कोडरमा : घर-घर जाकर लोगों को दी जायेगी कानूनी जानकारी

NewsCode Jharkhand | 9 November, 2017 7:44 PM
newscode-image

कोडरमा। झारखण्ड राज्य विधिक सेवा प्राधिकार के निर्देश के आलोक में विधिक सेवा दिवस के अवसर पर आज 09 नवम्बर 2017 को 100 दिवसीय डोर टू डोर जागरुकता पदयात्रा (विधिक सेवा आपके द्वार) का शुभारम्भ प्रधान जिला एवं सत्र न्यायधीश सह प्राधिकार के अध्यक्ष प्रदीप कुमार श्रीवास्तव, उपायुक्त सह प्राधिकार के उपाध्यक्ष संजीव कुमार बेसरा, कोडरमा के पुलिस अधीक्षक सह प्राधिकार के सदस्य सुरेन्द्र कुमार झा द्वारा संयुक्त रूप से हरी झण्डी दिखाकर किया गया।

इस पदयात्रा के लिए बनायी गयी, सभी छह टीमों के सदस्यों को व्यवहार न्यायालय कोडरमा से रवाना किया गया। ये टीमें जिलाके सभी प्रखंडों के कुल 109 पंचायतों में घर-घर घूमकर विधिक सेवाओं की जानकारी देते हुए लोगों को जागरूक करेंगे। पदयात्रा टीम के सदस्यों को संबोधित करते हुए प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश सह प्राधिकार के अध्यक्ष प्रदीप कुमार श्रीवास्तव ने कहा कि इस पदयात्रा के माध्यम से समाज के अंतिम व्यक्ति तक न्याय पहुंचाने के लिए हर व्यक्ति को कानूनी के प्रति जागरूक करने की जरूरत है, ताकि जानकारी के अभाव में कोई भी व्यक्ति न्याय से वंचित न रह सके। जिला विधिक सेवा प्राधिकार द्वारा चलाये जा रहे विभिन्न कार्यक्रमों एवं प्रदान की जाने वाली कानूनी सहायता की जानकारी लोगों तकपहुंचाएं।

उपायुक्त सह प्राधिकार के उपाध्यक्ष संजीव कुमार बेसरा, कोडरमा के पुलिस अधीक्षक सह प्राधिकार के सदस्य सुरेन्द्र कुमार झा ने संयुक्त रूप से पदयात्रा टीम के सदस्यों को सफलता पूर्वक पदयात्रा पूरी करने की शुभकामना दी। जिला विधिक सेवा प्राधिकार कोडरमा के सचिव सूर्यमणि त्रिपाठी ने पदयात्रा टीम के सदस्यों को सफलता पूर्वक पदयात्रा पूरी करने के सन्दर्भ में महत्वपूर्ण टिप्स दिये। मौके पर सीजेएम विशाल श्रीवास्तव, न्यायाधीश प्रभारी लूसी सोसेन तिग्गा, न्यायिक दण्डाधिकारी प्रथम श्रेणी राजीव कुमार सिंह, कमलेश बेहरा, चंचल कुमार, मिस पूजा न्यायालयकर्मी रणजीत कुमार सिंह,महेंद्र नारायण, शंकर प्रसाद, राज कुमार राउत, मनोज कुमार, आशीष कुमार सिन्हा, राजीव कुमार, अनिल सिंह, संतोष कुमार रिटेनर अधिवक्ता धीरज जोशी, कुमार रौशन, रिमांड अधिवक्ता मनीष कुमार सिंह सहित अन्य कई लोग मौजूद थे।