LIVE: कर्नाटक में घनघोर नाटक, दिल्ली में राष्ट्रपति भवन के सामने धरने पर बैठे यशवंत सिन्हा

NewsCode | 17 May, 2018 11:08 AM

LIVE: कर्नाटक में घनघोर नाटक, दिल्ली में राष्ट्रपति भवन के सामने धरने पर बैठे यशवंत सिन्हा

बेंगलुरू। बीजेपी नेता बीएस येदियुरप्पा ने गुरुवार की सुबह 9 बजे राजभवन में कर्नाटक के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। उन्हें राज्यपाल वजूभाई वाला ने मुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाई। बता दें कि येदियुरप्पा ने तीसरी बार कर्नाटक के मुख्यमंत्री पद की कमान संभाली है। बीजेपी सूत्रों के अनुसार येदियुरप्पा शपथ ग्रहण समारोह के बाद सदन में बहुमत साबित करने की तारीख का ऐलान कर सकते हैं।

LIVE UPDATES:

– बीजेपी द्वारा कर्नाटक में सरकार बनाये जाने को असंवैधानिक करार देते हुए दिल्ली में राष्ट्रपति भवन के सामने धरने पर बैठे पूर्व बीजेपी नेता यशवंत सिन्हा।

– बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने कहा – कर्नाटक में लोकतंत्र की हत्या के विरोध में कल पटना में राजद का एक दिवसीय धरना होगा। हम राज्यपाल महोदय से माँग करते है कि वो वर्तमान बिहार सरकार को भंग कर कर्नाटक की तर्ज़ पर राज्य की सबसे बड़ी पार्टी राजद को सरकार बनाने का मौका दें।

– विधान सभा के बाहर विरोध-प्रदर्शन के बाद कांग्रेस के विधायक वापस ईगलटन रिजॉर्ट पहुंचे।

– कर्नाटक विधानसभा के सचिव ने विधानसभा के अस्थायी (प्रोटेम) स्पीकर के लिए दो विधायकों के नाम दिए हैं। इनमें एक उमेश कट्टी और दूसरा आरवी देशपांडे का नाम शामिल है। ये नाम संसदीय कार्य विभाग को भेजा गया है, जहां से इनके नामों को राज्यपाल की संस्तुति के लिए भेजा जाएगा।

गौरतलब है कि उमेश कट्टी बीजेपी के विधायक हैं और आरवी देशपांडे कांग्रेस के विधायक हैं। दोनों ही अपनी-अपनी पार्टियों के वरिष्ठ विधायक हैं। इनमें से किसी एक नाम पर मुहर लगेगी।

– पूर्व बीजेपी नेता, राज्यसभा सांसद और वरिष्ठ वकील रामजेठमलानी कर्नाटक मामले पर सुप्रीम कोर्ट पहुंचे । जेठमलानी ने कहा – राज्‍यपाल का बीजेपी को न्योता देना संवैधानिक पद का दुरुपयोग।

– इस बीच कर्नाटक विधानसभा के बाहर कांग्रेस के विरोध प्रदर्शन में दो निर्दलीय विधायक भी शामिल हुए।

संविधान का मजाक

कर्नाटक मामले पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा है, ”बीजेपी स्पष्ट बहुमत न होने के बावजूद कर्नाटक में सरकार बनाने पर अड़ी है। यह संविधान के साथ मजाक है। आज जब भाजपा अपनी ‘पवित्र’ जीत का जश्न मना रही है, तब दूसरी तरफ भारत लोकतंत्र की हार पर शोक मनाएगा।”



विधानसभा के सामने धरने पर बैठे कांग्रेसी विधायक

वहीं, कांग्रेस ने सड़क पर उतरकर बीजेपी नेता बीएस येदियुरप्पा के सीएम बनने का विरोध करने का फैसला लिया है। कांग्रेस ने अपने ज्‍यादातर विधायकों को बीजेपी की पकड़ से बाहर रखने के लिए बेंगलुरु के ईगलटन रिजॉर्ट में ठहराया हुआ था। शपथग्रहण समारोह के बाद कांग्रेस के विधायक रिजॉर्ट से निकलकर बेंगलुरु के फ्रीडम पार्क में विरोध करने के लिए निकल गए। फ्रीडम पार्क कर्नाटक विधानसभा के सामने है। येदियुरप्‍पा की ताजपोशी के ख‍िलाफ कांग्रेस के विधायक विधानसभा के सामने धरने पर बैठ गए हैं।

Bengaluru: Congress holds protest at Mahatma Gandhi’s statue in Vidhan Soudha, against BS Yeddyurappa’s swearing in as CM of #Karnataka. GN Azad, Ashok Gehlot, Mallikarjun Kharge, KC Venugopal and Siddaramaiah present. pic.twitter.com/16BYIQfJ9D

येदियुरप्पा के शपथ ग्रहण को लेकर बीजेपी मुख्यालय और उनके आवास पर जश्न का माहौल रहा। परंपरागत नृत्य और गाने बाजे के साथ पार्टी समर्थकों का हुजूम पार्टी मुख्यालय पर लगा रहा। गौरतलब है कि शपथग्रहण समारोह में पीएम मोदी और अमित शाह मौजूद नहीं रहे।

राज्यपाल ने सरकार बनाने के लिए येदियुरप्पा को दिया न्यौता

बता दें कि कर्नाटक के राज्यपाल वजुभाई वाला ने बुधवार की शाम बी. एस. येदियुरप्पा को नई सरकार गठित करने और गुरुवार को मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ग्रहण करने के लिए आमंत्रित किया था। येदियुरप्‍पा को 15 दिन में बहुमत साबित करना होगा।

इससे पहले गुरुवार को तड़के सुप्रीम कोर्ट ने कर्नाटक बीजेपी को बड़ी राहत दी और येदियुरप्पा की शपथ पर रोक लगाने से इनकार कर दिया। बता दें कि कांग्रेस ने येदियुरप्पा के शपथ ग्रहण के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में गुहार लगाया था। सुप्रीम कोर्ट कर्नाटक में सरकार बनाने के लिये बीजेपी को आमंत्रित करने के राज्यपाल वजुभाई वाला के फैसले को चुनौती देने वाली कांग्रेस की याचिका पर रात में सुनवाई करने के लिये सहमत हो गया।

24 घंटे में ही जा सकती है CM येदियुरप्पा की कुर्सी

याचिका में बीजेपी के बीएस येदियुरप्पा को मुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाए जाने पर रोक लगाने की मांग की गई। कोर्ट में आधी रात के बाद करीब साढ़े तीन घंटे चली बहस के बाद येदियुरप्पा को राहत मिली, जिसके बाद वे आज सुबह सीएम पद के लिए शपथ लेकर सत्ता के सिंहासन पर काबिज हो गए हैं। लेकिन 24 घंटे के अंदर उन्हें अपने समर्थन विधायकों की लिस्ट कोर्ट को देनी है। बीजेपी के लिए 112 विधायकों की लिस्ट सौंपना आसान नहीं है। ऐसे में येदियुरप्पा को बहुमत साबित करना एक बड़ी चुनौती है। मामले में अब कोर्ट शुक्रवार की सुबह 10.30 बजे दोबारा सुनवाई करेगी।

कुमारस्वामी का आरोप – 100 करोड़ में विधायक खरीद रही बीजेपी

कर्नाटक में विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद राज्य में त्रिशंकु विधानसभा की स्थिति बनी। किसी भी पार्टी को पूर्ण बहुमत नहीं मिला। इस बीच कांग्रेस-जेडीएस लगातार बहुमत का दावा कर रही है, वहीं बीजेपी कह रही है कि वह सबसे बड़ी पार्टी है। कांग्रेस और जेडीएस के नेताओं ने राज्यपाल वजुभाई वाला से मुलाकात की।

इससे पहल बुधवार को बीजेपी विधायक दल की बैठक में येदियुरप्पा को सीएम बनाने के लिए एक सुर में सहमति दे दी।

वहीं, जेडीएस के कुमारस्वामी ने भाजपा पर बड़ा आरोप लगाते हुए कहा  कि बीजेपी हमारे विधायकों को खरीदने के लिए 100 करोड़ रुपए की पेशकश कर रही है। बीजेपी के पास नंबर नहीं हैं, हमारे पास बहुमत का पूरा आंकड़ा है। आपको बता दें कि कुमारस्वामी को जेडीएस विधायक दल का नेता चुना गया है और कांग्रेस ने जेडीएस को अपना समर्थन दे दिया है।

आपको बता दें कि मंगलवार को बीजेपी के अलावा और कांगेस-जेडीएस गठबंधन ने भी राज्यपाल वजुभाई से मिल सरकार बनाने का दावा पेश किया था। अभी भी दोनों का कहना है कि उनके पास पर्याप्त संख्या है।

इस बीच कांग्रेस विधायक अमारेगौड़ा लिंगनागौड़ा पाटिल ने दावा किया है कि उनके पास बीजेपी का फोन कॉल आया था। उन्होंने कहा, ‘मुझे बीजेपी नेता का फोन आया था। उन्होंने मुझसे कहा तुम हमारे साथ हो जाओ हम तुम्हें मंत्री पद देंगे लेकिन मैं कांग्रेस के साथ ही रहूंगा।’

कर्नाटक: जनता-जनार्दन ने इन 8 अरबपति उम्मीदवारों की किस्मत का क्या फैसला किया!

उधर बीजेपी नेता केएस ईश्वरप्पा का दावा है कि राज्य में बीजेपी की सरकार बनने जा रही है। उन्होंने मीडिया से बात करते हुए कहा, ‘इसमें कोई संदेह नहीं है कि राज्य में हमारी सराकर बनने जा रही है। 100 फीसदी हमलोग सरकार बनाएंगे। परिणाम अभी एक दिन पहले ही आया है, अभी देखिए एक दिन में क्या होता है।

प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि कांग्रेस को खारिज करने के लिए बीजेपी लोगों को सलाम करती है। लोगों द्वारा खारिज किए जाने के बावजूद कांग्रेस पिछले दरवाजे से सत्ता में एंट्री चाहती है। राहुल गांधी ने देवेगौड़ा के बारे में अपमानजनक टिप्पणी की थी। जेडीएस को बीजेपी की बी टीम कहा जाता था, वो कांग्रेस की एटीम बनकर उभरी है।

बीजेपी नेता अनंत कुमार ने कहा, ‘सोनिया गांधी और राहुल गांधी को लोगों के जनादेश को स्वीकार करना चाहिए। राज्य के लोगों ने कांग्रेस और सिद्धारमैया को खारिज कर दिया है। कांग्रेस को वास्तविकता स्वीकार करनी चाहिए, अगले 5 सालों तक विपक्षी दल होने का अपना कर्तव्य निभाना चाहिए।’

जैसा कि पहले ही अनुमान था, कर्नाटक में किसी भी दल को स्पष्ट बहुमत नहीं मिला है। 104 सीटों के साथ भाजपा कर्नाटक में सबसे बड़ी पार्टी के तौर पर उभरी है, लेकिन बहुमत से दूर है। वहीं, कांग्रेस 78 और जेडीएस 38 सीटों के साथ गठबंधन कर सरकार बनाने का दावा पेश कर रहे हैं।

नरेंद्र मोदी के लिए वजुभाई ने दी थी कुर्बानी, अब करेंगे कर्नाटक की कुर्सी का फैसला

कर्नाटक में मंगलवार रात तक राजभवन के बाहर हलचल रही, लेकिन सरकार कौन बनाएगा, इसपर फैसला नहीं हो सका। ऐसे में सभी की निगाहें राज्यपाल पर लगी हुई हैं कि वो किसे सरकार बनाने के लिए बुलाते हैं। पढ़िए कर्नाटक की सियासी हलचल का पल-पल का लाइव अपडेट।

वाराणसी में निर्माणाधीन पुल गिरने से 15 लोगों की मौत, कई गाड़ियां मलबे में फंसीं

धनबाद : 11 सूत्री मांग को लेकर स्वंय सेवक संघ मुख्यमंत्री आवास का करेंगे घेराव

NewsCode Jharkhand | 27 May, 2018 10:06 PM

धनबाद : 11 सूत्री मांग को लेकर स्वंय सेवक संघ मुख्यमंत्री आवास का करेंगे घेराव

पांच जून को मुख्यमंत्री आवास घेरने का स्वंय सेवक संघ ने लिया निर्णय

धनबाद। प्रोत्साहन राशि के बजाय मानदेय देने, स्वंय सेवकों की सेवा अवधि 60 वर्ष करने, स्वास्थ्य बीमा का लाभ दिया जाने समेत 11 सूत्री मांग को लेकर राज्य भर के स्वंय सेवक ने 5 जून को रांची में मुख्यमंत्री आवास घेरने का निर्णय लिया है।

रविवार को गोल्फ ग्राउंड में जिला स्तरीय पंचायत सचिवालय स्वंय सेवक संघ की एक बैठक हुई। झारखंण्ड प्रदेश स्वंय सेवक संघ के आह्वाहन पर जिले के सभी 10 प्रखंडों के स्वंय सेवक ने भी आंदोलन में भागेदारी देने का निर्णय लिया है।

बाघमारा : बाइक चोर चढ़ा ग्रामीणों के हत्‍थे, खातिरदारी कर  पुलिस को सौंपा

संघ के अध्यक्ष तरुण कुमार मुर्मू ने कहा कि शहीद हुए स्वंय सेवको के आश्रित परिवारों को पांच लाख का मुआवजा सरकार को देना चाहिए। सरकार के द्वारा चलायी जा रही सभी तरह की योजनाओं में स्वंय सेवको को शामिल किया जाना चाहिए। स्वंय सेवको के लिए डिजिटल पहचान पत्र जारी किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि बैठक में प्रखंड कोर कमिटी तथा महिला कोर कमिटी का गठन किया गया है।

बैठक का संचालन प्रदीप मंडल तथा सूरज दे ने किया। बैठक में राधेश्याम, नित्यानंद रॉय, मनोज सेन, सुरेश रविदास, राधिका कुमारी, नवीन राम आदि उपस्थित थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

Read Also

देवघर : बीजेपी नेता दे रहा था जबरन शादी का दबाव, युवती ने की आत्‍महत्‍या

NewsCode Jharkhand | 27 May, 2018 8:29 PM

देवघर : बीजेपी नेता दे रहा था जबरन शादी का दबाव, युवती ने की आत्‍महत्‍या

पुलिस ने बीजेपी नेता विष्णुकांत झा को किया गिरफ्तार

देवघर। देवघर नगर थाना के बम्पास टाउन मुहल्ले में एक 20 वर्षीय युवती ने फांसी लगाकर आत्‍महत्‍या कर ली। पुलिस के अनुसार युवती के इस कदम के पीछे की वजह एक बीजेपी नेता था, जो उस पर लगातार शादी करने का दबाव बना रहा था। वह इससे परेशान चल रही थी। युवती ने घर में अकेली पा कर फांसी लगाकर आत्‍महत्‍या कर ली। आरोपी बीजेपी नेता विष्णुकांत झा को गिरफ्तार कर लिया है।

जानकारी के मुताबिक मृतक खुशबू कुमारी के पिता श्‍यामसुंदर दास जो की बिहार के चांदन में मध्यविद्यालय के हेडमास्टर हैं। वे देवघर के बम्पास टॉउन में किराए के मकान में रहते हैं।

मृतक के पिता श्यामसुंदर दास ने कहा कि विष्णुकांत झा जो बीजेपी के नेता है। इनका दो बच्चा भी है। जो मेरी बेटी खुशबू कुमारी के पास कुछ दिनों से ट्यूशन पढ़ाने के लिए लाते ओर ले जाते थे। कुछ दिन बीत जाने के बाद बिष्णुकांत झा अपने बच्चों और मृतक खुशबू के साथ ट्यूशन के समय बैठ जाता था और खुशबू पर शादी के लिए जबरन दबाव बनाता था।

मृतक के पिता श्यामसुंदर दास के अनुसार बीजेपी नेता कहता था कि अगर तुम कहीं शादी करोगी तो तुम्हारे पूरे परिवार को जान से मार देंगे। इसकी शिकायत जब खुशबू द्वारा अपने परिजनों को दी गयी तो परिजनों ने विष्णुकांत झा के बच्चों को पढ़ाने से मना कर दिया गया। जिसके बाद खुशबू ने विष्णुकांत झा के बच्चों को पढ़ाना बंद कर दिया।

वहीं कल शाम में खुशबू के माता-पिता बाजार गए थे, तभी विष्णुकांत झा खुशबू के घर पर आए और खुशबू के साथ अभद्र व्यवहार करने लगे। अपनी आबरू बचाने के लिए खुशबू ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।

इस घटना के बाद पूरा परिवार सहमा हुआ है। नगर थाना इंस्पेक्टर विनोद कुमार ने बताया कि यह मामला आत्महत्या और उत्पीड़न का है। नामजद अभियुक्त बिष्णुकांत झा हैं, जिसके दो बच्चे है। मृतक खुशबू ट्यूशन पढ़ाती थी और विष्णुकांत झा शादी के लिये दवाब दे रहा था। इससे लड़की काफी क्षुब्ध थी, इसके साथ छेड़खानी भी की गई थी जैसा की आरोप लगाया गया है।

रांची : ट्रस्ट ने नि:शक्त बच्चों को भोजन कराया, पाठ्य सामग्री भी बांटे

मामला दर्ज कर लिया गया है। आरोपी विष्णुकांत झा की गिरफ्तारी भी हो चुकी है। उन्होंने बताया कि विष्णुकांत झा पूर्व में भी एक प्राइवेट स्कूल में गार्ड के साथ मारपीट के मामले में आरोपी हैं। इस कांड में भी विष्णुकांत झा को रिमांड किया जा रहा है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

टुंडी : किसान नेता ने किया ट्रांसफार्मर का उद्घाटन, ग्रामीणों में खुशी

NewsCode Jharkhand | 27 May, 2018 8:11 PM

टुंडी : किसान नेता ने किया ट्रांसफार्मर का उद्घाटन, ग्रामीणों में खुशी

टुंडी (धनबाद)। टुंडी प्रखंड के जीतपुर पंचायत अंतर्गत बंगारो गांव में एक माह से ट्रांसफार्मर खराब होने से ग्रामीणों को परेशानी हो रही थी। इसी को देखते हुए किसान मोर्चा के प्रदेश उपाध्यक्ष सह यूथ फोर्स के प्रधान संयोजक दीपनारायण सिंह ने विद्युत महाप्रबंधक से मुलाकात की।

इस दौरान उन्‍होंने 25 kv ट्रांसफार्मर के जगह पर 63 kv का ट्रांसफार्मर लगाने का अनुरोध किया और मांग पत्र सौंपा था। जिसे गंभीरता से लेते हुए अबिलम्ब नया ट्रांसफार्मर लगा दिया गया।

धनबाद : मुखिया व ग्रामीणों ने प्रेमी युगल की कराई शादी

माननीय प्रधानमंत्री के कार्यक्रम की व्यस्तता के कारण रविवार को दीपनारायण सिंह के द्वारा ट्रांसफार्मर का उद्घाटन किया गया। इससे पूर्व ग्रामीणों ने उत्साह के साथ दीपनारायण सिंह का स्वागत किया। मौके में दीपक महतो, भागवत पांडेय, प्रिंस कुमार आदि दर्जनों लोग उपस्थित थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

X

अपना जिला चुने