कोडरमा : जेल की सुरक्षा में लगे होमगार्ड के पास से मिला गांजा,उपायुक्‍त ने कार्रवाई का दिया निर्देश

NewsCode Jharkhand | 5 January, 2018 1:39 PM

समय-समय पर जेल में तीन स्तरों पर होगी जांच

newscode-image

कोडरमा। कोडरमा उपायुक्त के सभागार में कारा की बैठक की गई। उपायुक्त संजीव कुमार बेसरा ने जिले में लगातार अनुपस्थित रहने पर एबी प्रसाद को शोकॉज एवं वेतन स्थगित करने का निर्देश दिया। जेल की सुरक्षा को लेकर जांच के दौरान होमगार्ड के पास गांजा मिला। जिसे अविलम्ब हटाने का निर्देश दिया गया। साथ ही कार्रवाई करने का निर्देश भी दिया गया।

Read More : बड़कागांव : प्रशिक्षित आचार्य बच्‍चों में डालेंगे भारतीय संस्‍कार, खोलेंगे ज्ञान का पिटारा

जेल में कैदियों के इलाज के लिए एक कम्पांउन्डर की स्थाई रूप से प्रतिनियुक्त करने का निर्देश दिया। उपायुक्त ने कहा कि समय-समय पर जेल में तीन स्तरों पर जांच की जायेगी। बैठक में उपायुक्त के अलावे पुलिस अधीक्षक,  अनुमंडल पदाधिकारी, जेल अधीक्षक उपस्थित थे।

(न्यूज़कोड के मोबाइल ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोहरदगा : ग्राम स्वराज्य अभियान की जमीनी हकीकत जानने पहुंचे केंद्रीय सचिव

NewsCode Jharkhand | 23 July, 2018 8:06 PM
newscode-image

लोहरदगा। रसायन एवं उर्वरक मंत्रालय के सहायक सचिव हनुमंत कोनडिबा जेनडागे तीन दिवासीय दौरे पर सोमवार को लोहरदगा पहुंचे। इस दौरान वे लोहरदगा में चल रही सरकारी योजनाओं की स्थिति से रूबरू होंगे। सहायक सचिव के दौरे को लेकर जिला प्रशासन द्वारा व्यापक तैयारियां की गई थी। सहायक सचिव ने अधिकारियों के साथ बैठक करने के अलावा भंडरा प्रखंड में हेल्थ एंड वेलनेश सेंटर की भी जांच की।

उन्होंने कुडू के दोबा गांव, किस्को प्रखंड के अरेया और सदर प्रखंड के जोरी गांव में ग्राम स्वराज्य अभियान के तहत आयोजित शिविर का भी निरीक्षण किया। वे जिला प्रशासन के अधिकारियों के साथ बैठक कर योजनाओं की स्थिति की जानकारी भी लेंगे।

रांची : कई जिलों में भारी बारिश की चेतावनी

सहायक सचिव फाइल से लेकर जमीन तक योजनाओं की स्थिति से रूबरू होंगे। सहायक सचिव के तीन दिवसीय दौरे को लेकर जिला प्रशासन के अधिकारियों के हाथ-पांव फूले हुए हैं।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

sun

320C

Clear

क?रिकेट

Jara Hatke

Read Also

दुमका : शिक्षिका के खिलाफ विभागीय करवाई का आदेश

NewsCode Jharkhand | 23 July, 2018 8:48 PM
newscode-image

दुमका। क्षेत्रीय शिक्षा उप निदेशक संताल परगना ने सरैयाहाट प्रखंड के उत्क्रमित मध्य विद्यालय खोजवा के सचिव सह प्राध्यापिका अनिता पाठक के खिलाफ विभागीय करवाई करते हुए प्रपत्र क गठित करने का आदेश दिया है। शिक्षिका पर आरोप है कि जन सूचना के तहत सही समय पर सूचना नहीं दे सकी।

दुमका : 15 नवंबर को झारखंड चिकित्सा स्वास्थ्य कर्मचारी संघ करेगा हड़ताल

खोजवा गांव के ग्रामीण राजेश रंजन ने उत्क्रमित मध्य विद्यालय खोजवा में नामांकित छात्रों एवं उपस्थित छात्रों की पंजी कि छायाप्रति उपलब्ध कराने की मांग किया था और साथ ही ग्राम शिक्षा समिति, माता समिति, संयोगिता के सदस्यों को विभाग द्वारा कितने वर्षों तक रहने का आदेश दिया है, इसका भी जानकारी का मांग किया था।

दुमका : शिक्षिका के खिलाफ विभागीय करवाई का आदेश

दुमका : वन विभाग ने छापेमारी कर करीब 15 लाख का कीमती लकड़ी किया बरामद

सरकार द्वारा 2015 से अबतक कितनी राशि विकास कार्य के लिए दिया गया और कितना खर्च हुआ राजेश रंजन द्वारा जन सूचना पदाधिकारी सह जिला शिक्षा पदाधिकारी से सूचना अधिकार के तहत मांगा गया, परन्तु मध्य विद्यालय के सचिव ने उक्त अवधि में जवाब नही देने पर राजेश रंजन ने प्रथम अपीलीय पदाधिकारी सह क्षेत्रीय शिक्षा निदेशक के पास अपील दाखिल किया।परन्तु युक्त तिथि को न तो शिक्षिका उपस्थित हुई औऱ न ही सूचना मुहैया कराया।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

जमशेदपुर : अभिभावक संघ ने अनशन रख सौंपा उपायुक्त को मांग पत्र

NewsCode Jharkhand | 23 July, 2018 8:43 PM
newscode-image

जमशेदपुर। अभिभावक संघ ने अपनी 2 सूत्री मांगों को लेकर उपायुक्त कार्यालय के समक्ष एक दिवसीय अनशन रखा और अपनी मांगों से संबंधित मांग पत्र उपायुक्त को सौंपा। इनकी मांगों में मुख्य रुप से शहर के सभी स्कूलों में बस सेवा जल्द शुरू करने और निजी स्कूलों द्वारा आरक्षित सीटों पर अभिवंचित वर्ग के बच्चों का नामांकन नहीं लेने की मांगे शामिल थी ।

इधर अनशन का नेतृत्व कर रहे जमशेदपुर अभिभावक संघ के अध्यक्ष उमेश कुमार ने कहा कि शहर के सभी आईसीएसई  व आईसीएससी के एफिलिएशन बाइलॉज के तहत स्कूल आने जाने के लिए स्कूलों के प्रबंधकों द्वारा स्कूली बस चलवाना अनिवार्य है इसके बावजूद अधिकतर स्कूल जो आईसीएसई और सीबीएसई बोर्ड से मान्यता प्राप्त हैं उन स्कूलों द्वारा इन शर्तों का खुला उल्लंघन किया जा रहा है वही आरटीआई अधिनियम के तहत अहिता पूरी करने के बावजूद ज्यादातर निजी स्कूलों द्वारा आरक्षित सीटों पर अभिवंचित वर्ग के बच्चों का नामांकन नहीं लिया जा रहा है और उसके लिए उनके अभिभावकों को काफी परेशान भी किया जा रहा है।

हालांकि संबंध में इन लोगों ने पहले भी शिक्षा विभाग के अधिकारियों को शिकायत की थी लेकिन अब तक इस ओर कोई पहल नहीं हुई जिस कारण इन लोगों ने आज अपने आंदोलन की शुरुआत करते हुए उपायुक्त कार्यालय के समक्ष एक दिवसीय अनशन किया और अपनी मांगों के संबंध में नारेबाजी की।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर गिरिडीह हिंदी न्यूज़, गिरिडीह हिंदी सकते हैं.)

More Story

more-story-image

सिल्ली : पत्नी और मां को दिखाया कट्टा, दी जान...

more-story-image

रांची : संघ की दृष्टि में राम ही खुदा है...