जामताड़ा : नवोदय विद्यालय के दो दिवसीय वार्षिक खेलकूद प्रतियोगिता में बच्चों ने दिखाया दम

नवोदय विद्यालय के छात्र-छात्राएं अच्छे पद पर दे रहें हैं सेवा : भोर सिंह

NewsCode Jharkhand | 9 February, 2018 1:41 PM

जामताड़ा : नवोदय विद्यालय के दो दिवसीय वार्षिक खेलकूद प्रतियोगिता में बच्चों ने दिखाया दम

जामताड़ा। जिला के तांबाजोड़ स्थित जवाहर नवोदय विद्यालय में दो दिवसीय वार्षिक खेलकूद सह एथलीट मीट का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ उप विकास आयुक्त भोर सिंह यादव ने मशाल जलाकर किया। डीडीसी भोर सिंह यादव ने कहा कि देश के ऊंचे प्रतिष्ठानों में नवोदय विद्यालय के छात्र-छात्राएं अच्छे पद पर सेवा दे रहे हैं।

नवोदय से निकले छात्र-छात्राएं अपने स्वास्थ्य व दिनचर्चा पर विशेष ध्यान देते हैं। जवाहर नवोदय विद्यालय का इतिहास गौरवपूर्ण रहा है। यहां के छात्र-छात्राओं में खेलकूद के प्रति विशेष रूझान देखा जाता है।

जामताड़ा : नवोदय विद्यालय के दो दिवसीय वार्षिक खेलकूद प्रतियोगिता में बच्चों ने दिखाया दम

डीडीसी ने कहा कि जामताड़ा नवोदय विद्यालय में आधारभूत संरचना की कमी है। खासकर चारदीवारी नहीं हैं। उन्‍होंने कहा कि बहुत जल्द ही विद्यालय की तमाम कमियां पूरी कर ली जाएगी।

जवाहर नवोदय के प्रचार्य स्वस्तिका कुंडू ने कहा कि नवोदय विद्यालय की स्थापना का उद्देश्य देश के ग्रामीण क्षेत्र के प्रतिभावान छात्र-छात्राओं को चयन कर उन्हें बेहतर शिक्षा प्रदान करने के साथ-साथ विभिन्न शैक्षिणिक क्षेत्र में आगे बढ़ाना है।

Read More : पलामू : खंडहर में तब्दील, तीन सरकारी शिक्षकों वाला संस्कृत भाषा का मंदिर

मौके पर समाजसेवी करालीचरण सार्खेल, शिक्षक राजेन्द्र यादव, पीके चौधरी, वर्षा स्वेता, माधुरी सिन्हा, अखिलेख कुमार, अनिता कुमारी आदि उपस्थित थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

गावां : सरकारी दुकान में बियर की किल्लत, दोगुनी कीमत वसूल रहे हैं दुकानदार

NewsCode Jharkhand | 24 April, 2018 9:53 PM

गावां : सरकारी दुकान में बियर की किल्लत, दोगुनी कीमत वसूल रहे हैं दुकानदार

गावां (गिरिडीह)। सरकारी शराब दुकानों में लगभग एक माह से बियर की भारी किल्लत है। कहीं भी सरकारी काउंटर पर बियर नही मिल रहा है। वहीं ब्लैक में सरकारी दुकानों में बिकने वाला बियर की खुलेआम दोगुनी कीमत पर धड़ल्ले से बेची जा रही है। इससे सरकारी शराब दुकानों के संचालन से जुड़े लोगों का बियर को कालाबाजारी में खपाए जाने की आशंका को बल मिल रहा है।

बता दें कि गावां बाजार स्थित सरकारी शराब दुकान में लगभग एक माह से बियर की भारी किल्लत चल रही है। इस दौरान यहां मुश्किल से दो-चार दिन बियर उपलब्ध रहा होगा। परंतु गावां बाजार के बाईपास रोड स्थित विभिन्न होटलों सहित कई फास्ट-फुड की दुकानों में लोगों को असानी से बियर उपलब्ध हो जा रहा है। हलांकि सरकारी शराब दुकान में बियर की किल्लत का बहाना बना बियर की ब्लैक मार्केटिंग कर रहे है।

गिरिडीह : प्रधान डाक घर हुआ हाईटेक, विधिवत हुवा सीएसआई का उद्घाटन

फिलहाल शादी-ब्याह का सीजन चल रहा है, इस कारण इस क्षेत्र में पड़ोसी राज्य बिहार के लोगों का आना-जाना भी बढ़ा है। इसका भी फायदा बखुबी उठाया जा रहा है। लोकल कुछ चर्चित लोगों के पास बियर की कालाबाजारी करने के बजाए होटल वाले बाहरी लोगों को सहजता से बीयर उपलब्ध करा रहे हैं।

गावां में पुलिस प्रशासन व उत्पाद विभाग की अनदेखी के कारण कई होटल इन दिनों बीयरबार की भूमिका में नजर आ रहा है। सुबह से ही इन होटलों में खुलेआम लोग बैठकर जाम छलकाते नजर आते हैं। ऐसा नही है कि गावां पुलिस को इसकी जानकारी नही है। सबकुछ जानते हुए भी पुलिस अपनी आंख बंद किए हुए है और यहां होटलों में ब्लैक से शराब बेचे जाने का धंधा फलफुल रहा है।

गावां: मनरेगा कर्मियों ने की बैठक, आंदोलन का लिया निर्णय

उत्पाद अधीक्षक अवधेश कुमार सिंह के अनुसार सरकारी काउंटर पर एक माह से बीयर की किल्लह है। क्योंकि बीयर की आपूर्ति कुछ दिनों से नियमित नही मिल पा रही है। आज की बीयर की खेप मिली है। इसे जल्द ही सभी सरकारी दुकानों में बिक्री के लिए उपलब्ध कराया जाएगा। गावां के होटलों में बीयर को कालाबाजारी में बेचे जाने की जानकारी नही है। अब संज्ञान में आया है तो इसकी जांच करेगें कि आखिर होटलों में बीयर कहां से उपलब्ध हो रहा है।

गावां थानेदार राजकुमार ने बतया कि होटलों में शराब की बिक्री किसी भी कीमत पर नही होने दिया जाएगा। गावां के होटल में शराब बेचे जाने की जानकारी नही थी। अगर होटल में बैठाकर शराब पिलाया जा रहा है तो होटल संचालक पर कार्रवाई की जाएगी।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

Read Also

गिरिडीह : सड़क सुरक्षा सप्ताह शुरू, स्कूली बच्चियों को मिला ट्रैफिक नियम की जानकारी

NewsCode Jharkhand | 24 April, 2018 9:52 PM

गिरिडीह : सड़क सुरक्षा सप्ताह शुरू, स्कूली बच्चियों को मिला ट्रैफिक नियम की जानकारी

गिरिडीह। 29वां सड़क सुरक्षा सप्ताह प्रारम्भ हो गया है। इस अवसर पर सर जेसी बोस बालिका उच्च विद्यालय में छात्राओं को ट्रैफिक से संबंधित जानकारी दी गई। यहाँ सड़क सुरक्षा के आईटी मैनेजर  ने कहा कि बिना उचित पेपर, बिना हेलमेट, शराब पीकर, मोबाइल का प्रयोग करते हुए गाड़ी न चलायें और ट्रैफिक  सिग्नल का अनुपालन निश्चित करें।

देवरी : बोरा लदा ट्रक पलटा, बाल-बाल बचे ड्राइवर व खलासी

उन्होंने कहा कि जीवन अनमोल है। थोड़ी सावधानी रखकर इसकी रक्षा की जा सकती है। मौके पर प्रधानाध्यापक देवेंद्र सिंह, शिक्षक मुन्ना प्रसाद कुशवाहा, रमेश कुमार सिंहा, शारदा कुमारी वर्मा, पापिया सरकार, नागेश्वर प्रसाद वर्मा, अख्तर अंसारी और अमरेश कुमार मौजूद थे।

​​(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

लातेहार : हाथी से पीड़ित परिवार को मिला 4 लाख मुआवजा, किसान की हुई थी मौत

NewsCode Jharkhand | 24 April, 2018 9:48 PM

लातेहार : हाथी से पीड़ित परिवार को मिला 4 लाख मुआवजा, किसान की हुई थी मौत

वन विभाग ने दिया मुआवजा

लातेहार। हाथी ने सेलबेस्टर किसान को मार डाला था। उसके परिजनों को वन विभाग ने 4 लाख रूपये का मुआवजा दिया। दो बेटों और दो बेटियों को एक-एक लाख रूपये रेंज वृंदा पांडेय ने दिये। किसान को छत्तीसगढ़ से आये हाथियों के झुंड ने कुचलकर मार डाला था।

सेलबेस्तर किसान उस दिन मवेशी चराने सिरसी पी एफ स्थित कुंभीकोना गया हुआ था। उसी दरम्यान हाथियों का झुंड आ धमका और पटक कर मार डाला। सेलबेस्तर किसान की मौत की खबर सुबह उनके परिजनों को हुई। जब रात में सेलबेस्तर किसान घर नहीं लौटा तो घर वालों व ग्रामीणों ने उसकी खोजबीन करना प्रारंभ किया। खोजने पर मालूम चला कि हाथियों ने सेलबेस्तर किसान को मार डाला है।

जम्मू-कश्मीर के डीजीपी का बयान, 2017 में मारे गए 206 आतंकी

रेंजर वृन्दा पांडेय ने सेलबेस्तर किसान के दो पुत्र कुंवर किसान, कुलदीप किसान तथा दो पुत्री अनुपा नगेशिया व प्यारी नगेशिया को एक-एक लाख रुपये कुल चार लाख रुपये का चेक मुआवजा के रूप में दिया। मौके पर वनरक्षी प्रमोद कुमार, समेत वनकर्मी मौजूद थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

© Copyright 2017 NewsCode - All Rights Reserved.