IND vs SL T20: टीम इंडिया ने ले लिया बदला, श्रीलंका को हराकर पहुंची फाइनल में

NewsCode | 13 March, 2018 9:40 AM

शार्दूल ठाकुर चुने गए मैन ऑफ द मैच

newscode-image

कोलंबो।  शार्दूल ठाकुर (27-4) के बाद मनीष पांडे (नाबाद 42) की जुझारू पारी के दम पर भारत ने सोमवार को निदास ट्रॉफी त्रिकोणीय टी-20 सीरीज के चौथे मैच में श्रीलंका को छह विकेट से मात देते हुए फाइनल में जगह बना ली है।

पहले बल्लेबाजी करते हुए श्रीलंका ने भारत के सामने 153 रनों का लक्ष्य रखा था जिसे भारत ने 17.3 ओवरों में चार विकेट खोकर हासिल कर लिया।

बारिश के कारण मैच एक घंटे की देरी से शुरु हुआ और इसी कारण ओवरों की संख्या 19 पारी प्रति ओवर कर दी गई। भारतीय गेंदबाजों ने श्रीलंका को निर्धारित ओवरों में नौ विकेट पर 152 रनों पर सीमित करते हुए अच्छी शुरुआत के बाद भी बड़ा स्कोर बनाने से महरूम रख दिया।

लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारत की शुरुआत अच्छी नहीं रही और उसने 22 रनों तक आते-आते अपने दोनों सलामी बल्लेबाजों को खो दिया। अकिला धनंजय ने पहले रोहित शर्मा (11) को आउट किया फिर फॉर्म में चल रहे शिखर धवन (8) पवेलियन पहुंचाया।

अनुभवी बल्लेबाज सुरेश रैना ने लोकेश राहुल (18) के साथ मिलकर भारतीय पारी को संभालने की कोशिश की। रैना आतिशी अंदाज में बल्लेबाजी कर रहे थे। उन्होंने दो शानदार छक्के जड़े। इसी आक्रामकता में वह 62 के कुल स्कोर पर नुवान प्रदीप की गेंद पर कुशल परेरा के हाथों लपके गए। उन्होंने 15 गेंदों में 27 रन बनाए और दो छक्कों के अलावा दो चौके भी जड़े। राहुल दुर्भाग्यवश हिट विकेट होकर पवेलियन लौटे। उनका विकेट 85 के कुल स्कोर पर गिरा।

यहां से दिनेश कार्तिक और मनीष पांडे ने बागडोर संभाली और पांचवें विकेट के लिए 68 रनों की साझेदारी करते हुए टीम को जीत दिलाने के साथ ही फाइनल में पहुंचाया।

पांडे ने अपनी पारी में 31 गेंदों में तीन चौके और एक छक्का लगाया। कार्तिक ने 25 गेंदों में पांच चौकों की मदद से नाबाद 39 रन बनाए।

इससे पहले, भारतीय कप्तान रोहित ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी चुनी। श्रीलंका की दानुष्का गुणाथिलका (17) और कुशल मेंडिस (55) की जोड़ी ने श्रीलंका को तेज शुरुआत दी हालांकि रैना के एक शानदार कैच ने इस जोड़ी को अंत किया। भारत को दूसरी सफलता वॉशिंगटन सुंदर ने दिलाई। उन्होंने खतरनाक कुशल परेरा को 34 के स्कोर पर बोल्ड किया।

यहां से उपुल थरंगा (22) और मेडिंस ने एक बार फिर अपने तूफानी अंदाज में बल्लेबाजी जारी रखी और तीसरे विकेट के लिए 62 रनों की मजबूत साझेदारी कर मेजबान टीम को अच्छी स्थिति में पहुंचा दिया। इस साझेदारी को विजय शंकर ने थरंगा को बोल्ड कर तोड़ा।

कुशल परेरा ने तेजी से छह गेंदों में दो छक्कों की मदद से 15 रन बनाए, लेकिन ठाकुर ने युजवेंद्र चहल के हाथों कैच करा उनकी पारी का अंत किया।

मेंडिस हालांकि एक छोर पर खड़े हुए थे और लगातार रन बना रहे थे, लेकिन अंत में उन्हें दूसरे छोर से साथ नहीं मिला। सुंदर ने जीवन मेंडिस (1) को बोल्ड कर श्रीलंका को पांचवां झटका दिया।

मेंडिस को चहल ने अपना पहला शिकार बनते हुए मेजबान टीम के बड़े स्कोर की उम्मीदों को बड़ा झटका दिया। मेंडिस ने 38 गेंदों पर तीन चौके और तीन छक्के लगाए। अकिला धनंजय के रूप में जयदेव ने इस मैच का अपना पहला विकेट हासिल किया।

आखिरी ओवर की चौथी और पांचवीं गेंद पर दानुष्का सनाका (19) और दुश्मंथा चामिरा को आउट कर ठाकुर ने हैट्रिक की उम्मीद जताई लेकिन आखिरी गेंद पर वो विकेट नहीं ले सके।

IND vs SL T20: Team India defeats Sri Lanka by 6 wickets Nidahas Trophy 2018 | NewsCodeColombo T20

ठाकुर के अलावा सुंदर ने दो विकेट लिए। वॉशिंगटन सुंदर को दो विकेट मिले। विजय शंकर और जयदेव उनादकट को एक-एक सफलता मिली।

जो रणनीति बनाई थी वो काम आई : शार्दूल ठाकुर

जीत में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले भारत के तेज गेंदबाज शार्दूल ठाकुर ने कहा है कि टीम ने जो रणनीति बनाई थी वह काम आई।

मैन ऑफ द मैच चुने गए शार्दूल ने कहा, “इस अवार्ड के मिलने से मैं बहुत खुश हूं। मैंने हमेशा से भारत के लिए मैच जीतने का सपना देखा था और आज मैंने यह कर दिखाया। ईमानदारी से कहूं तो मैच शुरू होने से पहले थोड़ी धबराहट थी, लेकिन दबाव नहीं था। इस मैच के लिए कुछ खास तैयारी नहीं की थी बस जो रणनीति बनाई थी वह काम आई।”

अंत तक टिके रहना चाहता था : मनीष पांडे

अहम समय पर नाबाद 42 रनों की पारी खेलने वाले भारत के मध्य क्रम के बाल्लेबाज मनीष पांडे ने कहा है कि वह अंत तक टिके रहकर अपनी टीम को जीत दिलाना चाहते थे जिसमें वो कामयाब हुए।

मैच के बाद पांडे ने कहा, “नंबर-5 पर बल्लेबाजी करते हुए मैंने सोचा था कि मैं अंत तक टिका रहूंगा और मैच खत्म करते हुए जाऊंगा। पहले मैच के बाद हमारे गेंदबाजों ने अच्छी वापसी की है और इसी कारण हम उन्हें 152 रनों पर रोकने में कामयाब रहे। छह-सात नंबर के बाद हमारे पास ज्यादा बल्लेबाजी नहीं थी इसलिए कार्तिक के साथ साझेदारी करना अच्छा रहा।”

Video: श्रीलंका में जब सुरेश रैना ने लगाया सुर और गाने लगे – ये शाम मस्तानी…

(इनपुट :आईएएनएस))

रांची : 64 वें नेशनल स्कूल हॉकी टूर्नामेंट का आयोजन, अमर कुमार बाउरी ने किया शुभारम्भ

NewsCode Jharkhand | 29 November, 2018 7:48 PM
newscode-image

रांची। राजधानी रांची के मोरहाबादी मैदान स्थित एस्ट्रो टर्फ स्टेडियम में 29 नवंबर से 3 दिसंबर तक 64 वें नेशनल स्कूल हॉकी टूर्नामेंट 2018-19 का आयोजन हो रहा है। जिसका उद्घाटन खेल मंत्री अमर कुमार बाउरी ने किया।

इस मौके पर उन्होंने खिलाड़ियों के मार्चपास्ट को सलामी दी। वही युवा खिलाड़ियों को प्रोत्साहित करते हुए हुए उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि इस तरह के राष्ट्रीय स्तर के मैच खिलाड़ियों के अंदर आत्मविश्वास को बढ़ाता है।

उन्होंने कहा कि झारखंड के जीन में ही हॉकी है। यहां के गांव गांव में यह खेल खेला जाता है। झारखंड की धरती से कई महान खिलाड़ियों ने अपनी प्रतिभा से अंतरराष्ट्रीय स्तर पर खरखण्ड और देश का नाम रोशन किया है।

उन्होंने के कहा कि सभी टीम जीत के लिए मैदान पर उतरती है। लेकिन जीतता वही है जो पूरे लगन के साथ विरोधी खिलाड़ियों को पराजित करता है। खेल में हार जीत लगी रहती है लेकिन हर खिलाड़ी हर मैच के बाद कुछ न कुछ सीख कर जाता है। खेलमंत्री ने सभी खिलाड़ियों को झारखंड के जनता के तरफ से शुभकामनाएं दी।

हॉकी को लेकर झारखंड में काफी रुझान है। यहां हॉकी के एक से बढ़कर एक धुरंधर खिलाड़ी उभरकर सामने आए हैं। हॉकी का गढ़ हमेशा से झारखंड को माना जाता रहा है। राजधानी रांची के मोरहाबादी मैदान में इन दिनों देश भर के हॉकी खिलाड़ियों का जमावड़ा लगा है।

बात दें कि 29 नवंबर से 3 दिसंबर तक 64 वें नेशनल स्कूल हॉकी टूर्नामेंट 2018 -19 का आयोजन किया गया। इसमें देश की 69 टीमें हिस्सा ले रही हैं। बालक वर्ग में 39 टीमों के बीच कड़ी टक्कर देखी जाएगी। वहीं, बालिका वर्ग में 30 टीमें हिस्सा ले रही हैं। आयोजन के पहले दिन 7 मैच संपन्न हुए।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

sun

320C

Clear

Jara Hatke

Read Also

रांची : मंत्री चंद्रप्रकाश चौधरी ने किया कंफर्ट लाइफ सर्विसेज का शुभारंभ

NewsCode Jharkhand | 2 December, 2018 7:38 PM
newscode-image

रांची। राज्य के जल संसाधन, पेयजल एवं स्वच्छता मंत्री चंद्रप्रकाश चौधरी ने आज मोरहाबादी स्थित पार्क प्लाजा के दूसरे तल्ले में कंफर्ट लाइफ सर्विसेज का फीता काटकर शुभारंभ किया। इस मौके पर उन्होंने आशा जतायी कि यह सर्विसेज आम जनों के लिए उपयोगी सिद्ध होगा।

कंफर्ट लाइव सर्विसेज में फ्लैट खरीद- बिक्री, स्वास्थ्य बीमा, अवधि बीमा, म्युचुअल फंड, एसआईपी एवं वाहनों की बीमा आदि की सुविधा लोगों को प्राप्त हो सकेगी।

शुभारंभ के मौके पर आजसू पार्टी के केंद्रीय महासचिव डॉ. लंबोदर महतो, चंद्रशेखर महतो, संचालक राजेश कुमार, रंजना चौधरी, गीता महतो, कल्पना मुखिया, संतोष  मुखिया, अमित साव एवं अजय श्रीवास्तव सहित कई गणमान्य लोग मौजूद थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

भोगनाडीह : झामुमो ने संथाल को भ्रष्टाचार और बिचौलिया दिया- मुख्यमंत्री

NewsCode Jharkhand | 2 December, 2018 7:36 PM
newscode-image

भोगनाडीह  में भाजपा कार्यकर्ता सम्मेलन में शामिल हुए

भोगनाडीह। राज्य को संथाल परगना ने झारखण्ड मुक्ति मोर्चा से तीन तीन मुख्यमंत्री दिये,  लेकिन उन्होंने मुख्यमंत्री बनाया वो गरीब आदिवासी, वंचित दलित की अनदेखी कर अर्थपेटी और मतपेटी भरने का कार्य किया।

साथ ही संथाल परगना को भ्रष्टाचार और बिचौलिया दिया। सबसे ज्यादा आदिवासियों की जमीन लूटने का काम सोरेन परिवार ने किया है। आज सीएनटी-एस पीटी एक्ट के उल्लंघन कर विभिन्न शहरों में आदिवासियों की जमीन ले ली।

जबकि संथाल परगना समेत राज्य भर में यह कह कर गुमराह किया गया कि अगर भारतीय जनता पार्टी की सरकार आएगी तो आदिवासी की जमीन लूट लेगी। क्या 4 साल सरकार द्वारा किसी आदिवासी की जमीन लूटी गई नहीं। उपरोक्त बातें मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कही।

बरहेट का प्रतिनिधित्व करने वाला कभी विधानसभा में सवाल नहीं उठाया

मुख्यमंत्री ने कहा कि बरहेट का विधानसभा में प्रतिनिधित्व करने वाले ने कभी भी विधानसभा में क्षेत्र की समस्याओं को लेकर प्रश्न नहीं रखा, क्योंकि उसे पता ही नहीं है कि क्षेत्र की समस्या क्या है ऐसे में विकास के कार्य कैसे सम्पन्न होंगे।

लोगों को यह सोचना चाहिए और स्थानीय उम्मीदवार को प्राथमिकता देनी चाहिए। चाहे वोकिसी पार्टी का हो।

कार्यकर्ता पार्टी का प्राण, पार्टी के लिए राष्ट्र पहले

मुख्यमंत्री ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता पार्टी के प्राण हैं। यह एक ऐसी पार्टी है जहां वंशवाद और परिवार नहीं। एक चाय बेचने वाला प्रधानमंत्री और मजदूर मुख्यमंत्री बन सकता है। मैं भी बूथ स्तर का कार्यकर्ता था।

पार्टी के लिए समर्पण भाव से कार्य करते हुए 1995 में विधायक बना और अब मुख्यमंत्री हूं। आप भी ईमानदारी से कार्य करें। सरकार की योजनाओं को जन जन पहुंचाये। पार्टी के वविभिन्न मोर्चा के लोग इस कार्य में लगे। क्योंकि पार्टी के लिए राष्ट्र पहले है।

इस राष्ट्र को और मजबूत करने के लिए वैश्विक पटल पर अपनी पहचान बना चुके प्रधानमंत्री  के हाथों को मजबूत करें। इस अवसर पर अनंत ओझा,  धर्मपाल सिंह, हेमलाल मुर्मू समेत अन्य मौजूद थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

More Story

more-story-image

रांची : अखिल झारखंड छात्र संघ ने चुनाव को लेकर...

more-story-image

धनबाद : बीजेपी सरकार बनने के बाद कृषि विकास दर...

X

अपना जिला चुने