केरेडारी : एनटीपीसी भू-रैयतों से त्रिपक्षीय वार्ता के बाद कोलमाइंस का कार्य करें

NewsCode Jharkhand | 5 November, 2017 5:43 PM

केरेडारी : एनटीपीसी भू-रैयतों से त्रिपक्षीय वार्ता के बाद कोलमाइंस का कार्य करें

केरेडारी (हजारीबाग)। केरेडारी प्रखंड के चट्टी बारियातु पंचायत भवन के परिसर में चट्टी बारियातु एनटीपीसी कोलमाइंस क्षेत्र चट्टी बारियातु पगार के भू-रैयतों ने एनटीपीसी खुलने को लेकर बैठक की। बैठक में रैयतों ने विस्थापन, रोजगार, जैसे अहम मुद्दों को रखा। भू-रैयतों ने एनटीपीसी से त्रिपक्षीय वार्ता के बाद ही कोई काम करने की बात कही। तथा जो जमीन नहीं दिए हैं, उसकी जमीन पर जबरन काम करने की कोशिश न करे। रै

यत से बात करने के बाद ही उसकी जमीन पर काम करे। गरमजरूआ जमीन का भुगतान रैयती के आधार पर जल्द करे। विस्थापितों को स्थानीय प्रमाण पत्र का देने का प्रबंध करे। एनटीपीसी त्रिपक्षीय वार्ता के तहत भू-रैयतों को लिखित आश्‍वासन देने का काम करे। इस क्षेत्र में बाहरी लोग गुटबाजी करके भू-रैयतों को गुमराह करने की कोशिश कर रहे हैं। जिसका एक इंच भी जमीन नहीं जा रहा है वह भोले-भाले लोगों को बरगला कर इस क्षेत्र में राज करना चाहते हैं। ऐसा यहां के रैयत कदापि नहीं होने देंगे। एनटीपीसी कोई भी काम यहां के विस्थापित से मिलकर ही करे।

इस बैठक की अध्यक्षता रामवृक्ष गंझु एवं संचालन सुंदर गुप्ता ने किया। बैठक में सैकड़ों विस्थापित भू-रैयत उपस्थित थे।

रांची : कोयला कामगारों को जून में मिलेगा एरियर

NewsCode Jharkhand | 24 May, 2018 12:47 PM

रांची : कोयला कामगारों को जून में मिलेगा एरियर

रांची। कोल इंडिया और सहायक कंपनियों में कार्यरत कामगारों को 10 जून से पहले दसवें वेतन समझौते का एरियर मिलने की संभावना है। इसका भुगतान एकमुश्‍त करने की योजना है। इस बाबत कोल इंडिया कार्मिक विभाग ने प्रस्‍ताव तैयार किया है। इसकी मंजूरी के लिए निदेशक (वित्‍त) को भेजा है। कार्मिक विभाग ने सभी सहायक कंपनियों के निदेशक (वित्‍त) को भी इसका भुगतान करने के लिए निर्देश जारी करने की बात कही है।

इससे कंपनियों में काम करने वाले और रिटायर हुए 3.50 लाख कामगारों को लाभ होगा। एरियर की पहली किस्‍त 51 हजार रुपये का भुगतान हो चुका है।

आवास भत्‍ता का भुगतान भी जून माह में

श्रमिक संगठन एटक के लखनलाल महतो ने बताया कि शहरी क्षेत्र में रहने वाले कामगारों को आवास भत्‍ता का भुगतान भी जून माह के तनख्‍वाह से होगा। इसका भुगतान जुलाई में किया जाएगा। केंद्र सरकार के निर्धारित दर पर यह दिया जाएगा।

Read More:- टुंडी : रोजगार के क्षेत्र में आत्‍मनिर्भर बनेंगी ग्रामीण महिलाएं, मिल रहा मुफ्त प्रशिक्षण

महतो ने बताया कि जून के पहले सप्‍ताह में एपेक्‍स कमेटी या स्‍टेंडाईजेशन कमेटी की बैठक होने की संभावना भी है। इसमें नि:शक्‍त कामगारों की सुविधा, यात्रा भत्‍ता के भुगतान,आश्रितों को मिलने वाले मोनेटरी कंपसेशन, ओवर टाईम सहित कई अन्‍य मामलों पर चर्चा होगी। इसके बाद क्रियान्‍वयन आदेश (आईआई) जारी किया जाएगा।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

Read Also

अब फ्लाइट टिकट कैंसिल कराने पर मिलेगा पूरा रिफंड, जानें क्या है प्रक्रिया

NewsCode | 22 May, 2018 4:09 PM

अब फ्लाइट टिकट कैंसिल कराने पर मिलेगा पूरा रिफंड, जानें क्या है प्रक्रिया

नई दिल्ली। हवाई यात्रा करने वाले यात्रियों को केंद्र सरकार की तरफ से बड़ी राहत मिली है। अब यात्री टिकट कैंसिल कराने के साथ ही पूरा रिफंड पा सकेंगे। यह नियम सभी देशी और विदेशी एयरलाइंस कंपनियों पर लागू होगा। हालांकि, इसके लिए फ्लाइट छूटने से 96 घंटे पहले तक टिकट कैंसिल करानी होगी।

नागरिक उड्डयन राज्य मंत्री जयंत सिन्हा ने मंगलवार को हवाई यात्रियों के लिए कई सौगातों की घोषणा की। पेपरलेस यात्रा के लिए डिजियात्रा की शुरुआत के साथ ही कैंसलेशन चार्जेज पर बड़ी राहत मिलेगी। डिजियात्रा का मकसद यात्रियों को नेक्स्ट जेनरेशन एक्सपीरियंस देना होगा. सरकार ने पैसेंजर चार्टर का ड्राफ्ट जारी कर दिया है। कैबिनेट से मंजूरी मिलने के बाद इन्हें लागू किया जाएगा।

नागरिक उड्डयन राज्य मंत्री जयंत सिन्हा ने कहा डिजियात्रा से यात्रियों को एयरपोर्ट पर नया अनुभव मिलेगा। जयंत सिन्हा के मुताबिक, कैंसिलेशन चार्ज के संबंध में सभी एयरलाइंस के साथ चर्चा कर ली गई है. सब सहमत हैं। खास बात यह है कि इस योजना के लिए यात्रियों को आधार देना अनिवार्य नहीं होगा। यात्रियों को एयरपोर्ट में एंट्री के लिए अल्टरनेट चैनल उपलब्ध कराए जाएंगे।

फ्लाइट कैंसल होने पर विकल्प

यदि यात्रियों को 2 सप्ताह से कम और यात्रा के 24 घंटे पहले तक फ्लाइट कैंसल होने की सूचना दी जाती है तो एयरलाइन कंपनी को पुराने शेड्यूल के मुताबिक 2 घंटे के भीतर दूसरे फ्लाइट या टिकट रिफंड की सुविधा देनी होगी। यह यात्री के ऊपर निर्भर होगा कि वह क्या चुनता है।

यात्रा में देरी होने पर देना होगा मुआवजा

अगर फ्लाइट में किसी प्रकार देरी होती है, तब एयरलाइंस कंपनियों को यात्रियों को किसी ने किसी तरीके से मुआवजा देना होगा। पैसा वापस नहीं करने की सूरत में कंपनी को यात्री को दूसरी फ्लाइट में टिकट देना होगा और इसके लिए वो किसी तरह का कोई अतिरिक्त चार्ज यात्री से नहीं ले सकेगा।

कुमारस्वामी के शपथ ग्रहण समारोह में अखिलेश-मायावती बनाएंगे इतिहास, केजरीवाल भी होंगे शामिल

कनेक्टिंग फ्लाइट मिस होने पर कितना हर्जाना?

यदि एक यात्री तीन घंटे से अधिक देरी की वजह से कनेक्टिंग फ्लाइट मिस करता है तो एयरलाइन कंपनी 5 हजार रुपये हर्जाना देगी। यदि यह देरी 4-12 घंटे होती है तो 10,000 रुपये और 12 घंटे से अधिक की देरी की स्थिति में 20,000 रुपये देना होगा।

पेट्रोल-डीजल के दाम उफान पर, टूटे सारे रिकार्ड

जामिया मिलिया यूनिवर्सिटी की वेबसाइट हुई हैक, होम पेज पर लिखा ‘हैपी बर्थडे पूजा’

NewsCode | 22 May, 2018 11:24 AM

जामिया मिलिया यूनिवर्सिटी की वेबसाइट हुई हैक, होम पेज पर लिखा ‘हैपी बर्थडे पूजा’

नई दिल्ली। देश की प्रसिद्ध यूनिवर्सिटियों में से एक दिल्ली की जामिया मिलिया यूनिवर्सिटी की वेबसाइट (http://jmi.ac.in/ ) को सोमवार देर रात हैकरों ने हैक कर लिया। हैकर ने वेबसाइट के पूरे पेज को ब्लैक कर दिया और उस पर ‘हैपी बर्थडे पूजा’ लिख दिया।

स्क्रीन के नीचे लाल रंग से छोटे से फॉन्ट में ‘Your LOVE’ लिखे शब्द टिकर के रूप में चल रहे थे। इसके अलावा बॉटम पर ही बाईं तरफ सफेद रंग से T3AM लिखा हुआ दिखाई दे रहा था। अभी तक इस बारे में कोई जानकारी नहीं मिल पाई है कि जामिया यूनिवर्सिटी की वेबसाइट को किसने हैक किया है।

इस पूरे मामले पर जामिया मिलिया यूनिवर्सिटी के प्रशासन ने कहा, ‘इस मामले को हमारा आइटी डिपार्टमेंट देखेगा। उम्मीद है कि इस पूरे मामले को जल्द ही ठीक कर लिया जाएगा।’ हालांकि, अभी तक पुलिस को कोई जानकारी नहीं दी गई है।

हालांकि, सुबह करीब साढ़े सात बजे वेबसाइट दुरुस्त कर दी गई। वेबसाइट का मेंटेनेंस करने वाली संस्था नेशनल इनफॉर्मेशन सेंटर (एनआईसी) ने इसे तकनीकी खामी बताया है।

रवींद्र जडेजा की पत्नी रीवा को पुलिसवाले ने जड़ा थप्पड़, जानिए क्या थी वजह

इससे पहले अप्रैल महीने में सुप्रीम कोर्ट की वेबसाइट भी हैक हो गई थी। इसके अलावा गृह मंत्रालय, रक्षा मंत्रालय, कानून और श्रम मंत्रालय की वेबसाइटें भी हैक होने की ख़बरें आई थीं।

गुजरात : फैक्ट्री मालिक ने दलित को पीट-पीटकर मार डाला, देखें वीडियो

X

अपना जिला चुने