कासगंज हिंसा मामले में अब तक 112 गिरफ्तार, कांग्रेस ने की न्यायिक जांच की मांग

NewsCode | 29 January, 2018 11:15 AM

कानून व्यवस्था बनाये रखने हेतु जनपद कासगंज शहर में धारा 144 लागू है। 

newscode-image

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के कासगंज में 26 जनवरी को हुई हिंसा के मामले में अब तक 112 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। डीजीपी मुख्यालय से मिली जानकारी के मुताबिक, रविवार तक कुल 5 अभियोग पंजीकृत किए गए हैं, जिनमें से 3 अभियोग प्रभारी निरीक्षक कोतवाली कासगंज द्वारा पंजीकृत कराए गए हैं। पंजीकृत अभियोगों में अब तक कुल 31 अभियुक्तों की गिरफ्तारी की जा चुकी है। 81 व्यक्तियों को निरोधात्मक कार्यवाही के अन्तर्गत गिरफ्तार किया गया है। अब तक कुल 112 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है।

इस घटना के संबंध में चिन्हित व्यक्तियों की गिरफ्तारी के लिए टीमें गठित कर दबिशें दी जा रही है। कानून व्यवस्था की स्थिति नियंत्रण में है। कानून व्यवस्था बनाये रखने हेतु जनपद कासगंज शहर में धारा 144 सीआरपीसी लागू है।

बता दें कि गणतंत्र दिवस पर कासगंज में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद और अन्य हिंदू संगठन बाइक से ‘तिरंगा यात्रा’ निकालते हुए जब मुस्लिम बहुल इलाके ‘हुल्का क्षेत्र’ से निकले तो कुछ युवकों ने यात्रा में शामिल मोटरसाइकिल सवारों पर पत्थर मारने शुरू कर दिए।

इसके बाद मोटरसाइकिल सवारों ने भी जवाबी हमला करते हुए पत्थर मारना शुरू कर दिया। वहां अचानक गोलीबारी होने लगी। दो लोगों को गोली लगी। इस घटना में अभी तक एक व्यक्ति अभिषेक उर्फ चंदन गुप्ता उम्र करीब 20 वर्ष की मृत्यु हुई है। जबकि नौशाद घायल अवस्था में जिला अस्पताल में उपचार के लिए भर्ती है।

इसके बाद आक्रोशित भीड़ ने राष्ट्रीय राजमार्ग से गुजर रहे वाहनों पर हमला शुरू कर दिया। वे सार्वजनिक संपत्तियों को निशाना बनाने लगे। इस हिंसा में कुछ पुलिसकर्मियों सहित आधा दर्जन से अधिक लोग घायल हो गए।

कांग्रेस ने मामले की न्यायिक जांच कराने की मांग की 

वहीं, कांग्रेस ने कासगंज हिंसा के मामले की न्यायिक जांच की मांग की है। पार्टी ने उत्तर प्रदेश सरकार पर स्थिति से निपटने में विफल रहने का आरोप लगाया। कांग्रेस नेता और उत्तर प्रदेश से राज्यसभा सदस्य प्रमोद तिवारी ने मीडिया से कहा, “यह तभी स्पष्ट हो सकेगा, जब उच्च न्यायालय के न्यायाधीशों की देखरेख में न्यायिक जांच हो। हम जांच की मांग करते हैं और लोगों से शांति बनाए रखने की अपील करते हैं।”

हाल में हुईं हिंसा की घटनाओं का हवाला देते हुए उन्होंने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर करारा प्रहार किया और उन पर स्थिति से निपटने में विफल रहने का आरोप लगाया।

उन्होंने कहा, “पुलिस बल होने के बावजूद ऐसी घटनाएं कैसे हो जाती हैं। यह वाकया प्रदेश सरकार की नाकामी दर्शाता है।”

(इनपुट  : आईएएनएस)

चतरा : भूमि विवाद में मुखिया समेत छह पर प्राथमिकी दर्ज

NewsCode Jharkhand | 22 June, 2018 6:31 PM
newscode-image

चतरा। सदर थाना क्षेत्र के डाढ़ा पंचायत में शुक्रवार को भूमि विवाद में हुई मारपीट में एक गंभीर रूप से घायल हो गया। घायल किसन तुरी का पुत्र प्रमोद तुरी है। इस बाबत प्रमोद ने सदर थाना में लिखित आवेदन देकर मुखिया रमेश कक्षप समेत छह पर प्राथमिकी दर्ज कराई है। प्राथमिकी दर्ज में प्रमोद ने कहा है कि गांव में अपना मकान बना रहा था।

चतरा : नक्सली संगठन टीपीसी समर्थक वीरेंद्र गंझू गिरफ्तार

तभी मुखिया रमेश कक्षप, भोला यादव, काली यादव, प्रदीप यादव, सुरेंद्र यादव व कोमल यादव आकर लाठी व डंडे से मारपीट करने लगे। आसपास के ग्रामीणों की मदद से मामला को शांत कराया गया। उसके बाद घायल व उसके परिजनों ने सदर थाना में आकर आपबीती सुनाई।

थाना प्रभारी सह इंस्पेक्टर रामअवध सिंह ने मामले को संज्ञान में लेते हुए उक्त सभी पर प्राथमिकी दर्ज की है। उन्होंने बताया कि मामले में संलिप्त आरोपियो की गिरफ्तारी को लेकर छापेमारी किया जा रहा है। जल्द ही सभी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया जाएगा। उन्होंने घायल को उपचार व इंजुरी तैयार कराने के लिए सदर अस्पताल भेज दिया।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

चतरा : सीसीटीवी लगाने को लेकर प्रशासन करेगी व्यवसायियों के साथ बैठक

NewsCode Jharkhand | 22 June, 2018 6:38 PM
newscode-image

चतरापुलिस कप्तान अखिलेश वी वारियर के निर्देश पर शनिवार को सदर थाना में शहर के प्रतिष्ठित व्यवसाई एवं पेट्रोल पंप के मालिकों के साथ एक बैठक का आयोजन किया गया, जिसमें मुख्य अतिथि जिला अनुमंडल पदाधिकारी एवं अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी ज्ञानरंजन होंगे।

इस आशय की जानकारी देते हुए सदर थाना प्रभारी राम अवध सिंह ने कहा कि शहर में चल रहे प्रतिष्ठानों के मालिकों से आग्रह किया गया है कि वह अपने दुकानों में एवं दुकान के बाहर सीसीटीवी कैमरा लगाएं इसको लेकर उन्हें कई बार संपर्क साधा गया।

चतरा : भूमि विवाद में मुखिया समेत छह पर प्राथमिकी दर्ज

इसके बावजूद शहर के कई दुकानदारों को नोटिस भेजी गई है। इसी को धरातल में उतारने को लेकर शहर के तमाम व्यवसायियों से आग्रह किया गया है कि वह निर्धारित समय पर  सदर थाना पहुंच कर आवश्यक दिशा निर्देश दें एवं सीसीटीवी कैमरा लगाने का कार्य करें।

इन दिनों शहर में हुई कई गोली कांड घटना को लगाम लगाने में शहर के  कुछ जगहों पर लगाए गए सीसीटीवी कैमरा  के सहयोग से भी उदभेदन  किया गया है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

चतरा : नक्सली संगठन टीपीसी समर्थक वीरेंद्र गंझू गिरफ्तार

NewsCode Jharkhand | 22 June, 2018 5:56 PM
newscode-image

चतरा। सिमरिया पुलिस ने शुक्रवार को कासीआतु निवासी युवक वीरेंद्र गंझू को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। युवक पर नक्सली संगठन टीपीसी का समर्थक होने का आरोप है। थाना प्रभारी शंभू शरण दास ने बताया कि चार दिन पूर्व बालूमाथ और सिमरिया थाना क्षेत्र के सिमाने पर हुई मुठभेड़ में यह युवक सक्रिय था और टीपीसी संगठन को मोबाइल फोन के जरिए पुलिस की गतिविधियों की जानकारी दे रहा था।

चतरा : उपायुक्त को मिलेगा गुड गवर्नेंस व रोजगार सृजन का स्कॉच अवार्ड

इसके अलावे पुलिस ने जांगी गांव में छापेमारी कर दो वारंटियों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार वारंटियों में गणेश भुइयां और कमोदनी देवी का नाम शामिल है। दोनों पर बहू को मार कर कुएं में फेंकने का आरोप है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

More Story

more-story-image

दुमका : 11 हजार हाई टेंशन तार की चपेट में...

more-story-image

मुन्ना भाई बनकर रणबीर कपूर ने मारा ये डायलॉग, देखें...