VIDEO: डॉक्टर ने फ्लाइट में मच्छरों की शिकायत की तो कर्मचारियों ने धक्के मारकर प्लेन से नीचे उतारा

NewsCode | 10 April, 2018 2:49 PM

इंडिगो ने इस संबंध में एक बयान जारी कर बताया कि डॉक्‍टर सौरभ को शिकायत के लिए नहीं उतारा गया। ऐसा उनके आक्रमक व्यवहार के लिए किया गया है।

newscode-image

लखनऊ। एयरलाइन कंपनी इंडिगो एक बार फिर से यात्रियों के साथ बदसलूकी करने की वजह से चर्चा में है। हालिया मामला एक हार्ट सर्जन का है। इंडिगो की 6ई 541 फ्लाइट में लखनऊ से बेंगलुरु के लिए सवार हुए डॉ. सौरभ राय ने जब फ्लाइट में मच्छर होने की शिकायत की, तो उन्हें फ्लाइट से धक्के मारकर उतार दिया गया।

मामले को तूल पकड़ता देख इंडिगो ने एक बयान जारी कर कहा, ‘जब तक समस्या का समाधान किया जाता उससे पहले डॉक्टर उत्तेजित हो गए।’ एयरपोर्ट प्रशासन का कहना है कि डॉक्टर की तरफ से कोई लिखित शिकायत नहीं मिली है।

मच्छरों से परेशान थे प्लेन में सवार यात्री

जानकारी के मुताबि‍क, सोमवार (09 अप्रैल) सुबह करीब 6:05 बजे इंडिगो की फ्लाइट 6E-541 लखनऊ से बेंगलुरु के लिए जा रही थी। हार्ट स्पेशलिस्ट डॉ. सौरभ राय भी इसी फ्लाइट से बंगलुरु जाने के लिए सवार हुए। उन्होंने बताया कि जिस सीट पर वो बैठे थे, उससे पीछे वाली सीट पर बैठे कुछ बच्चे मच्छरों के काटने से परेशान हो रहे थे। कई यात्रियों ने क्रू मेंबर्स से इसकी शिकायत भी की, लेकिन उनके कानों पर जूं नहीं रेंग रही थी।

बेंगलुरु के डॉक्टर ने क्रू-मेंबर से फ्लाइट में मच्छर होने की शिकायत की जिसके बाद आरोप है कि प्‍लेन में उनके साथ धक्‍कामुक्‍की और दुर्व्‍यवहार किया गया और फिर उन्हें फ्लाइट से जबरन उतार दिया गया। डॉक्टर के मुताबिक, वे सोमवार सुबह लखनऊ से इंडिगो की फ्लाइट से बेंगलुरु जा रहे थे। उधर, इंडिगो ने एक बयान जारी कर बताया है कि ऐसा डॉक्टर के आक्रमक रवैये के कारण किया गया है।

इंडिगो ने दिया एनजीटी के आदेश का हवाला

वहीं, इंडिगो ने इस संबंध में एक बयान जारी कर बताया कि डॉक्‍टर सौरभ को शिकायत के लिए नहीं उतारा गया। ऐसा उनके आक्रमक व्यवहार के लिए किया गया है। कंपनी ने एनजीटी के आदेश का भी हवाला देते हुए कहा है कि फ्लाइट में पैसेंजर होने पर स्प्रे का छिड़काव नहीं किया जा सकता।

वीडियो में मच्छर मारते दिखे यात्री

वहीं, लखनऊ हवाईअड्डे पर खड़ी एक अन्य विमान के अंदर का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। इस वीडियो में भी यात्री मच्छरों से खासे परेशान दिख रहे हैं। यह वीडियो जेट एयरवेज के एक फ्लाइट की बताई जा रही है।

देखें वीडियो :

कई रोगों के लिए रामबाण है अमरूद, जानें खाने के फायदे

NewsCode | 23 July, 2018 3:47 PM
newscode-image

नई दिल्ली। सेहत के लिहाज से अमरूद को एक शानदार फल माना जाता है। आयुर्वेद में अमरूद और इसके बीजों के सेवन के कई लाभ गिनाए गए हैं। अमरूद का वैज्ञानिक नाम सीडियम गुआजावा है। इसमें मौजूद विटामिन और खनिज शरीर को कई तरह की बीमारियों से बचाने में मददगार होते हैं। अमरूद की तासीर ठंडी होती है। इसका सेवन करने से कब्ज की समस्या दूर हो जाती है। ऐसे गुणकारी पौधे को हम अपने आंगन या घर के आसपास रोप कर पूरे परिवार की सेहत का ध्यान रख सकते हैं।

वास्तु शास्त्र के हिसाब से सर्वश्रेष्ठ

उष्णकटिबंधीय और उपोष्णकटिबंधीय क्षेत्रों में अमरूद सफलतापूर्वक उगाया जाता है, जो समुद्र तल से 1,500 मीटर (4, 9 00 फीट) ऊपर हैं। भारी मिट्टी से लेकर बहुत हल्की रेतीली मिट्टी तक में अमरूद की खेती की जाती है। नदी-घाटी में बहुत अच्छी गुणवत्ता वाले अमरूद पैदा होते हैं। इसके अलावा वास्तु के दृष्टिकोण से भी यह पेड़ शुभ माना गया है। जिस भूमि पर अमरूद के वृक्ष बहुत हों वह वास्तुशास्त्र में बहुत श्रेष्ठ बताई गई है।

वृक्षों की किस्में

लखनऊ 49: इसे सरदार भी कहा जाता है। इसके फल आकार में बड़े होते हैं। इसके फले बहुत स्वादिष्ट होते हैं। फल का ऊपरी हिस्सा हल्का पीला और गूदा सफेद होता है।

इलाहाबाद सफेदा: इसके फल आकार में बड़े और गोल होते हैं। फल का ऊपरी हिस्सा पीले-सफेद रंग का होता है। गूदा सफेद होता है और बीज बहुत कड़े होते हैं।

चिट्टीदार: यह किस्म उत्तर प्रदेश में ज्यादा पाई जाती है। इसका फल कुछ-कुछ इलाहाबाद सफेदा की तरह दिखता है। स्वाद में यह बहुत मीठा होता है और इसके बीज बहुत मुलायम होते हैं। फल की त्वचा में छोटे-छोटे लाल बिंदु होते हैं।

हरिजा: यह किस्म बिहार में अधिक लोकप्रिय है। इसका फल आकार में गोल होता है। इसका आकार मध्यम होता है। यह हरे-पीले रंग का होता है और बड़ा ही स्वादिष्ट होता है।

बड़ा गुणकारी और स्वास्थ्यवर्धक है अमरूद

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाता है

अमरूद में विटामिन सी काफी मात्रा में पाया जाता है। संतरे की तुलना में अमरूद में 4 गुना ज्यादा विटामिन सी पाया जाता है। यह शरीर की इम्यूनिटी को बेहतर बनाने में मदद करता है और संक्रमण के खिलाफ शरीर की रक्षा करता है।

हृदय को रखता है स्वस्थ

अमरूद शरीर में सोडियम और पोटेशियम का स्तर संतुलित करता है, जिससे हायपर टेंशन वाले रोगियों को ब्लड प्रेशर नियंत्रित रहता है। अमरूद बैड कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में मदद करता है। अच्छा कोलेस्ट्रॉल हृदय रोग के विकास में योगदान नहीं करता है। कुल मिलाकर अमरूद अपने दिल को स्वस्थ रखता है।

कैंसर का खतरा कम करता है

कैंसर एक भयानक बीमारी है, लेकिन आप अमरूद खाते हैं, तो आप कैंसर होने की आशंका से बच सकते हैं। इसमें लाइकोपीन, क्वेरसेटिन, विटामिन सी और अन्य तत्व पाए जाते हैं। ये मानव शरीर में शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट के रूप में काम करते हैं और कैंसर कोशिकाओं के विकास को रोकते हैं। अमरूद प्रोस्टेट कैंसर के खतरे को कम करते हैं और स्तन कैंसर कोशिकाओं के विकास को रोकता है।

डायबिटीज, कब्ज और मोटापे में कारगर

अमरूद में फाइबर काफी अधिक मात्रा में होता है, जो डायबिटीज के विकास को रोकता है। अमरूद में मौजूद फाइबर से शरीर में शुगर का स्तर नियंत्रित रहता है। इसका फायबर कब्ज को दूर करने में भी मददगार होता है। अमरूद के बीज पेट साफ करने के लिए अच्छे साबित होते हैं। यह वजन कम करने में भी बेहतरीन साबित होता है क्योंकि इसे खाने से भूख नहीं लगती है और इसमें ज्यादा चर्बी भी नहीं होती है।

करेले का जूस है कमाल का, स्वाद पर न जाएँ…स्वास्थ्य के फायदे लिए अपनाएँ

लौकी का जूस पीने से हुई महिला की मौत? डॉक्टरों ने कही ये बात

अगर आँखों पर चश्मा नहीं है चढ़ाना तो ये छह चीजें नियम से खाना…

sun

320C

Clear

क?रिकेट

Jara Hatke

Read Also

तेनुघाट : झारखंड यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट की बैठक संपन्न

NewsCode Jharkhand | 23 July, 2018 4:36 PM
newscode-image

तेनुघाट(बोकारो)। बेरमो अनुमंडल मुख्यालय तेनुघाट में झारखंड यूनियन ऑफ जॉर्नलिस्ट की बैठक किया गया। जिसका मुख्य अतिथि एनयूजे के राष्ट्रीय महासचिव शिव अग्रवाल ने पत्रकारों की एकता को लेकर कई बातें बताये।

बोकारो : निलंबित फार्मासिस्ट का निलंबन वापस लेने सहित छह सूत्री मांगों पर चर्चा

आज पत्रकार अपने कलम की ताकत पर अपनी पहचान बनाने में सफल हो रहे हैं। पत्रकार की हित को लेकर संगठन के द्वारा कई कदम उठाए गए हैं, और सरकार का ध्यान पत्रकार के हित में करने में कामयाब हुई है। बेरमो के पत्रकारों की एकता की भी मिसाल दी जाती है कि किसी भी प्रकार की समस्या में हमेशा वे एकजुट नजर आते हैं।

बोकारो : बंगाली समाज ने सावन के प्रथम सोमवारी पर किया जलाभिषेक

एनयूजे के सदस्य मनोज मिश्रा ने भी सभा को संबोधित किया। स्वागत भाषण जेयूजे के बेरमो महासचिव मो. शाबिर अंसारी, मंच संचालन तथा धन्यवाद ज्ञापन जेयूजे के बेरमो अध्यक्ष सुभाष कटरियार ने किया। मौके पर टिल्लू पांडेय, ओम प्रकाश सहगल, ददन श्रीवास्तव, मिथलेश कुमार, पप्पू चौहान, जीवन सागर, मुकेश कुमार, जीतू चौहान, पंकज सिन्हा, संजय रवानी, सन्तोष रविदास, महावीर कुमार, सुभाष कुमार, राकेश कुमार सहित कई पत्रकार मौजूद थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

धनबाद : जीएम ने रेलवे अस्‍पताल का किया निरीक्षण, डासलिसिस मशीन लगाने का दिया आदेश

NewsCode Jharkhand | 23 July, 2018 4:28 PM
newscode-image

धनबाद। अब रेलवे कमियों को डायलिसिस की सुविधा रेलवे अस्पताल में ही उपलब्‍ध होगी। पूर्व मध्‍य रेलवे के जीएम एलसी त्रिवेदी ने इसके आदेश दे दिए हैं। शनिवार को अस्‍पताल का निरीक्षण करने के बाद उन्‍होंने ये आदेश दिए। किडनी के मरीज रेलवे कर्मियों को अस्‍पताल में ये सुविधा बहाल होने के बाद सुविधा होगी। निरीक्षण के दौरान जीएम के साथ डीआरएम अनिल कुमार मिश्रा सहित रेलवे के अन्‍य अधिकारी थे।

धनबाद : जिला डेकोरेटर्स एसोसिएशन का 40 वां वार्षिक अधिवेशन 9 सितम्बर को 

इस रलवे अस्‍पताल में पीपीपी अर्थात् पब्लिक-प्राइवेट (पीपीपी) पार्टनरशिप के आधार पर डायलिसिस मशीन लगाया जाएगा, इसके आदेश जीएम ने दे दिए हैं। उन्‍होंने अस्पताल में उपलब्‍ध सुविधाओं पर खुशी व्‍यक्‍त करते हुए पुरस्‍कार देने की भी घोषणा की।

निरीक्षण के दौरान जीएम ने अल्‍ट्रासोनिक वेब मशीन का उद्घाटन किया। इसके अलावा उन्‍होंने सुरक्षा की दृष्टि से रेलवे हॉस्पिटल में सीसीटीवी कैमरा लगाने का भी आदेश दिया। जीएम के आदेश पर उक्‍त अस्‍पताल में इनफर्मेशन मैनेजमेंट सर्विस भी बहाल किया जाएगा।

 (अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

More Story

more-story-image

राफेल डील: पीएम मोदी और रक्षा मंत्री के खिलाफ कांग्रेस...

more-story-image

रांची : रिम्स के कैदी वार्ड में सुरक्षा के नए...