भारतीय रेलवे ने 2022 तक बुलेट ट्रेन चलाने का रखा लक्ष्य

NewsCode | 10 November, 2017 7:30 AM
newscode-image

नई दिल्ली| विपक्ष की आलोचनाओं से बेपरवाह भारतीय रेल बुलेट ट्रेन परियोजना को पूरा करने के लिए ओवरटाइम कर रही है, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा निर्धारित साल 2022 के अगस्त से पहले इसे पूरा करने का लक्ष्य रखा है।

रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष अश्विनी लोहानी जिनकी छवि बदलाव लाने वाले प्रशासक की है। उन्होंने 1 लाख करोड़ रुपये की बुलेट ट्रेन परियोजना को समय पर पूरा करवाने का बीड़ा उठाया है।

लोहानी ने इस संबंध में पिछले गुरुवार को रेल भवन में एक उच्चस्तरीय बैठक की थी, जिसमें जापान के राजदूत केंजी हिरामात्सू, नीति आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार, केंद्र सरकार के अधिकारी, गुजरात और महाराष्ट्र के प्रधान सचिव रैंक के अधिकारी, एनएचएसआरसीएल (नेशनल हाई स्पीड रेड कॉरपोरेशन लि.) के अधिकारी, जापान इंटरनेशनल कॉरपोरेशन एजेंसी (जेआईसीए) और पश्चिमी रेलवे के महाप्रबंधक शामिल हुए।

रेलवे बोर्ड के एक वरिष्ठ सदस्य ने नाम नहीं जाहिर करने की शर्त पर आईएएनएस को बताया, “रेलवे मुंबई-अहमदाबाद बुलेट ट्रेन परियोजना में बिलंव करने के मूड में नहीं है। लोहानी अब हर तीन महीने में इसे लेकर समीक्षा बैठक करेंगे।”

सरकार के इरादे पर जोर देते हुए अधिकारी ने कहा, “नीति आयोग के अध्यक्ष, जापान के राजदूत और सीआरबी की समीक्षा बैठक में मौजूदगी इस बात का स्पष्ट संकेत है कि सरकार इस परियोजना को गंभीरता से ले रही है और देरी की कोई संभावना नहीं है।”

उन्होंने कहा, “सीआरबी चाहता है कि भारतीय रेल के अधिकारी बैठकों की समयसीमा के बारे में अपने जापानी समकक्षों से सबक सीखें।”

विपक्ष ने सरकार पर हमला बोलते हुए कहा था कि इतनी उच्च लागत की परियोजना शुरू करने की बजाए सुरक्षा पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए, जो समय की मांग है और यात्रियों की सुविधा बढ़ाने वाली योजनाएं चलानी चाहिए।

बुलेट ट्रेन परियोजना से जुड़े मंत्रालय के एक अधिकारी ने कहा कि सिग्नलिंग प्रणाली और इलेक्ट्रिकल्स की रिपोर्ट 2018 के अप्रैल तक तैयार हो जाएगी। उनके मुताबिक ट्रैक समेत सभी सिग्नलिंग प्रणाली को जापान से लाया जाएगा।

मोदी और उनके जापानी समकक्ष शिंजो आबे ने 14 सिंतबर को 1.08 लाख करोड़ रुपये की 508 किलोमीटर लंबी अहमदाबाद-मुंबई बुलेट ट्रेन की आधारशिला रखी थी।

इस 1.08 लाख करोड़ रुपये के लिए जापान 88,000 करोड़ रुपये का कर्ज 0.1 फीसदी की न्यूनतम दर पर 50 सालों के लिए देगा और कर्ज की अदायगी 15 सालों बाद ही शुरू होगी।

इस दौरान महाराष्ट्र और गुजरात सरकार के अधिकारियों ने रेलवे को आश्वासन दिया कि वे भूमि अधिग्रहण और निर्माण स्थलों तक कच्चे माल की सुगम आवाजाही में वे मदद करेंगे।

इस परियोजना पर नजर रखने के लिए एक तीन स्तरीय निगरानी समिति का गठन किया गया है जिसमें नीति आयोग के उपाध्यक्ष और जापान के प्रधानमंत्री के विशेष सलाहकार शामिल हैं।

बुलेट ट्रेन की 508 किलोमीटर लंबी लाइन में 92 फीसदी (468 किलोमीटर) का रास्ता इलेवेटेड होगा तथा 6 फीसदी (27 किलोमीटर) सुरंग होगा तथा बाकी 2 फीसदी (13 किलोमीटर) जमीन पर होगा।

यह हाई स्पीड ट्रेन देश की सबसे लंबी सुरंग से गुजरेगी, जिसकी लंबाई 21 किलोमीटर होगी और इसका 7 किलोमीटर हिस्सा समुद्र के भीतर होगा।

इस परियोजना में 12 स्टेशन बनाने का प्रस्ताव है, जिसमें मुंबई, थाणे, विरार, बोइसर, वापी, बिलिमोरा, सूरत, भरूच, वडोदरा, आनंद, अहमदाबाद और साबरमती शामिल है।

अगर ट्रेन चार स्टेशनों- अहमदाबाद, वडोदरा, सूरत, मुंबई पर रूकती है तो यह दूरी दो घंटे सात मिनट में पूरी की जा सकती है। अगर ट्रेन सभी 12 स्टेशनों पर रूकती है, तो ट्रेन को दो घंटे 58 मिनट लगेंगे।

रेल मंत्रालय के अधिकारियों के मुताबिक बुलेट ट्रेन की परिचालन गति 320 किलोमीटर प्रति घंटा होगी, जबकि अधिकतम गति 350 किलोमीटर प्रति घंटा होगी।

(आईएएनएस)

इमरान के शपथ ग्रहण के बाद वापस लौटे सिद्धू, पाक आर्मी चीफ से गले मिलने पर दी सफाई

NewsCode | 19 August, 2018 6:28 PM
newscode-image

नई दिल्ली। पाकिस्तान के नवनिर्वाचित प्रधानमंत्री इमरान खान के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने पड़ोसी मुल्क पहुंचे भारत के पूर्व क्रिकेटर एवं पंजाब सरकार के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने लाहौर में खरीदारी की। इसके बाद वो वाघा बॉर्डर के रास्ते वापस भारत पहुंचे। वतन वापसी से पहले सिद्धू ने लाहौर के बाजार में जमकर खरीदारी भी की और वह एक दुकान में जूता खरीदते नजर आए।

गौरतलब है कि सिद्धू का यह पाकिस्तान दौरा विवादों के घेरे में रहा। पहले उनके वहां जाने से लेकर पाकिस्तान के आर्मी चीफ जनरल कमर जावेद बावजा को गले लगाने तक, विरोधियों ने उनपर ताबड़तोड़ निशाना साधा।

इमरान खान के शपथ ग्रहण के बाद वापस लौटे सिद्धू, पाक आर्मी चीफ से गले मिलने पर दी सफाई Navjot Singh Siddhu Lahore Imran Khan Oath Ceremony | NewsCode - Hindi News

हालांकि, सिद्धू ने पाक आर्मी चीफ से गले मिलने की बात पर सफाई देते हुए कहा, ‘अगर कोई आपके पास (पाक आर्मी चीफ बाजवा) आए और ये कहे कि हमारी संस्कृति एक ही है और हम गुरुनानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व पर करतारपुर बॉर्डर खोल देंगे, तो ऐसे में मैं क्या करता?’

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री के शपथ ग्रहण समारोह में पीओके के राष्ट्रपति मसूद खान के साथ पहली पंक्ति में बैठने पर सिद्धू ने कहा कि अगर आपको कहीं गेस्ट के रूप में आमंत्रित किया जाए, तो आप वहीं बैठेंगे जहां आपके लिए सीट की व्यवस्था की गई हो। मैं शपथ ग्रहण समारोह में किसी अन्य सीट पर बैठा था लेकिन उन्होंने मुझे वहां बैठने को कहा।

इधर, भाजपा ने सिद्धू के पाकिस्तान पीएम पद के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने पर निशाना साधा। भाजपा नेता और हरियाणा के मंत्री अनिल विज ने कहा कि जब पूरा देश शोक मना रहा था तब सिद्धू ने धूमधाम से शपथ ग्रहण समारोह में भाग लिया। भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि कांग्रेस ने ‘बड़ा अपराध’ किया है और वह इसे ‘व्यक्तिगत’ कृत्य बताते हुए इस मुद्दे से पीछा नहीं छुड़ा सकती। साथ ही भाजपा ने कांग्रेस से सिद्धू को निलंबित करने की अपील की।

वहीं, भारत के पूर्व क्रिकेटर एवं पंजाब सरकार के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने उम्मीद जतायी कि उनके मित्र इमरान खान का पाकिस्तान का प्रधानमंत्री बनना पाकिस्तान-भारत शांति प्रक्रिया के लिए बेहतर होगा। गहरे नीले रंग का सूट और एक गुलाबी पगड़ी पहने सिद्धू खान के शपथ ग्रहण समारोह में अन्य विशिष्ट अतिथियों के साथ मौजूद थे।

बता दें कि खान 1992 के विश्व कप में पाक क्रिकेट टीम के कप्तान थे जब पाकिस्तान ने विश्व कप जीता था। खान ने अपनी टीम के कुछ पूर्व सहयोगियों और मित्रों को अपने शपथग्रहण में आमंत्रित किया था। वसीम अकरम और 1992 क्रिकेट विश्व कप जीतने वाली टीम के अन्य सदस्य भी पाकिस्तान तहरीके इंसाफ के वरिष्ठ नेताओं के साथ कार्यक्रम में उपस्थित थे।

पाकिस्तान में यह पूछने पर कि पूर्व पाक क्रिकेट कप्तान के लिये वह क्या उपहार लाये हैं, सिद्धू ने कहा, ‘मैं खान साहब के लिये कश्मीरी शाल लाया हूं।’ इमरान ने पूर्व क्रिकेटर सुनील गावस्कर और कपिल देव को भी अपने शपथ ग्रहण समारोह में बुलाया था लेकिन उन्होंने निजी कारणों से इनकार कर दिया।

 

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

दुमका : सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाने से आएं बाज, वरना पुलिस करेगी कार्रवाई

NewsCode Jharkhand | 19 August, 2018 9:58 PM
newscode-image

दुमका। नगर थाना परिसर में आयोजित शांति समिति की बैठक की अध्यक्षता बीडीओ संजय कुमार दास ने की। इस अवसर एसडीपीओ पूज्य प्रकाश भी उपस्थित रहे। सभा को संबोधित करते हुए एसडीपीओ पूज्य प्रकाश ने बकरीद पर्व शांतिपूर्ण ढंग से मनाने को लेकर सभी से सहयोग का अपील किया। उन्होंने लोगों से खासतौर पर सोशल मीडिया पर अफवाह नहीं फैलाने का आग्रह किया। अफवाह फैलाने के स्थिति में व्हाटस एप ग्रुप एडमिन सहित मैसेज डालने वाले के विरूद्ध न्यायसंगत कार्रवाई की हिदायत भी उन्‍होंने दी।

दुमका : अज्ञात वाहन की चपेट में आकर दो सगेे भाई गंभीर रूप से घायल

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

रांची : सोमवारी के मौके पर मुख्यमंत्री कांवरियों से करेंगे सीधा संवाद

NewsCode Jharkhand | 19 August, 2018 9:50 PM
newscode-image

रांचीश्रावणी मेला के चौथी एवं आखिरी सोमवारी को मुख्यमंत्री  रघुवर दास रांची से देवघर लाईव संवाद श्रद्धालुओं से करेंगे। कार्यक्रम के लिए देवघर के उपायुक्त  राहुल कुमार सिन्हा द्वारा रविअर को मेला क्षेत्र का भ्रमण कर कार्यक्रम से संबंधित तैयारियों का जायजा लिया गया।

रांची : भाजपा बड़े-बड़े कॉरपोरेट घरानों के लिए करती है राजनीति- बाबूलाल मरांडी

इस दौरान उनके द्वारा बताया गया कि कल श्रावणी मेला के चौथी एवं अंतिम सोमवारी को मुख्यमंत्री रघुवर दास कांवरियों से सीधा संवाद कार्यक्रम हेतु कार्यक्रम स्थल के रूप में कोठिया टेन्ट सिटी को चिन्ह्ति किया गया है एवं माननीय मुख्यमंत्री जी के द्वारा यहां आगन्तुक कांवरियों से सीधा संवाद कल कोठिया टेन्ट सिटी से किया जायेगा।

इसके पूर्व में पहली सोमवारी को बाघमारा टेन्ट सिटी, दूसरी सोमवारी को शिवलोक परिसर एवं तृतीय सोमवारी को कांवरिया पथ (सरासनी) से मुख्यमंत्री के कांवरियों से सीधा संवाद कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। कल होने वाले इस कार्यक्रम हेतु ओबी वैन के अलावा लगभग सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

More Story

more-story-image

कटकमसांडी : शांति समिति की बैठक आयोजित, सौहार्द्रपूर्ण वातावरण में...

more-story-image

बेरमो : झाकोमयू की बैठक संपन्न, प्रबंधन से समस्याओं की...