जामताड़ा : पीएफआइ के कई ठिकानों पर हुई छापेमारी, कई सामग्री जब्त

NewsCode Jharkhand | 23 February, 2018 1:43 PM

कार्यालय का तोड़ा गया ताला

newscode-image

जामताड़ा। पूर्व से अपनी गतिविधियों को लकर संदिग्ध रहे पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआइ) नामक संस्था को राज्य सरकार ने हाल में ही प्रतिबंधित किया है। प्रतिबंध के बाद गुरुवार को कार्रवाई की दिशा में नारायणपुर थाना की पुलिस ने उसके ठेक बहियार स्थित कार्यालय का ताला तोड़कर उसे खंगाला। वहां मिले सामानों को जब्त कर पुलिस थाना ले गई।

पुलिस की छापेमारी में कार्यालय से आलमीरा, पुस्तक, पोस्टर, बैनर, बैग आदि जब्त किया गया है। इन सामानों में संस्था का नाम अंकित है। पूरे कार्यालय की गहन जांच में प्रशिक्षु डीएसपी नेहा बाला, पुलिस इंस्पेक्टर सुनील चौधरी, बीडीओ मो. जहीर आलम, पुलिस अधिकारी सुरेन्द्र प्रसाद जवानों के साथ थे।

जामताड़ा : पीएफआइ के कई ठिकानों पर हुई छापेमारी, कई सामग्री जब्त

संस्‍था का मुख्‍यालय पाकुड़ में है

पुलिस के मुताबिक संस्था का मुख्यालय झारखंड के पाकुड़ में है। विभिन्न स्थानों पर संस्था का संचालन वहीं से होता था। संस्था पूर्व में नारायणपुर में इफ्तार कीट, पढ़ाई वाला बैग आदि का वितरण कर चुकी है। हाल में योग शिविर भी लगाने का प्रयास किया था, जिसे पुलिस ने काफी मशक्कत के बाद नहीं होने दिया था। फ्रंट ने क्षेत्र के विभिन्न स्थानों पर सहिष्णुता, असहिष्णुता, खाने का अधिकार आदि विषय पर पोस्टर भी साटे थे। प्रशासन की सक्रियता के कारण संस्था का कार्यक्रम इस क्षेत्र में नहीं हो पाया था।

पुलिस कई कार्यक्रमों पर लगाई थी रोक

पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया ने वर्ष 2016 में ईद त्योहार के पूर्व नारायणपुर में इफ्तार कीट का वितरण किया गया था। इसके पश्चात नारायणपुर थाना क्षेत्र के चिरूडीह गांव में एक जनसभा करने का प्रयास किया गया था। प्रशासन बीच में ही सभा को निरस्त करवा दिया था। बाद में वर्ष 2017 के जून-जुलाई माह में नारायणपुर डाकबंगला मैदान में योग शिविर का आयोजन किया था। प्रशासन ने बिना अनुमति के इस तरह के आयोजन करने पर रोक लगाई थी। उसके आयोजनों को विफल करने में प्रशासन को कालांतर में काफी मशक्कत करनी पड़ी थी।

योग शिविर स्थल से पुलिस इंस्पेक्टर बाल्मीकि सिंह, बीडीओ मो. जहीर आलम, थाना प्रभारी सुरेन्द्र प्रसाद ने चार लोगों को हिरासत में लिया था, बाद में सभी को मुक्त कर दिया था। इसके अलावा नारायणपुर बस स्टैंड, पेट्रोल पंप, डाक बंगला, मुरलीपहाड़ी, चैनपुर आदि स्थानों पर विवादित पोस्टर पूर्व में फ्रंट ने चस्पा किया था।

जामताड़ा : स्कूल मर्ज करने से बढ़ेगी बेरोजगारी की समस्‍याएं- इरफान अंसारी

चेंगाइडीह में नहीं मिली आपत्तिजनक सामग्री

जामताड़ा थाना प्रभारी सह इंस्पेक्टर रवींद्र कुमार सिंह ने गुरुवार दोपहर को चेंगाइडीह में नवाब मियां के घर में छापेमारी की। वहां तलाशी के दौरान घर से कोई आपत्तिजनक सामान नहीं मिला। इंस्पेक्टर सिंह ने बताया कि किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है।

क्या कहते हैं अधिकारी

नारायणपुर के पुलिस इंस्पेक्टर सुनील चौधरी ने कहा कि सरकार ने फ्रंट को प्रतिबंधित किया है। इसी के तहत कार्यालय से सामान जब्त किया गया है। कार्यालय थाना क्षेत्र के पुरनीघाटी के इलियास मदनी के ठेकबहियार स्थित घर पर चल रहा था। प्रतिबंध लगने के बाद अब पुलिस ऐसे तत्वों पर कड़ी कार्रवाई करेगी।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

धनबाद : केंद्र और राज्य सरकार की जनविरोधी नीतियों से जनता में मची है त्राहिमाम-रणविजय सिंह 

NewsCode Karnataka | 21 September, 2018 9:47 PM
newscode-image

रेल मंत्री पीयूष गोयल का किया गया पुतला दहन

धनबाद। धनबाद के रणधीर वर्मा चौक पर शुक्रवार को कांग्रेस के प्रदेश सचिव रणविजय सिंह एवं जागो प्रमुख चुना यादव के नेतृत्व में रेल मंत्री पियूष गोयल का पुतला दहन किया गया। इस अवसर पर रणविजय सिंह ने कहा कि किसी भी कीमत पर डीसी रेल लाइन को उखाड़ने नहीं दिया जायेगा।

निरसा : पेड़ में फांसी लगाकर वृद्ध ने की आत्महत्या

उन्होंने कहा कि केंद्र और राज्य सरकार की जनविरोधी नीतियों के कारण प्रदेश की जनता त्राहिमाम कर रही है, जिस प्रकार आग का हवाला देकर डीसी रेल लाइन को बंद कर दिया गया, इससे 2 लाख लोग प्रभावित हुए हैं। अगर इस भ्रष्ट सरकार ने रेल की पटरी उखाड़ने की कोशिश की तो पूरे बीसीसीएल का चक्का जाम कर दिया जायेगा।
धनबाद : केंद्र और राज्य सरकार की जनविरोधी नीतियों से जनता में मची है त्राहिमाम-रणविजय सिंह 

उन्होंने कहा कि यहां की जनता को हर हाल में डीसी रेल लाइन चाहिए, यह उनका अधिकार है। सिंह ने कहा कि डीसी रेल लाइन के बंद होने से बिजली उत्पादन करने वाली कंपनियों को कोयला नहीं मिल पा रही है, जिसके कारण पूरे कोयलांचल में बिजली की व्यवस्था काफी चरमरा गई है।

कोयलांचल की जनता बिजली एवं पानी के कारण परेशान है। सिंह ने कहा कि यह लड़ाई सिर्फ धनबाद तक ही सीमित नहीं रहेगी इसे दिल्ली लेकर जाएंगे और आगामी 3 अक्टूबर को दिल्ली के जंतर-मंतर पर धरना देकर राष्ट्रपति एवं प्रधानमंत्री को ज्ञापन सौंपेंगे।

धनबाद : ट्रांसफार्मर लगने से खुश ग्रामीणों ने विधायक ढुल्लू महतो को पहनाया 51 किलो का माला

इस मौके पर उपस्थित जागो के प्रमुख चुन्ना यादव ने कहा कि रेल बंदी के खिलाफ अंतिम लड़ाई लड़ी जा रही है, इसके लिए कोई भी कीमत क्यों ना चुकानी पड़ी, इसके लिए कतरास की जनता पूरी तरह तैयार है।

उन्होंने कहा कि इस आंदोलन को कतरा से लेकर दिल्ली की सड़कों तक लड़ा जायेगा। इस अवसर पर भिखारी पासी, जी. मुरलीधरण, रमेश सिंह, बलराम हरिजन ,कुंदन यादव, सुधीर सिंह, छोटू रवानी, शहजादा हुसैन, सनी भगत, सोनू राय, मनोज सिंह ,भोलू यादव, शिवम सिंह, दिनेश प्रमाणिक, गणेश गुप्ता, चंदन कसेरा, असलम चिक्की आदि मौजूद थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

 

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

रांची : असामाजिक तत्वों का मनोबल बढ़ाने का काम न करें मंत्री- इबरार अहमद

NewsCode Jharkhand | 21 September, 2018 9:49 PM
newscode-image

रांची। एक तरफ झारखंड के मुखिया रघुवर दास शहर का माहौल बिगाड़ने पर सड़कों पर निकल कर लोगों को समझाते बुझाते हैं। तो वही दूसरी ओर उन्हीं के नगर विकास मंत्री सीएम के नेक विचारों को दरकिनार कर बीते दिनों हरमू बिगड़े साम्प्रदयिक माहौल पर अपने कार्यकर्ताओं को छुड़ाने के लिए थाना में धरना देकर संघ का गीत गाकर और माहौल खराब कर रहे थे।

रांची : फेडरेशन चेम्बर पर्यावरण सुरक्षा उप समिति ने किया पौधारोपण

इस घटना पर अंजुमन इस्लामिया राँची के सदर और सोशल वर्कर इबरार अहमद ने कहा कि रांची शहर के लोग अमन पसंद है, रांची का इतिहास रहा है कि सभी पर्व भाईचारे व सद्भाव के साथ मनाए जाते रहे हैं।

उन्होंने नगर विकास मंत्री सीपी सिंह पर आरोप लगाते हुए कहा कि किसी को भी कानून व्यवस्था बिगाड़ने की इजाजत नहीं देती है, लेकिन उन्होंने थाना में तीन घण्टे बैठकर असामाजिक तत्वों को साथ देने का काम किया है। जो समाज हित में सही नही है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

कोडरमा : प्रबंधन समिति का प्रशिक्षण, बाल शोषण मुक्त ग्राम निर्माण का लिया संकल्प

NewsCode Jharkhand | 21 September, 2018 9:40 PM
newscode-image

कोडरमा राष्ट्रीय झारखंड सेवा संस्थान एवं टीडीएच के संयुक्त तत्वाधान में विद्यालय प्रबंधन समिति का एक दिवसीय प्रशिक्षण का आयोजन किया गया। प्रशिक्षण के दौरान लगभग 15  गांव के विद्यालय प्रबंधन समिति के सदस्य एवं पदाधिकारी उपस्थित हुए। सभी ने अपने विद्यालय में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा बहाल करने के लिए समिति को सशक्त करने का निर्णय लिया और अपने गांव को बाल शोषण मुक्त ग्राम बनाने का निर्णय लिया।

कोडरमा : मुहर्रम में कई हिन्दू परिवार पूरी श्रद्धा से निकालते है ताजिया और निशान

प्रशिक्षण के दौरान आंध्र प्रदेश से आए हुए प्रशिक्षक दिनाबंधु ने अलग-अलग गतिविधि करके शिक्षकों के साथ तालमेल प्रशासन के साथ तालमेल विद्यालय प्रबंधन समिति का कार्य एवं दायित्व के बारे में बारीकी से बताया। साथ ही प्रशिक्षक अरुण शर्मा ने विद्यालय प्रबंधन समिति का गठन क्यों किया गया इसमें कितने पदाधिकारी होते हैं कौन पदाधिकारी होते हैं इसकी जानकारी लोगों को बारीकी से दिया। प्रशिक्षण के क्रम में प्रतिभागियों ने गीत नुक्कड़ का भी प्रस्तुत किया। प्रतिभागियों के अनुसार इस तरह का प्रशिक्षण की जरूरत लगातार है।

कार्यक्रम प्रभारी निर्भय कुल समन्वयक वैभव विकास पर्यवेक्षक जोसफिन एक्का, विपिन कुमार, नकुल कुमार के साथ साथ शिक्षक मित्र प्रशिक्षण में भाग लिए।  प्रशिक्षण में संस्था के सचिव मनोज दांगी, अध्यक्ष राम नंदन प्रसाद एवं कोषाध्यक्ष विजय कुमार ने भी भाग लिया। दांगी ने बताया कि इस तरह का प्रशिक्षण से सीधे सीधे  विद्यालय प्रबंधन समिति सशक्त होगा और अपने कर्तव्य एवं दायित्व का बोध होगा।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

More Story

more-story-image

चांडिल : तिरुलडीह पंचायत भवन में ग्राम विकास समिति पर...

more-story-image

गिरिडीह : गौरव यात्रा निकालकर मनाया गया ओडीएफ उत्सव