ईरान ने भारत को चेताया- अमेरिका की बात मानी तो भुगतना पड़ेगा खामियाजा

NewsCode | 12 July, 2018 12:23 PM
newscode-image

नई दिल्ली। ईरान ने चाबहार बंदरगाह में वादे के मुताबिक निवेश ना करने और तेल के आयात में  कमी को लेकर भारत को चेतावनी दी है। ईरान ने कहा है कि अगर भारत अमेरिकी दबाव में आकर तेल के आयात में कटौती  करता है तो फिर वह भारत को दिए गए विशेषाधिकार वापस छीन लेगा। ईरान के उप राजदूत मसूद रजवानियन रहागी ने कहा ने कहा कि अगर भारत ईरान से आयात किए जाने वाले तेल में कटौती करने के लिए सऊदी अरब, रूस, ईराक और यूएस व अन्य देशों का रुख करता है तो ईरान भारत को दिए विशेषाधिकार खत्म कर देगा।

उन्होंने कहा, यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि चाबहार बंदरगाह के विस्तार के लिए भारत वादे के मुताबिक निवेश करने में असफल रहा है। भारत से उम्मीद की जाती है कि वह इस संबंध में जरूरी कदम उठाएगा क्योंकि चाबहार बंदरगाह में उसका सहयोग और भागीदारी सामरिक रूप से अहम है। रहागी एक सेमिनार में ‘वैश्विक राजनीति में उभरती चुनौतियां-अवसर और भारत के साथ द्विपक्षीय संबंधों पर असर’ विषय पर बोल रहे थे।

यूएस के ईरान से तेल आयात करने को लेकर लगाए गए प्रतिबंध की तरफ इशारा करते हुए रहागी ने कहा कि उनका देश भारत का विश्वसनीय ऊर्जा साझेदार रहा है और ईरान ने हमेशा से उपभोक्ताओं और आपूर्तिकर्ताओं के हितों के ध्यान में रखते हुए उचित कीमत में तेल की आपूर्ति की है।

रहागी ने कहा, ‘अगर भारत तेल आपूर्ति के लिए ईरान को सऊदी अरब, रूस, ईराक और यूएस से रिप्लेस करने की कोशिश करता है तो फिर उसे डॉलर से आयात करना होगा जिसका मतलब होगा कि भारत का चालू अकाउंट घाटा बढ़ेगा। इसके अलावा ईरान ने भारत को जो विशेष लाभ दिए हैं, वह भी वापस ले लेगा।

चाबहार बंदरगाह भारत के लिए बेहद अहम

‘ईरान के वरिष्ठ राजदूत ने कहा कि दोनों देशों को रिश्ते को मजबूत करने के लिए कोशिश करनी होगी और इसके लिए मजबूत राजनीतिक इच्छाशक्ति की जरूरत होगी। बता दें कि चाबहार बंदरगाह भारत के लिए कारोबार से लेकर रणनीतिक तौर पर बेहद अहम है। ओमान की खाड़ी के इस बंदरगाह की मदद से भारत पाकिस्तान का रास्ता बचा कर ईरान और अफगानिस्तान के साथ व्यापार कर सकता है।

इतना ही नहीं, ईरान के पास दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा प्राकृतिक गैस भंडार है। इराक और सऊदी अरब के बाद ईरान भारत का तीसरा सबसे बड़ा तेल आपूर्तिकर्ता देश है। वित्त वर्ष 2017-18 के पहले 10 महीनों में ईरान ने भारत को 1.84 करोड़ टन कच्चा तेल दिया था। यह आंकड़ा अप्रैल, 2017 से जनवरी 2018 के बीच का है।

ईरान परमाणु समझौता : भारत का रचनात्मक आदान-प्रदान का आह्वान

गौरतलब है कि अमेरिका ने भारत समेत अन्य देशों से 4 नवंबर 2018 तक ईरान से तेल का आयात बंद करने के लिए कहा है। ऐसा नहीं करने पर अमेरिका ने प्रतिबंध झेलने की चेतावनी दी है। खबर एजेंसी के मुताबिक, यूएस के ईरान पर प्रतिबंध लगाने के बाद से जून महीने में भारत के ईरान से तेल आयात में 15.9 फीसदी की कमी आई है।

जून महीने में भारत ने ईरान से प्रतिदिन 592800 बैरल तेल का आयात किया जबकि मई महीने में यह 705,200 बैरल प्रतिदिन था। भारत के बाद चीन ईरान का सबसे बड़ा ग्राहक है। भारत ने रिफाइनरियों से तेहरान से तेल आयात में कटौती के लिए अन्य विकल्पों पर विचार करने के लिए कहा है।

ईरान की चाबहार बंदरगाह का उद्घाटन, भारत के लिए खुला यूरोप जाने का नया रास्ता

ईरानी राजदूत ने कहा, ‘भारत से उम्मीद की जाती है कि वह यूएस को चाबहार बंदरगाह की अहमियत समझाए। चाबहार अफगानिस्तान में व्यापार का प्रमुख लिंक हो सकता है। अपने स्वार्थ में यूएस पूरे विश्व को टारगेट कर रहा है, चाहे उसके दोस्त हों या दुश्मन. यूएस को डरा-धमकाकर या ताकत का इस्तेमाल करने की नीति छोड़ देनी चाहिए।’

उल्लेखनीय है कि चाबहार बंदरगाह भारत-ईरान की मजबूत आर्थिक साझेदारी का प्रतीक है। इस बंदरगाह से भारत की अफगानिस्तान तक पहुंच हो जाएगी। चाबहार बंदरगाह से भारत ईरान से प्राकृतिक गैस का आयात भी करेगा। भारत के रणनीतिकार चाबहार बंदरगाह को चीन के पाकिस्तान में ग्वादर बंदरगाह के जवाब के तौर पर भी देखते हैं।

इसके अलावा भारत अपनी मुद्रा रुपए में ईरान से तेल का आयात करता है। ईरान-भारत के बीच रुपए-रियाल व्यापार व्यवस्था है। इस लिहाज से ईरान भारत के लिए काफी अहमियत रखता है।

अमेरिका के परमाणु समझौते से अलग होने पर भड़का ईरान, जानिए विश्व के नेताओं ने क्या कहा

ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी का भारत दौरा, हैदराबाद के कुतुब शाही मकबरे का किया दीदार

 

जमशेदपुर : मंत्री सरयू राय ने तीन प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों का किया उद्घाटन

NewsCode Jharkhand | 17 November, 2018 7:23 PM
newscode-image

जमशेदपुर। खाद्य आपूर्ति मंत्री सह जमशेदपुर पश्चिम विधानसभा क्षेत्र के विधायक सरयू राय ने अपने विधानसभा क्षेत्र के निवासियों के लिए तीन शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों का उद्घाटन किया। इन स्वास्थ्य केन्द्रों को विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत कदमा के रामजनम नगर, सोनारी के रूपनगर तथा मानगो स्थित बालीगुमा के गौड़गोड़ा में शुरू किया गया है।

इस अवसर पर मंत्री सरयू राय ने बताया कि बस्ती क्षेत्र में निवास करने वाले गरीब तबके के मरीजों को छोटी-मोटी बीमारी या बुखार जैसी स्थिति में इलाज करवाने के लिए कहीं दूर अस्पताल या प्राईवेट क्लीनिक में जाने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी।

उन्हें अपने ही क्षेत्र में निःशुल्क इलाज का सुविधा मिल सकेगा जिससे अबतक वे वंचित थे। इन सभी स्वास्थ्य केन्द्रों को जमशेदपुर के सिविल सर्जन के देखरेख में स्वास्थ्य विभाग के द्वारा संचालित किया जाएगा।

केन्द्रों में स्वास्थ्य विभाग के द्वारा दवा तथा जरूरी उपकरण उपलब्ध कराये जायेंगे। विभाग की ओर से अभी केन्द्रों में एक-एक चिकित्सक व तीन-तीन नर्स उपलब्ध कराये गये हैं। मंत्री राय ने बताया कि बहुत जल्द वे अपने विधायक निधि से एक एम्बुलेंस उपलब्ध करायेंगे जिसका लाभ यहाँ के जरूरतमंद मरीज ले सकेंगे।

मंत्री राय ने बताया कि भविष्य में लोगों की जरूरत के अनुसार इसमें और भी चिकित्सा सुविधा उपलब्ध करायेंगे। स्थानीय लोग भी इसे और बेहतर बनाने के लिए अपना सुझाव दें ताकि आगे चलकर इसका संचालन बेहतर तरीके से किया जा सके।

ज्ञात हो कि अपने क्षेत्र के लोगों को स्थानीय स्तर पर प्राथमिक चिकित्सा सुविधा उपलब्ध करवाने के उद्देश्य से मंत्री सरयू राय ने जमशेदपुर के सिविल सर्जन डॉ महेश्वर प्रसाद के साथ स्थल निरीक्षण कर  स्वास्थ्य केन्द्र संचालित करने के लिए उक्त तीनों स्थलों को उपयुक्त पाया था।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

sun

320C

Clear

Jara Hatke

Read Also

 आम आदमी पार्टी राज्य कार्यसमिति की आपातकालिन बैठक

Om Prakash | 17 November, 2018 6:55 PM
newscode-image

रांची : राज्य में अराजक स्थिति को लेकर आम आदमी पार्टी झारखंड प्रदेश कार्यसमिति की आपातकालिन बैठक प्रदेश संयोजक जयशंकर चौधरी की अध्यक्षता में राँची में कचहरी स्थित होटल पार्क स्ट्रीट में हुई। बैठक में राज्य के विभिन्न क्षेत्रों से आये हुए प्रदेश समिति के पदाधिकारी सम्मिलत हुए तथा कई महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा हुई।

मौके पर मौके पर प्रदेश संयोजक जयशंकर चौधरी ने कहा कि कहा कि आज रघुवर सरकार कि तानाशाही व दमनकारी नीतियों के कारण आज पुरे प्रदेश में अराजक व भयावह स्थिति बनी हुई है। सच्चाई, विरोध व अधिकार की आवाज को दबाने के लिए रघुवर सरकार ने लाठी और गोली को अपना हथियार बना लिया है जहाँ शिक्षक, छात्र, मीडियाकर्मी, किसान, मजदूर, आदिवासी, महिलायें कोई सुरक्षित नहीं है।

आम आदमी पार्टी प्रत्येक जिले और विधानसभा  में पारा शिक्षकोँ व रसोइया-संयोजिकाओं के समर्थन में आंदोलन करेगी एवं उनके माँगो के समर्थन में उनकी आवाज बुलंद करेगी। आम आदमी पार्टी के कार्यकार्यता प्रत्येक विधानसभा के प्रत्येक पंचायत में जाकर लुटेरी, झूठी, भस्टाचारी एवं लाठी गोली वाली रघुवर सरकार का भण्डा फोड़ेंगे। इस बाबत विधानसभा स्तर के सभी पदाधिकारियों  को प्रशिक्षित करने के लिये इस  26-27 नवम्बर को राज्यस्तरीय विधानसभा पदाधिकारी कार्यशाला का आयोजन किया जा रहा है।

बैठक में मुख्य रूप से प्रदेश उपाध्यक्ष -लक्ष्मीनारायण मुंडा, पवन पांडे, प्रेम कुमार, संकेत रंजन एवं व्यास उपाध्याय, प्रदेश सचिव राजन सिंह, छोटानागपुर प्रमंडल प्रभारी विजय सिंह, लोहरदगा प्रभारी रामनरायण भगत, कोषाध्यक्ष – आलोक शरण , सह कोषाध्यक्ष- रवि निरंजन टोप्पो,  संयुक्त सचिव- यास्मीन लाल ,  मंटू पांडेय,  दिगम्बर साहा,  हरदयाल यादव, बिनोद केरकेट्टा, राइस अफरीदी, रसका सोरेन एवं  मदन पांडे, महिला मोर्चा से वन्दना कुमारी एवं मिरु हांसदा, युवा मोर्चा से  प्रितम मिश्रा तथा समिति सदस्य- हर्ष दुबे,  बिनोद सिंह , कृष्णा किशोर एवं राजेश सिंह,  सोशल मीडिया एवं मीडिया प्रभारी सहित कई अन्य पदाधिकारी उपस्थित थे ।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

चतरा : अज्ञात महिला का शव पुलिस ने किया बरामद

NewsCode Jharkhand | 17 November, 2018 6:45 PM
newscode-image

चतरा। चतरा जले के प्रतापपुर थाना क्षेत्र जोगीयारा पंचायत अंतर्गत गांगपुर बड़की मैदान के परसवन से शनिवार को  पुलिस ने 24 वर्षीय अज्ञात महिला का खून से लथ-पथ शव बरामद किया।

प्रतापपुर थाना प्रभारी रामराज्य साहू ने बताया कि जोगीयारा पंचायत मुखिया ने सूचना दी कि एक अज्ञात महिला का शव  गांगपुर मैदान में सड़क किनारे  परस वन मे फेका हुआ है। मिली सूचना के आधार  पर घटनास्थल पर पहुंचकर शव को अपने कब्जे में लिया और उसके पंचनामा करने के बाद पोस्टमार्टम के लिए चतरा भेज दिया।

इस युवती की हत्या धार धार हथियार से गर्दन काटकर की गई है। उन्होंने कहा कि इस संदर्भ में पोस्टमार्टम के बाद सब कुछ स्पष्ट हो सकेगा।

मौके पर पहुंचे दर्जनों पुरुष तथा महिलाओं ने इस अज्ञात  शव को पहचानने से इंकार किया। लोगों का कहना है कि यह हमारे क्षेत्र की महिला नहीं जान प्रतीत होती है।

बताते चलें कि मृतक महिला  क्रीम कलर साडी पहने तथा उसके पैर अलता से रंगा हुआ था।ये शादीशुदा महिला थी।  घटनास्थल पर पहुंचने वालो में ए एस आइ एल बी  पासवान , के के शर्मा, तथा जिला बल के जवान  शामिल थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

More Story

more-story-image

झारखंडियों को बेघर करने की साजिश: उमाकान्त रजक 

more-story-image

चाईबासा : पारा शिक्षकों पर लाठीचार्ज के खिलाफ कांग्रेस का...

X

अपना जिला चुने