IPL 2018 का थीम सॉन्ग ‘बेस्ट वर्सेज बेस्ट’ लॉन्च, देखें वीडियो

NewsCode | 13 March, 2018 12:54 PM
newscode-image

नई दिल्ली| इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) ने सोमवार को 2018 संस्करण का एंथम लांच किया।

आईपीएल के 11वें संस्करण की शुरुआत सात अप्रैल से हो रही जिसमें मौजूदा विजेता मुंबई इंडियंस और चेन्नई सुपर किंग्स की टीमें आमने-सामने होंगी।

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) और लीग का प्रसारणकर्ता चैनल स्टार इंडिया ने मिलकर इस एंथम को बनाया है जिसका शीर्षक बेस्ट बनाम बेस्ट है।

इस गाने को पांच अलग-अलग भाषाओं- हिंदी, तमिल, बंगाली, कन्नड़ और तेलुगू में लांच किया गया है जो टीवी, रेडियो और डिजिटल माध्यम पर सुनाई दिया जाएगा।

देखें वीडियो-

इस गाने पर दक्षिण अफ्रीका के फिल्म निर्माता डेन मेस, संगीतकार राजीव वी. भल्ला और गायक सिद्धार्थ बाररुर ने काम किया है।

नरेश अग्रवाल का बयान हर महिला का अपमान, महिला आयोग करे कार्रवाई : अखिलेश यादव

बीसीसीआई के मुख्य कार्यकारी अधिकारी राहुल जौहरी ने कहा, “आईपीएल में काफी रोमांच है जहां स्टेडियम खचाखच भरे रहते हैं और सर्वश्रेष्ठ प्रतिभा इस टूर्नामेंट में आमने-सामने होती है। बेस्ट बनाम बेस्ट उस भावना को प्रदर्शित करता है जो इस खेल से जुड़ी हुई है।”

IND vs SL T20: टीम इंडिया ने ले लिया बदला, श्रीलंका को हराकर पहुंची फाइनल में

आईएएनएस

IND vs AFG : टॉस का सिक्का उछालते ही कैप्टन धोनी ने पूरी कर ली अपनी डबल सेंचुरी

NewsCode | 25 September, 2018 5:55 PM
newscode-image

नई दिल्ली। दुबई में चल रहे एशिया कप के सुपर-4 मुकाबले के अंतिम मैच में अफगानिस्तान ने मंगलवार को भारत के खिलाफ टॉस जीत कर बल्लेबाजी का फैसला किया। टॉस के वक्त भारतीय प्रशंसकों के लिए महेंद्र सिंह धोनी खुशखबरी लेकर आए। खुशखबरी ऐसी कि शुरू में तो किसी को इस बात का यकीन ही नहीं हुआ, लेकिन यह सच साबित हुआ। दरअसल, धोनी इस मैच में टीम इंडिया की कप्तानी कर रहे हैं और अफगानिस्तान के खिलाफ इस मैच में टॉस के लिए पहुंचे। टॉस का सिक्का उछालते ही धोनी ने वनडे में अपनी कप्तानी की डबल सेंचुरी पूरी कर ली।

एशिया कप के फाइनल में स्थान पक्का कर चुकी टीम इंडिया ने इस मैच में रोहित शर्मा को आराम दिया और धोनी को अपने 200वें वनडे में कप्तानी का मौका दिया गया।

बता दें कि 37 साल के धोनी ने 696 दिनों के बाद टीम इंडिया की कप्तानी संभाली है। 2017 में धोनी ने कप्तानी (सीमित ओवरों के प्रारूप से) छोड़ने का फैसला किया था और इसके बाद ही विराट कोहली को अपना उत्तराधिकारी बनाने का रास्ता बनाया।

इस मैच में भारतीय टीम में पांच बदलाव किए। नियमित कप्तान रोहित शर्मा और उपकप्तान शिखर धवन, भुवनेश्वर कुमार, जसप्रीत बुमराह और युजवेंद्र चहल को विश्राम दिया गया है। तेज गेंदबाज दीपक चाहर अपने वनडे करियर का आगाज करने का मौका मिला। टीम में लोकेश राहुल, मनीष पांडे, खलील अहमद और सिद्धार्थ कौल को अंतिम 11 में जगह मिली है।

इस मैच से पहले तक भारतीय कप्तानों का वनडे रिकॉर्डः TOP-7

1. एमएस धोनी (2007-2018) 199 मैच, 110 जीते, 74 हारे

2. मो. अजहरुद्दीन (1990-1999) 174 मैच, 90 जीते, 76 हारे

3. सौरव गांगुली (1999-2005) 146 मैच, 76 जीते, 65 हारे

4. राहुल द्रविड़ (2000-2007) 79 मैच, 42 जीते, 33 हारे

5. कपिल देव (1982-1987) 74 मैच, 39 जीते, 33 हारे

6. सचिन तेंदुलकर (1996-2000) 73 मैच, 23 जीते, 43 हारे

7. विराट कोहली (2013-2018) 52 मैच, 39 जीते, 12 हारे


 

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

चतरा : गैरमजरूआ भूमि से सरकारी विद्यालय हटाने का निर्देश

NewsCode Jharkhand | 25 September, 2018 6:58 PM
newscode-image

अंचल अधिकारी ने विद्यालय के सचिव को भेजा नोटिस

चतरा। इटखोरी प्रखंड स्थित गैरमजरूआ भूमि पर संचालित उत्क्रमित मध्य विद्यालय चक्रवार के विद्यालय भवन को हटाने का सरकारी फरमान जारी किया गया है। इस सिलसिले में अंचल कार्यालय इटखोरी के द्वारा विद्यालय के सचिव मनीष कुमार सिन्हा को नोटिस भेजा गया है। अंचल कार्यालय के द्वारा भेजे गए नोटिस से विद्यालय प्रबंधन समिति के साथ विद्यार्थी एवं अभिभावक काफी चिंतित है।

चतरा : उद्घाटन के दूसरे दिन ही गिर गया विज्ञान केंद्र भवन के छत का प्लास्टर

विद्यालय के सचिव सह प्रधानाध्यापक मनीष कुमार सिन्हा ने बताया कि उत्क्रमित मध्य विद्यालय चक्रवार के भवन का निर्माण वर्ष 1978 में हुआ था। उस वक्त यह विद्यालय प्राथमिक विद्यालय था। पचास वर्ष पूर्व बनाया गया विद्यालय भवन का कमरा आज भी वहां मौजूद है।

विद्यालय का भवन बन जाने के बाद से लेकर आज तक नियमित रूप से इस विद्यालय का संचालन किया जा रहा है। अब उन्हें अंचल कार्यालय के द्वारा नोटिस भेजकर गैरमजरूआ जमीन से विद्यालय को हटाने का निर्देश दिया गया है। इसकी जानकारी विद्यालय के सचिव ने अपने वरीय विभागीय अधिकारियों को भी दे दी है।

क्या कहते हैं अंचल अधिकारी

इस सिलसिले में इटखोरी के अंचल अधिकारी अनूप कच्छप का कहना है कि चक्रवार उत्क्रमित मध्य विद्यालय के सचिव को जो नोटिस भेजा गया है वह पुराना नोटिस था। फिलहाल अंचल के द्वारा कार्रवाई को स्थगित किया गया है। संबंधित जमीन को चिन्हित कर मापी कराने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

पाकुड़ : वनबन्धु योजना व प्रोटोटाइप योजना में अनियमितता, तीन एनजीओ पर प्राथमिकी दर्ज

NewsCode Jharkhand | 25 September, 2018 6:55 PM
newscode-image

पाकुड़।  जिले के लिट्टीपाड़ा क्षेत्र से बहुचर्चित वनबन्धु योजना और प्रोटोटाइप योजना में गड़बड़ी और धोखाधड़ी की सनसनीखेज मामला प्रकाश में आया है ।

तीन एनजीओ रिएक्ट, संजीवनी परिवार सेवा संस्थान एवं यादगार फाउंडेशन के विरूद्ध प्रोटोटाइप एवं वनबन्धु योजना में सरकारी राशि गबन करने को लेकर तीन अलग अलग मामला  दर्ज कराया गया है ।

आईटीडीए विभाग के निदेशक ने  कराया था  मामला दर्ज 

प्राथमिकी ईटीडीए विभाग के निदेशक हीरालाल  मंडल के लिखित शिकायत पर दर्ज कराया गया  है। थाना काण्ड संख्या 69/18 भादवी की धारा 406,420/34 के तहत संस्था रिएक्ट के अध्यक्ष विनय भारद्वाज, सचिव पंकज कुमार एवं कोषाध्यक्ष सुनील कुमार सिंह के खिलाफ मामला दर्ज कराया गया है।

कांड संख्या 70/18 भादवी की धारा 406/34 के तहत यादगार फाउंडेशन के अध्यक्ष नीता सिन्हा, सचिव रामबहादुर प्रधान लिपिक गोपाल मुर्मू नाजिर नुरूल इस्लाम एवं कोषाध्यक्ष अभिजीत रंजन के खिलाफ मामला दर्ज कराया गया है।

थाना काण्ड संख्या 406,408,409,420/34 के तहत संजीवनी परिवार सेवा संस्था के अध्यक्ष सीताराम ठाकुर, सचिव राकेश कुमार, कोषाध्यक्ष ओंकार साहा को नामजद अभियुक्त बनाया गया है।

आईटीडीए के निदेशक हीरालाल मंडल ने लिखित शिकायत दर्ज कराई थी कि थाना में प्रोटोटाइप योजना के फेज़ 3 में वृक्षारोपण के लिए एनजीओ रिएक्ट पटना के साथ एकरारनामा किया गया था।

बिना स्थल निरीक्षण किये दोबारा किया गया राशि का भुगतान 

शिकायत के मुताबिक अग्रिम राशि लेने के बाद तत्कालीन परियोजना निदेशक द्वारा बिना स्थल निरीक्षण किये दोबारा राशि भुगतान कर दिया गया।

उक्त संस्था ने 32 लाख 13 हजार 100 रूपये का समायोजन नहीं किया गया था। 18 प्रतिशत ब्याज के सहित 51 लाख 53 हजार 600 रूपये जमा करने का नोटिश संस्था के अध्यक्ष को दिया गया था। बावजूद इसके राशि का भुगतान नहीं किया गया ।

रिएक्ट को सोनाधनी, लोहरबनी, जिरली, शहरपुर, रधुनाथपुर बांडु में पौधरोपण किये जाने का एग्रिमेंट दिया गया था । आईटीडीए निर्देश हीरालाल मंडल ने यादगार फाउंडेशन के खिलाफ दर्ज करायी गयी प्राथमिकी में उल्लेख किया है कि संस्था के अध्यक्ष के साथ वनबन्धु कल्याण योजना के तहत स्टेशनरी शॉप का एग्रिमेंट तत्कालीन परियोजना निर्देशक लालचन्द्र डांडेल द्वारा किया गया था।

संस्था द्वारा राधा, गरीब सेवा, अटल बारहा, सरजोम बारहा, दुर्गा, चमेली, मार्शल, आजीविका सहायता,शान्ति को. स्टेशनरी शॉप के लिए 15 लाख 10 हजार अग्रिम दिया गया था जिसका समायोजन नहीं किया गया था।

उक्त राशि को लेकर आईटीडीए विभाग द्वारा अध्यक्ष को नोटिश भेजा गया था। 53 लाख 66 हजार रुपये असमायोजन राशि जमा करने के लिए संस्था द्वारा कोई पहल नहीं किया गया था ।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

More Story

more-story-image

चतरा : मिट्टी लदा हाईवा पल्टा, बाल-बाल बचे कई लोग

more-story-image

धनबाद : अवैध तंबाकू दुकानों पर छापेमारी, दो हिरासत में