खूंटी : स्‍थानीय बुनकरों की कला की मांग जर्मनी पहुंची

NewsCode Jharkhand | 13 May, 2018 4:19 PM

खूंटी : स्‍थानीय बुनकरों की कला की मांग जर्मनी पहुंची

खूंटी। खूंटी के बुनकरों के कला की मांग आज देशे में ही, बल्कि विदेशों तक जा पहुंची है। जिला मुख्यालय से करीब 15 किमी दूर निवुचा बुनकर सहयोग समिति के केंद्र में बने परिधान की मांग न सिर्फ देश भर के विभिन्न हिस्सों में की जाती है, बल्कि विदेशों में भी ये परिधान लोगों के घरों की शोभा बढ़ा रहा है।

1988 में करीब 100 एकड़ भूमि पर अनुसूचित जाति-जनजाति परिवार और गरीबों को आर्थिक रूप से मजबूत करने को लेकर निवुचा बुनकर सहयोग समिति का गठन किया गया और तब से लेकर अब तक समिति की ओर से इस तरह के उत्कृष्ट परिधानों का निर्माण किया जा रहा है, जिससे इसकी मांग जर्मनी तक पहुंच चुकी है।

खूंटी : तरबूज की खेती से बदली कई गांवों की तस्वीर

बुनकर समिति के सदस्य आदिवासी साड़ी, सोफा सेट, चादर, ऊनी शॉल, पगड़ी, टेबुल सेट, आसनी समेत अन्य कपड़ों के साथ अत्याधुनिक साज सज्जा भी यहां के बुनकर बना रहे हैं। निवुचा बुनकर समिति को हर साल की तरह इस बार भी  जर्मनी से काफी ऑर्डर मिला है। अपनी हाथों की कला को शक्ल देते ये बुनकर कई  दशकों से इस काम में जुटे हैं।

धागों से लेकर अंतिम प्रोडक्ट तैयार होने में कई  लोग जुटते हैं। बच्चे भी खेल खेल में कुछ मदद भी करते हैं। हाथ से बने इन परिधानों की मांग बाजार में काफी है। आसपास के कई  गावों के लोग इस समिति से जुड़े हैं और वो यहां से धागे ले जाकर साड़ी, बेडशीट और अन्य खूबसूरत सामान तैयार करते हैं।

 निवुचा बुनकर समिति के सदस्य न सिर्फ परिधान बनाकर अपनी जीविकोपार्जन कर रहे है, बल्कि सरकार की ओर से इन्हें खेती के लिए जमीन भी उपलब्ध करायी गयी है,जहां ये अपने जरुरत के लिए साग-सब्जी व फसल का उत्पादन करते है, वहीं बाजार में भी इसकी बिक्री करते है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

सरायकेला : आदित्यपुर की पूजा सतपति बनी मिस फेम इंडिया

मिस फेम इंडिया राइजिंग स्टार और मिस फेम झारखंड का खिताब किया अपने नाम

NewsCode Jharkhand | 18 May, 2018 9:06 AM

सरायकेला : आदित्यपुर की पूजा सतपति बनी मिस फेम इंडिया

सरायकेला । खरसावां जिले के आदित्यपुर निवासी छात्रा पूजा सतपति ने मिस फेम इंडिया राइजिंग स्टार और मिस फेम झारखंड का खिताब अपने नाम किया है।

आदित्यपुर के इच्छापुर में रहने वाली डीएवी  एनआईटी के 12 वीं की छात्रा पूजा सतपति ने बीते दिनों दिल्ली और 5 मई को देहरादून में आयोजित हुए मिस फेम इंडिया राइजिंग स्टार और मिस झारखंड प्रतियोगिताओं में हिस्सा लिया था। जहां प्रतियोगिता में शामिल होकर दोनों ही खिताबो पर अपना कब्जा जमाया है।

देशभर के 30 राज्यों से मिस फेम इंडिया राइजिंग स्टार प्रतियोगिता में तकरीबन 900 से भी अधिक प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया था। जिनमें से राइजिंग स्टार के रूप में पूजा सतपति को चुना गया है। इधर दोनों खिताबों पर कब्जा जमाए जाने के बाद पूजा के परिवार में खुशी की लहर है।

पूजा के पिता समीर सतपति रामकृष्ण फोर्जिंग कंपनी में कार्यरत हैं,  मां छवि सतपति  गृहणी है।पूजा आगे फिल्म और टेलीविजन के क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहती हैं।

इसी क्रम में इन्होंने टेलीविजन सीरियल चिड़ियाघर और नागिन 3 समेत सावधान इंडिया के लिए ऑडिशन दिया है। पूजा ने बताया कि इनका ड्रीम करियर एक्टिंग है जिसे लेकर वह आगामी दिनों में जल्द ही मुंबई का सफर भी तय करेंगी।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

Read Also

बोकारो : सैंड आर्टिस्ट अजय शंकर ने रेत पर अंबेडकर की विशाल आकृति बनाकर दी श्रद्धांजलि

NewsCode Jharkhand | 14 April, 2018 12:10 PM

बोकारो : सैंड आर्टिस्ट अजय शंकर ने रेत पर अंबेडकर की विशाल आकृति बनाकर दी श्रद्धांजलि

बोकारो। देश के संविधान निर्माता और भारतरत्न डॉ. भीमराव अंबेडकर की 127 वां जयंती पर उनके योगदान को याद करते हुए पूरा देश उन्हें नमन कर उनके आदर्शों पर चलने की कसमें खा रहा है। वहीं बोकारो जिला के चंदनकियारी प्रखंड अंतर्गत दामोदर नदी के किनारे रेत पर सैंड आर्टिस्ट अजय शंकर महतो ने डॉ. भीमराव अंबेडकर की विशाल आकृति बना कर श्रद्धांजली अर्पित किया है।

Read more:- साहिबगंज : रंगरलिया मनाने वाले बीजेपी के रामानंद साह जनता के लिये कितने अच्छे ?

बोकारो जिले के चंदनकियारी के सिलफौर सुमाडीह के रहने वाले सैंड आर्टिस्ट अजय शंकर महतो शानदार कलाकृतियां बनाते हैं। अजय रवि महतो स्मारक कॉलेज में व्याख्याता भी हैं। इससे पहले भी उन्होंने रेत पर सैंड आर्ट के माध्यम से संदेश देने का प्रयास किया था।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

निरसा : नन्हें कलाकारों ने सादे कागज पर भरे कल्पना के रंग, मिला पुरस्कार

NewsCode Jharkhand | 9 April, 2018 11:12 AM

निरसा : नन्हें कलाकारों ने सादे कागज पर भरे कल्पना के रंग, मिला पुरस्कार

आगाज़ एजुकेशनल सोसाइटी की सौजन्य से चित्रकला प्रतियोगिता का आयोजन

निरसा (धनबाद)। शिवलीबाड़ी उत्तर पंचायत सचिवालय में आगाज एजुकेशनल सोसाइटी के सौजन्य से बच्चों के बीच चित्रकला प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। जिसमें बच्चे ने अपनी कल्पना की खूब रंग भरी।

इस प्रतियोगिता में वर्ग नर्सरी से आठवीं वर्ग के बच्चों ने हिस्सा लिया। चित्रकला प्रतियोगिता में बच्चों को तीन श्रेणी ग्रुप ए, ग्रुप बी और ग्रुप सी में बांटा गया। कार्यक्रम की मुख्य अतिथि इसीएल मुगमा एरिया के महाप्रबंधक सदानंद सुमन ने बेहतर प्रदर्शन करने वाले  बच्चों को पुरस्कृत किया।

सुमन ने बच्चों को कहा कि बच्चे के जीवन मे शिक्षा का महत्व जरूरी हैं। यह ऐसा धन हैं जिसे कोई चोरी नहीं कर सकता। आगाज एजुकेशनल सोसाइटी की पूरी टीम को बधाई दी तथा आगाज के बच्चों के लिए डेक्स बेंच देने की घोषणा की।

Read more:- धनबाद : यात्रियों के लिए खुशखबरी, रेलवे देगी अब नई सुविधा

वही बेहतर चित्र को अनुभवी शिक्षक जाने माने आर्ट एकेडमी के पल्लव मोजूमदार द्वारा चयन किया गया तथा बेहतर प्रदर्शन करने वाले छात्रों को मोमेंटो तथा प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया गया। वही उत्तर पंचायत के मुखिया मो. सनोवर ने आगाज की पूरी टीम को बधाई देते हुऐ कहा कि देश का उज्‍जवल भविष्य हमारे नोनिहाल हैं। आगाज ने जो शिक्षा की ज्योत जलाई हैं उसके लिए पूरी टीम बधाई के पात्र हैं।

सभी बच्चों के बेहतर शिक्षा के लिए पंचायत सचिवालय का ऊपर कमरा शिक्षा के लिए दिया जाऐगा जहां से आगाज द्वारा शिक्षा का प्रचार प्रसार और वृहद किया जाए।

मौके पर ईसीएल मुगमा एरिया के लिगल मैनेजर एस प्रधान, उप मुखिया मो. मुस्तकिम, पंसस सिंधु देवी, अभिजीत घोष, सलाउद्दीन, माहेजरीन शमीम, अतहर आलम, मुंतजर, गुलशन प्रवीण, नर्गिस खातून, इशरार आलम, जियाउल सहित सैकड़ो की संख्या में बच्चे उपस्थित थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

X

अपना जिला चुने