VIDEO: डॉक्टर ने फ्लाइट में मच्छरों की शिकायत की तो कर्मचारियों ने धक्के मारकर प्लेन से नीचे उतारा

NewsCode | 10 April, 2018 2:49 PM

इंडिगो ने इस संबंध में एक बयान जारी कर बताया कि डॉक्‍टर सौरभ को शिकायत के लिए नहीं उतारा गया। ऐसा उनके आक्रमक व्यवहार के लिए किया गया है।

newscode-image

लखनऊ। एयरलाइन कंपनी इंडिगो एक बार फिर से यात्रियों के साथ बदसलूकी करने की वजह से चर्चा में है। हालिया मामला एक हार्ट सर्जन का है। इंडिगो की 6ई 541 फ्लाइट में लखनऊ से बेंगलुरु के लिए सवार हुए डॉ. सौरभ राय ने जब फ्लाइट में मच्छर होने की शिकायत की, तो उन्हें फ्लाइट से धक्के मारकर उतार दिया गया।

मामले को तूल पकड़ता देख इंडिगो ने एक बयान जारी कर कहा, ‘जब तक समस्या का समाधान किया जाता उससे पहले डॉक्टर उत्तेजित हो गए।’ एयरपोर्ट प्रशासन का कहना है कि डॉक्टर की तरफ से कोई लिखित शिकायत नहीं मिली है।

मच्छरों से परेशान थे प्लेन में सवार यात्री

जानकारी के मुताबि‍क, सोमवार (09 अप्रैल) सुबह करीब 6:05 बजे इंडिगो की फ्लाइट 6E-541 लखनऊ से बेंगलुरु के लिए जा रही थी। हार्ट स्पेशलिस्ट डॉ. सौरभ राय भी इसी फ्लाइट से बंगलुरु जाने के लिए सवार हुए। उन्होंने बताया कि जिस सीट पर वो बैठे थे, उससे पीछे वाली सीट पर बैठे कुछ बच्चे मच्छरों के काटने से परेशान हो रहे थे। कई यात्रियों ने क्रू मेंबर्स से इसकी शिकायत भी की, लेकिन उनके कानों पर जूं नहीं रेंग रही थी।

बेंगलुरु के डॉक्टर ने क्रू-मेंबर से फ्लाइट में मच्छर होने की शिकायत की जिसके बाद आरोप है कि प्‍लेन में उनके साथ धक्‍कामुक्‍की और दुर्व्‍यवहार किया गया और फिर उन्हें फ्लाइट से जबरन उतार दिया गया। डॉक्टर के मुताबिक, वे सोमवार सुबह लखनऊ से इंडिगो की फ्लाइट से बेंगलुरु जा रहे थे। उधर, इंडिगो ने एक बयान जारी कर बताया है कि ऐसा डॉक्टर के आक्रमक रवैये के कारण किया गया है।

इंडिगो ने दिया एनजीटी के आदेश का हवाला

वहीं, इंडिगो ने इस संबंध में एक बयान जारी कर बताया कि डॉक्‍टर सौरभ को शिकायत के लिए नहीं उतारा गया। ऐसा उनके आक्रमक व्यवहार के लिए किया गया है। कंपनी ने एनजीटी के आदेश का भी हवाला देते हुए कहा है कि फ्लाइट में पैसेंजर होने पर स्प्रे का छिड़काव नहीं किया जा सकता।

वीडियो में मच्छर मारते दिखे यात्री

वहीं, लखनऊ हवाईअड्डे पर खड़ी एक अन्य विमान के अंदर का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। इस वीडियो में भी यात्री मच्छरों से खासे परेशान दिख रहे हैं। यह वीडियो जेट एयरवेज के एक फ्लाइट की बताई जा रही है।

देखें वीडियो :

कोडरमा : मुहर्रम में कई हिन्दू परिवार पूरी श्रद्धा से निकालते है ताजिया और निशान

NewsCode Jharkhand | 21 September, 2018 7:07 PM
newscode-image

कोडरमाकोडरमा जिले में मुहर्रम के मौके पर कई हिन्दू परिवारों द्वारा पिछले कई पीढियों से ताजिया और निशान (झंडा) निकालने की परंपरा वर्षों से चली आ रही है। समाजिक सौहार्द की प्रतिमूर्ति इन परिवारों में चाराडीह इलाके के उमाशंकर उर्फ तुफानी सिंह गुलशन कुमार, गाँधी स्कूल रोड़ निवासी गजाधर भारती, भादेडीह निवासी जयप्रकाश वर्मा के परिवार शामिल है।

सभी परिवारों को आसपास के ग्रामीण इस कार्य में निष्ठा भाव से परंपरा निर्वहन और क्षेत्र परिभ्रमण के दौरान पुरा सहयोग देते हैं। इस बावत पूछे जाने पर उमाशंकर उर्फ तुफानी सिंह ने बताया कि उनका परिवार पिछले कई पीढ़ियों से यह परंपरा निभा रही है।

कोडरमा : केरल में लापता हुए परिजन को खोजने की लगायी गुहार

उन्होंने कहा कि उनके पुर्वजों ने अपनी किसी मन्नत के पूरा होने के बाद इसकी शुरूआत की थी जो आज जारी है। हालाकि इस परिवार द्वारा बीती रात तक इसकी सारी तैयारी पूरी कर ली गई थी मगर उमाशंकर के बड़े भाई निर्मल सिंह का आज सुवह निधन हो जाने के कारण इस वर्ष इस परिवार द्वारा आज ताजिया नही निकाला गया।

गांधी स्कूल रोड निवासी गजाधर भारती ने बताया कि उनके दादा स्व. गुरूचरण राम (उत्पाद विभाग में जमादार थे) ने श्रद्धा से 1924 में इस मौके पर निशान (सरकारी झंडा) निकाला था जिस परंपरा का उनके पिता स्व. रामेश्वर राम और अब वे और उनका परिवार निर्वहन कर रहे हैं।

भादेडीह निवासी जयप्रकाश वर्मा ने बताया कि उनके दादा स्व. बुधन सोनार ने ताजिया निकालाना शुरू किया था। फिर उनके पिता स्व. सुखदेव प्रसाद और अब वे इस परंपरा को निभा रहे है। इन दोनों परिवारों के द्वारा आज ताजिया और झंडा निकाला गया।

इसी परिवार के द्वारा यहाँ के इमामबाड़े के लिए भूमि उपलब्ध करा इसकी स्थापना की थी। जहाँ सभी लोग जुटते हैं। उन्होंने बताया कि मुहर्रम के दिन उनके घर चुल्हा नही जलता वे मातम मनाते है। और तीजा के दिन ही सारी औपचारिकताए पूरी की जाती है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

जमशेदपुर : सफाई की बाट जोह रही कचरे से भरी स्वर्णरेखा नदी

NewsCode Jharkhand | 21 September, 2018 7:28 PM
newscode-image

जमशेदपुर। जमशेदपुर शहर की जीवनरेखा स्वर्णरेखा नदी इन दिनों सफाई की बाट जोह रही है। नदी में चारों तरफ कचरे भरे पड़े हैं। लेकिन इसकी सफाई पर कोई ध्यान नहीं दे रहा।

वैसे पूूरे देश भर में स्‍वच्छता  पखवाड़ा चलाया जा रहा है, लेकिन इस जीवनरेखा  नदी के सफाई पर किसी का ध्यान नहीं जा रहा है।

चांडिल : डाकघर कर्मचारियों ने चलाया स्वच्छता अभियान

वैसे स्वर्णरेखा नदी जमशेदपुर के लिए लाइफ लाइन इसलिए है, क्योंकि पूरे शहर के लिए पानी का एक मात्र साधन यही नदी है, इतना ही नहीं टाटा कंपनी में भी पानी इसी नदी से पहुंचता है।

विसर्जन के बाद मूर्तियों के पड़े अवशेष

इस नदी का हाल इन दिनों खस्ता है। नदी की पानी फिलवक्त नदी का पानी इन दिनों न पीने लायक है और न ही नहाने लायक। पिछले दिनों हुए गणपति विसर्जन के बाद मूर्तियों के अवशेष पड़े हैं और इसकी सफाई की कोई व्यवस्था अब तक नहीं की गई है।

आलम ये हैं की पूरी नदी कचड़े से भर सा गया है। वैसे इन दिनों देश भर में स्वच्छता पखवाड़ा चलाकर साफ सफाई की जा रही है, लेकिन इस प्राणदायिनी नदी पर किसी का ध्यान नहीं जा रहा है।

नदी में आने वाले लोगों के अनुसार नदी का पानी इतना दूषित हो चुुका है कि ये न ही पीने लायक है और न ही नहाने लायक। अब सोचने वाली बात ये है कि जब नदी ही दूषित है, तो फिर स्वच्छता अभियान किस काम का।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

सिमडेगा : मुहर्रम का पर्व शांतिपूर्वक संपन्‍न, अखाड़ों ने दिखाए करतब

NewsCode Jharkhand | 21 September, 2018 7:27 PM
newscode-image

सिमडेगा। मुहर्रम का पर्व शांतिपूर्वक संपन्‍न हो गया। सभी अखाड़ों ने भट्ठी टोली स्थित हारून रसीद चौक से सामूहिक रूप से मुहर्रम का जुलूस निकाला। लोग गाजे-बाजे के साथ इस्‍लामपुर स्थित हारून रसीद चौक पहुंचे। जुलूस के दौरान कई स्थानों पर शस्त्र-चालन का प्रदर्शन किया गया तथा कई करतब भी दिखाये। मुहर्रम के जुलूस से पूर्व गुलजार गली के सामने मुहर्रम समिति चर्च रोड के तत्वावधान में पगड़ी समारोह का आयोजन किया गया। इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में उपायुक्त जटाशंकर चौधरी एवं विशिष्ट अतिथि के रूप में एसपी संजीव कुमार सहित कई अधिकारी और गणमान्‍य लोग मौजूद थे।

सिमडेगा : मुहर्रम का पर्व शांतिपूर्वक संपन्‍न, अखाड़ों ने दिखाए करतब

गुमला से आये ताशा ग्रुप में शामिल मो. सद्दाम ने एक से बढ़ कर एक देश भक्ति गीतों से समां बांध दिया। उन्होंने कई देश भक्ति गीत के अलावा धार्मिक गीत भी प्रस्तुत किये। साथ ही ताशा पार्टी में शामिल कलाकारों ने ढोल-ताशे की धुन से लोगों को मंत्रमुग्‍ध कर दिया।

कोलेबिरा : सड़क निर्माण कंपनी के कैंप से 33 ड्राम अलकतरे की चोरी

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

More Story

more-story-image

गिरिडीह : बिजली विभाग की लापरवाही से लाखों के बिजली...

more-story-image

चास : पिंड्राजोरा के डाबर गांव में धूमधाम से मनाया...