इंग्लैंड के साथ खिताबी भिड़ंत के लिए तैयार विराट सेना, तीसरा टी-20 आज

NewsCode | 8 July, 2018 1:31 PM
newscode-image

ब्रिस्टल। भारत और इंग्लैंड रविवार को होने वाले अंतिम और निर्णायक टी-20 मैच में एक दूसरे के सामने होंगे। दूसरे मैच को जीत कर इंग्लैंड ने तीन मैचों की सीरीज को रोमांचक मोड़ पर पहुंचा दिया है। अब सीरीज के आखिरी मैच में दोनों टीमों की कोशिश जीत हासिल कर सीरीज पर कब्ज़ा जमाने की होगी। टीम इंडिया ने मैनचेस्टर में खेले गए पहले मैच में जीत हासिल कर 1-0 की बढ़त ले ली थी, लेकिन कार्डिफ में शुक्रवार को खेले गए मैच में इंग्लैंड ने सीरीज में बराबरी कर ली। ऐसे में खिताबी मुकाबला जीतने के लिए भारत के ऊपर दबाव जरूर होगा। मैच शाम साढ़े छह बजे शुरू होगा।

गौरतलब है कि पहले मैच में एकतरफा हार झेलने वाली इंग्लैंड ने दूसरे मैच में खेल के हर क्षेत्र में सुधार किया। पहले मैच में बैकफुट पर रहने वाली इंग्लैंड ने दूसरे मैच में अपनी गलतियों को सुधारते हुए बराबरी हासिल की।

पहले मैच में कुलदीप यादव ने इंग्लैंड के बल्लेबाजों को काफी परेशान किया था लेकिन दूसरे मैच में पूरी टीम कुलदीप और उनके जोड़ीदार युजवेंद्र चहल के खिलाफ पूरी तैयारी से उतरी थी। तीसरे और आखिरी मैच में इंग्लैंड के सामने अपने इसी प्रदर्शन को जारी रखने की चुनौती है तो वहीं भारत के लिए अपने विजयी रास्ते पर वापस लौटना आसान नहीं होगा।

दूसरे मैच में भारतीय शीर्ष क्रम पूरी तरह से ढह गया था। पहले मैच के शतकवीर लोकेश राहुल का बल्ला भी शांत रहा था। वहीं रोहित शर्मा, शिखर धवन, सुरेश रैना भी सस्ते में पवेलियन लौट लिए थे। कप्तान विराट कोहली और महेंद्र सिंह धोनी ने टीम को संभाला था और सम्मानजनक स्कोर तक पहुंचाया था।

तीसरे मैच में भारतीय शीर्ष क्रम को अपनी फॉर्म में लौटना होगा। वहीं कोहली, धोनी तथा हार्दिक पांड्या को अपने फॉर्म को बरकरार रखना होगा। गेंदबाजी में टीम ने दोनों मैचों में अच्छा किया है। दूसरे मैच में कम स्कोर होने के बाद भी भारतीय गेंदबाजों ने मैच में रोमांच ला दिया था और अंत तक मैच को खींचा था। हालांकि एलेक्स हेल्स की नाबाद 58 रनों की पारी मेहमान टीम के गेंदबाजों पर भारी पड़ी थी और इंग्लैंड ने एक गेंद शेष रहते हुए मैच जीत लिया था।

तेज गेंदबाज उमेश यादव और भुवनेश्वर कुमार ने शुरुआत में टीम को विकेट दिलाए थे। आखिरी मैच में भारत के लिए यह बहुत जरूरी होगा कि वह इंग्लैंड के शीर्ष क्रम को जल्दी पवेलियन में बैठा दे। पहले मैच में पांच विकेट लेने वाले कुलदीप को दूसरे मैच में इंग्लैंड के बल्लेबाजों ने आसानी से खेला था। वहीं उनके साथी चहल दोनों मैचों में ज्यादा प्रभाव नहीं छोड़ पाए हैं। दोनों के लिए तीसरा मैच अहम होगा।

इंग्लैंड ने दूसरे मैच में बताया है कि वह बिना तैयारी के नहीं उतरती। बल्लेबाजी में उसके पास खेल के छोटे प्रारुप के बड़े नाम हैं। हालांकि दूसरे मैच में शीर्ष क्रम कुछ कर नहीं पाया था। जोस बटलर, जेसन रॉय जल्दी पवेलियन लौट गए थे। इयोन मोर्गन भी कुछ खास नहीं कर पाए थे। अंत में हेल्स को जॉनी बेयरस्टो का अच्छा साथ मिला था। इन सभी बल्लेबाजों को जीत हासिल करन के लिए तीसरे मैच में अपनी फॉर्म में वापसी करनी होगी।

टीमें-

भारत: विराट कोहली (कप्तान), रोहित शर्मा, शिखर धवन, लोकेश राहुल, महेंद्र सिंह धौनी (विकेटकीपर), दिनेश कार्तिक, मनीष पांडे, हार्दिक पांड्या, क्रुणाल पांड्या, सुरेश रैना, युजवेंद्रा सिंह चहल, कुलदीप यादव, दीपक चाहर, सिद्धार्थ कौल, भुवनेश्वर कुमार और उमेश यादव।

इंग्लैंड: इयोन मोर्गन (कप्तान), मोइन अली, जॉनी बेयरस्टो, जैक बॉल, जोस बटलर, सैम कुर्रन, एलेक्स हेल्स, क्रिस जॉर्डन, लियाम प्लंकेट, आदिल राशिद, जोए रूट, जेसन रॉय और डेविड विली।

IND vs ENG: हेल्स के बल्ले निकली इंग्लैंड की जीत, 5 विकेट से हारी टीम इंडिया

आम आदमी पार्टी का एक दिवसीय उपवास सह धरना प्रदर्शन

Om Prakash | 18 November, 2018 4:42 PM
newscode-image

रांची: 15 नवंबर को झारखंड स्थापना दिवस समारोह के दौरान पारा शिक्षकों पर लाठीचार्ज, मुकदमा और बर्खास्तगी के विरोध में तथा मीडियाकर्मियों पर लाठी चार्ज की घटना की न्यायिक जांच कराने, दोषी पुलिस कर्मियों और अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई और झारखंड में पत्रकार सुरक्षा कानून लागू करने की मांगों को लेकर आम आदमी पार्टी ने मोराबादी स्थित गाँधी प्रतिमा के समक्ष  एकदिवसीय उपवास रखा और धरणा दिया।

मौके पर पार्टी के प्रदेश संयोजक जयशंकर चौधरा ने कहा कि  अमर शहीद बिरसा मुंडा की पुण्यतिथि और झारखंड राज्य के स्थापना दिवस के दिन राज्य के पारा शिक्षकों के आंदोलन पर पुलिस द्वारा बर्बरता पूर्वक दमन, लाठीचार्ज, अश्रुगैस फायरिंग किया जाना राज्य की रघुवर सरकार का तानाशाही होने का परिचायक है। ये सरकार जन आंदोलनों-शिक्षक-कर्मचारियों के आंदोलनों और कई तरह के न्यायपूर्ण मांगो को लेकर आंदोलनरत संगठनों को लाठी गोली से दबाना चाहती है। उन्होंने कहा कि एक कमजोर, डरपोक, अलोकप्रिय , जनविरोधी सरकार ही ऐसा कर सकती है। उन्होंने कहा कि सरकार संवेदनहीन हो गयी है इसलिए संवाद के बजाय संगीनों के साये में शासन चला रही है। यह घोर अलोकतांत्रिक कदम है। यह कॉर्पोरेटों कि सरकार है। पारा शिक्षकों पर मुकदमा दर्ज करना और उनको बर्खास्त करना काफि दुर्भाग्यपूर्ण है तथा रघुवर सरकार के निम्ममेपन और तानाशाही का जीता जागता उदाहारण है। यह सरकार कहती है कि उनके पास शिक्षकों को द़ेने के लिए पैसे नहीं है किन्तु झुठी और भ्रष्ट सरकार बाहर के कलाकारों से नाच गाना करवाने के लिए कई करोड़ देती है और यह झारखंड कि माटी और यहाँ के कलाकारों का अपमान है।

पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष लक्ष्मी नारायण मुंडा ने कहा कि पारा शिक्षकों और घटना क़ो कवर कर रहे मीडिया के साथियों पर लाठीचार्ज करवाना नाकाम रघुवर सरकार कि कायरतापूर्ण व घिन्नौनी  हरकत है। पारा शिक्षकों की न्यायोचित माँगों को पुरा करने की जगह उन पर लाठीचार्ज करवाना रघुवर सरकार कि असंवेनशीलता का परिचायक है। प्रदेश उपाध्यक्ष  पवन पांडे ने कहा कि रघुवर सरकार ने हक व विरोध कि आवाज को दबाने के लिए डंडे व पुलिस को अपना हथियार बना लिया है। अपना हक व अधिकार माँग रहे पारा शिक्षकों पर पुलिस द्वारा लाठीचार्ज किया जाना काफि दुर्भाग्यपूर्ण व शर्मनाक है।

कार्यक्रम में मुख्य रूप से प्रदेश सचिव राजन कुमार सिंह, हरदयाल यादव, अविनाश नारायण, आलोक शरण,  यास्मिन लाल,  संचारी सेन,जाबिर हुसैन, पियूष झा, मनोज चौरसिया, राहूल कुमार, पुनम कुमारी, रवि टोप्पो, कृष्ण किशोर,  संतोष विश्वकर्मा,अश्विनी कुमार, अनिर्बान सरकार, नवीन प्रभाकर, अमन साहू, विकास पाठक, अंजन वर्मा, सोमा लिंडा, राशिद जामिल व अन्य उपस्थित रहे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

sun

320C

Clear

Jara Hatke

Read Also

रांची: रेलवे अधिकारियों के साथ सीएम ने की बैठक में दिया निर्देश, योजनाओं को जल्द पूरा करें

NewsCode Jharkhand | 21 November, 2018 3:46 PM
newscode-image

रांची।    झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास ने राज्य में चल रही रेल परियोजनाओं और रेल ओवरब्रिज के कार्य में तेजी लाने का निर्देश दिया है। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र के तर्ज पर राज्य सरकार और रेलवे के बीच एक कारपोरेशन का गठन किया जाए। इसके माध्यम से रेलवे से जुड़े कार्य किए जाएं। इससे कार्य में तेजी आएगी और प्रोजेक्ट समय पर पूरे हो सकेंगे।

मुख्यमंत्री ने चुटिया आरओबी, नामकुम कांड्रा आरओबी, केतारी बागान आरओबी, धनबाद स्थित गया पुल समेत सभी रेल ओवरब्रिज के कार्यों को यथाशीघ्र पूरा करने का निर्देश दिया। इसके साख-साथ रांची-नई दिल्ली राजधानी और एलटीटी सुपरफास्ट को प्रतिदिन करने, पूरी-नई दिल्ली पुरुषोत्तम एक्सप्रेस को जयपुर तक करने, रांची-लखनऊ-देहरादून के लिए ट्रेन समेत अन्य ट्रेनों के फेरे में वृद्धि करने का प्रस्ताव रेलवे बोर्ड में भेजने को कहा।

बैठक में नगर विकास मंत्री सी पी सिंह, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव डॉ सुनील कुमार वर्णवाल, पथ निर्माण सचिव श्री के के सोन, परिवहन सचिव श्री प्रवीण टोप्पो, साउथ ईस्टर्न रेलवे के महाप्रबंधक श्री पूर्णेन्दु मिश्रा, एडीआरएम रांची श्री विजय कुमार, सीनियर डीसीएम अविनाश, श्री नीरज कुमार समेत रेलवे अधिकारी उपस्थित थे।

धनबाद: खादान से काले हीरे की बढ़ी चोरी, इलाके में जवानों को किया गया तैनात

NewsCode Jharkhand | 21 November, 2018 3:23 PM
newscode-image

धनबाद । अब तक तो आपने सुना होगा कि हीरे जेवरात की चोरी हो जाती है। लेकिन आपको यह सुनकर थोड़ा अटपटा लगेगा क्योकि धनबाद इलाके में खादान से अब कोयले की चोरी हो रही है।आपके सामने जो तस्वीर दिखाई पड़ रही है वह आपको चौका देगी। इस तस्वीन से आप यह तो समझ गए होंगे कि यह इलाका कोयला यानी कि काले हीरे का इलाका है। लेकिन जब आपको पता चलेगा कि रात में इस खादान में लोग कोयले की चोरी करने लगे हैं तब आप चौक जरुर जाएंगे। दरअसल अभी तक तो चोरी बड़ी गाड़ियों से की जाती रही है लेकिन अब चोर सीधे खादान से खुद ही चोरी करने लगे हैं।

चोरों का आतंक इस कदर हावी है की चोर अब चोरी करने बीसीसीएल के गहरे खदान में खुश कर चोरी की घटना अंजाम दे रहे हैं। ताजा  मामला धनबाद के भौरा ओपी क्षेत्र में पड़ने वाले बीसीसीएल की भौरा दक्षिण 37/38 खदान में चोरों के घुसाने की सुचना के बाद खदान के ऊपर सीआईएसफ और जिला पुलिस के जवान चोरो को पकड़ने के लिए पुरे खदान के चारो और पुलिस तैनात कर दिया है जिसके बाद लगभग 500 मीटर गहरे खदान के अंदर सर्च सीआईएसफ कर रही है वही कर्मियों का कहना है की आज सुबह जब ड्यूटी पर आकर खदान के अंदर पम्प चालू करने गए तो अन्दर से तीन चार टोर्च की रोशनी दिखाई दी जिसके बाद हमने इसकी सूचना अपने वरीय अधिकारी को दी।

 

 

 

More Story

more-story-image

रांची: भापुसे के 17 अधिकारियों का तबादला,कई जिलों के एसपी...

more-story-image

रांची: अन्तराष्ट्रीय व्यापार मेले में भगवान बिरसा मुंडा की प्रतिमा...

X

अपना जिला चुने