कटकमसांडी : ग्रामीणों के लिए वरदान साबित हो रहा 108 एंबुलेंस सेवा

Ravindra Kumar | 14 May, 2018 4:11 PM
newscode-image

कटकमसांडी(हजारीबाग)कटकमसांडी प्रखंड में 108 एंबुलेंस सेवा ग्रामीणों के लिए वरदान साबित हो रहा है। इस एंबुलेंस सेवा की शुरुआत कटकमसांडी प्रखंड में 4 जनवरी 2018 को हुई थी, अपने शुरुआत काल से लेकर अभी तक 108 एंबुलेंस JH01CH 7329 (108) लगभग 400 मरीजों की जान बचा चुका है और बेहतर स्वास्थ सुविधा उपलब्ध कराने में कारगर साबित हो रहा है।

पूर्व में पैसे के अभाव में लोग एंबुलेंस या अन्य वाहनों का  इस्तेमाल नहीं कर कर पाते थे, जिसके कारण मरीजों को कई बार अपनी जान गंवानी पड़ती थी। आज स्थिति यह है कि  108 एंबुलेंस सेवा के आने से लोगों को नि:शुल्क एंबुलेंस सेवा मिल रहा है। 

हजारीबाग : क्षितिज हॉस्पिटल में गहन चिकित्सा इकाई का हुआ उद्घाटन

कई मरीजों को खासकर गर्भवती माताओं, दुर्घटनाग्रस्त मरीज, गंभीर रुप से बीमार हालत के मरीजों को काफी राहत मिली। अगर सीएचसी कटकमसांडी क्षेत्र की बात करें, तो यहां चार एम्बुलेंस और हैं इनमें 13 वें वित्त आयोग से कटकमसांडी पंचायत में एक एम्बुलेंस, हजारीबाग सदर विधायक मनीष जायसवाल के मद से एक एम्बुलेन्स तथा पूर्व सांसद यशवंत सिन्हा के मद से एक एम्बुलेंस सहित 108 एम्बुलेंस सेवा शामिल है। सभी चारों एम्बुलेंस अच्छी हालात में है और अपनी सेवा दे रहे हैं।

पूर्व सांसद यशवंत सिन्हा के मद से 2012 में एम्बुलेन्स  दिया गया था। अभी तक इस एम्बुलेन्स से पांच से छह सौ मरीजों को सेवा दे चुका है।

कटकमसांडी : ग्रामीणों के लिए वरदान साबित हो रहा 108 एंबुलेंस सेवा

108 एंबुलेंस सेवा से ग्रामीणों को काफी फायदा

लुपुंग गांव के हीरालाल महतो का कहना है कि 108 एंबुलेंस सेवा होने से ग्रामीणों को काफी फायदा हुआ है, पूर्व में पैसे के अभाव में लोगों अपने मरीजों को अस्पताल नहीं ले जा पाते थे, जिसके कारण कई बार मरीज की जान चली जाती थी। एंबुलेंस सेवा 108 फोन करने पर आसानी से मिल जाता है और गरीब मरीजों की जान बच जाती है।

कटकमसांडी गांव की भगिया देवी का कहना है स्वास्थ्य के क्षेत्र में सरकार की इस योजना से लोगों को आसानी से एंबुलेंस सेवा मिल जा रहा है, मरीज को तुरंत निःशुल्क अस्पताल पहुंचाया जाता है। इधर अन्य एंबुलेंस सेवा भी इनमें विधायक व सांसद मद से मिला एंबुलेंस सेवा भी क्षेत्र के लिए लोगों के लिए काम कर रहा है।

हजारीबाग : शहर में वेंडिंग जोन निर्माण कार्य का हुआ विधिवत शिलान्यास

विधायक व सांसद योजना से मिले एंबुलेंस के संचालन संचालन समिति बनाई गई है। संचालन समिति के किसी भी मेंबर के पास फोन कॉल जाने पर मरीजों को एंबुलेंस सेवा मिल जाती है। वहीं 13वें वित्त आयोग से मिले एंबुलेंस सेवा भी काम कर रहा है। नो लॉस, नो प्रॉफिट के आधार पर यह सभी तीनों एंबुलेंस सेवा क्षेत्र में अपना काम कर रहे हैं।

क्या कहते हैं 108 के एएमटी

108 एंबुलेंस सेवा के एमडी दर्पण कुमार का इस संबंध में कहना है कि एंबुलेंस सेवा कटकमसांडी प्रखंड वासियों के लिए बिल्कुल ही नि:शुल्क काम करती है जब भी कोई मरीज 108 नंबर सेवा पर डायल करता है यह नंबर सीधे सेंट्रल सर्वर से जुड़ा होता है और उसका कॉल रिसीव होते हैं जो वापस हम लोगों के पास आता है, सेंट्रल सर्विस से सेंट्रल सरोवर से मैसेज मिलते हैं।

108 एंबुलेंस सेवा कम से कम 15 मिनट और अधिकतम 20 से 22 मिनट तक मरीज के घर तक पहुंच जाता है और मरीज को तुरंत एंबुलेंस से लेकर नजदीकी पीएचसी SSC में ले जाया जाता है।

अगर सीएचसी-पीएचसी रेफर करती है तो तुरंत मरीज को हजारीबाग सदर अस्पताल ले जाते हैं, वहां भी अगर जरूरत पड़ती है तो 108 एंबुलेंस सेवा रिम्स या अन्य बड़े अस्पताल ले जाकर मरीज को पहुंचाते हैं। इस तरह सेवा बिल्कुल ही नि:शुल्क होती है, शुरुआती दौर से अभी तक कटकमसांडी प्रखंड में हम लोगों ने 400 से अधिक मरीजों की जान बचाई है, इसका हमें बहुत ही खुशी है और उम्मीद है और अधिक अपनी सेवा देते रहेंगे।

हजारीबाग : सड़क दुर्घटना में एक व्यक्ति घायल, अनियंत्रित बाइक सवार ने मारी थी टक्कर

क्या कहते हैं मेडिकल ऑफिसर

कटकमसांडी सीएससी के मेडिकल ऑफिसर डॉ. विनय कुमार का कहना है कि प्रखंड क्षेत्र में एंबुलेंस सेवा काफी कारगर ढंग से काम कर रही है और लोगों को स्वास्थ सुविधा मुहैया करा रही है, सरकार की महत्वाकांक्षी योजना से स्वास्थ्य के क्षेत्र में एक बड़ा बदलाव आया है और लोगों को नि:शुल्क मरीजों के घर से अस्पताल तक एंबुलेंस सेवा मिलता है, कई बार गरीब लोग पैसे के अभाव में अपने मरीजों को अस्पताल नहीं ले जा पाते थे, जिसके कारण और सामाजिक काल के गाल में समा जाते थे।

अब इस एंबुलेंस सेवा आने से प्रखंड क्षेत्र में स्वास्थ्य कारणों से मोटिलिटी रेट भी कम हुआ है सबसे ज्यादा लाभ एक्सीडेंटल स्थिति के मरीजों को हुए क्योंकि एक्सीडेंट करने वाले मरीज का कोई वहां अपना नहीं होता ऐसे में उसको अस्पताल ले जाने के लिए सही समय वाहन नहीं मिल पाता था, इस सेवा के आने से पहले मरीजों को की जान आसानी से बचाई जाती है, स्वास्थ्य विभाग का यह प्रयास होगा इस सेवा का लाभ और अधिक से अधिक लोगों को मिले लोग इस सेवा का लाभ लेने के लिए 108 नंबर पर जरूर डायल करें।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

पाकुड़ : अज्ञात वाहन की चपेट में आने एक की मौत

NewsCode Jharkhand | 16 August, 2018 7:00 PM
newscode-image

पाकुड़। डांगापाड़ा-डुमरिया मुख्य सड़क पर दराजमाट गिरजाघर के समीप अज्ञात वाहन की चपेट में आने से शेषनाथ पंडित की मौत हो गयी। मृतक के भाई रामलखण पड़ित ने थाना में लिखित आवेदन में कहा है कि मेरे भाई पाकुड़ गया था,  देर रात घर नहीं लौटकर नहीं आया।

पाकुड़ : उप मुखिया के घर धमाका, छानबीन में जुटी पुलिस

अगले सुबह दराजमाट के एक व्यक्ती ने कहा कि एक अज्ञात शव दराजमाट के सड़क किनारे पड़ा हुआ है। खबर सुनते ही घटना स्थल में पहुँचकर शव का पहचान किया। उसे किसी अज्ञात वाहन ने टक्कर मारकर फरार हो गया।

पाकुड़ : मैराथन दौड़ का आयोजन, विजेताओं को किया गया पुरस्कृत

सूचने मिलते ही लिट्टीपाड़ा पुलिस घटनास्थल पहुँचकर शव को कब्जे में लिया और पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया। थाना प्रभारी विमल सिंह ने बताया कि कांड 56/18 धारा 279,304 दर्ज कर घटना की जांच की जा रही है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

गावां (गिरिडीह) : विभिन्न विभागों में झंडोत्‍तोलन को लेकर तालमेल का दिखा अभाव

NewsCode Jharkhand | 16 August, 2018 7:12 PM
newscode-image

 स्वतंत्रता दिवस समारोह पर दिखी अनुशासनहीनता

गावां गिरिडीह। गावां में स्वतंत्रता दिवस समारोह में इस बार पूर्वाभ्यास की पूरी कमी देखी गई। नतीजतन विभिन्न विभागों में झंझोत्‍तोलन को लेकर तालमेल का अभाव दिखा। इस कारण प्रखंड मुख्यालय में झंडोत्‍तोलन के वक्त झंडे को सलामी देने के लिए पुलिस जवान मौजूद नहीं रहे।

जबकि बीडीओ मोनी कुमारी सलामी दल को बुलाने के लिए थाना में फोन करती रहीं। वहीं गावां थाना द्वारा निर्गत आमंत्रण पत्र में दिये गये समय सारणी से एक घंटा पूर्व ही ध्‍वजारोहण कर दिया गया।

बोकारो : खेल के मामले में सरकार का रवैया उदासीन : मयूर शेखर झा

इस कारण थाना परिसर में झंडोत्‍तोलन देखने से लोग चूक गये। बता दें कि थानेदार द्वारा निर्गत आमंत्रण पत्र में झंडोत्‍तोलन का समय दिन के 10:10 बजे निर्धारित था, लेकिन तय समय से एक घंटा 4 मिनट पूर्व ही 09:06 बजे ही थाना में झंडोत्‍तोलन कर दिया गया। इस कारण तय समय पर थाने में झंडोत्तोलन में शामिल होने पहुंचे लोगों को मायूस होना पड़ा।

बैंक प्रबंधक को झंडोत्‍तोलन के बजाय घर भागना आया रास

वैसे तो तिरंगा फहराना गर्व की बात मानी जाती है और इसके लिए लोग लालायित भी रहते हैं, लेकिन समाज में कुछ ऐसे भी लोग हैं, जो स्वतंत्रता दिवस को महज एक सरकारी बंदिशों वाला कार्यक्रम मान लेते हैं। ऐसा ही नजारा गावां के इलाहाबाद बैंक में देखने को मिला।

प्रबंधक ने झंडोत्‍तोलन करने के बजाए 15 अगस्त को घर भागना ज्यादा मुनासिब समझा। फलत: गावां इलाहाबाद बैंक में एक आम सीनियर सिटीजन उमाशंकर अवस्थी ने झंडोत्‍तोलन किया।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

चाईबासा : जिले के चार प्रखंडों में लगाए गए जनता दरबार

NewsCode Jharkhand | 16 August, 2018 7:01 PM
newscode-image

 चाईबासा । पश्चिमी सिंहभूम के उपायुक्त अरवा राजकमल के निदेशानुसार गुरूवार को जिले के चार प्रखण्डों में जनता दरबार का अयोजन किया गया। नोवामुंडी प्रखण्ड मुख्यालय जनता दरबार में विभिन्न विभागों के द्वारा शिविर का लगाया गया।

जिसमें मुख्य रूप से वृद्धा पेंशन, विधवा पेंशन,विकलांग पेंशन, दिव्यांग पेंशन, जाति, आवासीय, आय प्रमाण पत्रों, स्वास्थ्य, चिकित्सा, कृषि, पशुपालन, समाज कल्याण सहित अन्य विभागों के प्रखण्ड स्तरीय पदाधिकारियों ने लोगों के समस्या का समाधान किया।

जनता दरबार में बच्चों का आधार पंजीकरण भी कराया गया। जनता दरबार का आयोजन प्रखण्ड विकास पदाधिकारी नोवामुण्डी समरेश प्रसाद भण्डारी, तथा अंचलाधिकारी गोपी उरॉव के निर्देशन में सम्पन्न हुआ। वहीं जगन्नाथपुर प्रखंण्ड कार्यालय में लगे जनता दरबार में सूचना के अभाव में लोग नहीं पहुंचे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं

More Story

more-story-image

धनबाद : एनडीए सरकार में श्रम मंत्री रही रीता वर्मा...

more-story-image

गोड्डा : सांस्कृतिक संध्या पर रंगारंग प्रस्तुतियों ने मोहा