक्ष भुखमरी की स्थिति उत्पन्न हो गई है। इस मामले में मंडलकारा प्रबंधन कोई ध्यान नहीं दे रहा। जिसकी वजह से उन्हें आर्थिक और मानसिक परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। यदि उन्हें जल्द मानदेय नहीं मिला तो उनकी आर्थिक स्थिति बेहद खराब हो जाएगी।

डीसी ने दिया भरोसा जल्द होगा भुगतान

मंडल कारा लोहरदगा के सुरक्षाकर्मियों को डीसी विनोद कुमार ने जल्द ही भुगतान करने का निर्देश दिया है। उन्होंने कहा है कि वह इस दिशा में पहल करेंगे। मंडल कारा के सुरक्षाकर्मियों को मानदेय का भुगतान दिलाने का भरोसा देते हुए डीसी ने कहा कि सरकार के प्रावधान के अनुसार उन से काम लिया जा रहा है।

NewsCode Jharkhand | 26 September, 2018 3:19 PM
newscode-image

लोहरदगा। शहर के बड़ा तालाब, जामा मस्जिद आदि क्षेत्रों में नगर परिषद की ओर से अतिक्रमण हटाओ अभियान चलाया गया। अभियान में लोहरदगा सदर अंचलाधिकारी परमेश्वर कुशवाहा, सदर थाना प्रभारी पुलिस निरीक्षक शैलेश प्रसाद, नगर परिषद के सिटी मैनेजर आफताब आलम सहित कई अधिकारी और पुलिस बल के जवान मौजूद थे। अतिक्रमण अभियान के दौरान किसी भी प्रकार की स्थिति से निपटने के लिए भारी संख्या में पुलिस बल को तैनात किया गया था। अतिक्रमण का दोषी पाए जाने पर, ऑन द स्‍पॉट कई दुकानदारों पर जुर्माना भी लगाया गया। नगर परिषद के इस अभियान से दुकानदारों में भी डर का माहौल देखा जा रहा है।

लोहरदगा : अतिक्रमण हटाओ अभियान से दुकानदारों में हड़कंप

सर्वोच्च न्यायालय द्वारा अतिक्रमण को लेकर महत्वपूर्ण निर्देश दिए जाने के बाद से नगर परिषद अतिक्रमण हटाने को लेकर अभियान चला रहा है। इस दौरान क्षेत्र के अलग-अलग हिस्सों में दुकानदारों द्वारा अतिक्रमण किए जाने का मामला सामने आने पर, अतिक्रमण हटाने को लेकर अभियान चलाया जा रहा है। इससे पहले नगर परिषद ने कई बार दुकानदारों को चेतावनी देते हुए अतिक्रमण नहीं करने का निर्देश दिया था। बावजूद इसके अतिक्रमण होने की वजह से सड़कें संकरी हो गई थी और आए दिन दुर्घटनाएं हो रही थी। जिसकी वजह से नगर परिषद और अंचल प्रशासन ने अतिक्रमण हटाने को लेकर जोरदार अभियान चलाया।

लोहरदगा : टेबल-कुर्सी ही संभालते हैं कार्यालय, मत्स्य अधिकारी रहते हैं गायब 

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

कटकमसांडी : न्यूज़कोड की ओर से शिक्षक सम्मान समारोह का आयोजन

NewsCode Jharkhand | 26 September, 2018 4:31 PM
newscode-image

कटकमसांडी(हजारीबाग)। हजारीबाग नगर भवन में न्यूज़कोड की ओर से शिक्षक सम्मान समारोह का आयोजन किया गया। समारोह का उद्घाटन आईएएस अधिकारी दीपक साही, पूर्व सांसद भुनेश्वर मेहता, यदुनाथ पांडे, एमआईटी यूनिवर्सिटी झारखंड के निदेशक डॉक्टर एके पांडे, समाजसेवी भैया अभिमन्यु प्रसाद ने संयुक्त रूप से दीप जलाकर किया। कार्यक्रम में आए सभी  अतिथियों को  न्यूज़कोड के  मार्केटिंग हेड  सूरज दिनकर ने  पुष्प गुच्‍छ एवं शॉल देकर  सम्मानित किया। समारोह का शुभारंभ आंचल वर्मा द्वारा प्रस्‍तुत गणेश वंदना के साथ हुआ।

कटकमसांडी : न्यूज़कोड की ओर से शिक्षक सम्मान समारोह का आयोजन

न्यूज़कोड की ओर से इस अवसर पर बताया गया कि‍ इस तरह के कार्यक्रम के आयोजन का मकसद, समाज के निर्माताओं का सम्मान करना है। समारोह के मुख्य अतिथि आईएएस अधिकारी दीपक साही ने कहा कि समाज में शिक्षक की भूमिका सबसे ऊपर है। यह कहा जाता है कि अगर भगवान और गुरु एक साथ खड़े हों, तो सबसे पहले गुरु की पूजा की जाती है। उन्‍होंने हजारीबाग में शिक्षकों के लिए न्यूज़कोड की ओर से आयोजित इस सम्मान समारोह की प्रशंसा करते हुए कहा कि इससे समाज को एक नई दिशा मिलेगी।

कटकमसांडी : न्यूज़कोड की ओर से शिक्षक सम्मान समारोह का आयोजन

एमिटी यूनिवर्सिटी रांची के निदेशक डॉक्टर ए.के. पांडे ने कहा कि समाज में शिक्षकों का  जो स्थान है वह किसी और का नहीं हो सकता लेकिन यह दुर्भाग्य है कि भारत में शिक्षकों को जितना सम्मान और सुविधाएं मिलनी चाहिए, वह सरकार की ओर से उन्‍हें नहीं मिल पाती है। उन्होंने कहा जापान, अमेरिका, इंग्लैंड और इंडोनेशिया जैसे देशों में शिक्षकों को किसी भी सुविधा के लिए लाइन में खड़ा नहीं होना पड़ता है। शिक्षकों के प्रति समाज का नजरिया बदलने की न्‍यूज़कोड की इस पहल की उन्‍होंने प्रशंसा की। कार्यक्रम को हजारीबाग के पूर्व सांसद यदुनाथ पांडे और भुनेश्वर मेहता ने भी सम्बोधित किया।

कटकमसांडी : न्यूज़कोड की ओर से शिक्षक सम्मान समारोह का आयोजन

अतिथितियों ने  जिले के राष्ट्रपति सम्मान से सम्मानित शिक्षकों को न्यूज़कोड की ओर से ट्रॉफी तथा प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। सम्मान पाने वाले शिक्षकों में मोहम्मद रियाजुद्दीन खान, बालेश्वर राम, राजेश कुमार, माया कुमारी, अशोक कुमार, ईश्वर सिंह, शामिल हैं। वहीं राज्य व जिलास्तर पर सम्मान पाने वाले शिक्षकों को भी न्यूज़कोड की ओर से सम्मानि‍त किया गया। सम्मान पाने वालों में प्रवीण कुमार, मोहम्मद जहांगीर अंसारी, महेंद्र कुमार, विजय मशीह, उत्तम सिंह, श्यामदेव यादव, मोहम्मद जहीरुद्दीन,  प्रकाश कुमार अग्रवाल,  चिंतामणि प्रसाद, ओम प्रकाश, बद्री राम पासवान, दिग्विजय नारायण, संजय सागर, ओएसिस स्कूल के प्राचार्य मोहम्मद एहतेशाम, गुरुकुल के निदेशक जेपी जैन, एसआईपी अबाकस के निदेशक, संत स्टीफन स्कूल की प्राचार्या कल्पना बाड़ा, विजय कुमार, स्टूडेंट फ्रेंड के उमेश कुमार और केमिस्ट्री सक्सेस के अभिजीत पांडे शामिल हैं।

कटकमसांडी : न्यूज़कोड की ओर से शिक्षक सम्मान समारोह का आयोजन

कोडरमा जिले के शिक्षकों को भी इस समारोह में सम्मानित किया गया। शिक्षकों में के.एन. पांडे, अजय भट्टाचार्य, रवि दत्त पांडे, मोहम्मद तौफीक हसन और सिस्टर रोशनी आदि शामिल थीं। शहर में शिक्षा के क्षेत्र में काम करने वाले विभिन्न कोचिंग संस्थानों के निदेशकों को भी समारोह में प्रशस्ति पत्र देकर सम्‍मानित किया गया। इनमें श्रीकांत मैथमेटिक्स, सत्यम कंप्यूटर जोन, आइंस्टाइन एडवांस एकाडमी, लक्ष्य कोचिंग, मेधा सिविल सर्विस, चाणक्य आईएएस एकाडमी आदि शामिल हैं।

कटकमसांडी : न्यूज़कोड की ओर से शिक्षक सम्मान समारोह का आयोजन

कार्यक्रम में  जागृत नाटक संस्था के कलाकारों ने नाटक का प्रदर्शन किया जबकि मूक-बधिर स्कूल दीपूगढ़ा के बच्चों ने  नागपुरी नृत्य प्रस्तुत कर समां बांध दिया। कार्यक्रम का संचालन उद्घोषक मानिक चक्रवर्ती  तथा दिव्या ने किया। कार्यक्रम को सफल बनाने में हजारीबाग न्यूज़कोड के प्रतिनिधि रोहित वर्मा, आनंद कुमार, रविंद्र कुमार, कोडरमा के रमेश चंद्र पांडे, मार्केटिंग हेड सूरज दिनकर, रोहन कुमार और विवेक कुमार ने सहयोग किया।

बड़कागांव : “न्यूज़कोड” के द्वारा शिक्षक को किया गया सम्मानित

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

जमशेदपुर : छुुुुट्टी मांगी, न‍हीं मिली, गर्भावस्‍था के पांंचवें माह में ड्यूूटी करने को मजबूर सुरक्षाकर्मी

NewsCode Jharkhand | 26 September, 2018 3:58 PM
newscode-image

एमजीएम अस्पताल की संवेदनहीनता

जमशेदपुर। जमशेदपुर का एमजीएम अस्पताल इन दिनों फिर से सुर्खियों में है। वैसे इस बार यह अस्पताल अलग ही तरह के कारनामों को लेकर सुर्खियों में है।

इस अस्पताल की लापरवाही की खबरें तो आम बात है, लेकिन इस बार इस अस्पताल में काम कर रही महिला सुरक्षाकर्मियों की क्या स्थिति है, यह बता रहे हैं।

किस तरह 8 महीने की गर्भवती महिला सुरक्षाकर्मी ड्यूटी करने को मजबूर है। ऐसा नहीं है कि उस महिला कर्मी ने छुट्टी के लिए गुहार नहीं लगाई थी।

इस महिला ने प्रेगनेंसी लीव का आवेदन दिया था, लेकिन अस्पताल प्रबंधन या होमगार्ड  के वरीय अधिकारी इस महिला के आवेदन को निरस्त करते हुए इतना ही कहा कि जब तुम्हें परेशानी होगी तो तुम्हें छुट्टी दे दी जाएगी।

ठीक से खड़ी नहीं हो पा रही महिला ड्यूूटी करने को मजबूर

अब सवाल यह उठता है कि आखिर 8 महीने की गर्भवती महिला को क्या परेशानी नहीं हो रही होगी ?  क्या एमजीएम अस्पताल प्रबंधन और झारखंड सरकार का गृह रक्षा वाहिनी विभाग इतना संवेदनहीन हो गया है कि जो महिला अपने पैरों पर खड़ी नहीं हो पा रही, उसे अस्पताल की सुरक्षा में लगा दिया गया।

वैसे यह कोई पहली महिला नहीं है, जो गर्भवती होने के बाद भी ड्यूटी बजा रही है, बल्कि इनकी जैसी और भी एक महिला सुरक्षाकर्मी यहां ड्यूटी पर तैनात है।

पांचवें माह से ही प्रेगनेंसी लीव दिए जाने का है प्रावधान

ऐसे में सवाल उठना लाजिमी है कि आखिर सरकारी योजना जिसके तहत महिलाओं को पांचवें माह से ही प्रेगनेंसी लीव दिए जाने का प्रावधान है, उसका उल्‍लंघन हो रहा है। यदि महिला होमगार्ड की जवान के साथ कुछ अनहोनी हो जाए तो उसके लिए कौन जिम्मेवार होगा।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

More Story

more-story-image

चाईबासा : शहर का होगा सौंदर्यीकरण, मनोरंजन से लेकर खेल-कूद...

more-story-image

चाईबासा : स्वच्छता ही स्वस्थ्य जीवन का मूल मंत्र है-रामनारायण...