केरल: अमित शाह की अगुवाई में शुरू हुई बीजेपी की ‘जन रक्षा यात्रा’

NewsCode | 3 October, 2017 5:55 PM
newscode-image

कन्नूर। बीजेपी ने आज से अपने मिशन केरल की जोर-शोर से शुरुआत कर दी है। पार्टी अध्यक्ष अमित शाह आज से अपनी 15 दिन की केरल यात्रा की शुरुआत कर दी है। केरल में आरएसएस-बीजेपी के कार्यकर्ताओं की हो रही हत्याओं के खिलाफ बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने आज से जनसुरक्षा यात्रा शुरू कर दी है। इधर, राज्य के मुख्यमंत्री पी विजयन ने भी मोर्चा खोल दिया है। उन्होंने कहा है कि केन्द्र सरकार के बड़े मंत्री और आरएसएस से जुड़े लोग केरल की छवि को खराब करने की कोशिश कर रहे हैं, जिसका विरोध होना चाहिए।

अमित शाह की यह यात्रा सबसे पहले कन्नूर के पयन्नुर में शुरू हुई। यात्रा में भारी संख्या में उनके समर्थक बीजेपी के झंडे और बैनर लिए हुए नजर आ रहे हैं। शाह ने कन्नूर जिले के तालीपरम्बा में प्रसिद्ध राजराजेश्वर मंदिर में आज पूजा-अर्चना की। शाह जिले के पय्यान्नूर में भाजपा की जनरक्षा यात्रा का शुभारंभ करने के लिए यहां आए हैं। पूजा अर्चना करने के बाद शाह राज्य में 15 दिवसीय रैली का शुभारंभ करने के लिए पय्यान्नूर गए।

बीजेपी प्रमुख अमित शाह ने उनकी पार्टी के कार्यकर्ताओं के खिलाफ सीपीएम की हिंसा के खिलाफ कल से सभी राज्यों की राजधानियों में दो सप्ताह की ‘पदयात्रा’ की घोषणा की है। केरल के मुख्यमंत्री पिनरायी विजयन के गृह नगर और सीपीएम के गढ़ में एक रैली को संबोधित करते हुए शाह ने कहा कि राज्य में हिंसा के लिए विजयन जिम्मेदार हैं। बीजेपी कार्यकर्ता ‘राजनीतिक हत्याओं’ के पीड़ित हैं।

गौरतलब है कि शाह एक पखवाड़े तक चलने वाली जन रक्षा यात्रा का शुभारंभ करने कन्नूर पहुंचे थे. राज्य में वाम दल की कथित राजनीतिक हिंसा के विरोध में पार्टी इस यात्रा का आयोजन कर रही है। उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी राज्य में वाम दल के शासन से लड़ने के लिए लोकतांत्रिक तरीकों का इस्तेमाल करेगी। इस मौके पर शाह ने आरोप लगाते हुए कहा, “सीपीएम नेता और केरल के मुख्यमंत्री विजयन राज्य में सभी राजनीतिक हत्याओं के लिए प्रत्यक्ष रूप से जिम्मेदार हैं।”

आपको बता दें कि बीजेपी ने सोमवार को कहा था कि राज्य में वर्ष 2001 के बाद से 120 बीजेपी कार्यकर्ताओं की हत्या की जा चुकी है जिनमें से 84 लोग केवल कन्नूर में मारे गए। पिछले साल सीपीएम के सत्ता में आने के बाद से कन्नूर में 14 लोग मारे जा चुके हैं।

जम्मू-कश्मीर: कॉन्स्टेबल की अगवा कर आतंकियों ने की हत्या, 2 माह में तीसरा मामला

NewsCode | 21 July, 2018 7:40 PM
newscode-image

कुलगाम। जम्मू-कश्मीर के कुलगाम में शुक्रवार रात जिस जवान का आतंकियों ने अपहरण किया था, उसके गोलियों से छलनी क्षत-विक्षत शरीर को कैमोह घाट क्षेत्र से बरामद कर लिया गया है। पुलिस कॉन्स्टेबल का नाम मोहम्मद सलीम है।

शनिवार शाम उनका गोलियों से छलनी शव मिला है। पिछले दो महीनों में आतंकियों ने मोहम्‍मद सलीम खान समेत तीन जवानों की अगवा करने के बाद हत्या कर दी है। इससे पहले दो जवानों औरंगजेब और जावेद डार की हत्‍या कर दी गई थी।

इस आतंकी वारदात की सूचना मिलते ही जम्‍मू-कश्‍मीर पुलिस, सीआरपीएफ और भारतीय सेना के जवानों की संयुक्‍त टीम ने कॉन्‍स्‍टेबल सलीम की सुरक्षित वापसी के लिए सघन तलाशी अभियान शुरू किया है। सुरक्षाबलों ने संयुक्‍त टीम ने पूरे इलाके की घेराबंदी कर डोर टू डोर सर्च ऑपरेशन चला रही है।

पश्चिम बंगाल: शहीद दिवस पर गरजीं ममता बनर्जी, ‘बीजेपी हटाओ, देश बचाओ’ का दिया नारा

बता दें कि सेना और पुलिस द्वारा ऑपरेशन ऑलआउट से बौखलाए आतंकी लगातार जवानों को निशाना बना रहे हैं। इससे पहले शोपियां के कचडूरा इलाके के निवासी जम्मू-कश्मीर पुलिस के कॉन्स्टेबल जावेद हमीद डार को अगवा कर हत्या कर दी थी। उनका शव कुलगाम के परिवान में सुबह स्थानीय लोगों द्वारा पाया गया।

LIVE: चाहे साइकिल हो या हाथी, कोई भी हो साथी, स्वार्थ के इस पूरे स्वांग को देश समझ चुका है: पीएम मोदी

sun

320C

Clear

क?रिकेट

Jara Hatke

Read Also

राँची : मुख्यमंत्री ने जूस पिलाकर तुड़वाया विधायक शिवपूजन मेहता का अनशन

NewsCode Jharkhand | 21 July, 2018 10:18 PM
newscode-image

राँची। मुख्यमंत्री रघुवर दास ने विधायक शिवपूजन मेहता को जूस पिलाकर उनका अनशन तुड़वाया। मुख्यमंत्री, विधायक सुखदेव भगत के साथ सदन के बाहर पहुंचे और शिवपूजन मेहता को जूस पिलाया। आपको बता दें कि शिवपूजन मेहता जपला सीमेंट फैक्ट्री को पुनर्स्थापित करने की मांग को लेकर, झारखंड विधानसभा के मुख्य गेट पर विगत 3 दिनों से आमरण अनशन पर बैठे थे।

रांची : भाजयुमो के खेलो भारत दिल्ली में हिस्सा लेंगे झारखंड के 65 खिलाड़ी

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

धनबाद : सगे भाई-बहन ने किया रक्‍तदान, पेश की मिसाल  

NewsCode Jharkhand | 21 July, 2018 10:09 PM
newscode-image

धनबाद। पीएमसीएच के रक्त अधिकोष में सगे भाई-बहन ने थैलीसीमिया रोग से पीड़ित दो बच्चों के लिए रक्तदान कर मानवता की मिसाला पेश की। समाजसेवी शालिनी खन्ना के कहने पर पीएमसीएच के थैलीसिमिया वार्ड में भर्ती करीब 3 साल की बच्‍ची आराध्या के लिए पल्‍लवी पायल ने रक्‍तदान किया। वे बीएसएस कॉलेज की पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष रह चुकी है।

रक्‍तदान करने जैसे की वह सामाजिक कार्यकर्ता सौरभ सिंह के साथ पीएमसीएच के रक्त अधिकोष  में रक्तदान के लिए  पहुंची वहां पहले से मौजूद थैलीसीमिया से ग्रस्‍त लगभग 5 वर्ष के मोहित कुमार महतो की मां उषा देवी ने भी पल्लवी से अपने बच्चे के लिए रक्त उपलब्ध कराने का आग्रह किया।

झरिया : आजसू पार्टी की बैठक, महिला सशक्तिकरण पर जोर

पल्लवी ने उस महिला की बात सुनकर अपने बड़े भाई राकेश रंजन को फोन कर रक्‍तदान करने पीएमसीएच आने को कहा। कुछ ही समय में राकेश भी वहां पहुंच गए और दोनों भाई-बहन ने दोनों बच्‍चों के लिए रक्‍तदान किया।

रक्‍तदान करने पर शालिनी खन्‍ना ने दोनों भाई-बहन की प्रशंसा और धन्‍यवाद दिया। उन्‍होंने कहा कि पल्लवी की तरह बेटियां व महिलाएं भी रक्‍तदान करने आगे आएगी तो कई लोगों की जान बचायी जा सकेगी। सौरभ सिंह ने भी युवाओं से अपील की है कि वो अधिक से अधिक रक्तदान करें  ताकि जरूरतमंदों को समय पर खून मिल सके।

रक्त अधिकोष में रक्त की कमी को देखते हुए इस बार स्वतंत्रता दिवस पर शिविर लगाकर रक्‍तदान करने का निर्णय लिया गया।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

More Story

more-story-image

कोलेबिरा : लचरागढ़ में संदिग्ध हालत में मिला नाबालिग बच्ची...

more-story-image

दुमका : लाभुकों के बीच मुख्य न्यायाधीश ने परिसंपति का...