मजदूर दिवस विशेष : हम तो रोज कमाने-खाने वाले, काम नहीं मिलने पर रोटी पर आफत

Sanjiv Sinha | 30 April, 2018 5:52 PM

मजदूर दिवस विशेष : हम तो रोज कमाने-खाने वाले, काम नहीं मिलने पर रोटी पर आफत

रांची। बाबू…मजदूर दिवस क्‍या होता है हमें नहीं पता। हम तो रोज कमाने खाने वाले लोग है। एक दिन भी छुट्टी हो जाये तो खाने के लाले पर जायेंगे। यह जवाब लालपुर चौक पर बैठे अधिकतर दिहाड़ी मजदूर के मुंह से सुनने को मिला। थोड़ी देर बाद जोगेन्दर ने पूछा कितना बजा बाबू, जवाब मिला दस बजने वाले है। जोगेन्दर बुदबुदाते हुए कहा आज अगर आधे घंटे में कोई काम नहीं आया तो फिर खाली हाथ घर लौटना पड़ेगा।

काम के लिए परिवार करते हैंं पलायन

कोकर के सरना टोली में रहने वाला जोगेन्दर के परिवार में माँ बाप के अलावा चार भाइयों का कुल तीस सदस्यों का परिवार एक साथ एक छत के नीचे रहता है। दो भाई रांची में और दो भाई राजस्थान के जयपुर में मजदूरी का काम करते हैं। खुद पेशे से राजमिस्त्री का काम करता है। जोगेन्दर ने कहा कि हमलोग नहीं जानते है क्या होता है मजदूर दिवस। हमलोग तो बस सुबह से शाम तक मजदूरी करते हैं और परिवार का पालन पोषण किया करते है।

और पढ़े:- मजदूर दिवस विशेष : 151 साल पहले मजदूरों को 14 घंटे करना पड़ता था काम 

रोज काम ना मिले तो मुश्किल होता दिन काटना

वही ओरमांझी के गिरधारी ने कहा कि रांची में रूम लेकर रहते है, बहुत परेशानी होती है। अगर रोज काम ना मिले तो और अधिकतर समय यहीं इंतजार में सुबह से शाम बीत जाता। लेकिन रोज रोज काम मिलता नहीं है। पेशे से पेन्टर रमेश ने कहा कि पिछले 15 साल से इस पेशा से जुड़े हुए है। मजदूर दिवस क्या होता है नहीं जानते है। चार लोगों का परिवार है रोज-रोज काम मिलने में दिक्कत होती है। घर में बेटा भी कमाता है इसलिए मिलजुल कर घर बार चलाते हैं।

मजदूरों को यह तक पता नही किया असंगठित मजदूरों के लिए क्या क्या योजनाए सरकार द्वारा चलाए जा रहे हैंं।

पूरा विश्‍व मनाता है लेबर डे

एक मई को दुनिया भर के देशों में लेबर डे के रूप में मनाया जाता है और देश भर के सभी कंपनियों में छुट्टी होती है। भारत ही नहीं दुनिया भर के 80 देशों में एक मई को राष्ट्रीय छुट्टी होती है।

भारत में मजदूर दिवस की शुरुआत

भारत में इसकी शुरुआत 1 मई 1923 को मद्रास से हुई। भारत में कामकाजी लोगों के सम्मान में यह मनाया जाने लगा। भारत में लेबर किसान पार्टी ऑफ हिंदुस्तान ने 1 मई 1923 से शुरुआत की।

अंतरराष्ट्रीय मजदूर दिवस का इतिहास

अंतरराष्ट्रीय तौर पर मजदूर दिवस की शुरुआत 1 मई 1886 में हुआ था। अमरीका में मजदूर संघों ने मिलकर निर्णय किया कि आठ घंटा से ज्यादा काम नहीं करेगा। इस के लिए संगठनों ने हड़ताल किया। हड़ताल से निपटने के लिए पुलिस ने गोलियां चलायी। जिसमें 100 से अधिक मजदूर की मौत हो गई थी। 1 मई को मारे गए मजदूरों की याद में अंतराष्ट्रीय मजदूर दिवस के रूप में मनाया जाने निर्णय किया गया और इस दिन सभी श्रमिक और कामगारों का अवसर रहेगा।

संजीव सिन्‍हा की रिपोर्ट, (न्‍यूज कोड़, रांची)

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

  • April 30, 2018

    thanks for send this massage.

कोडरमा : भाकपा माले कार्यकर्ताओं ने पीएम और सीएम का पुतला फूंका

NewsCode Jharkhand | 25 May, 2018 10:02 PM

कोडरमा : भाकपा माले कार्यकर्ताओं ने पीएम और सीएम का पुतला फूंका

कोडरमाभाकपा माले कार्यकर्ताओं ने तिलैया शहर के झंड़ा चौक पर पीएम नरेन्द्र मोदी, सीएम रघुवर दास का पुतला फूंका और जनसभा की। जनसभा को श्यमादेव यादव मो. इब्राहिम, विरेन्द्र कुमार, इश्वरी राणा, रामधन यादव समेत कई नेताओं ने संबोधित किया। पार्टी कार्यकर्ता पेट्रोल-डीजल वृद्धि समेत अन्य सवालों को लेकर आंदोलन कर रहे थे।

कोडरमा : राजद का धरना, बीजेपी सरकार को जमकर कोसा

साथ ही 25 मई को धनवाद में पीएम द्वारा पार्टी नेताओं के द्वारा पूर्व में दी गई जानकारी के अनुसार करमा अस्पताल को मेडिकल कॉलेज बनाने के लिए इसकी आधारशिला नहीं रखे जाने का विरोध कर रहे थे। मौके पर धीरज कुमार समेत कई कार्यकर्ता मौजूद थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

Read Also

लोहरदगा : ज़िले के कराटेकारों ने झारखंड को दिलाये कई पदक

NewsCode Jharkhand | 25 May, 2018 9:35 PM

लोहरदगा : ज़िले के कराटेकारों ने झारखंड को दिलाये कई पदक

लोहरदगा। ब्राजिलियन जुजुत्सू स्पोर्ट्स फैडरेशन ऑफ इंडिया के तत्वावधान में नवाब मनसूर अली खान पटौदी  में 20 मई  को नेशनल ओपेन ब्राजिलियन जुजुत्सू चैम्पियनशिप का आयोजन किया गया।

प्रतियोगिता में 500 प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया। इस प्रतियोगिता में लोहरदगा जिले जे. एम. एस. इंग्लिश मीडियम स्कूल हरमू के लाल पृथ्वी राज नाथ शाहदेय ने अपने प्रतिद्वंदी को पछाड़ते हुए प्रथम स्थान प्राप्त करके झारखंड के झोली में गोल्ड मैडल डाला वहीं बी।एस। कॉलेज के दिव्याकाश साहु ने भी अपने प्रतिद्वंदी को हराकर तृतीय स्थान प्राप्त करके झारखंड को ब्राउन्ज मैडल दिलाया।

मालूम हो कि के फाईटर सिहान श्रवण साहु ब्लैक बेल्ट पांचवी डॉन, जोयन्ट सेक्रेटरी इन्टरनेशनल शोतोकाई कराटे फैडरेशन ऑफ इंडिया, मुख्य कराटे प्रशिक्षक झारखंड के द्वारा प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे हैं।

बुंडू : मैथमेटिक्स ओलंपियाड में छात्रों को मिला गोल्ड मेडल

इस मौके पर जे. एम. एस. स्कूल के निर्देशिका श्रीमती सुष्मा सिंह ने दोनों फाईटरों एवं सिहान साहु को हार्दिक शुभकामनाएं दीं। और कहा कि मार्शल आर्ट आज की मांग है। तथा सेंसाई सुर्यावती साहु, सेंसाई क्यूम खान, सेंसाई जगनंदन पौराणिक, सेंसाई  संजय उरांव, सेंपाई अनमोल साहु, आदि ने भी शुभकामनाएं दी है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

कोडरमा : पुलिस ने साइबर अपराधी को किया गिरफ्तार, कई सिम कार्ड बरामद

NewsCode Jharkhand | 25 May, 2018 9:27 PM

कोडरमा : पुलिस ने साइबर अपराधी को किया गिरफ्तार, कई सिम कार्ड बरामद

कोडरमा। पुलिस ने साइबर अपराध के मामले का खुलासा करते हुए कांड में शामिल अपराधी निर्मण मंडल (ग्राम मोतीलेदा, बेंगावाद, जिला गिरिडीह) को गिरिडीह से गिरफ्तार कर लिया है। अपराधी के पास से पुलिस ने एक आइसीआईसीआइ बैंक का डेबिट कार्ड,  विभिन्न कंपनियों के तीन मोबाइल, एक वोडाफोन का सिम एक ल्यूमिनस कम्पनी की 150 एएमएच की बैटरी व एक माईक्रोटेक कंपनी का इनवर्टर बरामद किया है।

एसपी एम. तमिल वाणन ने शुक्रवार को बताया कि 30 मार्च को छोटेलाल यादव बाराडीह थाना चंदवारा निवासी ने चंदवारा थाना में आवेदन देकर मामला दर्ज कराया था। आवेदन में छोटेलाल यादव ने कहा था कि उनके मोबाइल पर साइबर अपराधी ने फोन करके उनसे उनका आधार कार्ड नंबर और ओटीपी नंबर पूछा था। इसके बाद उनके खाते से 42,175 रुपये की ऑनलाइन खरीदारी एवं निकासी कर ली थी।

कोडरमा : राजद का धरना, बीजेपी सरकार को जमकर कोसा

इस आवेदन के आधार पर पुलिस ने प्राथमिकी दर्ज करते हुए मामले को टेक्निकल सेल को सौंप अनुसंधान शुरू किया गया। अनुसंधान के दौरान जिस मोबाइल नंबर के पेटीएम एकांउट में अवैध रूप से पैसा भेजा गया है, उसका पता लगाया गया। फिर पुलिस ने 24 मई की रात्रि को कांड के आरोपी को मोतीलेदा को गिरिडीह से गिरफ्तार कर लिया। एसपी ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी ने मामले में अपनी संलिप्तता स्वीकार कर ली है।

कोडरमा : 1 सप्ताह के अंदर बिजली-पानी की समस्या में हो सुधार नहीं तो राजद करेगा जन आंदोलन

कुछ लोगों का है गिरोह

एसपी एम. तमिल वाणन ने बताया कि कांड को अंजाम देने में चार-पांच लोगों का एक गिरोह है जो इसमें लगा हुआ है। गिरफ्तार आरोपी के पास से करीब 25 सिम का उपयोग लोगों को ठगने के लिए किया जा रहा था।

इस गिरोह के माध्यम से करीब 1000 से अधिक लोगों को ठगने का कार्य अबतक कर चुका है। ठगी के पैसे से बाइक, एलईडी सहित कई सामान खरीदते थे और आरोपियों द्वारा खरीदे गए सामान को कुछ कम दाम में बेच दिया जाता था।

टीम में ये लोग थे शामिल

एसपी ने बताया कि मामले के खुलासा करने वाली टीम में चंदवारा थाना प्रभारी एसआई सोनी प्रताप, थाना प्रभारी बेंगावाद एसआई पीसेन दास, एएसआइ शाहनवाज खान तकनीकी सेल के कुणाल कुमार सिंह आदि शामिल थे। एसपी ने बताया कि जल्द ही कांड में शामिल अन्य आरोपियों को भी पकड़ लिया जाएगा।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

X

अपना जिला चुने