नारायणपुर : रामचरितमानस महायज्ञ, नारायणपुर प्रखंड के करमदाहा में आयोजन

NewsCode Jharkhand | 2 April, 2018 7:54 AM
newscode-image

नारायणपुर (जामताड़ा)। प्रखंड के करमदाहा में आयोजित रामचरितमानस महायज्ञ के तीसरे दिन के प्रवचन में जानकी शास्त्री जी ने भक्तों को भगवान की कथा सुनाई। उन्होंने सीताराम रटहू येही देहिया में येही तनवा में राजा राम रखउहू अपन मनवा में, गीत से प्रवचन की शुरूआत की।

उन्होंने कहा कि नारी को मां, भाभी, पत्नी, बहन न जाने कितने रिश्तों को निभानी पड़ती है। लोग अपनी कमाई का दसवां हिस्सा पुण्य के कार्य में लगाए। ऐसा करने से कोर्ट-कचहरी बीमारी का चक्कर नहीं लगेगा।

पाकुड़ : 72 घंटे का अखण्ड हरिनाम संकिर्तन का समापन

मधुर वाणी बोलिए ऐसा परमात्मा कह गए है। स्नान कर तुलसी में जल दें लाभ होगा परंतु लोगों के पास ऐसा करने का वक्त ही नहीं है। उन्होंने कहा कि बंगाली समुदाय में भक्ति ज्यादा होती है। जैसा भोजन करेंगे वैसा ही मन रहेगा। इसलिए शुद्ध भोजन ही करना चाहिए।

पति-पत्नी का रिश्ता भगवान और भक्त का है। पत्नी को चाहिए कि वह पति की सेवा करें। उन्होंने कहा कि घर को मंदिर बनाएं तीर्थ करने के लिए कहीं जाने की आवश्यकता नहीं होगी। सास को गौरी, ससुर को शंकर बनाए। ननद को दुर्गा समझे पति परमेश्वर है ऐसे घरों में सुख शांति होगी।

आयोजन को सफल बनाने में मनमोहन सिंह, उत्तम मंडल, संदीप मंडल, जयदेव मंडल, कृष्णा दास, बलदेव मंडल, परेश दास आदि ने अपनी अहम भूमिका निभाई।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

रांची : मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना पर विशेष तीर्थयात्री रेलगाड़ी से जाएंगे अजमेर

NewsCode Jharkhand | 14 November, 2018 2:28 PM
newscode-image

रांची। मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना के तहत बीस नवंबर को हटिया रेलवे स्टेशन से दक्षिणी छोटानागपुर प्रमंडल के दो सौ बीस चयनित तीर्थयात्री विशेष रेलगाड़ी से अजमेर शरीफ की यात्रा पर जाएंगे।

मुख्यमंत्री तीर्थ योजना के तहत रांची, खूंटी, लोहरदगा, सिमडेगा और गुमला जिले के मुस्लिम धर्मावलंबी तीर्थ यात्रा पर जा रहे हैं। इस संबंध में झारखंड पर्यटन विकास निगम लिमिटेड के प्रबंध निदेशक द्वारा भेजे गये पत्र के आलोक में रांची जिले के उपायुक्त ने सभी जिले के प्रखंड विकास पदाधिकारियों को सुयोग्य, बीपीएल कार्डधारी वरिष्ठ मुस्लिम नागरिकों को चिन्हित कर उनका आवेदन भेजने का आदेश दिया है।

सरकार की महत्वकांक्षी मुख्यमंत्री तीर्थयोजना के तहत रांची जिले के 60, खुटी जिले के 40, लोहरदगा जिले  के 40, सिमडेगा जिले के 40 एवम् गुमला जिले के 40  मुस्लिम धर्मावलंबी तीर्थ दर्शन के लिए अजमेर शरीफ जाएगें।

उपरोक्त विषय को लेकर झारखण्ड टुरिजम डेवलपमेंट कॉरपोरेशन लिमिडेट राँची के प्रबंध निदेशक द्वारा भेजे गए पत्र के आलोक में उपायुक्त रांची ने सभी प्रखण्ड विकास पदाधिकारीयों को निर्देश जारी किया है। जिसमे  सुयोग्य बीपीएल धारी वरिष्ठ मुस्लिम नागरिकों को चयनित कर विहित प्रपत्र में आवेदन समर्पित करने को कहा है।

निर्देश में ये भी कहा गया है  कि विहित प्रपत्र में आवेदन के साथ भेजे जाने वाले नागरिकों का चिकित्सा  प्रमाण पत्र भी संलग्न करना जरूरी है। विदित हो  कि सूची  के आधार पर चयनित रांची जिले के 60  वरिष्ठ मुस्लिम धर्मावलंबी  नागरिकों को 20 नवम्बर 2018 को हटिया स्टेशन से तीर्थ दर्शन के लिए रवाना किया जाएगा।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

sun

320C

Clear

Jara Hatke

Read Also

अध्यक्ष विहीन है JPSC, तीन माह पहले ही आयोग ने सरकार को दी थी अध्यक्ष पद खाली होने की सूचना

Om Prakash | 19 November, 2018 1:37 PM
newscode-image

रांची : झारखंड लोक सेवा आयोग (जेपीएससी) के अध्यक्ष के विद्यासागर का कार्यकाल 13 नवंबर को समाप्त हो गया. के विद्यासागर के बाद वर्तमान में जेपीएससी अध्यक्ष पद रिक्त है. इसी दिशा में पहल करते हुए कार्मिक विभाग मुख्यमंत्री के पास जेपीएससी के अध्यक्ष पद पर नियुक्ति का प्रस्ताव भेज चुका है. मुख्यमंत्री सचिवालय द्वारा तीन नामों पर स्वीकृति होने के बाद इसे अंतिम रूप से निर्णय लेने के लिए राज्यपाल को भेजा जायेगा.

विगत 13 नवंबर को के विद्यासागर का कार्यकाल खत्म होने के बाद जेपीएससी अध्यक्ष के रूप में किसी ने योग्यदान नहीं दिया है. हालांकि, आयोग ने तीन माह पूर्व ही सरकार को अध्यक्ष पद के खाली होने की जानकारी दे दी थी. सूचना के बाद भी सरकार की ओर से इस दिशा में पहल नहीं की गयी. वहीं, किसी को अध्यक्ष पद का प्रभार भी नहीं सौंपा गया. नियमत: अध्यक्ष के हटने पर आयोग के ही वरीय सदस्य को अध्यक्ष का प्रभार दिया जाता है, लेकिन सरकार की तरफ से इस दिशा में पहल नहीं की गयी है. आयोग के वरीय सदस्य के रूप में डॉ एके चट्टोराज एवं डॉ सुखी उरांव कार्य कर रहे हैं. चार सदस्यों में से दो सदस्य ही कार्य रहे हैं, दो सदस्य के पद रिक्त हैं. वहीं, आयोग के सचिव जगजीत सिंह की चुनाव प्रक्रिया में शामिल होने  के लिए तेलंगाना में पदस्थापना कर दी गयी है, जो संभवत: 13 दिसंबर तक तेलंगाना में चुनाव डयूटी में रहेंगे.

 

के विद्यासागर के अध्यक्ष बनने के बाद यह उम्मीद की जा रही थी कि उनके कार्यकाल में ही छठी जेपीएससी सिविल सेवा की मुख्य परीक्षा संपन्न होगी, लेकिन उनका कार्यकाल खत्म होने के बाद ही छठी जेपीएससी सिविल सेवा की मुख्य परीक्षा जनवरी में होनी है. सबसे कमाल की बात रही कि तमाम विवाद के बाद के विद्यासागर द्वारा छठी जेपीएससी सिविल सेवा की मुख्य परीक्षा की तिथियों की घोषण की गयी. अब देखना है कि नये जेपीएससी अध्यक्ष छठी जेपीएससी सिविल सेवा की मुख्य परीक्षा के सफल आयोजन में कितने सफल होते हैं, साथ ही आयोग की कई परीक्षा को सुचारू रूप से कैसे आयोजन करते हैं.

 

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

मुख्य सचिव सुधीर त्रिपाठी को फिर एक्सटेंशन, मार्च तक बने रह सकते हैं चीफ सेक्रेटरी

Om Prakash | 19 November, 2018 1:32 PM
newscode-image

Ranchi: वर्तमान मुख्य सचिव सुधीर त्रिपाठी को दूसरी बार एक्सटेंशन मिल सकता है. सूत्रों के अनुसार, केंद्र से इसकी हरी झंडी भी मिल गई है. फिलहाल सुधीर त्रिपाठी को दिसंबर तक का एक्सटेंशन मिला हुआ है. सूत्रों की मानें तो अगामी लोकसभा चुनाव को देखते हुए उन्हें दोबारा एक्सटेंशन दिया जायेगा. इससे पहले पूर्व मुख्य सचिव एसके चौधरी को तीन महीने का एक्सटेंशन मिला था.

सूत्रों के अनुसार, पीएमओ की पसंद सुधीर त्रिपाठी है. इससे पहले भी जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 23 सिंतबर को झारखंड आये थे, उसी दिन मुख्य सचिव सुधीर त्रिपाठी को एक्सटेंशन देने की पटकथा लिखा जा चुकी थी. पीएमओ में कार्यरत वरिष्ठ आइएएस अफसर नृपेंद्र मिश्रा से चर्चा होने के बाद सुधीर त्रिपाठी का एक्सटेंशन कंफर्म हुआ था. सत्ता के गलियारों में चर्चा यह भी है कि पीएमओ में कार्यरत वरिष्ठ आइएएस अफसर नृपेंद्र मिश्रा मुख्य सचिव सुधीर त्रिपाठी के संबंधी भी हैं.

वहीं नवंबर-दिसंबर तक केंद्र में भी कई महत्वपूर्ण पद खाली हो रहे हैं. चीफ इंफोरमेशन कमिश्नर(सीआइसी) का 24 नवंबर को कार्यकाल समाप्त हो रहा है. नेशनल कमिश्न फॉर वूमन के भी पांच पद खाली हो रहे हैं. वहीं पीएन संकुल को डिफेंस कंट्रोलर जनरल बनाये जाने की संभावना है.

राजीव गौबा, राजीव कुमार, बीके त्रिपाठी, यूपी सिंह, अलका तिवारी, अमित खरे और एनएन सिन्हा केंद्रीय प्रतिनियुक्ति में हैं. वहीं राज्य में इंदू शेखर चतुर्वेदी, डीके तिवारी, सुखदेव सिंह, केके खंडेलवाल, एल खियांग्यते और अरूण कुमार सिंह सीएस रैंक के अफसर हैं.

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

More Story

more-story-image

गुमला : अलग-अलग घटनाओं में तीन की मौत

more-story-image

रिश्ता लेकर आए तीन मानव तस्करों को ग्रामीणों ने पकड़ा

X

अपना जिला चुने