आईपीएल-11: बटलर के बल्ले से फिर बरसे रन, राजस्थान से हारकर मुंबई की बढ़ी मुसीबत

NewsCode | 14 May, 2018 8:25 AM

बटलर ने लागातार पांचवीं पारी में 50 या इससे अधिक का स्कोर बनाकर वीरेंद्र सहवाग के IPL रिकॉर्ड की बराबरी की।

newscode-image

नई दिल्ली। इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 11वें संस्करण के 47वें मुकाबले में राजस्थान रॉयल्स ने मुंबई इंडियंस को 7 विकेट से शिकस्त देकर प्लेऑफ के लिए अपनी उम्मीदें बरकरार रखी हैं। मुंबई इंडियंस की टीम इस हार के साथ आईपीएल प्लेऑफ की दौड़ से लगभग बाहर हो गई है।

मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में खेले गए इस मैच में टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी मुंबई इंडियंस की टीम ने 20 ओवर में 5 विकेट गंवा कर 168 रन बनाए और राजस्थान रॉयल्स को जीत के लिए 169 रनों का लक्ष्य दिया। जवाब में राजस्थान रॉयल्स ने जोस बटलर की एक और धमाकेदार पारी (53 गेंदों में 94 रन) की बदौलत महज 18 ओवर में ही 171 रन बनाते हुए मुंबई पर जबरदस्त जीत दर्ज की।

बटलर ने की वीरू की बराबरी

बटलर ने 53 गेंदों पर नाबाद 94 रन बनाए जिसमें नौ चौके और पांच छक्के शामिल हैं। उन्होंने लगातार पांचवीं बार 50 या इससे अधिक रन की पारी खेली और इस बीच कप्तान अंजिक्य रहाणे (36 गेंदों पर 37 रन) के साथ दूसरे विकेट के लिए 95 रन की साझेदारी की। उन्होंने बाद में संजू सैमसन (14 गेंदों पर 26) के साथ सिर्फ 28 गेंदों में ही 61 रन जोड़ डाले। इससे राजस्थान ने 18 ओवर में तीन विकेट पर 171 रन बनाकर जीत दर्ज की। जोस बटलर को ‘मैन ऑफ द मैच’ घोषित किया गया।

राजस्थान की इस जीत में गेंदबाजों का योगदान भी अहम रहा, जिन्होंने मुंबई को अच्छी शुरुआत का फायदा नहीं उठाने दिया और उनको अच्छी शुरुआत के बावजूद छह विकेट पर 168 रन के स्कोर पर ही रोक दिया।

राजस्थान रॉयल्स की यह 12 मैचों में छठी जीत है, जिससे उसके 12 अंक हो गए हैं और वह पॉइंट्स टेबल में मुंबई से आगे पांचवें स्थान पर पहुंच गया है। मुंबई के अब 12 मैचों में दस अंक हैं और उसके लिए प्लेऑफ की राह बेहद मुश्किल लग रही है। राजस्थान की जीत से चेन्नई सुपरकिंग्स की प्लेऑफ में जगह पक्की हो गई है, जिसने दिन के पहले मैच में सनराइजर्स हैदराबाद को आठ विकेट से हराया था।

राजस्थान की पारी

राजस्थान ने डार्सी शॉर्ट का विकेट जल्दी गंवा दिया। इसके बाद बटलर और रहाणे ने जिम्मेदारी संभाली। रहाणे शुरू में कुछ अच्छे शॉट लगाने के बाद धीमे पड़ गए। उन्होंने बीच में 18 गेंदों तक कोई बाउंड्री नहीं लगाई और इस दौरान केवल 14 रन बनाए। उन्होंने लंबा शॉट खेलने के प्रयास में कैच देने से पहले चार चौके लगाए।

बटलर ने पांचवें ओवर में क्रुणाल पर चौका और छक्का जड़कर अपने हाथ खोले। उन्होंने मयंक मार्कंडेय पर भी खूबसूरत छक्का लगाया और फिर 35 गेंदों पर अपना अर्धशतक पूरा किया। बटलर ने लागातार पांचवीं पारी में 50 या इससे अधिक का स्कोर बनाकर वीरेंद्र सहवाग के आईपीएल रिकॉर्ड की बराबरी की। टी-20 क्रिकेट में वह यह रिकॉर्ड बनाने वाले केवल चौथे बल्लेबाज बन गए हैं।

रहाणे के आउट होने के बाद रन गति में तेजी आई। जब रन और गेंदों के बीच अंतर बढ़ रहा था तब बटलर ने हार्दिक और जसप्रीत बुमराह दोनों पर एक-एक छक्का और चौके जमाकर मुंबई को बैकफुट पर धकेल दिया। सैमसन ने हार्दिक पर लगातार दो छक्के लगाए जबकि बटलर ने इसी ओवर की आखिरी गेंद पर विजयी छक्का जड़ा।

मुंबई ने राजस्थान को दिया 169 रनों का टारगेट

टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी मुंबई इंडियंस की टीम ने 20 ओवर में 5 विकेट गंवा कर 168 रन बनाए और राजस्थान रॉयल्स को जीत के लिए 169 रनों का टारगेट दिया। मुंबई के लिए इविन लुइस ने सबसे ज्यादा 60 रन बनाए। उन्होंने अपनी 42 गेंदों की पारी में 4 चौके और 4 छक्के लगाए।

लुईस (42 गेंदों पर 60 रन) और सूर्यकुमार (31 गेंदों पर 38 रन) ने पहले के विकेट 10.4 ओवर में 87 रन जोड़कर आखिरी दस ओवरों के लिए अच्छा प्लेटफार्म तैयार किया। राजस्थान के गेंदबाजों ने हालांकि बीच में लगाम कसी और 44 रन के अंदर पांच विकेट चटका लिए। हार्दिक पंड्या (21 गेंदों पर 36 रन) के आक्रामक तेवरों से आखिरी दो ओवरों में 32 रन बने जिससे मुंबई 160 रन के पार पहुंच पाया।

राजस्थान की तरफ से जोफ्रा आर्चर (16 रन देकर दो विकेट) और बेन स्टोक्स (26 रन देकर दो विकेट) ने उम्दा गेंदबाजी की। इन दोनों ने आठ ओवरों में केवल 42 रन दिए और चार विकेट हासिल किए।

जोफ्रा आर्चर और बेन स्टोक्स की किफायती गेंदबाजी ने उन्हें बड़ा स्कोर बनाने से रोक दिया। राजस्थान की ओर से धवल कुलकर्णी और जयदेव उनादकट को भी एक-एक विकेट मिला।

आईपीएल-11: रायडू ने जमाया पहला शतक, धोनी के धुरंधरों ने हैदराबाद को दी 8 विकेट से मात

PHOTOS: मन से भावुक कवि, कर्म से राजनेता अटल बिहारी वाजपेयी की ये दुर्लभ तस्वीरें नहीं देखी होंगी आपने

NewsCode | 16 August, 2018 6:29 PM
newscode-image

पूर्व प्रधानमंत्री और बीजेपी के दिग्गज नेता अटल बिहारी वाजपेयी अब इस दुनिया में नहीं रहे। नई दिल्ली के एम्स में लंबे इलाज के दौरान 93 साल की उम्र में उनका निधन हो गया है। वाजपेयी के निधन की खबर के साथ ही पूरे देश में शोक की लहर है। भारतीय जनता पार्टी ने देश में अपने सभी कार्यक्रमों को रद्द कर दिया है।

12 नवंबर 1973 में अटल बिहारी वाजपेयी बैलगाड़ी से संसद पहुंचे थे। वो पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़ने का विरोध कर रहे थे इसलिए वो बैलगाड़ी से पहुंचे।


2. यह तस्वीर जनता पार्टी के शपथ ग्रहण समारोह की है। जिसे जयप्रकाश नारायण संबोधित कर रहे हैं। इस तस्वीर में भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी भी नजर आ रहे हैं।


3. पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को कुत्तों से बेहद लगाव था। वह अक्सर पालतू कुत्तों के साथ खेलते नजर आ जाते थे।


4. सोशल मीडिया पर ये तस्वीर काफी वायरल हो रही है। जिसमें वो प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी से बात करते नजर आ रहे हैं।


5. यह तस्वीर 8 जनवरी 1978 की है जब अटल बिहारी वाजपेयी जनता पार्टी की सरकार में विदेश मंत्री थे। वह ताजमहल में ब्रिटेन के तत्कालीन प्रधानमंत्री जेम्स कलाहन के साथ मौजूद हैं।


6. माधव सदाशिव गोलवालकर, पंडित दील दयाल उपाध्याय और अटल बिहारी वाजपेयी एक साथ बैठे नजर आ रहे हैं। ये तस्वीर भी काफी शेयर की जा रही है।


7. एक आंदोलन के दौरान सुषमा स्वराज और मदनलाल खुराना के साथ सड़कों पर उतरे अटल बिहारी वाजपेयी की तस्वीर।


8. ये दुर्लभ तस्वीर भी काफी शेयर की जा रही है। इस तस्वीर में अटल बिहारी वाजपेयी, लाल कृष्ण आडवाणी और भैरों सिंह शेखावत नजर आ रहे हैं। ये तस्वीर जन संघ दिनों की है।


बता दें कि अटल बिहारी वाजपेयी बीते 11 जून से एम्स में भर्ती थे। बुधवार को उनकी हालत गंभीर हो गई और उन्हें जीवन रक्षक प्रणाली पर रखा गया था। वाजपेयी को गुर्दा (किडनी) की नली में संक्रमण, छाती में जकड़न, मूत्रनली में संक्रमण आदि के बाद 11 जून को एम्स में भर्ती कराया गया था। मधुमेह पीड़ित 93 वर्षीय भाजपा नेता का एक ही गुर्दा काम करता था।


नहीं रहे पूर्व पीएम अटलबिहारी वाजपेयी, 93 साल की उम्र में निधन

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी के निधन से पूरे देश में शोक की लहर, मोदी बोले- निःशब्द हूँ

रांची : वाजपेयी राजनीति के अजातशत्रु, अपराजेय वक्ता- रघुवर दास

अटल जी की इन 5 कविताओं को पढ़कर जीवन में उतार लिया तो हर मैदान फ़तह कर लेंगे आप

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

गावां (गिरिडीह) : विभिन्न विभागों में झंडोत्‍तोलन को लेकर तालमेल का दिखा अभाव

NewsCode Jharkhand | 16 August, 2018 7:12 PM
newscode-image

 स्वतंत्रता दिवस समारोह पर दिखी अनुशासनहीनता

गावां गिरिडीह। गावां में स्वतंत्रता दिवस समारोह में इस बार पूर्वाभ्यास की पूरी कमी देखी गई। नतीजतन विभिन्न विभागों में झंझोत्‍तोलन को लेकर तालमेल का अभाव दिखा। इस कारण प्रखंड मुख्यालय में झंडोत्‍तोलन के वक्त झंडे को सलामी देने के लिए पुलिस जवान मौजूद नहीं रहे।

जबकि बीडीओ मोनी कुमारी सलामी दल को बुलाने के लिए थाना में फोन करती रहीं। वहीं गावां थाना द्वारा निर्गत आमंत्रण पत्र में दिये गये समय सारणी से एक घंटा पूर्व ही ध्‍वजारोहण कर दिया गया।

बोकारो : खेल के मामले में सरकार का रवैया उदासीन : मयूर शेखर झा

इस कारण थाना परिसर में झंडोत्‍तोलन देखने से लोग चूक गये। बता दें कि थानेदार द्वारा निर्गत आमंत्रण पत्र में झंडोत्‍तोलन का समय दिन के 10:10 बजे निर्धारित था, लेकिन तय समय से एक घंटा 4 मिनट पूर्व ही 09:06 बजे ही थाना में झंडोत्‍तोलन कर दिया गया। इस कारण तय समय पर थाने में झंडोत्तोलन में शामिल होने पहुंचे लोगों को मायूस होना पड़ा।

बैंक प्रबंधक को झंडोत्‍तोलन के बजाय घर भागना आया रास

वैसे तो तिरंगा फहराना गर्व की बात मानी जाती है और इसके लिए लोग लालायित भी रहते हैं, लेकिन समाज में कुछ ऐसे भी लोग हैं, जो स्वतंत्रता दिवस को महज एक सरकारी बंदिशों वाला कार्यक्रम मान लेते हैं। ऐसा ही नजारा गावां के इलाहाबाद बैंक में देखने को मिला।

प्रबंधक ने झंडोत्‍तोलन करने के बजाए 15 अगस्त को घर भागना ज्यादा मुनासिब समझा। फलत: गावां इलाहाबाद बैंक में एक आम सीनियर सिटीजन उमाशंकर अवस्थी ने झंडोत्‍तोलन किया।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

चाईबासा : जिले के चार प्रखंडों में लगाए गए जनता दरबार

NewsCode Jharkhand | 16 August, 2018 7:01 PM
newscode-image

 चाईबासा । पश्चिमी सिंहभूम के उपायुक्त अरवा राजकमल के निदेशानुसार गुरूवार को जिले के चार प्रखण्डों में जनता दरबार का अयोजन किया गया। नोवामुंडी प्रखण्ड मुख्यालय जनता दरबार में विभिन्न विभागों के द्वारा शिविर का लगाया गया।

जिसमें मुख्य रूप से वृद्धा पेंशन, विधवा पेंशन,विकलांग पेंशन, दिव्यांग पेंशन, जाति, आवासीय, आय प्रमाण पत्रों, स्वास्थ्य, चिकित्सा, कृषि, पशुपालन, समाज कल्याण सहित अन्य विभागों के प्रखण्ड स्तरीय पदाधिकारियों ने लोगों के समस्या का समाधान किया।

जनता दरबार में बच्चों का आधार पंजीकरण भी कराया गया। जनता दरबार का आयोजन प्रखण्ड विकास पदाधिकारी नोवामुण्डी समरेश प्रसाद भण्डारी, तथा अंचलाधिकारी गोपी उरॉव के निर्देशन में सम्पन्न हुआ। वहीं जगन्नाथपुर प्रखंण्ड कार्यालय में लगे जनता दरबार में सूचना के अभाव में लोग नहीं पहुंचे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं

More Story

more-story-image

पाकुड़ : अज्ञात वाहन की चपेट में आने एक की...

more-story-image

धनबाद : एनडीए सरकार में श्रम मंत्री रही रीता वर्मा...