कोडरमा : राष्ट्रीय लोक अदालत की आयोजन को लेकर बैठक

NewsCode Jharkhand | 12 July, 2018 9:39 PM
newscode-image

कोडरमा। झारखण्ड राज्य विधिक सेवा प्राधिकार के निर्देश के आलोक में जिला विधिक सेवा प्राधिकार, कोडरमा के तत्वावधान में आगामी 14 जुलाई 2018 को आयोजित होने वाले राष्ट्रीय लोक अदालत की तैयारियों को लेकर जिला न्याय सदन के सभागार में वन विभाग, उत्पाद विभाग, विधुत विभाग, खनन विभाग, राजस्व विभाग, श्रम विभाग के अधिकारियों के साथ एक बैठक संपन्न हुई।

कोडरमा : ग्रिजली विद्यालय में धूमधाम से मनाया गया पेरेंट्स डे

बैठक की अध्यक्षता कोडरमा के मुख्य न्यायिक दण्डाधिकारी विशाल श्रीवास्तव ने की। विशाल श्रीवास्तव ने उपस्थित अधिकारियों से आगामी राष्ट्रीय लोक अदालत में अधिक से अधिक मामलों के निष्पादन की दिशा में आवश्यक पहल करने की अपील की।

उन्होंने कहा कि जहाँ एक ओर मामलों के निष्पादन से विभाग को राजस्व की वसूली करने में सहायता होती है, वहीं दूसरी ओर न्यायालय से मुकदमों का बोझ कम होता है। उन्होंने विभागीय अधिकारियों से अपने स्तर से भी पक्षकारों को सूचित करने तथा उनको अपने मामलों का निष्पादन राष्ट्रीय लोक अदालत के माध्यम से कराने के प्रति जागरुक करने की भी अपील की।

मौके पर जिला विधिक सेवा प्राधिकार के सचिव मिथिलेश कुमार सिंह, कोडरमा के उत्पाद अधीक्षक अजय कुमार गोंड, वन विभाग के प्रक्षेत्र पदाधिकारी अशोक कुमार दुबे, विधुत विभाग के कार्यपालक अभियंता अमित खलको, विधुत विभाग के अधिवक्ता ज्ञान रंजन उत्पाद अवर निरीक्षक संदीप कुमार नाग, श्रम विभाग के संजय कुमार एवं गौतम कुमार राम एवं वन विभाग के सुरेन्द्र राम सहित अन्य कई लोग मौजूद थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

रांची : दीपावली की धूम, पटाखे फोड़ने में सुप्रीम कोर्ट के आदेश का दिखा असर

NewsCode Jharkhand | 8 November, 2018 3:41 PM
newscode-image

रांची। दीपों का त्योहार दीपावली राज्यभर में पारंपरिक आस्था और उल्लास के साथ मनाया गया।  सुप्रीम कोर्ट के पटाखे फोड़ने पर दिये गये आदेश का राजधानी रांची समेत राज्यभर में खासा असर देखने को मिला। लोगों ने कोर्ट का सम्मान करते हुए तय अवधि तक ही पटाखे फोड़े। रात दस बजे तक पटाखा का शोर लगभग थम सा गया। उसके बाद इक्के-दुक्के ही पटाखों को फोड़ने की आवाज आयी। हालांकि गुरुवार की सुबह कुछ बच्चे अवश्य आतिशबाजी करते नजर आये।

वहीं दीपावली जैसे त्योहार पर आये इस बदलाव से बुजुर्ग काफी खुश है। इधर, बिजली विभाग ने निर्बाध विद्युत आपूर्ति करने का काम किया।दीपावली को राजधानी रांची समेत राज्य भर में दीपावली को लेकर उत्साह और उमंग रहा। शाम में सभी घरों में गणेश-लक्ष्मी की पूजा-अर्चना की।

इधर, देवघर एक सांस्कृतिक राजधानी है, शिव को प्रधान देवता मन गया है ,कोई भी पर्व हो सबसे पहले बब के दरबार में लोग माथा टेकते है। आज भी दीपोत्सव पर सर्वप्रथण लोग बाबा मंदिर में दिया जलाते है, साथ साथ यहाँ 12 ज्योतिर्लिंग में से एक कामना लिंग बाबा रावणेश्वर  यहाँ स्थापित है।

इसे  हृदय पीठ भी कहा जाता है यहाँ कोई भी पर्व लोग बड़े ही धूम धाम से मनाते है आज दीपावली के मौके में सभी घर की महिलाये दिया सजा के सबसे पहले बाबा मंदिर में  जाती  है और इन का मानना है की आज ही के दिन भगवान रामचन्द्र जी 14 के बनवास से तथा लंका विजय कर अयोध्या लौटे थे।

इसी उपलक्ष्य लोग दिया जलाते है। अन्धकार पर प्रकाश की विजय के रूप में यह पर्व बड़े ही धूमधाम के साथ मनाया जाता है, इस दीपोत्सव की खासयित यहाँ यह है की सबसे पहले महिलाये बाबा मंदिर में दिप लजाती है उसके बाद अपने अपने घरों में दीपोत्सव मानती है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

sun

320C

Clear

Jara Hatke

Read Also

रांची। गुरुनानक देव जी समाज के पथ प्रदर्शक एवं सच्चे आध्यात्मिक गुरु- द्रौपदी मुरमु

Rakesh Kumar | 21 November, 2018 8:04 PM
newscode-image

रांची। गुरुनानक देव जी समाज के पथ प्रदर्शक एवं सच्चे आध्यात्मिक गुरु थे। मुझे सिक्खों के प्रथम गुरु एवं सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानक देव जी के प्रकाश पर्व पर आयोजित इस कार्यक्रम में शामिल होकर अपार प्रसन्नता हो रही है। वाहे गुरु की खालसा वाहे गुरु की फतह। माननीया राज्यपाल डॉ द्रोपदी मुरमु ने  रातू रोड रांची कृष्णा नगर काॅलोनी में आयोजित सत्संग में उपस्थित लोगों को संबोधित कर रही थी।
माननीया राज्यपाल ने कहा कि गुरु नानक जी द्वारा स्थापित सिख धर्म जीवन दर्शन का आधार, मानवता की सेवा, कीर्तन, सत्संग एवं एक सर्वशक्तिमान ईश्वर के प्रति विश्वास है। गुरुनानक देव जी ने हमें जीने की कला सिखाई। एक समाज सुधारक के रुप में गुरु नानक साहब जी ने महिलाओं की स्थिति, गरीबों एवं दलितों की दशा सुधारने के कार्य किये। मैं गुरु जी को नमन करती हंू।
आज के कार्यक्रम में नगर विकास मंत्री श्री सी0पी0 सिंह, पूर्व मुख्यमंत्री श्री अर्जुन मुंडा एवं बड़ी संख्या में श्रद्धालु उपस्थित थे।

रांची: स्वस्थ बच्चे व स्वस्थ मां सामाजिक अर्थव्यवस्था की बुनियाद-ऋचा संचिता 

NewsCode Jharkhand | 21 November, 2018 7:56 PM
newscode-image

रांची। झारखंड आई.ए.एस.ऑफिसर्स  वाइब्स एसोसिएशन (जेसोवा) की सचिव श्रीमती रिचा संचिता ने कहा कि स्वस्थ बच्चे और स्वस्थ मां सामाजिक अर्थव्यवस्था की बुनियाद हैं. इन्हें कुपोषण से बचाने तथा शैक्षिक संस्कार देने के लिए आंगनवाड़ी केंद्र की बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका है. जेसोवा एक सामाजिक संगठन है जो झारखंड के सामाजिक तथा आर्थिक विकास के लिए प्रतिबद्धता के साथ कार्य कर रही है.

आज जेसोवा के सदस्यों ने अरगोड़ा आंगनवाड़ी केंद्र का भ्रमण किया. जेसोवा के सदस्यों ने आंगनबाड़ी के बच्चों के बीच स्वेटर, टोपी और स्टेशनरी इत्यादि सामग्रियों का वितरण किया. अरगोड़ा आंगनबाड़ी केंद्र पर ही मधुकम आंगनवाड़ी केंद्र की सेविका- सहायिका को वहां के बच्चों के लिए गर्म कपड़े एवं स्टेशनरी आदि वितरित करने हेतु उपलब्ध कराए गए. जेसोवा द्वारा अरगोड़ा आंगनवाड़ी केंद्र को एक वॉल फैन भी दिया गया.

इस अवसर पर जेसोवा की ओर से श्रीमती ऋचा संचिता, श्रीमती मिली सरकार, श्रीमती अमिता खंडेलवाल, श्रीमती मनु झा, श्रीमती स्टेफी टेरेसा मुर्मू तथा रांची जिला के विभिन्न सीडीपीओ और आंगनवाड़ी केंद्रों की सेविका सहायिका सहित आंगनबाड़ी के बच्चे उपस्थित थे.

 

More Story

more-story-image

रांची: ईद मिलादुन्नबी पर समाजसेवियों ने लगाया शिविर

more-story-image

रांची: गुरु गोविंद सिंह के प्रकाश पर्व पर गुरूद्वारा में...

X

अपना जिला चुने