कटकमसांडी : ग्रामीणों के लिए वरदान साबित हो रहा 108 एंबुलेंस सेवा

Ravindra Kumar | 14 May, 2018 4:11 PM

कटकमसांडी : ग्रामीणों के लिए वरदान साबित हो रहा 108 एंबुलेंस सेवा

कटकमसांडी(हजारीबाग)कटकमसांडी प्रखंड में 108 एंबुलेंस सेवा ग्रामीणों के लिए वरदान साबित हो रहा है। इस एंबुलेंस सेवा की शुरुआत कटकमसांडी प्रखंड में 4 जनवरी 2018 को हुई थी, अपने शुरुआत काल से लेकर अभी तक 108 एंबुलेंस JH01CH 7329 (108) लगभग 400 मरीजों की जान बचा चुका है और बेहतर स्वास्थ सुविधा उपलब्ध कराने में कारगर साबित हो रहा है।

पूर्व में पैसे के अभाव में लोग एंबुलेंस या अन्य वाहनों का  इस्तेमाल नहीं कर कर पाते थे, जिसके कारण मरीजों को कई बार अपनी जान गंवानी पड़ती थी। आज स्थिति यह है कि  108 एंबुलेंस सेवा के आने से लोगों को नि:शुल्क एंबुलेंस सेवा मिल रहा है। 

हजारीबाग : क्षितिज हॉस्पिटल में गहन चिकित्सा इकाई का हुआ उद्घाटन

कई मरीजों को खासकर गर्भवती माताओं, दुर्घटनाग्रस्त मरीज, गंभीर रुप से बीमार हालत के मरीजों को काफी राहत मिली। अगर सीएचसी कटकमसांडी क्षेत्र की बात करें, तो यहां चार एम्बुलेंस और हैं इनमें 13 वें वित्त आयोग से कटकमसांडी पंचायत में एक एम्बुलेंस, हजारीबाग सदर विधायक मनीष जायसवाल के मद से एक एम्बुलेन्स तथा पूर्व सांसद यशवंत सिन्हा के मद से एक एम्बुलेंस सहित 108 एम्बुलेंस सेवा शामिल है। सभी चारों एम्बुलेंस अच्छी हालात में है और अपनी सेवा दे रहे हैं।

पूर्व सांसद यशवंत सिन्हा के मद से 2012 में एम्बुलेन्स  दिया गया था। अभी तक इस एम्बुलेन्स से पांच से छह सौ मरीजों को सेवा दे चुका है।

कटकमसांडी : ग्रामीणों के लिए वरदान साबित हो रहा 108 एंबुलेंस सेवा

108 एंबुलेंस सेवा से ग्रामीणों को काफी फायदा

लुपुंग गांव के हीरालाल महतो का कहना है कि 108 एंबुलेंस सेवा होने से ग्रामीणों को काफी फायदा हुआ है, पूर्व में पैसे के अभाव में लोगों अपने मरीजों को अस्पताल नहीं ले जा पाते थे, जिसके कारण कई बार मरीज की जान चली जाती थी। एंबुलेंस सेवा 108 फोन करने पर आसानी से मिल जाता है और गरीब मरीजों की जान बच जाती है।

कटकमसांडी गांव की भगिया देवी का कहना है स्वास्थ्य के क्षेत्र में सरकार की इस योजना से लोगों को आसानी से एंबुलेंस सेवा मिल जा रहा है, मरीज को तुरंत निःशुल्क अस्पताल पहुंचाया जाता है। इधर अन्य एंबुलेंस सेवा भी इनमें विधायक व सांसद मद से मिला एंबुलेंस सेवा भी क्षेत्र के लिए लोगों के लिए काम कर रहा है।

हजारीबाग : शहर में वेंडिंग जोन निर्माण कार्य का हुआ विधिवत शिलान्यास

विधायक व सांसद योजना से मिले एंबुलेंस के संचालन संचालन समिति बनाई गई है। संचालन समिति के किसी भी मेंबर के पास फोन कॉल जाने पर मरीजों को एंबुलेंस सेवा मिल जाती है। वहीं 13वें वित्त आयोग से मिले एंबुलेंस सेवा भी काम कर रहा है। नो लॉस, नो प्रॉफिट के आधार पर यह सभी तीनों एंबुलेंस सेवा क्षेत्र में अपना काम कर रहे हैं।

क्या कहते हैं 108 के एएमटी

108 एंबुलेंस सेवा के एमडी दर्पण कुमार का इस संबंध में कहना है कि एंबुलेंस सेवा कटकमसांडी प्रखंड वासियों के लिए बिल्कुल ही नि:शुल्क काम करती है जब भी कोई मरीज 108 नंबर सेवा पर डायल करता है यह नंबर सीधे सेंट्रल सर्वर से जुड़ा होता है और उसका कॉल रिसीव होते हैं जो वापस हम लोगों के पास आता है, सेंट्रल सर्विस से सेंट्रल सरोवर से मैसेज मिलते हैं।

108 एंबुलेंस सेवा कम से कम 15 मिनट और अधिकतम 20 से 22 मिनट तक मरीज के घर तक पहुंच जाता है और मरीज को तुरंत एंबुलेंस से लेकर नजदीकी पीएचसी SSC में ले जाया जाता है।

अगर सीएचसी-पीएचसी रेफर करती है तो तुरंत मरीज को हजारीबाग सदर अस्पताल ले जाते हैं, वहां भी अगर जरूरत पड़ती है तो 108 एंबुलेंस सेवा रिम्स या अन्य बड़े अस्पताल ले जाकर मरीज को पहुंचाते हैं। इस तरह सेवा बिल्कुल ही नि:शुल्क होती है, शुरुआती दौर से अभी तक कटकमसांडी प्रखंड में हम लोगों ने 400 से अधिक मरीजों की जान बचाई है, इसका हमें बहुत ही खुशी है और उम्मीद है और अधिक अपनी सेवा देते रहेंगे।

हजारीबाग : सड़क दुर्घटना में एक व्यक्ति घायल, अनियंत्रित बाइक सवार ने मारी थी टक्कर

क्या कहते हैं मेडिकल ऑफिसर

कटकमसांडी सीएससी के मेडिकल ऑफिसर डॉ. विनय कुमार का कहना है कि प्रखंड क्षेत्र में एंबुलेंस सेवा काफी कारगर ढंग से काम कर रही है और लोगों को स्वास्थ सुविधा मुहैया करा रही है, सरकार की महत्वाकांक्षी योजना से स्वास्थ्य के क्षेत्र में एक बड़ा बदलाव आया है और लोगों को नि:शुल्क मरीजों के घर से अस्पताल तक एंबुलेंस सेवा मिलता है, कई बार गरीब लोग पैसे के अभाव में अपने मरीजों को अस्पताल नहीं ले जा पाते थे, जिसके कारण और सामाजिक काल के गाल में समा जाते थे।

अब इस एंबुलेंस सेवा आने से प्रखंड क्षेत्र में स्वास्थ्य कारणों से मोटिलिटी रेट भी कम हुआ है सबसे ज्यादा लाभ एक्सीडेंटल स्थिति के मरीजों को हुए क्योंकि एक्सीडेंट करने वाले मरीज का कोई वहां अपना नहीं होता ऐसे में उसको अस्पताल ले जाने के लिए सही समय वाहन नहीं मिल पाता था, इस सेवा के आने से पहले मरीजों को की जान आसानी से बचाई जाती है, स्वास्थ्य विभाग का यह प्रयास होगा इस सेवा का लाभ और अधिक से अधिक लोगों को मिले लोग इस सेवा का लाभ लेने के लिए 108 नंबर पर जरूर डायल करें।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

रांची : कांग्रेस ओबीसी विभाग के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष पहुंचे रांची

NewsCode Jharkhand | 23 May, 2018 8:00 PM

रांची : कांग्रेस ओबीसी विभाग के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष पहुंचे रांची

सभी जिलों में घूम कर ओबीसी की स्थिती का लेंगे जायजा

रांची। कांग्रेस के ओबीसी विभाग के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष ताम्रध्वज साहू बुधवार को रांची पहुंचे। प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में प्रेस वार्ता में उन्‍होंने बताया कि वह राहुल गांधी के निर्देश पर पूरे देश में घूम कर ओबीसी की क्‍या हालत है। इसका पता लगा रहे हैं।

कांग्रेस पार्टी से उनकी क्या आशा है। वे कांग्रेस से किस प्रकार जुड़े। उनकी भागीदारी पार्टी में किस प्रकार हो। इस पर विचार विमर्श होगा। श्री साहू ने पत्रकारों को बताया कि झारखंड में ओबीसी की संख्‍या कितनी है और किस-किस क्षेत्र मे है। इसकी पूरी जानकारी लेने के बाद उन्‍हें पार्टी से कैसे जोड़ा जाए इस पर विचार किया जाएगा।

रांची : पीएम झारखंड को 25 मई को 28 हजार करोड़ की योजनाओं की देंगे सौगात

वह राज्‍य के सभी जिलों में जाएंगे। पूरी रिपोर्ट तैयार कर लेने के बाद पार्टी के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष राहुज गांधी को इससे अवगत कराया जाएगा।

पत्रकार वार्ता में आलोक दूबे, अभिलाष साहू सहित अन्‍य लोग उपस्थित थें।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

Read Also

जमशेदपुर : गरीबी के आगे बौनी पड़ी बाधा, बेटी को बनाया टीचर और बेटा इंजीनियर

NewsCode Jharkhand | 23 May, 2018 7:07 PM

जमशेदपुर : गरीबी के आगे बौनी पड़ी बाधा, बेटी को बनाया टीचर और बेटा इंजीनियर

सड़क पर लगाते है ठेला

जमशेदपुर। कहते है मेहनत से सभी कुछ पाया जा सकता है। मेहनत करनेवालों की कभी हार नहीं होती। ऐसा ही कुछ कर दिखाया है जमशेदपुर के कदमा राम नगर निवासी दिलीप साहू।

दिलीप अपने गरीबी को बाधक न बनने देते हुए अपने बच्चों को इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी करवाई है। जबकि वह पेशे से ठेला में फल बेचा करते  है। कड़ी मेहनत कर अपनी बेटी को शिक्षिका और बेटे को दिल्ली में इंजीनियरिंग की पढ़ाई करवा रहे है।

न्‍यूनतम कमाई होने के कारण किसी तरह से परिवार का गुजारा होता है लेकिन बच्‍चों की पढ़ाई में दिलीप ने कोई कमी नहीं किया।

गोड्डा : बुजुर्ग ने सुनायी बेबसी, कहां है सरकारी योजनाओं का लाभ?

दिलीप बताते है कि पहले ठेला पर फेरी कर वे अपनी दुकानदारी करते थे, लेकिन अब वे ई-रिक्शा में अपनी दुकानदारी करते है। पूरे परिवार को भरन पोषण कर रहे है।

कई बार दुकानदारी करने में काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है और शहर के किसी भी स्थान पर ठेला लगाने पर पुलिसवालों को जुर्माना देना पड़ता है।

जिससे उनकी कमाई नहीं हो पाती थी। इन्‍होंने अपने बच्चों के बेहतर भविष्य के लिए हर संभव कोशिश करते है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

रांची : पीएम झारखंड को 25 मई को 28 हजार करोड़ की योजनाओं की देंगे सौगात

NewsCode Jharkhand | 23 May, 2018 6:55 PM

रांची : पीएम झारखंड को 25 मई को  28 हजार करोड़ की योजनाओं की देंगे सौगात

केंद्र सरकार की चौथी वर्षगांठ पर कई योजनाओं की शुरुआत

रांची। केंद्र में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) सरकार के चार वर्ष का कार्यकाल पूरा होने पर 25 मई को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी झारखंड को करीब 28 हजार करोड़ रुपये की योजनाओं की सौगात देंगे।

मुख्यमंत्री रघुवर दास ने बुधवार को प्रोजेक्ट भवन स्थित सचिवालय में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में बताया कि एकदिवसीय झारखंड दौरे के क्रम में प्रधानमंत्री 25 मई को धनबाद जिले के बलियापुर,सिंदरी में आयोजित समारोह में 18668 करोड़ की लागत से स्थापित होने वाले 4000 मेगावाट पावर प्लांट की आधारशिला रखेंगे।

वहीं सात हजार करोड़ रुपये की लागत से सिंदरी में खाद कारखाना, 1103 करोड़ रुपये की लागत से देवघर में एम्स, 441 करोड़ रुपये की लागत से देवघर में एयरपोर्ट विस्तारीकरण परियोजना की शुरुआत करेंगे। वहीं सीसीएल एवं बीसीसीएल में होने वाली सात हजार नियुक्तियों में से 300 लोगों को नियुक्ति पत्र का वितरण किया जाएगा।

रांची : पोल-खोल, हल्ला- बोल अभियान के तहत भाकपा ने किया राजभवन मार्च

इसके अलावा सस्ते दर पर दवा उलब्ध कराने के लिए प्रधानमंत्री की उपस्थिति में 250 जन औषधि केंद्रों की स्थापना को लेकर एमओयू होगा। एक अन्य महत्वाकांक्षी योजना में रांची में रसोई गैस पाइप लाइन परियोजना की शुरुआत भी की जाएगी।

लगभग 2840 करोड़ रुपये की लागत वाली इस परियोजना से 581 किमी पाइप लाईन बिछायी जाएगी, जिससे सात शहरों, रांची, जमशेदपुर, बोकारो, हजारीबाग, गिरिडीह, धनबाद और रामगढ़ जिले में पाईप लाईन के माध्यम से रसोई गैस की आपूर्ति हो सकेगी।

 मुख्यमंत्री ने बताया प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव के दौरान राज्य में चुनावी सभा को संबोधित करते हुए कहा कि झारखंड में कोयला का अकूत भंडर है, इस कोयले से पूरे देश को रौशनी मिलती है, लेकिन झारखंड के लोग ही अंधेरे में है, यह अंधेरा दूर होगा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने वायदे को पूरा करने जा रहे है, जिस 4000 मेगावाट पावर प्लांट का शिलान्यास होने जा रहा है, पहले चरण में 2021 तक यहां से बिजली का उत्पादन शुरु हो जाएगा। उन्होंने बताया कि देश के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित नेहरु सरकार में उर्वरक मंत्री श्यामा प्रसाद मुखर्जी के प्रयास से सिंदरी में खाद कारखाने की स्थापना की, लेकिन पिछले ढ़ाई दशक से यह कारखाना बंद पड़ा था।

पिछली बार चुनाव प्रचार के दौरान भाजपा के वरिष्ठ नेता अनंत कुमार ने अपने चुनाव प्रचार में यह घोषणा की थी कि यदि केंद्र में उनकी सरकार बनेगी तो सिंदरी खाद कारखाना फिर से चालू होगा। यह घोषणा भी पूरी हो जा रही है। मुख्यमंत्री ने बताया कि 51 शक्तिपीठ में से एक बाबा नगरी में राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय स्तर के पर्यटकों को आकर्षित करने एवं आधारभूत सुविधा उपलब्ध कराने के लिए देवघर हवाईअड्डे के विस्तारीकरण परियोजना को भी मंजूरी दे दी गयी है।

इसके अलावा पूरे संताल परगना प्रमंडल के लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराने के लिए एम्स की आधारशिला रखी जा रही है और यह कोशिश की जाएगी कि वर्ष 2019 से यहां से ओपीडी सेवा प्रारंभ हो जाए। इन परियोजनाओं को लेकर तीन स्थानों पर कार्यक्रम आयोजित किये जाएंगे।

धनबाद में आयोजित मुख्य समारोह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अलावा राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू, मुख्यमंत्री रघुवर, केंद्रीय मंत्री राजकुमार सिंह, अनंत कुमार,  अनुप्रिया पटेल, मंत्री सुदर्शन भगत, राज्य के स्वास्थ्य मंत्री रामचंद्र चंद्रवंशी, मंत्री अमर कुमार बाउरी, सांसद पीएन सिंह और विधायक फूलचंद मंडल मौजूद रहेंगे।

वहीं रामगढ़ जिले के पतरातु में आयोजित कार्यक्रम स्थल पर केंद्रीय मंत्री जयंत सिन्हा, राज्य के जलसंसाधन मंत्री चंद्रप्रकाश चौधरी, विधायक मनीष जायसवाल और देवघर में मंत्री डॉ. लुईस रमांडी, रणधीर सिंह, राज पालिवार, सांसद निशिकांत दूबे और विधायक नारायण दास उपस्थित रहेंगे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

X

अपना जिला चुने