JNU: 75% हाजिरी के खिलाफ विद्यार्थियों का प्रदर्शन जारी, प्रशासनिक ब्लॉक किया खाली

NewsCode | 16 February, 2018 5:57 PM

JNU: 75% हाजिरी के खिलाफ विद्यार्थियों का प्रदर्शन जारी, प्रशासनिक ब्लॉक किया खाली

नई दिल्ली| जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) के विद्यार्थियों ने उच्च न्यायालय के एक आदेश के खिलाफ दो दिनों तक घेराबंदी करने के बाद शुक्रवार को प्रशासनिक ब्लॉक खाली कर दिया।

दिल्ली उच्च न्यायालय ने पिछले साल आदेश दिया था कि विद्यार्थी विश्वविद्यालय के प्रशासनिक ब्लॉक के 100 मीटर के दायरे के भीतर विरोध प्रदर्शन नहीं कर सकते हैं।

विद्यार्थियों ने हालांकि नई उपस्थिति की अनिवार्यता वाले आदेश के खिलाफ अपनी हड़ताल जारी रखी है, जिसके अनुसार अगर किसी विद्यार्थी की कक्षा में 75 प्रतिशत उपस्थिति नहीं होती है तो उसकी छात्रावास सुविधा और छात्रवृत्ति/फेलोशिप जब्त कर ली जाएगी।

‘परीक्षा पर चर्चा’ में बोले पीएम मोदी- दूसरों से नहीं बल्कि खुद से प्रतिस्पर्धा करें विद्यार्थी

जेएनयू छात्रसंघ (जेएनयूएसयू) की उपाध्यक्ष सिमोन जोया खान ने आईएएनएस को बताया, “हम अब प्रशासनिक क्षेत्र में नहीं हैं। अब ऐसी कोई घेराबंदी नहीं है, यह सब झूठ है, लेकिन हमारी हड़ताल जारी है।”

वहीं, विश्वविद्यालय के कुलपति एम. जगदीश कुमार के अनुसार, विद्यार्थियों ने विश्वविद्यालय के कामकाज के मुख्य केंद्र पर अवैध तरीके से विरोध प्रदर्शन किया, जो विश्वविद्यालय और उच्च न्यायालय दोनों के आदेश के खिलाफ है।

कश्मीर : पथराव से आतंकवादियों को भागने में मिली मदद

उन्होंने कल शाम विद्यार्थियों के विरोध प्रदर्शन को ‘घेराबंदी’ करार देते हुए उसकी निंदा की थी और उन पर एक अधिकारी के साथ मारपीट करने का भी आरोप लगाया था।

आईएएनएस

BJP सांसदों और विधायकों से बातचीत में बोले मोदी, सरकार का जोर शिक्षा, रोजगार, स्वास्थ्य पर

प्रधानमंत्री ने नरेंद्र मोदी मोबाइल एप के माध्यम से भाजपा सांसदों और विधायकों से बातचीत की।

NewsCode | 22 April, 2018 7:22 PM

BJP सांसदों और विधायकों से बातचीत में बोले मोदी, सरकार का जोर शिक्षा, रोजगार, स्वास्थ्य पर

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सांसदों और विधायकों द्वारा जमीनी स्तर पर किए जा रहे कार्यो की प्रशंसा की और कहा कि उनकी सरकार बच्चों की शिक्षा, युवाओं के लिए अवसरों और बुजुर्गो के लिए चिकित्सा पर ध्यान दे रही है। उन्होंने पार्टी के सभी विधायकों से गांवों के लिए कम से कम एक विकास कार्य को अपने हाथ में लेने को कहा, जो गांवों को आगे बढ़ने में मदद करेगा। साथ ही उन्होंने स्वच्छता अभियान पर ध्यान केंद्रित करते हुए महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर सुझावों को भी आमंत्रित किया।

प्रधानमंत्री ने नरेंद्र मोदी मोबाइल एप के माध्यम से भाजपा सांसदों और विधायकों से बातचीत के दौरान कहा, “लोगों के साथ आपका सीधा संबंध एक सकारात्मक बदलाव लाया है, जो यह सुनिश्चित करता है कि योजनाएं जमीनी स्तर तक पहुंची हैं और साथ ही लोगों की चिंताएं भी सांसदों तक पहुंची हैं। भाजपा नेताओं को लोगों के कल्याण के लिए समाज में किए जा रहे प्रत्येक कार्य में शामिल होना चाहिए।”

गांवों में लोगों की जिंदगियों को बेहतर बनाने के सवाल पर प्रधानमंत्री ने गांवों में रहने वालों की सामूहिक शक्ति पर जोर दिया।

उन्होंने कहा, “गांवों के विकास का कार्य केवल बजट या फिर सरकार का नहीं है..लोगों को उनके अधिकारों और कर्तव्यों को लेकर जागरूक होने की जरूरत है। किसी भी गांव की सबसे बड़ी ताकत है उसकी एकता।”

उन्होंने सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे के गांव का भी जिक्र किया, जहां उन्होंने स्वच्छता पर जोर दिया था और कैसे अब वह गांव दूसरे गांवों के लिए आदर्श बन गया है, जिसका उन्हें पालन करना चाहिए।

मुद्रा योजना के बारे में उन्होंने कहा कि 11 करोड़ लोग पहले ही योजना का लाभ उठा चुके हैं।

उन्होंने कहा, “स्वयं सहायता समूह में महिलाएं विभिन्न क्षेत्रों में रोजगार के नए अवसरों के साथ आ रही हैं।”

‘ग्राम स्वराज अभियान’ के लिए भाजपा कार्यकर्ताओं की प्रशंसा करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पार्टी कार्यकर्ताओं से मुद्रा योजना, उज्जवला योजना और बीमा योजनाओं के फायदों को जमीनी स्तर तक पहुंचाने का आग्रह किया। ‘ग्राम स्वराज अभियान’ 14 अप्रैल से पांच मई तक चलेगा।

उन्होंने पार्टी नेताओं से नियमित ग्रामसभा, सोशल मीडिया पहुंच को बेहतर बनाने, भीम एप के इस्तेमाल को प्रोत्साहित करने और कैशलैस लेनदेन के आंदोलन को आगे ले जाने का आग्रह किया।

एक घंटे तक चली बातचीत के दौरान प्रधानमंत्री ने हाल ही में शुरू की गई ‘आयुष्मान भारत’ योजना पर अपने विचार साझा किए।

उन्होंने कहा, “सरकार गांवों के लिए कल्याण केंद्रों की स्थापना करना चाहती है, ताकि लोग अच्छी स्वास्थ्य सुविधाएं प्राप्त कर सकें। सरकार बच्चों की शिक्षा, युवाओं के लिए अवसरों और बुजुर्गो के लिए चिकित्सा पर ध्यान केंद्रित कर रही है।”

झारखंड में नगर परिषद, नगर पंचायत और नगर निगम चुनावों में भाजपा की हालिया जीत का जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि यह जीत दिखाती है कि लोगों का विश्वास भाजपा की विकास की राजनीति में है।

बातचीत के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विभिन्न मुद्दों पर देश भर में पार्टी के निर्वाचित प्रतिनिधियों के सवालों के जवाब भी दिए। इन मुद्दों में युवाओं को कौशल सिखाना, ग्रामीण विकास और किसान कल्याण शामिल थे।

बच्चों से दुष्कर्म पर मृत्युदंड के अध्यादेश को राष्ट्रपति ने दी मंजूरी, पीएम मोदी की ‘जिद्दी बेटी’ ने तोड़ा अनशन

आईएएनएस

Read Also

दुमका : राज्यपाल से सम्मानित होंगे एसकेएमयू के टॉपर छात्र

NewsCode Jharkhand | 22 April, 2018 6:57 PM

दुमका : राज्यपाल से सम्मानित होंगे एसकेएमयू के टॉपर छात्र

दुमका। सिदो कान्हू मुर्मू विश्वविद्यालय के सर्वोच्च अंक प्राप्त करने वाले छात्र-छात्रों को राज्यपाल से सम्मानित होने का अवसर प्राप्त होगा। इसकी जानकारी प्रो रंजीत सिंह ने दी। उन्होंने बताया कि यह पहला मौका होगा, जब छात्र राज्यपाल से रूबरू होंगे। गुणवत्तापूर्ण पढ़ाई के लिए आपका सुझाव, सेमिनार, वर्कशॉप से फायदा सुझाव पाठ्यक्रम में सुधार जोड़ा जा सकता।

पाठ्यक्रम के अनुरूप पुस्तक होना चाहिए। पुस्तकालय और प्रयोगशाला में सुधार, परीक्षा और कॉपी जांच प्राप्तांक में कोई सुझाव, ऑनलाइन आवेदन, नामांकन प्रक्रिया, डिग्री शैक्षणिक के साथ खेलकूद प्रतियोगिता, सांस्कृतिक कार्यक्रम कला, सांस्कृतिक कार्यक्रम, स्पोर्ट्स, शैक्षणिक वातावरण के लिए सुधार के लिए सुझाव, भू-विज्ञान सहित विभिन्न विषयों पर टॉपर्स से राज्यपाल संवाद करेंगी।

रांची : रांची विश्वविद्यालय छात्र संघ चुनाव की अधिसूचना जारी

विश्वविद्यालय एवं महाविद्यालय के शैक्षणिक वातावरण, खेलकूद, कला संस्कृति अन्य गतिविधियां का हल निराकरण किया जायेगा। वहीं वर्तमान परिपेक्ष्य में बदलते परिवेश में उच्च शिक्षा की महता, वर्तमान स्थिति में सुधार के संभावानाओं पर चर्चा होगी। साहिबगंज महाविद्यालय की प्रीति भारती जो भू-विज्ञान में विश्वविद्यालय में टॉप किया है। बता दें कि विश्वविद्यालय से कुल 16 टॉपर छात्रों को चयनित किया गया है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

चक्रधरपुर : उड़िया स्कूल कमेटी का पुनर्गठन, एएन षाड़ंगी बने अध्यक्ष

NewsCode Jharkhand | 22 April, 2018 6:50 PM

चक्रधरपुर : उड़िया स्कूल कमेटी का पुनर्गठन, एएन षाड़ंगी बने अध्यक्ष

अशोक षाड़ंगी थे उपस्थित

चक्रधरपुर। रविवार को शहर के उड़िया मध्य विद्यालय परिसर में विद्यालय प्रबंध समिति का गठन किया गया। झारखंड अल्पसंख्यक आयोग के उपाध्यक्ष अशोक षाड़ंगी और प्रखंड शिक्षा प्रसार पदाधिकारी तेजिंदर कौर की मौजूदगी में गठन हुआ। बैठक तत्कालित अध्यक्ष अधिवक्ता दिनेश महापात्र की अध्यक्षता में हुई। सर्वसम्मति से ग्यारह सदस्यों की कमेटी बनीं। जिसमें सेवानिवृत शिक्षक नगेंद्र नाथ षाड़ंगी को अध्यक्ष और वार्ड पार्षद दिनेश जेना को सचिव मनोनित किया गया।

शिक्षक प्रतिनिधि में नरेंद्र प्रधान, पदेन अध्यक्ष क्षेत्र शिक्षा पदाधिकारी राम पति राम, अभिभावक में गौरांग गोप, जमीन दाता में राजीव कुमार षाड़ंगी, आजीवन दनदाता में दयानंद पाणी, शिक्षाविद् में सिस्टर निवेदिता महिला कॉलेज के प्रिंसिपल देवव्रत महापात्र, महिला प्रतिनिधि में शकुंतला सहर, एसटी/एससी सदस्य में निलमाधव सहर, सदस्य में आरपीएस इंटर कॉलेज के प्रोफेसर कृष्ण कुमार दास, जनप्रतिनिधि में वार्ड पार्षद अंजु देवी को मनोनित किया गया।

गिरिडीह : सीमेंट दुकान में चल रहा था नकली शराब बनाने का काम, पुलिस ने मारा छापा

इस मौके पर उड़िया भाषा और स्कूल में विद्यार्थियों की संख्या बढ़ाने पर चर्चा हुई। नवनिर्वाचित सदस्यों को सक्रिय रुप से स्कूल के बेहतरी के लिए कार्य करने का आग्रह किया गया। वहीं आयोग के उपाध्यक्ष अशोक षाड़ंगी ने शिक्षकों को नसीहत देते हुए कहा कि वे बच्चों के साथ तालमेल बना कर चले। ऐसा कोई भी गलत कार्य नहीं करें कि विद्यार्थी ही उन्हें सम्मान देना छोड़ दें।

बैठक में तुषार कांत नंदा, पवित्र मोहन मुंडल, हितेंदु षाड़ंगी, प्रताप कुमार मिश्र, पीके मिश्र, सुदाम षाड़ंगी, एस लक्ष्मी, आरती षाड़ंगी, सुभद्रा मिस्त्री, सुदाषिन साहु, सपन कुमार साहु, अजीत कुमार षाड़ंगी, शत्रुघन मोदक, भुवनानंद कर, बाबलु महाराणा, उदयनाथ षाड़ंगी, सुभाष दास, कर्ण कुमार दास, शंभुनाथ नंदो आदि मौजूद थे।

 

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

© Copyright 2017 NewsCode - All Rights Reserved.