देश के 45वें मुख्य न्यायाधीश बने जस्टिस दीपक मिश्रा, जिन्होंने सुनाए हैं ये 5 चर्चित फैसले

NewsCode | 28 August, 2017 11:18 AM
newscode-image

नई दिल्ली| जस्टिस दीपक मिश्रा ने सोमवार को भारत के 45वें मुख्य न्यायाधीश के रूप में शपथ ली। राष्ट्रपति भवन में आयोजित एक कार्यक्रम में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने उन्हें पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई। अक्टूबर 2018 में जस्टिस मिश्रा का कार्यकाल समाप्त हो जायेगा और वे क़रीब 14 महीने तक इस पद पर रहेंगे| देश के 44वें चीफ जस्टिस जेएस खेहर 27 अगस्त को रिटायर हो गए हैं।

सन 1977 में जस्टिस मिश्रा ने ओडिशा हाईकोर्ट से अपनी वकालत शुरू की थी और साल 1996 में वे ओडिशा HC में जज बने थे। इसके बाद 1997 में एमपी हाईकोर्ट के जज बने थे। खबरों के मुताबिक जस्टिस मिश्रा भारत के मुख्य न्यायाधीश बनने वाले ओडिशा की तीसरे जज हैं। वे सुप्रीम कोर्ट के पूर्व चीफ जस्टिस रंगनाथ मिश्रा के भतीजे हैं।

इसके अलावा वे पटना हाईकोर्ट के भी मुख्य न्यायाधीश रह चुके हैं। इसके पश्चात 24 मई 2010 को वो दिल्ली HC के चीफ जस्टिस बने थे और 10 अक्टूबर 2011 को सुप्रीम कोर्ट में जज के तौर पर प्रमोट हुए थे। सीजेआई के रूप में दीपक मिश्रा का कार्यकाल 28 अगस्त, 2017 से 2 अक्टूबर, 2018 तक रहेगा।

जस्टिस दीपक मिश्रा सुप्रीम कोर्ट के सीनियर जजों में से एक रह चुके हैं और उन्होंने कई ऐतिहासिक फैसले भी सुनाए हैं।

  1. याकूब मेनन को लेकर आधी रात में हुई सुनवाई और निर्भया केस के दोषियों को सजा सुनाने का फैसला शामिल है।
  2. इसके अलावा जस्टिस मिश्रा ने देशभर के सिनेमा हालों में राष्ट्रीय गान का आदेश भी दिया था।
  3.  7 सितंबर, 2016 को जस्टिस दीपक मिश्र और जस्टिस सी नगाप्पन की बेंच ने राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को आदेश दिया कि एफ़आईआर की कॉपी 24 घंटों के अंदर अपनी वेबसाइट पर अपलोड करें।
  4. उत्तर प्रदेश की मायावती सरकार की प्रमोशन में आरक्षण की नीति पर दीपक मिश्रा की अध्यक्षता में इलाहाबाद हाई कोर्ट ने रोक लगा दी थी।
  5. 13 मई, 2016 को सुप्रीम कोर्ट की जिस बेंच ने आपराधिक मानहानि के प्रावधानों की संवैधानिकता को बरकरार रखने का आदेश सुनाया, उसमें जस्टिस मिश्र भी शामिल थे।

 

जानिये कब लॉन्च होगी मासेराती लेवांते जीटीएस पेट्रोल

NewsCode | 21 July, 2018 4:47 PM
newscode-image

मासेराती लेवांते का पेट्रोल वेरिएंट जीटीएस भारत में दस्तक देने के लिए तैयार है। जानकारी मिली है कि लेवांते जीटीएस पेट्रोल को 2018 की चौथी तिमाही में भारत में लॉन्च किया जाएगा।

लेवांते जीटीएस पेट्रोल में 3.8 लीटर का वी8 इंजन मिलेगा, जो 550 पीएस की पावर देगा। 0 से 100 किमी प्रति घंटा की रफ्तार पाने में इसे 4.2 सेकंड का समय लगेगा।

भारत में उपलब्ध लेवांते डीज़ल से तुलना करें तो पेट्रोल वेरिएंट ज्यादा पावरफुल और ज्यादा फुर्तिला है। डीज़ल वेरिएंट में 3.0 लीटर का वी6 डीज़ल लगा है, जो 275 पीएस की पावर देता है। 0 से 100 किमी प्रति घंटा की रफ्तार पाने में इसे 6.9 सेकंड का समय लगता है। इस मामले में पेट्रोल वेरिएंट 2.7 सेकंड तेज है।

लेवांते डीज़ल तीन वेरिएंट स्टैंडर्ड, ग्रां स्पोर्ट और ग्रां लूस्सो में उपलब्ध है। इसकी कीमत 1.45 करोड़ रूपए है। कयास लगाए जा रहे हैं कि जीटीएस पेट्रोल वेरिएंट की कीमत डीज़ल वेरिएंट से ज्यादा हो सकती है।

ये भी पढ़ें:

BMW की पहली मेड इन इंडिया बाइक लॉन्च, जानें कीमत और खासियत

एक अगस्त से महंगी होंगी होंडा की कारें, जानें कितनी बढ़ेगी कीमत

sun

320C

Clear

क?रिकेट

Jara Hatke

Read Also

जमशेदपुर : सूर्य सिंह बेसरा ने तीसरा मोर्चा बनाया, कहा- पूरे 81 सीटों पर विस चुनाव लड़ेगी झारखंड पीपुल्स पार्टी

NewsCode Jharkhand | 22 July, 2018 6:18 PM
newscode-image

जमशेदपुर झारखंड में सत्ताधारी पार्टी बीजेपी और महा गठबंधन की दिशा में जा रहे जेएमएम और अन्य राजनीतिक पार्टियों के खिलाफ पूर्व विधायक सह आजसू के संस्थापक और वर्तमान में झारखंड पीपुल्स पार्टी के मुखिया सूर्य सिंह बेसरा ने आगामी चुनाव में जाने के लिए तीसरा मोर्चा का बिगुल फूंका।

उन्‍होंने कहा कि राजनीतिक, सामाजिक संस्थाओं का समर्थन ले झारखंड के मूल वासियों के उत्थान के लिए पूरे 81 सीटों पर विधान सभा चुनाव लड़ेगी झारखंड पीपुल्स पार्टी। यह आम लोगों के लिए तीसरा विकल्प है।

जमशेदपुर : जिला मुख्यालय सभागार में स्वच्छ्ता सर्वेक्षण 2018 को लेकर बैठक आयोजित

झारखंड में तमाम राजनीतिक पार्टियों के चुनावी रणनीति को चुनौती देने के लिए उभरे तीसरे विकल्प के रूप में झारखंड पीपुल्स पार्टी और अन्य सहयोगी संस्थाओं ने रविवार को जमशेदपुर के आदिवासी एसोसिएशन में झारखंड नवनिर्माण महासभा जनमतके नाम से एक सभा किया।

यहां मुख्य रूप से तीसरे विकल्प के मुखिया सूर्य सिंह बेसरा और कोल्हान के सुदूर क्षेत्रों से आये स्थानीय आदिवासी नेता उपस्थित हुए। महासभा में खतियानधारी को जनमत का विकल्प बताते हुए नेताओं ने सभा को संबोधित किया।

वहीं सूर्य सिंह बेसरा ने कहा अब झारखंड में अवसरवाद की राजनीति से यहां के मूलवासियों को छुटकारा चाहिए। इस कारण तीसरा विकल्प बनाना पड़ा और इसी विकल्प के माध्यम से आगामी 2019  के चुनाव को आम आदमी पार्टी की तरह झारखंड के सभी सीटों को जीत यहां के मूल भाषा भाषियों का उत्थान करेंगे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

चतरा : जेल अदालत का आयोजन, एक कैदी को मिली रिहाई

NewsCode Jharkhand | 22 July, 2018 6:15 PM
newscode-image

चतरा। मंडल कारा में रविवार को जिला विधिक सेवा प्राधिकार के तत्वाधान में जेल अदालत  का आयोजन किया गया। जिसकी अध्यक्षता रवि शंकर पांडेय न्यायिक दंडाधिकारी प्रथम श्रेणी ने किया। इस अदालत में इटखोरी थाना क्षेत्र के टोनाटांड गांव निवासी मथुरी भुइयां के पुत्र इंदर भुईयां को रिहाई किया गया। जबकि इंदर भुइयां द्वारा चार हजार रुपया फाइन के तौर पर जमा किया गया।

चतरा : 24 पेटी शराब के साथ दो तस्कर गिरफ्तार

जेल अदालत में बंदियों को विभिन्न कानून की जानकारी भी दी गई। मौके पर कारा अधीक्षक बिपिन बिहारी मंडल, अधिवक्ता शिशिर कुमार पांडेय सहित अन्य न्यायिक कर्मी उपस्थित थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

More Story

more-story-image

छात्र संघ चुनाव तय समय पर हो - अभिनव भगत

more-story-image

धनबाद : मिशन 2019 की तैयारी में जुटी भाजपा, की बैठक