लातेहार : 11 हजार वोल्ट का तार टूटा, आईटीआई परिसर में लगी आग

NewsCode Jharkhand | 16 April, 2018 9:41 PM

लातेहार : 11 हजार वोल्ट का तार टूटा, आईटीआई परिसर में लगी आग

चंदवा(लातेहार)। एनएच 75 व 99 के संगम स्थल इंदिरा चौक के नजदीक बने औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान में शॉर्ट सर्किट से आग लग गई। जानकारी के अनुसार इंदिरा चौक के नजदीक से आईटीआई, देवीमंडप होते अन्य गांवों में जानेवाले 11 हजार वोल्ट तार में पक्षियों के कारण शार्ट-सर्किट हुआ व एक तार टूटकर नीचे गिर गया।

आईटीआई परिसर में सूखे घासों पर बिजली का तार गिरने व उसमें उठी चिंगारी आग में तब्दील हो गई। सूखी घास में लगी आग की लपटें तेजी से चारों ओर फैलने लगी। वहां से गुजर रहे भाकपा नेता प्रमोद साहू व अनिल साहू ने आईटीआई परिसर में लगी आग को देखा।

सिल्ली : प्रोजनी बाग में लगी आग, सैकड़ों पेड़ जलकर हुआ खाक

अनहोनी की आशंका के बाद उनलोगों ने प्रशासन को सूचना दी। बीडीओ देवदत्त पाठक व पुलिस प्रशासन की टीम वहां पहुंची और आग पर काबू पाया।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

गिरिडीह : बिजली विभाग की लापवाही ने ली अनुबंध कर्मी की जान

NewsCode Jharkhand | 22 April, 2018 9:27 AM

गिरिडीह : बिजली विभाग की लापवाही ने ली अनुबंध कर्मी की जान

 शव को लावारिस हालत में सदर अस्‍पताल में छोड़ा

गिरिडीह। अपने लापरवाह रवैये के लिए वैसे तो बिजली विभाग पहले से ही बदनाम है लेकिन विभाग की जानलेवा लापरवाही लोगों को आक्रोश में लाने के लिए मजबूर कर देती है।

रविवार,अहले सुबह बिशुनपुर के लोगों का गुस्सा बिजली विभाग के ऊपर फुट पड़ा। असल में बिशुनपुर निवासी मो.शमीम के पुत्र आदिल विद्युत विभाग में अनुबंध बिजली कर्मी के रूप में कार्यरत था।

रात के वक्त फीडर 2 में कुछ खराबी थी, दुरुस्त करने के लिए आदिल को विभागीय अधिकारियों ने बुलवाया। बताया गया कि एसपी कोठी के समीप जब वह काम कर रहा था,तभी अचानक करंट चालू हो गया और चपेट में आने से आदिल की जान चली गई।

गिरिडीह : बिजली विभाग की लापरवाही से कैंपस में लगी आग, तत्परता से टला हादसा

एक तो काम करते हुए लाइन दिया जाना विभाग की बड़ी चूक हुई। हद तब हो गई जब विभाग के अधिकारियों ने आदिल का शव सदर अस्पताल पहुंचा कर बरामदे में ही लावारिश हाल में छोड़ दिया।

परिजनों को जब इसकी सूचना हुई तो सभी भागे भागे अस्पताल पहुंचे। यहां शव की दशा देख कर सभी गम और गुस्से से उबल पड़े। गुस्‍सए लोगों ने बिशुनपुर पहुंच कर पचम्बा मुख्य मार्ग को जाम कर दिया।

इनका कहना था कि आखिर कब तक विभाग की लापरवाही बर्दाश्त की जाएगी और कब तक आदिल जैसे कर्मी की यूं ही जान जाती रहेगी। लोग  विभागीय अधिकारियों को हाज़िर करने की मांग कर रहे थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

Read Also

जामताड़ा : हाथियों के झुंड ने ली एक की जान, ग्रामीणों ने की मुआवजे की मांग

हाथियों ने तीन घरों को भी पहुंचाया नुकसान

NewsCode Jharkhand | 21 April, 2018 8:29 PM

जामताड़ा : हाथियों के झुंड ने ली एक की जान, ग्रामीणों ने की मुआवजे की मांग

जामताड़ा। हाथियों के झुंड ने नारायणपुर थाना क्षेत्र के कठडाबर गांव निवासी पच्चीस वर्षीय जियाउद्दीन अंसारी की जान पटक-पटक कर ले ली। घटना के विरोध में आक्रोशित लोगों ने मृतक के शव के साथ लोहारंगी मध्य विद्यालय के समीप गोविंदपुर-साहिबगंज हाइवे को जाम कर दिया। वे मुआवजे की मांग कर रहे थे।

विधायक डॉ. इरफान अंसारी व वन प्रमंडल पदाधिकारी राजकुमार साह ने मुआवजा का आश्वासन देकर आधे घंटे बाद हाइवे को जाम से मुक्त कराया। विधायक ने मृतक के परिजन को नगद 25,000 रुपये दिए। इसके अलावा चार लाख रुपए सरकार की तरफ से दिलाने का भरोसा दिया।

जंगली वन्य प्राणी से जान को नुकसान को लेकर यह लाभ दिया जाएगा। पारिवारिक लाभ, प्रधानमंत्री आवास देने का भी आश्वासन दिया गया। इसके पूर्व ग्रामीण युवक की मौत की घटना की सूचना पाकर प्रखंड विकास पदाधिकारी मो. जहीर आलम, थाना प्रभारी अजय कुमार सिंह वन क्षेत्र पदाधिकारी जितेंद्र हाजरा घटनास्थल पर पहुंच चुके थे।

जियाउद्दीन के साथ रहे लोगों ने बताया कि वे तीनों हाथी देखने के लिए लोहारंगी के परसबानियां जंगल गए थे। इसी क्रम में पीछे से हाथियों के झुंड में से एक हाथी ने उसे लपक लिया। अन्य दोनों युवक जान बचाकर भागे। बताया कि काफी दूर निकलने के बाद जयाउद्दीन को देखे तो आसपास था ही नहीं। आंधी और पानी से बचने के लिए हाथियों ने जब जगह बदला तो ग्रामीण जियाउद्दीन को ढूंढ़ने जंगल की तरफ गए तो उसका शव जंगल में मिला।

गांव में खबर मिलते ही जियाउद्दीन के घर में कोहराम मच गया। उसकी पत्नी समीना बीबी दहाड़ मार कर रोने लगी। समीना गर्भ से है व गोद में दो वर्ष की बच्ची है। परिवार की माली स्थिति भी काफी दयनीय है।

हाथियों ने मचाया तांडव

हाथियों का झुंड शुक्रवार की रात्रि करीब 10:00 बजे धनबाद के टुंडी जंगल से नारायणपुर थाना क्षेत्र के बुटबेरिया पंचायत के विराजपुर गांव पहुंचा। झुंड में कुल 22 हाथी थे। इन हाथियों के झुंड ने बिराजपुर गांव के तीन आदिवासी घरों को तोड़ दिया और आर्थिक क्षति पहुंचाई। पूर्व में भी हाथियों के झुंड ने इस गांव में तांडव मचाया था।

बेरमो : खेत में काम कर रहे किसानों पर हाथी ने किया हमला, एक किसान की मौत

क्या कहते हैं डीएफओ

जिला वन क्षेत्र पदाधिकारी राजकुमार साह ने कहा कि जंगली हाथियों से बचाव के लिए सरकार को प्रसताव भेजा गया है। सरकार के आदेश आने के बाद कार्य किया जाएगा। हाथियों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाने के लिए हाथी बचाव दस्ता को बुला लिया गया है। यह दस्ता इन्हें सुरक्षित स्थान पर ले जाएगा। उन्होंने लोगों से अपील की कि हाथी के पास ना जाएं और हाथी की गतिविधि की सूचना वन प्रशासन को दे।

मृतक के आश्रितों को मिलेगा सरकारी लाभ : विधायक

विधायक डॉ. इरफान अंसारी ने कहा कि जान जाने की भरपाई कदापि नहीं की जा सकती। मृतक के आश्रितों को अधिक से अधिक सरकारी लाभ दिलाने का वे प्रयास करेंगे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बुंडू : सड़क दुर्घटना में युवक की मौत, दो की हालत गंभीर

NewsCode Jharkhand | 21 April, 2018 7:16 PM

बुंडू : सड़क दुर्घटना में युवक की मौत, दो की हालत गंभीर

बुंडू (रांची)। राहे ओपी क्षेत्र अंतर्गत राहे बुंडू रोड पर मांझीडीह गांव में बाइक दुर्घटना में युवक की मौके पर ही मौत हो गयी, वहीं दो गंभीर रुप से घायल हैं। मृतक देवेन्द्र मुण्डा (22) समेत अन्य दो घायलों की पहचान होटलो पंचायत के बेहराबेड़ा निवासी पंकज मुण्डा (20), मोहर सिंह मुण्डा (18) के रुप में की गयी है।

राहे ओपी पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए रांची के रिम्स भेज दिया है। वहीं घायलों को इलाज के लिए रिम्स भेज दिया है। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार बाइक चालक अगर हेलमेट पहना होता तो जान से हाथ धोना न पड़ता।

रांची : मारवाड़ी सम्मेलन ने मेयर और डिप्टी मेयर का किया स्वागत

बताया जाता है कि युवक शुक्रवार रात अम्बाझरिया गांव में सरहुल उत्सव के मौके पर छउ नृत्य देखने गये थे। सुबह काफी मात्रा में शराब का सेवन किया था। रात्री जागरण के साथ ही अत्यधिक नशे में होने के कारण बाइक असंतुलित होकर सड़क किनारे स्थित बिजली पोल से टकरा गयी, जिससे यह हादसा हुआ।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

© Copyright 2017 NewsCode - All Rights Reserved.