अजब-गजब : माँ-बाप की मौत के चार साल बाद पैदा हुआ बच्चा!

NewsCode | 13 April, 2018 8:58 AM

पहली नज़र में तो इस ख़बर पर यकीन करना मुश्किल लगता है लेकिन वास्तव में ऐसा हुआ है।

newscode-image

बीजिंग। चीन में बच्चे के जन्म से जुड़ा एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है। अजीबोगरीब इसलिए क्यों इस बच्चे का जन्म उसके माता-पिता की मृत्यु के 4 साल बाद हुआ। दरअसल, कार दुर्घटना में मारे गए चीन के एक जोड़े ने चार साल बाद सरोगेसी की मदद से एक बच्चे को जन्म दिया। इसे चिकित्सा क्षेत्र में अपनी तरह का अलग मामला माना जा रहा है।

चीनी मीडिया के अनुसार 2013 में एक्सिडेंट में मारे गए जोड़े ने आईवीएफ के माध्यम से एक बच्चे को जन्म देने के लिए भ्रूण जमा किए थे। दुर्घटना के बाद भ्रूण का इस्तेमाल करने की अनुमति के लिए बच्चे के दादा-दादी को काफी लंबी कानूनी लड़ाई लड़नी पड़ी, लेकिन आखिरकार उन्हें उनका वारिस मिल गया।

इस मामले को रिपोर्ट करते हुए बीजिंग न्यूज ने बताया कि कैसे कानून व्यवस्थाओं में कमी के कारण मृतक के माता-पिता को किराए की कोख से बच्चे को जन्म देने के लिए बहुत लंबी लड़ाई लड़नी पड़ी।

भ्रूण को चीन के नानजिंग अस्पताल में माइनस 196 डिग्री पर नाइट्रोजन टैंक में सुरक्षित रखा गया था। रिपोर्ट के अनुसार कानूनी लड़ाई लड़ने के बाद मृतक के माता-पिता को फर्टिलाइज्ड एग्स का अधिकार मिला। लेकिन यह नहीं बताया गया कि वह अपने बच्चे के भ्रूण को अपने जीवन में ला सकते हैं या नहीं। उन्हें भ्रूण का अधिकार तो मिल गया उसके बाद और परेशानी खड़ी हो गई। वे भ्रूण को नानजिंग अस्पताल से तभी ले सकते थे जब उनके पास सबूत हो कि कोई और अस्पताल उसे रख सकेगा। लेकिन कानूनी बखेड़े के कारण किसी भी अस्पताल को भ्रूण रखने के लिए तैयार करना बहुत मुश्किल हो रहा था।

Chinese baby takes birth 4 years later his parents died in an accident IVF Surrogacy | NewsCode - Hindi News

चीन में सरोगेसी के अवैध होने के कारण एक ही रास्ता था कि ऐसा कुछ करने के लिए चीन की सीमा वर्ती इलाकों में अस्पताल ढूंढा जाए। लंबी खोज के बाद लाओस में एक सरौगेसी एजेंसी का पता चला जहां कॉमर्शियल सरोगेसी कानून था और उन्होंने भ्रूण को वहां लाने की कवायद शुरू कर दी लेकिन कोई भी एयरलाइन उसे लाने के लिए तैयार नहीं हुई और अंत में भ्रूण को कार से लाया गया। लाओस पहुंचने के बाद भ्रूण को किराए की मां के गर्भ में प्रत्यारोपित किया गया और दिसंबर 2017 को बच्चे का जन्म हुआ जिसका नाम तियांतियां रखा गया।

नागरिकता का सवाल

बच्चे के जन्म के बाद उसे चीन का नागरिक साबित करने को लेकर भी परिजनों को काफी मशक्क्त झेलनी पड़ी।। चूंकि बच्चे का जन्म चीन की जगह लाओस में सरोगेसी से हुआ था तो चीनी सरकार उसे अपने देश का नागरिक मानने को तैयार नहीं थी और उसे चीन जाने के लिए टूरिस्ट वीजा मिला। बच्चे के माता-पिता के जिंदा न रहने के कारण उसके दादा-दादी और नाना-नानी को अपने डीएनए की जांच करवानी पड़ी तब जाकर ये साबित हुआ कि तियांतियां उनका वारिस है और उसके मृतक माता-पिता चीनी नागरिक थे।

VIDEO : जाको राखे साइयां…बच्चे के ऊपर से निकल गयी कार, लेकिन नहीं आई एक भी खरोंच

व्यावसायिक सरोगेसी पर प्रतिबंध के खिलाफ विशेषज्ञ

एक साल में 3 बच्चों की मां बनीं सनी लियोन, तस्वीर देखकर चौंक गए फैन्स

सावन की अंतिम सोमवारी पर ऐसे करें शिव की पूजा, पूरी होगी मनोकामना

NewsCode | 19 August, 2018 7:30 PM
newscode-image

भगवान शिव की पूजा के लिए सावन के सोमवार बड़े खास होते हैं। इसमें शिव लिंग पर जल तथा बेल पत्र अर्पित किया जाता है। सावन का अंतिम सोमवार इस वर्ष शिव कृपा प्राप्त करने का अंतिम अवसर होगा। इस अवसर पर शिवभक्त अपने आराध्य को रिझाने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ना चाहेंगे।

आप भी अपनी कामनाओं को पूर्ण करने का प्रयास कर सकते हैं। किसी भी तरह की मनोकामना को पूर्ण करने के लिए सावन के अंतिम सोमवार को शिवजी की पूजा अवश्य करें। इस बार सावन का अंतिम सोमवार 20 अगस्त को है।

आइए जानें राशि अनुसार मनोकामना पूर्ति के लिए क्या करना चाहिए

मेष- इस राशि के जातक वाले अपनी जो भी मनोकामना पूरी करना चाहते हैं उसके लिए शिव जी को पंचामृत अर्पित करें।

वृषभ- इस राशि के लोग मनोकामना पूर्ति के लिए शिव जी को जल में दूध मिलाकर अर्पित करें।

मिथुन- अगर मिथुन राशि के लोग सावन के आखिरी सोमवार पर अपनी मनोकामना पूरी करना चाहते हैं तो शिव जी को बेलपत्र अर्पित करें।

कर्क- आप अपनी मनोकामना पूर्ति के लिए शिव जी को शक्कर अर्पित करें।

सिंह- इस राशि के लोग शिव जी को गन्ने का रस चढ़ाएं। इससे आपकी तमाम तकलीफें दूर होंगी।

कन्या- अपनी मन की इच्छा पूरी करने के लिए शिव जी को वनस्पति चढ़ाएं।

तुला- अपनी मनोकामनाओं की पूर्ति के लिए शिव जी को सफेद चंदन अर्पित करें।

वृश्चिक- अपनी अभिलाषाओं की पूर्ति के लिए शिव जी को दूध और जल अर्पित करें।

धनु- शिव जी को केसर और जल अर्पित करने से धनु राशि के लोगों की सभी मनोकामनाएं पूरी होंगी।

मकर- अपनी मनोकामनाओं की पूर्ति के लिए शिव जी को जल में काले तिल मिलाकर अर्पित करें।

कुंभ- शिव जी को पंचामृत अर्पित करना आपकी सारी मनोकामनाओं को पूरा करेगा।

मीन- अपनी मनोकामनाओं को पूर्ण करने के लिए कुश का जल शिव जी को अर्पित करें।

देवघर : सावन में नंदी के कान में कहें मन की बात, पूरी होगी मुराद

सावन के पावन महीने के हर सोमवार का है खास महत्व, पढ़ें

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

दुमका : सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाने से आएं बाज, वरना पुलिस करेगी कार्रवाई

NewsCode Jharkhand | 19 August, 2018 9:58 PM
newscode-image

दुमका। नगर थाना परिसर में आयोजित शांति समिति की बैठक की अध्यक्षता बीडीओ संजय कुमार दास ने की। इस अवसर एसडीपीओ पूज्य प्रकाश भी उपस्थित रहे। सभा को संबोधित करते हुए एसडीपीओ पूज्य प्रकाश ने बकरीद पर्व शांतिपूर्ण ढंग से मनाने को लेकर सभी से सहयोग का अपील किया। उन्होंने लोगों से खासतौर पर सोशल मीडिया पर अफवाह नहीं फैलाने का आग्रह किया। अफवाह फैलाने के स्थिति में व्हाटस एप ग्रुप एडमिन सहित मैसेज डालने वाले के विरूद्ध न्यायसंगत कार्रवाई की हिदायत भी उन्‍होंने दी।

दुमका : अज्ञात वाहन की चपेट में आकर दो सगेे भाई गंभीर रूप से घायल

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

रांची : सोमवारी के मौके पर मुख्यमंत्री कांवरियों से करेंगे सीधा संवाद

NewsCode Jharkhand | 19 August, 2018 9:50 PM
newscode-image

रांचीश्रावणी मेला के चौथी एवं आखिरी सोमवारी को मुख्यमंत्री  रघुवर दास रांची से देवघर लाईव संवाद श्रद्धालुओं से करेंगे। कार्यक्रम के लिए देवघर के उपायुक्त  राहुल कुमार सिन्हा द्वारा रविअर को मेला क्षेत्र का भ्रमण कर कार्यक्रम से संबंधित तैयारियों का जायजा लिया गया।

रांची : भाजपा बड़े-बड़े कॉरपोरेट घरानों के लिए करती है राजनीति- बाबूलाल मरांडी

इस दौरान उनके द्वारा बताया गया कि कल श्रावणी मेला के चौथी एवं अंतिम सोमवारी को मुख्यमंत्री रघुवर दास कांवरियों से सीधा संवाद कार्यक्रम हेतु कार्यक्रम स्थल के रूप में कोठिया टेन्ट सिटी को चिन्ह्ति किया गया है एवं माननीय मुख्यमंत्री जी के द्वारा यहां आगन्तुक कांवरियों से सीधा संवाद कल कोठिया टेन्ट सिटी से किया जायेगा।

इसके पूर्व में पहली सोमवारी को बाघमारा टेन्ट सिटी, दूसरी सोमवारी को शिवलोक परिसर एवं तृतीय सोमवारी को कांवरिया पथ (सरासनी) से मुख्यमंत्री के कांवरियों से सीधा संवाद कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। कल होने वाले इस कार्यक्रम हेतु ओबी वैन के अलावा लगभग सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

More Story

more-story-image

कटकमसांडी : शांति समिति की बैठक आयोजित, सौहार्द्रपूर्ण वातावरण में...

more-story-image

बेरमो : झाकोमयू की बैठक संपन्न, प्रबंधन से समस्याओं की...