Jio इंस्‍ट‍िट्यूट को सरकार ने बताया प्रतिष्ठित संस्थान, सोशल मीडिया पर उड़ा मजाक

NewsCode | 10 July, 2018 7:17 PM
newscode-image

नई दिल्ली। मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने 6 विश्वविद्यालयों को सबसे प्रतिष्ठित संस्थान का दर्जा देने की घोषणा की है। वर्ल्ड क्लास यूनिवर्सिटीज की रेस में इन भारतीय संस्थानों को भी शामिल करवाने के लिए ऐसा किया गया है। इन 6 यूनिवर्सिटीज में एक रिलायंस फाउंडेशन का जियो इंस्टिट्यूट भी है ज‍िसका नाम पहले किसी ने सुना तक नहीं।

रिलायंस के प्रस्तावित जियो इंस्टिट्यूट को केन्द्र सरकार द्वारा देश के 6 प्रतिष्ठित संस्थानों की सूची में शामिल किए जाने को विपक्षी दलों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अंबानी बंधुओं से करीबी रिश्तों का परिणाम बताते हुए इस पर सवाल खड़े कर रहे हैं तो वहीं सोशल मीड‍िया पर इसे लेकर लोग मजेदार र‍िऐक्‍शन्‍स भी दे रहे हैं।

राजनीतिक दलों ने उठाये सवाल

माकपा के महासचिव सीताराम येचुरी ने जियो संस्थान को देश को प्रतिष्ठित संस्थानों की सूची में डालने की तुलना उद्योगपतियों की कर्ज माफी से की। येचुरी ने ट्वीट कर कहा ‘‘अब तक वजूद में ही नहीं आये विश्वविद्यालय को प्रतिष्ठित संस्थान का तमगा देना कार्पोरेट जगत के तीन लाख करोड़ रुपये के गैरनिष्पादित कर्ज की तरह है जिसे सरकार ने चार साल में उद्योगपतियों से अपनी मित्रता निभाने के एवज में बट्टेखाते में डाल दिया।’’

सपा ने सरकार के इस फैसले को अंबानी बंधुओं से मोदी की नजदीकी का परिणाम बताया। सपा के राज्यसभा सदस्य जावेद अली खान ने कहा ‘‘जियो के मालिक से प्रधानमंत्री के संबध जगजाहिर हैं। जियो के लिये मोदी जी पहले विज्ञापन भी कर चुके हैं। इसलिये इस फैसले से हमें कोई आश्चर्य नहीं है।’’

राजद के प्रवक्ता और राज्यसभा सदस्य मनोज कुमार झा ने इस फैसले को मोदी सरकार की गरीब विरोधी मानसिकता का परिणाम बताया। झा ने ट्वीट कर कहा ‘‘जिस हुकूमत की प्राथमिकता में पहले पायदान पर जियो इंस्टिट्यूट हो, उन्हें आखिरी पायदान पर खड़े वंचित समूह दिखते नहीं।

ट्विटर यूजर्स ने खूब लिए मजे

सरकार ने किया बचाव

सरकार ने अपने इस फैसले का बचाव किया है और मंत्रालय समेत यूजीसी ने भी इस पर स्पष्टीकरण जारी किया है। वहीं मंत्रालय ने सोशल मीडिया पर छिड़ी लड़ाई को लेकर एक ट्वीट किया और बताया कि जियो इंस्टीट्यूट को क्यों इस लिस्ट में शामिल किया गया है। मंत्रालय के अनुसार इस संस्थान को ग्रीनफील्ड कैटेगरी के अधीन शामिल किया गया है। यह एक ऐसी कैटेगरी होती है, जिसमें उन संस्थानों को शामिल किया जाता है, जो अभी अस्तित्व में नहीं है और जल्द ही बनने जा रहे हैं।

रिलायंस ने पेश किया नया जियो फोन, जानें Jio Phone 2 कीमत और खासियत

जानें ‘JioPhone 2’ के शानदार फीचर्स और फोन बुकिंग का सबसे आसान तरीका

रांची : पारा शिक्षकों के लिये बड़ी खुशखबरी, मानदेय में होगी वृद्धि

NewsCode Jharkhand | 9 November, 2018 12:41 PM
newscode-image

40करोड़ रुपये का होगा अतिरिक्त भार

रांची। पारा शिक्षकों की मांगों पर विचार करनेवाली कमिटी की अनुसंशा पर सरकार ने उनका मानदेय बढ़ाने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। प्रोजेक्ट भवन में पारा शिक्षकों के प्रतिनिधिमंडल से वार्ता में यह जानकारी मुख्य सचिव सुधीर त्रिपाठी ने दी।

उन्होंने कहा कि इससे सरकार पर 40 करोड़ रुपये का अतिरिक्त वित्तीय भार बढ़ेगा और 56 हजार 170 पारा शिक्षक इससे लाभान्वित होंगे। साथ ही पारा शिक्षकों के लिए कल्याण कोष का गठन एवं टेट पास प्रमाण पत्र की अवधि विस्तार 5 वर्ष से 7 वर्ष किया जाएगा।

मुख्य सचिव ने प्रतिनिधमंडल से अपील की है कि इस अनुशंसा की प्रक्रिया को लागू करने में वे सहयोग करें, ताकि यह काम निर्विघ्न हो सके।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

sun

320C

Clear

Jara Hatke

Read Also

बोकारो : भीषण डकैती मामले का खुलासा, जेवरात के साथ दो अपराधी गिरफ्तार

NewsCode Jharkhand | 12 November, 2018 7:46 PM
newscode-image

बोकारो। बीते 26 सितंबर को चास थाना क्षेत्र में ठेकेदार रामसेवक के घर हुई दिनदहाड़े 25 लाख की डकैती मामले का खुलासा हो गया है। रविवार को गिरफ्तार विभाष पासवान और पिंकू पांडेय की स्वीकारोक्ति बयान पर इस कांड में शामिल लूटे गए जेवरात के साथ अन्य दो अपराधियों को गिरफ्तार किया गया है। इसकी जानकारी एसपी कार्तिक एस ने प्रेस वार्ता कर दी।

गिरफ्तार अपराधियों ने सेक्टर 12 में अधिवक्ता के घर और कॉपरेटिव कॉलोनी में चिकित्सक के घर डकैती का प्रयास करने के भी मामले में अपनी संलिप्तता स्वीकारी है।

एसपी ने बताया कि गिरफ्तार दोनों अपराधियों ने दोनों घर से लूटे गए मोबाइल फोन का आईईएमआई कोड बदलने के आरोप में दो दुकानदारों और एक ऑल्टो कार के मालिक को गिरफ्तार किया गया है।

कार्तिक एस ने बातया कि रविवार को गिरफ्तार किए गए अपराधियों के बयान पर ठेकेदार के घर रेकी करने वाले अख्तर हुसैन और एक अन्य साथी मोहम्मद जाहिद उर्फ मंटू को डकैती में लूटे गए तीन जोड़ी पायल और चार मोबाइल के साथ चास स्थित सिटी मॉल के पास से गिरफ्तार किया गया है।

पुलिस के अनुसार लूटे गए मोबाइल का आईईएमआई कोड को बदलने वाले दुकानदार सिद्धेश्वर माहतो और सैयद हुसैन अंसारी को भी लैपटॉप, मोबाइल समेत अन्य सामानों के साथ गिरफ्तार किया गया है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

रांची : बीजेपी प्रदेश कार्यालय में अनंत कुमार को दी गई श्रद्धांजलि

NewsCode Jharkhand | 12 November, 2018 5:36 PM
newscode-image

रांची। बीजेपी के वरिष्ठ नेता एवं केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार का निधन कैंसर से पीड़ित होने के कारण हुई। निधन की सूचना मिलने पर झारखंड बीजेपी प्रदेश कार्यालय में श्रद्धांजलि कार्यक्रम का आयोजन किया गया।

जिसमें मुख्य रूप से भाजपा प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुवा, सीपी सिंह, रामटहल चौधरी, शिवपूजन पाठक, दीपक प्रकाश, दीनदयाल बरनवाल भाजपा के कार्यकर्ता उपस्थित थे सबों ने उनके चित्रों पर पुष्प अर्पित कर शोक संवेदना व्यक्त किए।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुवा ने कहा हमारी पार्टी के लिए अनंत कुमार के निधन से अपूरणीय क्षति हुई है। जिसका भरपाई हम लोग नहीं कर पाएंगे। वह एक ऐसे नेता थे। जो भाजपा के कार्यकर्ताओं में उत्साह भरने का कार्य करते थे।

संगठन को मजबूती प्रदान करने के लिए हमेशा रणनीति बनाते रहते थे। और कुछ वर्ष पूर्व झारखंड में चुनाव प्रभारी के रूप में हुई आए थे। फिलहाल कहा जाए तो राष्ट्रपति चुनाव के दौरान महामहिम कोविंद राम के साथ रांची दौरे पर आए थे।

बहुत ही मिलनसार व्यक्ति थे। राज्यसभा में कभी भी बोलते हुए उनके चेहरे पर किसी भी प्रकार का गुस्से का सिकन तक नहीं देखने को मिलते थे। बहुत ही शांत स्वभाव के व्यक्ति थे उनके साथ काम करने का मौका हमें भी मिला है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

More Story

more-story-image

रांची : बाबूलाल मरांडी ने कैंसर अस्पताल के शिलान्यास पर...

more-story-image

रांची : मुख्यमंत्री आमंत्रण फुटबॉल कप प्रतियोगिता, रांची टीम ने...

X

अपना जिला चुने