नारायणपुर : रामचरितमानस महायज्ञ, नारायणपुर प्रखंड के करमदाहा में आयोजन

NewsCode Jharkhand | 2 April, 2018 7:54 AM

नारायणपुर :  रामचरितमानस महायज्ञ, नारायणपुर प्रखंड के करमदाहा में आयोजन

नारायणपुर (जामताड़ा)। प्रखंड के करमदाहा में आयोजित रामचरितमानस महायज्ञ के तीसरे दिन के प्रवचन में जानकी शास्त्री जी ने भक्तों को भगवान की कथा सुनाई। उन्होंने सीताराम रटहू येही देहिया में येही तनवा में राजा राम रखउहू अपन मनवा में, गीत से प्रवचन की शुरूआत की।

उन्होंने कहा कि नारी को मां, भाभी, पत्नी, बहन न जाने कितने रिश्तों को निभानी पड़ती है। लोग अपनी कमाई का दसवां हिस्सा पुण्य के कार्य में लगाए। ऐसा करने से कोर्ट-कचहरी बीमारी का चक्कर नहीं लगेगा।

पाकुड़ : 72 घंटे का अखण्ड हरिनाम संकिर्तन का समापन

मधुर वाणी बोलिए ऐसा परमात्मा कह गए है। स्नान कर तुलसी में जल दें लाभ होगा परंतु लोगों के पास ऐसा करने का वक्त ही नहीं है। उन्होंने कहा कि बंगाली समुदाय में भक्ति ज्यादा होती है। जैसा भोजन करेंगे वैसा ही मन रहेगा। इसलिए शुद्ध भोजन ही करना चाहिए।

पति-पत्नी का रिश्ता भगवान और भक्त का है। पत्नी को चाहिए कि वह पति की सेवा करें। उन्होंने कहा कि घर को मंदिर बनाएं तीर्थ करने के लिए कहीं जाने की आवश्यकता नहीं होगी। सास को गौरी, ससुर को शंकर बनाए। ननद को दुर्गा समझे पति परमेश्वर है ऐसे घरों में सुख शांति होगी।

आयोजन को सफल बनाने में मनमोहन सिंह, उत्तम मंडल, संदीप मंडल, जयदेव मंडल, कृष्णा दास, बलदेव मंडल, परेश दास आदि ने अपनी अहम भूमिका निभाई।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

रांची : श्याम मंदिर में चल रहे आनंददायी श्रीमद् भागवत कथा का हुआ समापन

NewsCode Jharkhand | 22 May, 2018 6:14 PM

रांची : श्याम मंदिर में चल रहे आनंददायी श्रीमद् भागवत कथा का हुआ समापन

रांची । पुण्यतम पुरूषोतम मास में साँवरे सरकार की छत्र-छाया में हरमू रोड श्री श्याम मंदिर में मंगलवार को सप्ताह पंर्यत चल रही श्रीमद् भागवत कथा का विश्राम हुआ। कोलकाता से पधारे श्रीकृष्णानुरागी पंडित शिवम विष्णु पाठक ने श्री गोविन्द के अन्य विवाहों का वर्णन किया।

सुदामा के मार्मिक चरित्र का वर्णन करते हुए कथा व्यास ने कहा कि सुदंर दामन जिसका हो वही सुदामा बन सकता है। सुदामा वह महान चरित्र है जिसनें कभी भी श्री कृष्ण जो जग के मालिक है और सुदामा के परम मित्र है फिर भी कभी कुछ मांगा नहीं। नहीं मांगने वाला ही व्यक्ति श्रेष्ठा के शिखर को प्राप्त करता है।

रांची : 20 मई को हरमू मैदान में श्री साईं महोत्सव का होगा आयोजन

कथा विश्राम पर पंडित शिवम विष्णु ने राँची के सभी भक्तों को साधुवाद किया।उन्होनें विशेष रूप से श्री श्याम मित्र मण्डल परिवार का आभार प्रकट किया जिनके सहयोग से मुझे श्री श्याम मंदिर हरमू रोड में साँवरे सरकार के छत्र-छाया में कथा करने का  अवसर मिला।

भागवत कोई में मोल का विषय है सुनकर भक्तगण भाव विभोर हो गए। कथा व्यास ने कल कहा कि यदि कोई भी संस्था किसी भी सत्यकार्य के लिए भागवत कराना चाहती है तो निसंकोच सम्पर्क करे। कल कथा के विश्राम दिवस पर हवन-पूजन,प्रसाद का आयोजन किया गया।

Read Also

रांची : 20 मई को हरमू मैदान में श्री साईं महोत्सव का होगा आयोजन

महोत्सव के पूर्व साईं के भक्तों ने श्रद्धालुओं के पास जाकर भिक्षाटन किया

NewsCode Jharkhand | 19 May, 2018 10:38 AM

रांची : 20 मई को हरमू मैदान में श्री साईं महोत्सव का होगा आयोजन

रांची। ॐ श्री साईं सेवा मंडल रांची के तत्वावधान में 20 मई को हरमू मैदान में श्री साईं महोत्सव होने वाला है। महोत्सव के पूर्व साईं के भक्तों ने श्रद्धालुओं के पास जाकर भिक्षाटन किया।

इस क्रम में शुक्रवार को रातू रोड स्थित श्री साईं बाबा के मंदिर से भक्त एक चादर लेकर नगर में भिक्षाटन के लिए निकले। लगातार तीन वर्षों से संस्था द्वारा भिक्षाटन का यह काम हो रहा है। लोग अपनी श्रद्धा अनुसार बाबा को चादर में भेंट चढ़ाते हैं। सदस्‍य उस भेट को बाबा को समर्पित कर देते हैं।

चतरा : संस्कार केंद्र में बच्चों को मिली निःशुल्क शिक्षा

भिक्षाटन के कार्यक्रम में अध्यक्ष मनीष अग्रवाल, सचिव मनोज कुमार, संयोजक मुकेश काबरा, राम किशोर कुँवर, विकास कुमार, मीडिया प्रभारी प्रमोद सारस्वत, देवशरण सिन्हा, नीरज मुंजाल, दिलीप अग्रवाल, मनोरंजन शर्मा, कार्तिक कर्मकार, शामिल थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

शुरू हुआ रमज़ान का पाक महीना, रोज़ा रखते समय इन बातों का रखें खास ख्याल

NewsCode | 17 May, 2018 11:00 AM

शुरू हुआ रमज़ान का पाक महीना, रोज़ा रखते समय इन बातों का रखें खास ख्याल

रमज़ान-उल-मुबारक का चांद होने का ऐलान होते ही शहर की फिजा में खुशी की लहर दौड़ गई। मस्जिदें इबादत के लिए गुलजार होने लगीं तो बाजारों में रौनक परवान चढ़ने लगी। एक माह बाद खुशियों का पर्व ईद-उल-फित्र धूमधाम से मनाया जाएगा। चांद निकलने की तस्दीक होते ही लोगों ने एक-दूसरे को रमज़ान की मुबारकबाद दी।

17 मई यानी आज से रमजान की शुरुआत हो चुकी है, ऐसे में हम आपको बता रहे हैं इस पाक महीने से जुड़ी कुछ जरूरी बातें, जिन्हें माने बिना खुदा की इबादत अधूरी रहती है।

कुरान के अनुसार पैगंबर मोहम्मद का आदेश था कि रमजान अल्लाह का महीना माना जाए. रमजान में हर मुसलमान रोजा जरूर रखें, इबादत करें।

रमज़ान का महीना मुसलमानों के सब्र के इम्तिहान का खास महीना है। रोजा रखने से दूसरों की भूख-प्यास का अहसास होता है। अन्न की कद्रो-कीमत भी समझ में आती है।

रोजे के दौरान अगर कोई शख्स झूठ बोलता है, पीठ पीछे किसी की बुराई करना, झूठी कसम खाना, लालच करना या कोई भी गलत काम करता है तो उसका रोजा टूटा हुआ माना जाता है।

रोजा रखने की पहली शर्त भूखे रहना नहीं बल्कि खुदा की इबादत है। इस महीने में कोई भी बुरा काम करना हराम माना गया है. दिल में रहम और दूसरों की मदद करने से अल्लाह आपकी दुआ कुबूल करेंगे।

गर्मी में रमज़ान के दौरान कैसे रखें अपना ख्याल, सहरी-इफ्तार में खाएंगे ये खाना तो रहेंगे फिट

रोजे की हालात मे किसी की बुराई करने व सुनने, बुरा देखने, बुरा करने से बचना चाहिए। रमजानुल मुबारक रहमत व बरकत का महीना है।

रमजान इस्लामी महीने का नौवां महीना है। यह महीना इस्लाम के सबसे पाक महीनों में शुमार है। रमजान के महीने को और तीन हिस्सों में बांटा गया है। हर हिस्से में दस-दस दिन आते हैं। हर दस दिन के हिस्से को ‘अशरा’ कहते हैं।

माह-ए-रमज़ान में सहरी, इफ्तार और नमाज़ का समय बताएगा ये ऐप

X

अपना जिला चुने